Top 5 This Week

spot_img

Related Posts

Abu dhabi BAPS Hindu Mandir, आबू धाबी में कहाँ स्थित है baps मंदिर, जाने क्या है इसकी खासियत

‘बीएपीएस मंदिर’ आबू धाबी BAPS mandir abu dhabi (Opening, inauguration,opening Date, Photos, Location, fBAPS ullform)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13-14 फरवरी को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का आधिकारिक दौरा करेंगे, जिस दौरान वे अबू धाबी में पहले हिन्दू मंदिर का उद्घाटन करेंगे। यह प्रधानमंत्री मोदी की 2015 के बाद से यूएई की सातवीं यात्रा होगी और पिछले आठ महीनों में उनकी तीसरी यात्रा है।

Abu dhabi BAPS Hindu Mandir, आबू धाबी में कहाँ स्थित है baps मंदिर, जाने क्या है इसकी खासियत
Abu dhabi BAPS Hindu Mandir, आबू धाबी में कहाँ स्थित है baps मंदिर, जाने क्या है इसकी खासियत

बीएपीएस मंदिर

बीएपीएस मंदिर 27 एकड़ भूमि पर स्थित है, जो यूएई नेतृत्व द्वारा दान की गई है। 2015 में, शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान, अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर ने मंदिर के निर्माण के लिए 13.5 एकड़ भूमि दान में दी थी। यूएई सरकार ने अपने ‘सहिष्णुता के वर्ष’ के दौरान जनवरी 2019 में और 13.5 एकड़ भूमि आवंटित की।

कौन है शेख मोहम्मद बिन जायद?

शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के राष्ट्रपति और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस हैं। वह यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर भी हैं। शेख मोहम्मद यूएई के संस्थापक, शेख जायद बिन सुल्तान अल नहयान के तीसरे पुत्र हैं। उनका जन्म 11 मार्च 1961 को हुआ था।

सांस्कृतिक समरसता का प्रतीक

यह भव्य संरचना अबू मुरैखाह जिले में स्थित है और भारत और यूएई के बीच स्थायी मित्रता का एक प्रमाण है, जो सांस्कृतिक समरसता और सहयोग की भावना को दर्शाता है। बोचासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (बीएपीएस) के अनुसार, बीएपीएस हिन्दू मंदिर मध्य पूर्व में पहला पारंपरिक हिन्दू पत्थर का मंदिर बन जाएगा।

‘सद्भावना के उत्सव’ के साथ उद्घाटन देखिये इसकी अमृत कलश विधि विडियो में –

मंदिर के उद्घाटन को ‘सद्भावना के उत्सव’ के माध्यम से मनाया जाएगा – एक श्रृंखला जिसमें उत्थानात्मक कार्यक्रम और सामुदायिक घटनाएँ शामिल होंगी जो विश्वास को मजबूत करने, सामुदायिक सेवा को सक्रिय करने, और सभी पीढ़ियों और पृष्ठभूमियों के लोगों के बीच सद्भावना को प्रेरित करने पर केंद्रित होंगी।

भारत-गल्फ क्षेत्र के बीच अनोखे संबंध

इस दौरे के दौरान, प्रधानमंत्री मोदी यूएई के राष्ट्रपति, उनकी उच्चता शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान के साथ द्विपक्षीय बैठकें आयोजित करेंगे, जिसमें दोनों देशों के बीच सामरिक साझेदारी को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा की जाएगी।

‘अहलान मोदी’ कार्यक्रम

पीएम मोदी के अलावा, ‘अहलान मोदी’ इवेंट में भी भारतीय प्रवासी समुदाय से संबोधित करेंगे। यह कार्यक्रम 13 फरवरी को आयोजित किया जाएगा, जहां भारतीय दूतावास के अनुसार, पंजीकरण खुलते ही 65,000 के निशान को छूने पर बंद कर दिया गया था, क्योंकि अधिक लोगों को समायोजित करने की क्षमता नहीं हैं ।

बीएपीएस हिन्दू मंदिर का निर्माण न केवल इसकी वास्तुकला की भव्यता के लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि यह भारत और गल्फ क्षेत्र के बीच सौहार्दपूर्ण संबंधों का एक प्रमाण भी है। प्रधानमंत्री मोदी की 2015 से शुरू हुई लगातार भागीदारी दोनों राष्ट्रों के बीच सांस्कृतिक समझ और आपसी सम्मान की प्रतिबद्धता को दर्शाती है।


BAPS का फुलफोर्म (Fullform)

BAPS का पूर्ण रूप हिंदी में “बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्तम स्वामिनारायण संस्था” है। यह स्वामिनारायण संप्रदाय के भीतर एक प्रमुख धार्मिक संगठन है। BAPS अपने आध्यात्मिक, सामाजिक, और सांस्कृतिक कार्यों के लिए विश्वव्यापी प्रसिद्ध है।

संस्थापक शास्त्रीजी महाराज ने 1907 में इस संस्था की स्थापना की थी, जिसका मूल उद्देश्य अक्षर-पुरुषोत्तम उपासना के सिद्धांत पर आधारित आध्यात्मिक जागरूकता और चरित्र निर्माण को बढ़ावा देना था।

आबू धाबी में कहाँ स्थित है baps मंदिर / एड्रैस (Address) –

 P6 – Abu Dhabi – United Arab Emirates,

Phone – 971,58,588,2277

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles