Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

एटीएम क्या है? एटीएम से पैसे कैसे निकालें | ATM Meaning, full form, How To Withdraw Money From ATM in hindi

एटीएम का मतलब क्या है? एटीएम से पैसे कैसे निकालें, एटीएम उपयोग के समय सावधानियाँ   (ATM Meaning, full form, Features, How To Withdraw Money From ATM or Precaution During ATM Use in hindi)

डिजिटल होती इस दुनिया में एटीएम का महत्व बहुत बढ़ गया है. इसके प्रयोग से बैंकिंग पहले से अधिक आसान हो गयी है. इसकी सहायता से किसी भी समय एक एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं या बैंक के ई कार्नर में जा कर अपने अकाउंट में पैसा जमा भी कर सकते हैं. इस तरह बिना लाइन में खड़े हुए ही बैंक के महत्वपूर्ण कामों को निपटाया जा सकता है. इस समय चलने वाले सभी सरकारी तथा ग़ैर सरकारी बैंक अपने ग्राहकों को एटीएम की सुविधा प्रदान कर रहे है. इसके लिए बैंक सालाना तौर पर कुछ अतिरिक्त शुल्क भी काटता है. अतः कुछ शुल्क देकर एटीएम की सुविधा लेना तात्कालिक समय में एक समझदारी का काम है. 

एटीएम क्या है? (ATM Meaning and full form)

एटीएम एक मशीन है, जिसका पूरा नाम ऑटोमेटेड टेलर मशीन (Automated Teller Machine) है. इसका अविष्कार सन 1960 में ‘जॉन शेफर्ड – बर्रोन द्वारा किया गया था. यह एक ओटोमेटिक बैंकिंग मशीन है, जो ग्राहक को बैंक प्रतिनिधियों की मदद के बिना मूल लेनदेन को पूरा करने की अनुमति देती है. यह दो तरह की मशीन होती है, पहली वह जो ग्राहक को केवल पैसे निकालने और अपने अकाउंट बैलेंस की जानकारी के लिए होती है.

और दूसरी बहुत ही जटिल होती है जो जमा को स्वीकार करती है, क्रेडिट कार्ड भुगतान सुविधा प्रदान करती है और खाता जानकारी की रिपोर्ट देती है. यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है, जिसका उपयोग केवल बैंक ग्राहकों द्वारा खाता लेनदेन को प्रोसेस करने के लिए किया जाता है. उपयोगकर्ता अपने खाते को एक विशेष प्रकार के प्लास्टिक कार्ड के माध्यम से एक्सेस करते है, जो चुम्बकीय पट्टी पर उपयोगकर्ता की जानकारी के साथ एनकोड किया जाता है. पट्टी में एक पहचान कोड होता है, जो मॉडेम द्वारा बैंक के केन्द्रीय कंप्यूटर में प्रेषित होता है. उपयोगकर्ता खाते में प्रवेश करने और खाते के लेनदेन की प्रक्रिया करने के लिए एटीएम मशीन में कार्ड को इन्सर्ट करते हैं.

एटीएम कार्ड क्या है?  (What Is ATM Card )

वस्तुतः एक एटीएम कार्ड वैसा पेमेंट कार्ड होता है, जो किसी आर्थिक संस्थान द्वारा अपने ग्राहकों के लिए ज़ारी किया जाता है, और जिसका प्रयोग ग्राहक एटीएम मशीन में पैसे निकालने, पैसे जमा करने, अकाउंट स्टेटमेंट पता करने आदि के लिए कर पाते हैं. एटीएम कार्ड मुख्यतः दो तरह के होते हैं, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड. एटीएम के लिए डेबिट कार्ड का इस्तेमाल अधिक होता है. जिसकी सहायता से आप उपरोक्त कार्यों को कर सकते हैं.

ATM Card money withdrawal in hindi

एटीएम से पैसे कैसे निकालें (How to Withdraw Money from ATM Card in hindi)

चूंकि इसकी सुविधा लोगों की बैंकिंग परेशानी को हल करने के लिए शुरू की गयी है, तो इसके प्रयोग की प्रक्रिया बहुत ही आसान बनायी गयी. ताकि अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सकें. इसके इस्तेमाल करने की प्रक्रिया का वर्णन नीचे किया जा रहा है,

  • सबसे पहले अपने आवास के सबसे पास वाले एटीएम को ढूंढ लें. जिस बैंक का कार्ड है, उस बैंक का ही एटीएम हो, तो बेहतर है. वैसे फिलहाल किसी भी एटीएम से किसी भी कार्ड की सहायता से पैसे निकाले जा सकते हैं.
  • अब अपना एटीएम कार्ड मशीन में डालें. जिस जगह पर एटीएम डालना होता है, वहाँ आम तौर पर हरी लाइट जलती रहती है. एटीएम को मशीन में सीधे तरीके से डालें वरना मशीन रीड नहीं कर पायेगा.
  • एटीएम रीड करने के बाद मशीन आपको भाषा चयन का विकल्प देगी. एटीएम में मुख्यतः भाषा अंग्रेजी और हिंदी ही चलती हैं. इन दोनों भाषाओँ में से एक अपनी सुविधानुसार चुन लें.
  • एक बार भाषा चुन लेने पर एटीएम आगे की कार्यवाही के लिए पिन की मांग करता है. ये पिन वही पिन है, जो बैंक द्वारा एटीएम के साथ या इसके सन्दर्भ में आपको दी जाती है.
  • पिन डालने के बाद आपके सामने एक नया पेज स्क्रीन पर खुल जाएगा. अब आपको अपने अकाउंट के प्रकार का चयन करना होगा. यदि आपका अकाउंट बचत बैंक खाता (Saving Account) है, तो सेविंग अकाउंट चुने और यदि आपका अकाउंट चालू खाता (Current Account) है, तो करंट अकाउंट पर क्लिक करें.
  • अकाउंट के प्रकार का चयन करने के बाद आपको वो राशि डालनी होगी, जितना आप निकालना चाहते हैं. ध्यान रहे कि विभिन्न बैंक और विभिन्न अकाउंट की पैसे निकालने की सीमा विभिन्न होती है.
  • एक बार राशि डाल कर ओके कर देने के बाद मशीन से आपकी डाली गयी राशि निकल आएगी. ध्यान रहे कि आपने जो राशि डाली है उससे अधिक राशि आपके अकाउंट में जमा होनी चाहिए.
  • इस तरह आपका पहला ट्रांजक्शन पूरा हो जाता है, यदि आप पुनः पैसे निकालना चाहते हैं, तो इसका भी विकल्प वहाँ दिया हुआ रहता है.

एटीएम की विशेषताएं (ATM Features)

  • एटीएम कार्ड में काले रग का मैग्नेटिक स्ट्रिप लगा हुआ होता है. इस स्ट्रिप में कार्ड से संलग्न अकाउंट की समस्त जानकारियाँ होती हैं.
  • एक बार एटीएम कार्ड इसकी मशीन में डालने पर मशीन इसमें निहित सभी डेटा रीड करती है और आगे की कार्यवाही पूरी करती है.
  • इस मशीन को इलेक्ट्रॉनिक डेटा मशीन कहते हैं.
  • इसके अलावा चिप आधारित एटीएम भी मौजूद है. ये एटीएम मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले एटीएम कार्ड से अधिक सुरक्षित और महंगे है.

एटीएम से लाभ (ATM Benefits

  • तात्कालिक समय में इसकी सुविधा देश की सभी छोटी बड़ी बैंकें दे रही हैं.
  • यह इस समय में एक बहुत बड़ी सुविधा है. इसकी सहायता से आप किसी भी समय अपने अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं.
  • एटीएम इस समय शहर में लगभग हर जगह मिल जाता है.
  • सबसे बड़ी बात ये है, कि इसके इस्तेमाल के लिए एक विशेष पिन का इस्तेमाल होता है, अतः यदि एटीएम खो भी जाए, तो किसी तरह का डर नही रहता, क्योंकि उस पिन के बिना कोई भी पैसा नहीं निकाल सकता है.
  • एटीएम बहुत तेज़ काम करता है, अतः पैसे निकालने के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता है.
  • एटीएम 24 घंटे उपलब्ध रहता है.

एटीएम का उपयोग करते समय अपनाई जाने वाली सावधानियाँ ( Precaution During ATM Use or ATM Card Security)

आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देने जा रहे है,  आप जिसे फॉलो करके स्वयं को होने वाले नुकसान से बच सकते है. एटीएम और डेबिट कार्ड की सुरक्षा से जुड़ी समान्य सावधानियां निम्न है-

  • अपने कार्ड को सुरक्षित रखे – आपको अपने कार्ड को नगद रुपयों की तरह सुरक्षित रखना चाहिए. अक्सर देखा गया है कि हम अपने पैसो को तो संभालकर र्रखते है पर हम अपने कार्ड को उतनी सावधानी से नहीं रखते जितना उसे रखना चाहिए और फिर उसके गुम होजाने कि स्थिति में दिक्कतों का सामना करते है.
  • अपने पिन को सीक्रेट रखे – आपको यह बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि आप अपने कार्ड का पिन नंबर किसी के साथ शेयर न करे, ना ही अपने पिन नंबर को अपने कार्ड के साथ लिखकर रखे. आपको अपने पिन नंबर को किसी अन्य व्यक्ति से शेयर करने से भी बचना चाहिए और अगर आपको ऐसा लगता है कि कोई अन्य व्यक्ति आपका पिन जनता है तो आपको तुरंत अपना पिन नंबर चेंज कर लेना चाहिए.
  • अपने कार्ड के संबंध में कोई भी जानकारी किसी भी व्यक्ति के साथ फोन पर शेयर न करे – आजकल टेलीफोन के जरिये कई लोग आपको बेवकूफ बनाकर आपका पिन जानने कि कोशिश करते है और फिर उसका उपयोग करके आपके अकाउंट से पैसे निकाल लेते है. आपको एक बात ध्यान में रखनी चाहिए कि आपका पिन नंबर बहुत ही महत्वपूर्ण नंबर है इसे जानने के अधिकार किसी और को बिलकुल भी नहीं है, आपका बैंक भी इसे आपसे कभी जानने की कोशिश नहीं करेगा. तो अपना पिन नंबर किसी से भी शेयर नहीं करे.
  • अपने कार्ड के संबंध में कोई भी जानकारी डिसक्लोस नहीं करे – आपको अपने कार्ड की जानकारी से संबंधित किसी भी अनचाही मेल का रिप्लाइ कभी नहीं करना चाहिए. किसी भी फ्रॉड को अंजाम देने के लिए ईमेल का उपयोग बेहद आसानी से किया जाता है. परंतु आपको पता होना चाहिए की आपकी पर्सनल डीटेल जैसे आपका डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड नंबर या पिन नंबर जैसी जानकारी किसी अन्य को देना सेफ नहीं है. आपका बैंक आपसे कभी भी ऐसी जानकारी की डिमांड नहीं करता है.
  • आपको इंटरनेट से शॉपिंग करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपकी शॉपिंग की साइट सिक्योर हो – जब भी आप ऑनलाइन शॉपिंग करते है तो आपको हमेशा ही सेक्योर शॉपिंग सिम्बल का ध्यान रखना चाहिए. आप जब भी शॉपिंग करे तो पेमेंट के बाद साइट से लॉगआउट होना नहीं भूले. अगर आप लॉगआउट नहीं होते है तो अपने ब्राउसर को बंद करना बिलकुल ना भूले ताकि आपका पर्सनल अकाउंट का डाटा सुरक्षित रहे.
  • आपने कार्ड के गुम हो जाने या चोरी हो जाने पर तुरंत रिपोर्ट करे – आपके कार्ड की सुरक्षा की जानकारी पूर्ण रूप से आपकी है परंतु यदि आपका कार्ड गुम हो जाता है तो आपको तुरंत इसकी रिपोर्ट कर इसे ब्लॉक करवाना चाहिए ताकि इसका कोई मिस यूस ना हो सके.
  • अपने बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट तुरंत चेक करे – आपको अपने अकाउंट का स्टटमेंट अपने मोबाइल पर उपलब्ध करने की सेवा अपनी बैंक से लेना चाहिए ताकि आप उसे एटीएम का उपयोग करते समय या अन्य किसी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के समय तुरंत चेक कर पाये. अगर आप अपने स्टेटमेंट में कोई भी गलत ट्रांजेक्शन देखते है तो आपको उसकी तुरंत कंप्लेंड करनी चाहिए.

इन सब सावधानियों के अतिरिक्त भी कुछ सावधानियाँ है जिनका ध्यान आपको अपने नजदीकी एटीएम का उसे करते समय रखना चाहिए –

  • आपको कभी भी एटीएम का उपयोग करने से पहले इस बात का ध्यान रखना चाहिए, कि वहाँ का आसपास का वातावरण कैसा है, अगर आपको वहाँ कुछ भी संदिघ्न लगता है, तो आपको उसे छोड़ किसी अन्य एटीएम से अपना ट्रांजेक्शन करना चाहिए.
  • आपको हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए, कि अपने एटीएम में कम समय बिताए, और किसी अन्य अंजान व्यक्ति से अपने ट्रांजेक्शन में मदत नहीं ले और एक बार प्रक्रिया करने के बाद अपने पैसे या अन्य कोई इन्सट्रक्शन नहीं मिलने तक एटीएम छोड़े नहीं.
  • एटीएम मशीन का उपयोग करने के बाद अपना कार्ड बाहर निकालना ना भूले, कई बार मशीन में यह लिखा आता है, कि क्या आप दोबारा ट्रांजेक्शन करना चाहते है, तो नहीं के ऑप्शन को सिलैक्ट करे. और अपने पूरे ट्रांजेक्शन के बाद क्लियर बटन दबाना नहीं भूले.
  • जब आप एटीएम मशीन में आपण पिन नंबर डालते है, तो इस बात का ध्यान रखे, कि यह किसी अन्य को दिखाई ना दे.
  • ट्रांजेक्शन के पहले अपनी एटीएम मशीन को अच्छे से चेक कर ले, कि कहीं इससे कोई अनावश्यक उपकरण तो नहीं जुड़ा है. अगर आप ऐसा देखते है, कि आपकी मशीन में कार्ड डालने के लिए कोई एक्सट्रा उपकरण अटैच किया है या कोई एक्सट्रा कीबोर्ड जुड़ा है, तो उस एटीएम का उपयोग नहीं करे और तुरंत अपनी बैंक ब्रांच में संपर्क करे.

जब आप अपनी शॉपिंग में अपने कार्ड का उपयोग करते है तब भी आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, ताकि आपको वहाँ पर बरती असावधानी से दिक्कतों का सामना ना करना पड़े . तो आपको शॉपिंग के समय कार्ड के उपयोग में निम्न सावधानियाँ रखनी चाहिए-

  • जब आप शॉपिंग करते है तो बिलिंग के समय डेबिट मेथड कि जगह क्रेडिट मेथड का उपयोग करना चाहिए, क्योंकि क्रेडिट मेथड में आपको आपके पिन कि जगह आपके सिग्नेचर करने होते है जिससे आपका पिन सुरक्षित रहता है. और अगर आप डेबिट मेथड का चयन करते है तब आपको पीओएस टर्मिनल का उपयोग करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपका पिन नंबर कोई ना देखे.
  • बिलिंग के समय किसी अन्य व्यक्ति को अपना पिन एंटर नहीं करने देना चाहिए. अगर कोई आपको बिलिंग कि प्रोसैस करवा भी रहा हो तो अपना पिन आप स्वयं ही एंटर करे.
  • काउंटर छोड़ने से पहले अपना रिसीप्ट जरूर चेक करे और यदि ट्रांजेक्शन के बाद आपके पैसे शेष रहते है तो उसे भी कलेक्ट करे.
  • जब आप अपने बैंक का स्टेटमेंट प्राप्त करे तो इसे वैरीफाय अवश्य करे.

 इस तरह से आप इन बातों का ध्यान रखकर सुरक्षित ट्रांजेक्शन कर सकते है. ध्यान रखिए आजकल कि न्यू टेक्नालॉजी वरदान है पर इससे आपकी सुरक्षा केवल आपके ही हाथो में है अगर आप सावधानी बरतेंगे तो आप सेफ रहेंगे.

 

आज के समय में डेबिट कार्ड की जरूरत बहुत बड़ी हैं, लेकिन कई बार इसे साथ में रखना असुरक्षित हो जाता हैं या हम इसे साथ ले जाना भूल जाते हैं, लेकिन हमारे पास हमारा स्मार्ट फोन हमेशा होता हैं. जिसकी मदद से हम  बिना डेबिट कार्ड के एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं, यह सुविधा 2018 में सामने आई हैं और 2019 में यह सभी जगह लागू कर दी जायेगी.

अन्य पढ़े :

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

2 comments

  1. Saving or current account ka matlab

  2. ज्ञानवर्द्धक आलेख पोस्ट किया है आपने.
    उम्मीद है कि आगे भी इसी तरह जीवनोपयोगी आलेख और सूचनाएं मिलती रहेंगी.

    आने वाले नए वर्ष 2015 की अग्रिम शुभकामनाओं सहित,

    अनिल साहू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *