कोरोना वायरस से बचने के लिए घर बैठे बढ़ाएं इम्युनिटी, आयुष मंत्रालय द्वारा ने जारी की गाइडलाइन

कोरोना वायरस से बचने के लिए घर बैठे बढ़ाएं इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता), आयुष मंत्रालय द्वारा ने जारी की गाइडलाइन (AYUSH Ministry Guidelines for Immunity in hindi, Advisory for Coronavirus)

पूरी दुनिया में करोना वायरस के लिए वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया चल रही है।  फिलहाल अभी तक करोना वायरस की वैक्सीन कहीं पर भी नहीं बनी है लेकिन फिलहाल सरकार द्वारा यह गाइडलाइन दी जा रही है कि वे लोग जिनकी इम्यूनिटी अच्छी है, वह आसानी से करोना वायरस से जीत सकते हैं इसीलिए सरकार ने यह अपील की है कि लोग घर में ही बैठे हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करें, तो आज हमारे आर्टिक्ल में हम आपको बताने वाले हैं कि आयुष मंत्रालय ने इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या क्या सलाह अपनाने को कहा है ।

AYUSH Ministry Guidelines for Immunity in hindi

अगर आप देखना चाहते हैं कि आपके प्रदेश में हॉट स्पॉट कौन से हैं तो यहाँ क्लिक  कर  देख सकते हैं कि कोरोना हॉट स्पॉट बनाने के नियम क्या हैं । 

आयुष मंत्रालय के द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार निम्नलिखित तरीकों को अपनाएं जिससे आपकी इम्यूनिटी अर्थात रोग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी

  1. सबसे पहले उन्होंने यह बताया है कि ठंडा पानी ना पिए, पानी को हल्का सा कुनकुना करके ही पिए क्योंकि गर्मी का मौसम आ गया है । ज्यादातर लोग अपने घरों में रेफ्रिजरेटर का पानी इस्तेमाल करने लगे हैं जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है और ठंडा गरम होने की वजह से सर्दी, खासी, बुखार जैसी तकलीफों का सामना करना पड़ता है ।
  2. आयुष मंत्रालय ने यह भी कहा है कि प्रत्येक व्यक्ति को सुबह जल्दी उठकर कम से कम 30 मिनट के लिए योगा, प्राणायाम एवं ध्यान करना चाहिए। उससे मनुष्य के मन और शरीर दोनों की दुर्बलता कम होगी और वे तंदुरुस्त बनेंगे ।
  3. भोजन में पौष्टिक आहार लेने की कोशिश करें, साथ ही मसालों में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन का प्रयोग जरूर करें और कोशिश करें कि ज्यादा तेल एवं घी की सामग्री ना खाएं ।
  4. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए हर्बल चाय का इस्तेमाल भी आयुर्वेद में बताया गया है । साथ ही विभिन्न प्रकार के काढ़े भी उपयोग में लाए जाते हैं, इसके लिए तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी अदरक, मुनक्का जैसी चीजों का इस्तेमाल करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और अपने खाने में नींबू एवं गुड़ का इस्तेमाल करने से भी शरीर स्वस्थ बना रहता है ।
  5. हल्दी का दूध भी शरीर के लिए बहुत ही उत्तम एंटीबायोटिक की तरह काम करता है । इसलिए रोजाना रात को सोते वक्त गर्म दूध में हल्दी डालकर जरूर पिये।  इससे शरीर को काफी लाभ मिलेगा ।
  6. जिन व्यक्तियों को सर्दी खांसी है और गले में खराश हैं, अगर वह भाप लें तो उन्हें काफी आराम मिलेगा भाप लेने के लिए पानी में पुदीने की पत्ती एवं अजवाइन डालकर, उसे उबालें इससे ज्यादा अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।
  7. खांसी के लिए पीसी लोंग, गुड़ या शहद मिलाकर सेवन करें, इससे गले की खराश और सूखा कफ बनना बंद हो जाएगा ।

करोना वायरस संक्रमण से बचने के उपाय

  1. सभी व्यक्तियों को स्वच्छ रहना है और आसपास भी स्वच्छता बनाए रखनी बहुत जरूरी है ।
  2. समय-समय पर बार-बार हाथों को धोना भी बहुत जरूरी है, इसके लिए साबुन का इस्तेमाल करें और 20 सेकंड तक अपने हाथों को अच्छी तरह से रगड़ कर साफ करें।
  3. अपने चेहरे, नाक अथवा मुंह को हाथ ना लगाएं, हाथ लगाने से पहले हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं या सैनिटाइज करें ।
  4. जो भी व्यक्ति बीमार है जिसे सर्दी, खासी एवं बुखार है, उससे एक निश्चित दूरी बनाकर रखेंकम से कम एक मीटर ।
  5. अगर आप खुद बीमार हैं तो भी यही नियम फॉलो करें और दूसरे स्वस्थ व्यक्तियों से एक दूरी बनाकर रखें ।
  6. हंसते और छिकते समय मुंह को हाथों से ढक दें, इसके लिए किसी भी तरह के कपड़े का इस्तेमाल करें और हाथों को अच्छी तरह से धोएं ।
  7. अगर आप किसी बाहर की वस्तु को या सरफेस को छूते हैं तो तुरंत ही हाथ धोए या हाथों को सैनिटाइज करें ।
  8. अगर किसी कारणवश आप घर के बाहर निकल रहे हैं तो चेहरे को कपड़े से ढककर इसके लिए कपड़ा या मास्क किसी भी चीज का इस्तेमाल करें।
  9. अगर आपको लगता है कि आपको करोना वायरस का संक्रमण हो सकता है तो अपने आप को आइसोलेट रखें और तुरंत ही अस्पताल में जाकर संपर्क करें ।

सुपर स्प्रेडर क्या होता हैं यह जानना जरूरी हैं ताकि आप जान सके कि संक्रमित बीमारी कितनी गंभीर होती हैं यहाँ क्लिक करे 

आयुर्वेद के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के उपाय

  1. पौष्टिक आहार और एक अच्छी जीवनशैली के साथ मनुष्य आसानी से अपनी इम्यून सिस्टम को बेहतर बना सकता है ।
  2. इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिए 5 ग्राम अगस्त्य हरित्याकी चूर्ण को दो बार गर्म पानी के साथ जरूर ग्रहण करें
  3. इसके साथ ही 500 मिलीग्राम सम्शामणि वटी दिन में दो बार ले ।
  4. रोजाना सुबह एवं शाम को नाक के छिद्रों में राई का तेल, नारियल का तेल या घी लगाएं । इसे नोजल थेरेपी कहा जाता है , परंतु अधिक मात्रा में इसका उपयोग ना करें ।
  5. नारियल के तेल अथवा तिल ऑइल से 2 या 3 मिनट मुंह में घुमा कर कुल्ला करें, इसके बाद गुनगुने पानी से कुल्ला कर मुंह को साफ करें इसे ऑयल पुलिंग थेरेपी कहा जाता है ।
  6. आयुर्वेद के अनुसार 5 ग्राम त्रिकटु पाउडर तुलसी के पत्ते को 1 लीटर पानी में उबालकर आधा लीटर तक कर दें और एक बोतल में भर कर थोड़ी – थोड़ी देर में इसका सेवन करते रहें इससे भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी ।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए आयुर्वेद और आयुष्मान विभाग द्वारा जो भी उपाय बताए गए हैं ।  वे सभी आपसे इस आर्टिकल में शेयर किए गए हैं । आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भी देश की जनता से अपील की है कि वह आयुष मंत्रालय द्वारा कही गई बातों का ध्यान रखें और उसका इस्तेमाल करें ताकि लोग स्वस्थ बने रहें ।

अन्य पढ़े

  1. बैंक सखी के कार्य
  2. किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये
  3. कोरोना वायरस के दौरान घर बैठे बोर हो रहे बच्चों को व्यस्त करने के तरीके 
  4. इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक 

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *