अंकिता सिंह मर्डर केस क्या हैं, कौन हैं शाहरुख़ (जाति, धर्म) झारखंड दुमका

0

अंकिता सिंह मर्डर केस क्या हैं कौन हैं अंकिता सिंह ( जाति, धर्म, आयु) शाहरुख़ कौन हैं (जाति धर्म ) लव जेहाद केस, आयु [Ankita Singh Jharkhand Dumka Murder case, Shahruk Hussain kaun hain Caste, Religion, Age] Latest News

झारखंड के दुमका जिले से एक नई खबर सामने निकल कर आई है इसमें एक सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया है। और पूरा देश सोशल मीडिया पर अंकिता के लिए न्याय की मांग कर रहा है, दरअसल दुमका की रहने वाली अंकिता को एक मुस्लिम युवक द्वारा सुबह के समय उसके घर में पेट्रोल से जला दिया गया, जिसके बाद अत्यंत दर्दनाक अवस्था में उसकी मौत हो गई।

झारखंड प्रशासन से लेकर पूरे देश में इस मामले को लेकर काफी रोष है और लोग वहसी आरोपी को न्याय देने की मांग कर रहे हैं ऐसे में अंकिता मर्डर केस क्या है? और इस केस का मुख्य आरोपी कौन है, इस पर आज हम इस लेख में विस्तार से चर्चा करेंगे तो आइए सबसे पहले जानते हैं

अंकिता का जीवन परिचय

अंकिता सिंह कौन है? 

झारखंड के दुमका जिले की निवासी अंकिता 12वीं कक्षा की एक छात्र थी,जिन्हें बर्बर तरीके से 23 अगस्त की सुबह 5:00 बजे पेट्रोल से उनके ही घर में एक मनचले युवक द्वारा आग लगाकर मौत के मुंह में धकेल दिया। कहा जा रहा है कि अंकिता एक बेहद मेहनती एवं होशियार लड़की थी जो अपने पिता को आजीविका में मदद करने के लिए अपनी पढ़ाई करने के साथ-साथ बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर घर खर्च में मदद करती थी। बता दें कम उम्र में ही अंकिता को अपनी माता को बचपन में खोना पड़ा था हालांकि वर्तमान में उनकी स्थिति काफी सुलझी नजर आती थी। घर में उनके दादा-दादी, पिताजी और एक छोटा भाई था जो छटी कक्षा में पढाई कर रहा था।

नाम अंकिता
उम्र 17​
पेशा छात्र
निवासी झारखंड दुमका
जातिराजपूत
धर्महिंदू
पारिवारिक सदस्य 5
मृत्यु का कारण हत्या
भाई 1
बहन पता नही 

उनके पिताजी की दैनिक आय ₹200 है और इसीलिए पारिवारिक खर्चों का वहन करने के लिए वह स्कूल के बाद अक्सर बच्चों को ट्यूशन पढ़ाती थी और 1000 तक की कमाई कर लेती थी।

अंकिता का सपना था एक पुलिस ऑफिसर बनना

देश की लाखों बेटियों की तरह ही अंकिता के भी जीवन में कुछ विशेष सपने थे और उन सपनों को पूरा करने के खातिर कहीं ना कहीं यह बच्ची लगातार प्रयत्न भी कर रही थी। अंकिता झारखंड के एक गर्ल स्कूल में पढ़ती थी और उन्होंने 12वीं के बाद पुलिस ऑफिसर बनने के लिए अभी से तैयारी करने का भी निर्णय ले लिया था।

जीते जी भले वह अपने इस सपने को पूरा नहीं कर पाई लेकिन आज पूरा भारत प्रशासन से उनके न्याय की मांग कर रहा है और इस बेटी के साथ खड़ा हुआ है।

अंकिता सिंह मर्डर

अंकिता की जिंदगी में सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन बीता अगस्त उनके जीवन में कई परेशानियां लेकर आया। मृत्यु से पहले अंकिता ने बताया कि कुछ दिनों से शाहरुख नाम का एक मनचला युवक उन्हें काफी परेशान कर रहा था और उनकी यह परेशानी अंत में उनकी मौत के साथ समाप्त हुई।आइए इस मर्डर केस को जरा विस्तार से समझते हैं

मृत्यु से पहले अंकिता सिंह का एक वीडियो सामने आया है जिसमें अंकिता बताती हैं कि 22 अगस्त 2022, सोमवार रात को अचानक मेरे फोन में एक कॉल आता है जिसमें उसे जान से मारने की धमकी दी जाती है इस वारदात की जब अंकिता अपने पिता से चर्चा करती हैं तो उनके पिताजी अगली सुबह को इस मामले को सुलझाने की बात करते हैं। लेकिन इससे पहले की वह कुछ कर पाते अगले दिन यानी 23 अगस्त को सुबह एक युवक उनके घर की खिड़की से अन्दर आकर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा कर भाग जाता है।

इसके बाद अंकिता कहती है कि मैं सिर्फ यही देख पाई की नीली टी शर्ट पहना हुआ शख्स (शाहरुख़) तेजी से भाग रहा था। पिछले 10 दिन से लगातार शाहरुख़ मुझसे जबरदस्ती बातें करने की कोशिश कर रहा था, वह बताती हैं कि मोहल्ले में सभी शाहरुख़ को एक आवारा लड़के के रूप में जानते हैं जो अक्सर लड़कियों को छेड़ा करता था।

अंकिता आगे वीडियो में बताती हैं कि पिछले कुछ दिनों से वह लगातार उसका पीछा कर रहा था लेकिन मनचले की इस हरकत को उसने गंभीर तौर पर नहीं लिया। लेकिन किसी तरह उसने आखिरकार कही से मेरा नंबर ले लिया और वह लगातार मुझे कॉल पर बात करने के लिए दबाव बनाने लगा।22 अगस्त की रात को मुझे मिली इस धमकी के बाद 23 अगस्त को उसने पेट्रोल से मुझे जला डाला।

अंकिता अपने अंतिम पलों में कहती है कि जिस तरह मैं मर रही हूँ, वैसे ही उस आरोपी को भी मारा जाए बता दें उनकी अंतिम यात्रा में राजनीति के कई बड़े चेहरे दुमका से शामिल हुए और कई हिंदू संगठन में शामिल होकर उनके न्याय की मांग करने लगे हैं।

अंकिता को तुरंत ले जाया गया अस्पताल लेकिन तब तक देर हो चुकी थी

सूत्रों के मुताबिक 23 अगस्त 2022 को जब शाहरुख नाम के दरिंदे ने इस घटना को खिड़की के जरिए पेट्रोल डालकर अंजाम दिया तो अंकिता तब सोई हुई थी। आँख खुलते ही अपने आप को आग की लपटों में जलती देखकर बाहर आई तो उसने एक बाल्टी शरीर में पानी डाला लेकिन इससे आग नहीं बुझी और फिर घर के अन्य सदस्यों ने कम्बल से किसी तरह आग बुझाई।

और कुछ पलों में उन्हें दुमका के मेडिकल कॉलेज में ले जाया गया वहां जाकर मजिस्ट्रेट द्वारा अंकिता का बयान कुछ समय बाद दर्ज किया जाता है,जिसके तुरंत बाद पुलिस द्वारा शाहरुख की खोजबीन शुरु शुरु कर दी जाती है।

पुलिस जब इस मामले में शाहरुख़ के परिवार से पूछताछ करती है तो उसके परिजनों से कुछ देर पूछताछ करने के बाद शाहरुख इस मामले में सरेंडर कर देता है। 24 अगस्त को इस मामले में पता चलता है कि अंकिता की पेट्रोल के तीव्र प्रभाव से उनके शरीर का अधिकांश हिस्सा जल चुका है।

और फिर अंकिता को वहां से किसी बड़े अस्पताल में भर्ती कराया जाता है जहां पर 28 अगस्त को आखिरकार इस बात की पुष्टि कर दी जाती है कि शरीर के अनेक भाग बुरी तरह जलने के कारण उनकी मृत्यु हो गई है और इसके बाद 29 अगस्त को अंकिता का अंतिम संस्कार किया जाता है।

कौन हैं शाहरुख़ हुसैन (जाति, धर्म)

23 साल का शाहरुख़ जिसने मात्र पांचवी तक पढ़ाई की है, ड्रग्स नशे इत्यादि में लिप्त होने वाला यह युवक आज अपने बुरे कारनामों की वजह से जेल के पीछे है। कहा जाता है कि यह लड़का भी दुमका की एक कॉलोनी में ही रहता था और मजदूरी करता था यह अक्सर अंकिता के अलावा भी अन्य लड़कियों से छेड़खानी करता था।

लेकिन पिछले एक डेढ़ साल से यह लगातार अंकिता का पीछा कर रहा था लेकिन जब अंकिता इससे दोस्ती करने और इस से बातचीत करने के लिए राजी नहीं हुई तो आखिरकार उसने अपने एक दोस्त छोटू के साथ मिलकर वारदात की रात को इस घटना को अंजाम दिया। और अभी यह खबर सामने आ रही है कि पुलिस द्वारा छोटू को भी हिरासत में ले लिया गया है।

लोग इस मामले को लव जिहाद के रूप में देखते हैं 

इस गंभीर और दर्दनाक घटना के बाद पुलिस हर पहलू से इस मामले की छानबीन कर रही है ताकि सच का पता लगाया जा सके इस मामले में अंकिता के पिता ने एक बयान दर्ज किया है जिसके अनुसार उन्होंने कहा है कि शाहरुख अक्सर अंकिता से यह कहता था कि “मुझसे शादी करो इस्लाम कबूल करो अन्यथा मैं तुम्हारी जिंदगी बर्बाद कर दूंगा” इन बातों से अक्सर अंकिता काफी डरी हुई और परेशान रहती थी और जबरन प्यार और शादी के इस दबाव को न स्वीकार करने की वजह से आरोपी द्वारा मार उसे दिया गया।

FAQ

प्रश्न: अंकिता कौन थी?

उत्तर: झारखंड में रहने वाली एक 17 साल की एक छात्रा थी

प्रश्न: अंकिता को किसने मारा?

उत्तर: शाहरुख नामक युवक ने

प्रश्न: अंकिता के परिवार में कितने सदस्य हैं?

उत्तर: पिता छोटा भाई दादा दादी

प्रश्न: अंकिता की मृत्यु कैसे हुई?

उत्तर: पेट्रोल से जलकर

  1.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here