ताज़ा खबर

ब्लॉगर के ब्लॉग में गूगल प्लस कमेंट्स को कैसे जोड़े | How to add Google plus comments to blogger in hindi

How to add Google plus comments to blogger blog in hindi किसी ब्लॉगर के लिये उसके ब्लॉग में दर्ज होने वाले कमेंट बहुत अधिक महत्व रखते हैं. यदि किसी ब्लॉग के किसी पोस्ट में कमेंट्स अधिक हो तो उसका प्रचार बहुत अधिक होता है और उस ब्लॉग पर अधिक से अधिक लोग आते हैं. गूगल ने इसके लिए बहुत बेहतर तरीक़ा गूगल+ के रूप में निकाला है. अर्थात स्टैण्डर्ड कमेंट बॉक्स की जगह पर ब्लॉग पाठक अपना कमेंट गूगल+ की सहायता से डाल सकते हैं.

ब्लॉगर के ब्लॉग में गूगल+ कमेंट्स को जोड़ने से लाभ (Benefits of Google+ comments to blogger )

ब्लॉगर के ब्लॉग में गूगल+ से टिप्पणियों को जोड़ने के कई फायदे भी हैं –

  • कैप्चा का इस्तेमाल करके कमेंट करना अन्य तरह के कमेंट से अधिक मजेदार होता है.
  • गूगल+ का कमेंटिंग टूल बहुत ही अपडेटेड है. इसमें आपके ब्लॉग के लिए संसार में किये गये सभी कमेंट एक साथ आ जाते हैं. मसलन यदि किसी दोस्त राजू ने आपके ब्लॉग का पोस्ट शेयर किया और मोहित ने उस शेयर किये गये पोस्ट पर कमेंट किया, तो मोहित का कमेंट भी ख़ुद ब ख़ुद आपके पोस्ट पर आ जाएगा.
  • कमेंट के साथ ब्लॉग पर कमेंट करने वाले की प्रोफाइल भी शेयर हो जाती है, जिससे पाठकों की संख्या दिन पर दिन बढती जाती है.

How to add Google+ comments to blogger

गूगल+ को ब्लॉगर ब्लॉग से कैसे जोड़ें (How to add Google+ comments to blogger in hindi)

  • इसके लिए सबसे पहले उस साइट पर जाना होता है. यहाँ जाकर ब्लॉगर अपना ब्लॉग चुन लेता है.
  • ब्लॉग चुन लेने के बाद इसके बांयी तरफ दिए गये मेनू में एक गया विकल्प ‘Google+’ के रूप में होता है. उस पर क्लिक करना होता है.
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक ‘get started’ का विकल्प खुलता है. यह विकल्प स्क्रीन के बीचों बीच या हलकी दायीं तरफ आता है.
  • ऐसा कर लेने पर आपका ब्लॉगर प्रोफाइल अब गूगल+ प्रोफाइल से स्थानांतरित हो जाता है.
  • इसके बाद अगले पेज में कुछ विकल्पों को निशान देकर चुनना होता है. इसमें एक मुख्य विकल्प ‘Use Google+ comments on this blog’ का होता है. इस पर टिक करना अतिअनिवार्य है. इसके बाद आपका ब्लॉग गूगल+ कमेंट के लिए तैयार हो जाता है.

यदि किसी कारणवश ब्लॉग का URL बदलना पडे तो सभी कमेंट्स ब्लॉग से हट जाते हैं. हालाँकि पुराने URL पर ये कमेंट गूगल+ में स्थित रहते हैं. यदि आप कस्टम ब्लॉगर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो मुमकिन है कि आपको कमेंटिंग टूल न दिखे. खैर ऐसी स्थिति में आप अपना कमेंट प्लेस होल्डर का निर्माण कर सकते हैं. इसके लिए इस पंक्ति को उस जगह डालें जहाँ आप कमेंटिंग टूल चाहते हैं.

<div class=’cmt_iframe_holder’ expr:data-href=’data:post.canonicalUrl’ expr:data viewtype=’data:post.viewType’/>

गूगल+ कमेंटिंग सिस्टम की विशेषता (Google+ commenting system)

  • इस सिस्टम में कमेंट एक निश्चित क्रम में सजा रहता है. ये क्रम मूलतः कमेंट करने की अवधि पर निर्भर होता है. नए कमेंट्स पहले होते हैं. इसमें किसी कमेंट पे पुनः कमेंट किया जा सकता है और ये एक तरह से दोस्तों से चैट करने की कैफियत पैदा करता है. इस सिस्टम में जल्द से जल्द कमेंट अपडेट होते हैं.
  • पाठक सार्वजनिक या निजी तौर पर कमेंट पोस्ट कर सकते हैं. ये कमेंट करने वाले के गूगल+ प्रोफाइल में सभी तक पहुँच जाता है. इससे नए पाठकों की संख्या में वृद्धि होती है.
  • समय के अनुसार कमेंट करने वाला अपना कॉमेट पुनः संपादित या डिलीट भी कर सकता है. गूगल+ का ये विकल्प बहुत लोगों को बहुत पसंद आया है.

अन्य पढ़े:

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *