अर्जुन तेंदुलकर का जीवन परिचय | Arjun Tendulkar Biography in hindi

अर्जुन तेंदुलकर का जीवन परिचय | Arjun Tendulkar Biography in hindi

अर्जुन तेंदुलकर भारत के सबसे प्रसिद्ध किशोरों में से एक है. अपने पिता सचिन तेंदुलकर के विपरीत अर्जुन तेंदुलकर बाएं हाथ के बल्लेबाज है, इसके साथ ही वह अच्छे क्षेत्ररक्षक और गेंदबाज भी है. इस तरह वह एक आल राउंडर क्रिकेट खिलाडी है. भारतीय खेल के इतिहास में उन्हें जूनियर तेंदुलकर के रूप में संबोधित किया जा रहा है. वह एक पेशेवर क्रिकेटर बनने के साथ ही अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए तैयारियों में लगे रहते है और विश्व प्रसिद्ध क्रिकेटर बनना चाहते है.

arjun tendulakar

अर्जुन तेंदुलकर का परिचय (Arjun Tendulkar Biography in hindi)

नामअर्जुन तेंदुलकर
जन्म24 सितम्बर 1999
जन्म स्थानमुंबई
पिता का नामसचिन तेंदुलकर
माता का नामअंजलि तेंदुलकर
बहनसारा तेंदुलकर
व्यवसायभारतीय क्रिकेटर
ऊँचाई5 फीट 10 इंच
वजन60 किलोग्राम
आँखों का रंगकाला
बालों का रंगकाला
शारीरिक बनावटसीना- 36 इंच, कमर- 30 इंच, बाइसेप्स- 13 इंच      
राशितुला
नागरिकताभारतीयता
धर्महिन्दू
पसंदीदा क्रिकेटरसचिन तेंदुलकर
गृह नगरमुम्बई
कोच या मेंटरसचिन तेंदुलकर
वैवाहिक स्थितिअविवाहित

अर्जुन तेंदुलकर का पारिवारिक जीवन (Arjun Tendulkar Family)

अर्जुन तेंदुलकर के पिता का नाम भारतीय महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट से सन्यास ले लिया है. उन्हें क्रिकेट का भगवान कहा जाता है और इनकी माँ अंजलि तेंदुलकर पेशे से बाल रोग विशेषज्ञ है. अर्जुन की एक बड़ी बहन सारा तेंदुलकर अर्जुन से 2 साल बड़ी है. अर्जुन अपने पिता की तरह क्रिकेट में बहुत अच्छे है, सचिन भी चाहते है कि उनका बेटा एक अच्छा क्रिकेटर बने और भारत के लिए खेले.

अर्जुन तेंदुलकर की शिक्षा (Arjun Tendulkar Education)

अर्जुन तेंदुलकर ने मुम्बई के धीरुभाई अम्बानी इंटरनेशनल स्कूल से शिक्षा ग्रहण की है. ज्यादातर इस स्कूल में अमीर लोगों के बच्चे ही पढ़ते है. स्कूल, बच्चों को लाइम लाइट से बचाने के लिए और उनकी निजता को बनाये रखने के लिए मीडिया से दुरी भी बनाकर रखता है, जिससे बच्चे अपना ध्यान पढाई में लगा सके.      

अर्जुन तेंदुलकर के क्रिकेट करियर की शुरुआत (Arjun Tendulkar Cricket Career Starting)  

अर्जुन तेंदुलकर का जन्म मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में हुआ था. उनके पिता सचिन प्रसिद्ध खेल व्यक्तित्व होने के बावजूद भी कभी भी उन्होने अपने बेटे के करियर चयन में दबाव नहीं बनाया, बल्कि उन्होंने उन्हें अपने करियर को चुनने कि पुरी आजादी दी, लेकिन क्रिकेट अर्जुन के खून में है इसलिए उन्होंने क्रिकेट को ही अपना करियर चुना. क्रिकेट को अपना करियर चुनने के बाद अर्जुन अपने पिता के साथ मुम्बई में क्रिकेट का अभ्यास करते है. अर्जुन के परिवार वाले उन्हें हमेशा प्रोत्साहित करते है. अर्जुन भारत के कई क्रिकेट क्लब संघ के सदस्य भी हैं. वह विभिन्न क्लबों और टूर्नामेंट के साथ स्थानीय रूप से खेलने का अवसर कभी भी नहीं गवाते है वह क्रिकेट के लिए सर्वश्रेष्ठ कोचों से ट्रेनिंग भी प्राप्त कर रहे है.              

अर्जुन तेंदुलकर का करियर (Arjun Tendulkar Cricket Career)

अर्जुन जब 8 साल के थे तब से ही उनके पिता सचिन ने उन्हें क्रिकेट कोचिंग क्लब में डाल दिया और उस कोचिंग क्लब का आयोजन किया था. अर्जुन तेंदुलकर ने 22 जनवरी 2010 को पुणे में अंडर 13 टूर्नामेंट में अपना पहला मैच खेला था. अर्जुन ने जनवरी 2011 में अपना पहला राष्ट्रीय स्तर का खेल पुणे में केडेन्स ट्राफी टूर्नामेंट को खेला था. नवम्बर 2011 में उन्होंने जमनाबाई नरसी स्कूल के खिलाफ धीरूभाई इंटरनेशनल स्कूल के लिए अपनी बढ़िया गेंदबाजी का परिचय देते हुए 22 रन देकर 8 विकेट लिया था और नरसी स्कूल को हराकर जीत हासिल की थी, वह अपने स्कूल टीम के कप्तान है.

जून 2012 में गोरेगांव सेंटर के खिलाफ क्रॉस मैदान में अंडर- 14 मैच में खर जिमखाना के लिए खेलते हुए उन्होंने अपनी क्षमता का प्रदर्शन करते हुए अपना पहला शतक लगाया था, और उन्हें मुम्बई क्रिकेट एसोसियेशन द्वारा घोषित संभावित अंडर 14 में ऑफ़ सीजन ट्रेनिंग कैम्प के लिए चुना गया था. 2014 में उन्हें बीसीसीआई टूर्नामेंट अंडर -14 मैच में पश्चिमी जोन लीग मैच मुम्बई में खेलने के लिए चुना गया था. इस मैच में मुम्बई की टीम ने गुजरात की टीम पर जीत हासिल की थी, इस मैच में अर्जुन ने एक विकेट लिया था और 36 रन बनाये थे. 24 जनवरी 2014 को ही वो मुम्बई अंडर 14 में खेलने की अपनी आयु सीमा को पूरा किये थे.   

हाल ही में अर्जुन तेंदुलकर को मुम्बई अंडर -19 के एक दिवसीय टीम के लिए चुना गया है. ये टीम 16 सितम्बर से 23 सितम्बर तक बडोदा में खेले जाने वाले मैच जे वी लेले अविष्कार (इन्वीतेशनल) टूर्नामेट को खेलेगी.

अन्य पढ़ें –

Updated: September 20, 2017 — 9:55 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *