आप बीती दूरदर्शन ओल्ड टीवी सीरियल| Aap beeti doordarshan tv serial in hindi

Aap beeti doordarshan tv serial in hindi 2001 में दूरदर्शन नेशनल चैनल पर एक ऐसा सीरियल मंज़रे- आम पर आया, जिसने बहुत कम ही समय में आम दर्शकों के बीच अपनी पहचान बनायी. ये बीसवीं सदी में दूरदर्शन पर आने वाला पहला हॉरर शो था. जब ये शुरू हुआ था, वह समय दूरदर्शन के लिए कोई सुनहरा समय नही था, लोग कई प्राइवेट चैनलों में दिलचस्पी लेने लगे थे, और दूरदर्शन की लोकप्रियता कम हो गयी थी. इस समय में इस सीरियल ने लोगों का ध्यान पुनः दूरदर्शन की और आकर्षित किया.

aap biti

आप बीती दूरदर्शन ओल्ड टीवी सीरियल Aap beeti doordarshan tv serial in hindi

आप बीती सीरियल का निर्देशन (Aap beeti serial direction)

ये बी आर फ़िल्म्स की और से प्रस्तुत सीरियल था, जिसका निर्देशन रवि चोपड़ा कर रहे थे. रवि चोपड़ा भारतीय सिनेमा में एक जाने माने निर्देशक है. इस सीरियल को लेकर उन्होंने कुछ अनोखा और नया करने का सोचा. इस वजह से उन्होंने इस शो का जेनर हॉरर रखा. ये क़दम दूरदर्शन चैनल के लिए और साथ ही दर्शकों के नए जायके के लिए बहुत ज़रूरी था. इससे पहले कोई ऐसा हॉरर शो किसी चैनल पर नही आता था.

आप बीती सीरियल का फोर्मार्ट (Aap beeti serial)

शुरूआती समय में इस सीरियल का समय प्रत्येक शनिवार रात 9:30 बजे से 10:30 तक था. उस समय इस सीरियल का टाइटल ट्रैक इंस्ट्रुमेंटल था, यानि सीरियल शुरू होते समय सिर्फ संगीत होता था न कि कोई गाना. दिन ब दिन ये सीरियल बहुत मशहूर होता गया. सन 2004 में इस सीरियल का समय प्रति मंगलवार रात 10 बजे से 11 बजे तक का कर दिया गया. इस बार ये एक नये टाइटल ट्रैक ‘ये आप बीती है’ के साथ आया. इस टाइटल ट्रैक को आवाज़ डॉ. नेहा राजपाल ने दी थी. ये सीरियल दूरदर्शन में आने वाले मशहूर कार्यक्रमों में एक था. 

आप बीती सीरियल की कहानियों का आधार (Aap beeti serial story)

सीरियल का जेनर हॉरर होने की वजह से इसकी कहानियां अलौकिकताओं से परिपूर्ण थीं. इसकी कहानियां आम आदमी की ज़िन्दगी में घटने वाली उन घटनाओं से प्रेरित होती थीं, जिस पर यक़ीन करना और जिसका वर्णन करना बहुत ही कठिन होता है. इस कहानी में पात्रों का सामना भूतों –प्रेतों और अतृप्त आत्माओं से होता था. इस शो की मुख्य धारा यही थी. सप्ताह में एक बार आने वाले इस शो को लोग इसकी कहानियों में छिपे रहस्यों और रोमान्चों के लिए बहुत पसंद करते थे.

ये पूरा सीरियल किसी एक कहानी पर आधारित नहीं था, बल्कि एक कहानी का रहस्य खुल जाने पर एक नयी कहानी नये सिरे से शुरू होती थी. किसी एक कहानी को पूरी तरह से देखने समझने के लिए लगातार दो एपिसोड देखने पड़ते थे, क्योंकि हर कहानी दो भागों में दो अलग अलग एपिसोड्स में बनती थी.

आप बीती सीरियल की विशेषता (Aap beeti horror serial)

कॉमेडी और हॉरर शो हर जनरेशन में बहुत पसंद किया जाने वाला जेनर है. ये शो आज से पंद्रह साल पहले उतना ही डरावना था, जितने आज नयी नयी तकनीकों के इस्तेमाल से बनाए जा रहे हॉरर शो हैं. ये शो हालाँकि बच्चों के लिए नहीं था, लेकिन इसे सपरिवार एक साथ बैठ कर देखा जा सकता था, जो आज कल के हॉरर शो में बहुत कम देखने मिलता है.

किसी भी हॉरर शो के लिए सबसे ज़रूरी बात ये होती है कि उसे बनाने वाला कितनी सच्चाई के साथ घटनायें दिखाता है. वरना ऐसे शो बहुत जल्द अपना ट्रैक खो देते हैं और घटनाएँ अप्राकृतिक लगने लगती हैं. आप बीती के समय में तकनीक आज के दौर जितनी विकसित नहीं थी, लेकिन इसे देख कर यदि भारत के अन्य हॉरर शो देखे जाएँ, तो इस सीरियल में कोई कमी नही लगती. रोमांच और रहस्य शुरू से अंत तक बरक़रार रहता है.

इस सीरियल ने बहुत कम समय में अपनी कला कृतियों के दम पर ख्याति हासिल की. गृहिणियां, आदमी, बच्चे वे सभी जो हॉरर जेनर पसंद करते हैं, इस सीरियल को भी बहुत पसंद करने लगे. पहला सीजन ख़त्म होने के बाद भी लोगों का मन नहीं भरा था. लोग और भी अधिक रोमांच देखना चाहते थे, और इस वजह से इसका दूसरा सीजन भी बहुत जल्द आया.

इस सीरियल का टाइटल ट्रैक भी सीरियल की तरह बहुत मशहूर हुआ, जिसे आज भी यूट्यूब और गूगल में सुना जा सकता है. सप्ताह में एक बार इसका प्रसारण होने की वजह से लोग इसका बहुत से इंतज़ार करते थे. किसी शुरू होती कहानी का पहला एपिसोड को देख लेने पर पूरी घटना जानने के लिए दूसरा एपिसोड भी देखना होता था.

आप बीती सीरियल की कुछ मुख्य जानकारियाँ (Aap beeti serial details)

सीरियल का नामआप- बीती
जेनरहॉरर
निर्देशकरवि चोपड़ा
निर्माता / बैनरबी. आर. चोपड़ा फ़िल्म्स
राष्ट्रभारत
भाषाहिंदी
सीजन2
पहले सीजन का प्रसारणसन 2001
दुसरे सीजन का प्रसारणसन 2004
समय52 मिनट
टाइटल ट्रैकडॉ नेहा राजपाल

अन्य पढ़ें –

Anubhuti
यह मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here