ताज़ा खबर

आयुष्मान भारत योजना 2018 | Ayushman Bharat Yojana Scheme 2018 in Hindi

आयुष्मान भारत प्रोग्राम योजना 2018  Ayushman Bharat Program Yojana Scheme 2018 (AB-NHPS) in Hindi (5 Lakh Medical Muft Bima) [Toll Free Number] – Modicare in Hindi – National Health Insurance Scheme in Hindi, Empanelled Hospital List, Registration, Application Form

हमारी केंद्र सरकार हमेशा से ही जनता की सेहत के प्रति सजग रही है. पोलियो, टीबी, कुपोषण जैसी कई बीमारियों के प्रति सरकार के प्रयासों से हम अछुते नहीं है. सरकार हर बार अपने बजट में गरीब और जरूरतमंद लोगों के स्वास्थ संबंधित आवश्कता को पुरा करने के लिए कुछ न कुछ नया लेकर आती है. हर साल की तरह इस साल भी केंद्र सरकार ने गरीबों के स्वास्थ से संबंधित लाभ के लिए कुछ घोषणा की है. इस कार्यक्रम को आयुष्मान भारत नाम दिया गया है, इसके अतिरिक्त इसे मोदीकेयर या नमोकेयर स्कीम नाम से जाना जा रहा है.

आयुष्मान भारत प्रोग्राम योजना 2018

लांच डिटेल Launch Detail:

योजना का नाम आयुष्मान भारत
घोषणा की दिनांक 1 फरवरी 2018
लांच दिनांक (Launch date) 25 सितम्बर  2018 और 2 अक्टुबर 2018
घोषणा की गईं वित्त मंत्री अरुण जेटली जी के द्वारा
लाभान्वित 10 करोड़ भारतीय परिवार
संपर्क करे 1800-180-1104

योजना के मुख्य बिंदु (Key Features Of The Scheme) :

  • उचित स्वास्थ्य बीमा सुविधा उपलब्ध कराना : इस योजना की घोषणा का मुख्य उद्देश्य देश में स्वास्थ्य से संबंधित आधारभूत सुविधा उपलब्ध कराना है. इस योजना के लागू होने के पश्चात गरीब व्यक्ति भी बीमारी या अन्य किसी स्थिति में अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कर पायेंगे, ऐसी स्थिति में पैसो की कमी उनके स्वास्थ्य के आड़े नहीं आयेगी.
  • कुल लाभान्वित जनता : इस योजना के द्वारा भारत के करीब 10 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे. एक बार यह बीमा पॉलिसी लेने पर पूरे परिवार के लिए इसका लाभ ले सकते है. इस प्रकार करीब 50 करोड़ लोगों को इसका फायदा मिलेगा.
  • इस योजना के द्वारा पुरे परिवार को सुविधा दी जाएगीं : यह पहली स्वास्थ सुविधा होगी जिसके द्वारा पुरे परिवार को स्वास्थ लाभ दिया जायेगा. अभी तक प्राप्त हुई सूचनओं के अनुसार पूर्व में इसमे परिवार के 5 लोगों को कवर किया जायेगा.
  • कुल बीमा राशि : इस योजना के द्वारा एक परिवार को एक साल में 5 लाख रुपय तक की सहायता दी जाएगी, जिसे जरूरतमंद व्यक्ति विकट परिस्थिति में उपयोग कर पायेगा.

इस योजना के लिए पात्रता (Eligibility Criteria) :

  • गरीब परिवारों के लिए आरक्षण : कोई भी व्यक्ति जिसके पास विकट स्वास्थ्य की परिस्थितियों मे ना तो कोई बीमा पॉलिसी हो ना ही उस व्यक्ति के पास इतना पैसा हो की वह अपना इलाज करवा सके, उस स्थिति में इस योजना के द्वारा वह व्यक्ति सरकार से मदत प्राप्त कर अपना इलाज करवा सकता है.
  • परिवार के सदस्यों की संख्या : शुरुआत में इस योजना के अंतर्गत परिवार के 5 सदस्यों को कवर किया जायेगा, परंतु बाद में इसके अंतर्गत पुरे परिवार को लाभ देने की बात भी कही जा रही है. इस विषय में फ़िलहाल संबंधित समिति में अभी बातचीत जारी है.
  • SECC-2011 डेटा : इस योजना के अंतर्गत केवल वही लोग लाभ ले सकते है जिनका नाम SECC-2011 के अंतर्गत रजिस्टर हो.
  • आधार कार्ड होना आवश्यक है : अगर कोई व्यक्ति इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसके लिए यह आवश्यक है की व्यक्ति का स्वयं का पहचान पत्र उसका आधार कार्ड उसके पास हो. इसके अतिरिक्त व्यक्ति का आधार कार्ड उसके परिवार आईडी से भी लिंक होना चाहिये, अगर ऐसा नहीं होता है तो वह व्यक्ति इस सुविधा से वंचित रह जायेगा.

इस योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति के पास निम्न कागजाद होना आवश्यक है (Important Documents Required) :  

इस योजना के लांच होने में अभी वक्त है, इसलिए सरकार ने इस संबंध में आवश्यक कागजों की सूचि अभी जारी नहीं की है. परंतु कुछ बाते स्वतः ही स्पष्ट है, जैसे व्यक्ति का स्वयं का बैंक एकाउंट होना चाहिये और यह एकाउंट आधार कार्ड से link भी होना चाहिये. जरुरत की स्थिति में पैसे इसी एकाउंट के द्वारा दिये जायेंगे. इसके अलावा व्यक्ति के पास यह दर्शाने के लिए पर्याप्त प्रमाण भी होना चाहियें की वह इस योजना का लाभ लेने के लिए योग्य है. इसके अतिरिक्त अन्य कागजात जैसे पहचान पत्र, परिवार प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र,  उम्र के लिए प्रमाण पत्र और कांटेक्ट डिटेल आदि जमा करना भी अनिवार्य होगा. इसके अतिरिक्त जरुरी कागज की जानकारी इस योजना के लांच होने के बाद ही ज्ञात होगी. 

इस बीमा योजना के तहत प्रीमियम की जानकारी (Premium Amount and Mode Of Payment) :

इस योजना के द्वारा देश के गरीब और जरूरतमंद परिवारों को बीमारी की स्थिति में वित्तीय सहायता की जाएगीं. यह एक तरह की बीमा पॉलिसी होगी जिसका अधिक्तर हिस्सा सरकार की तरफ से दिया जायेगा. इस योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति को इसके अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, और 1100 से 1200 रुपय तक का प्रीमियम भरना होगा. यह प्रीमियम व्यक्ति को सालाना भरना होगा. और यह बीमा पुरे परिवार को कवरेज प्रदान करेगा.

योजना के क्रियान्वयन की प्रक्रिया (Implementation Process) :

इस योजना के क्रियान्वयन की प्रक्रिया केंद्र सरकार द्वारा बताई गयी है, उनके कहे अनुसार इस योजना का क्रियान्वयन 3 चरणों में होगा. इस योजना का प्रथम चरण इसके लांच होने के तुरंत बाद चालू होगा, इस स्थिति में इसमे रजिस्टर व्यक्तियों को कवर करने के लिए सरकार द्वारा 50 प्रतिशत राशि अलोट की जाएगी. इसके लिए केंद्र सरकार ने लगभग 5000 से 6000 करोड़ तक का फण्ड अनुमानित किया है. अब तक इसके अतिरिक्त अन्य कोंई जानकारी सरकार द्वारा नहीं दी गयी है, योजना के लांच होते ही यह जानकारी भी हम सभी को प्राप्त होगी.

योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया (Registration Process Through CSC ) :

अब लाभार्थी सीएससी के द्वारा भारत में आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्टर कर सकते हैं. इसके लिए सभी उम्मीदवारों को अपने पास के सीएससी (CSC) सेंटर में विजिट करना होगा. यहां उन्हें इसका फॉर्म प्राप्त होगा. इससे जुड़ी सारी जानकारी उम्मीदवारों को सीएससी सेंटर में ही मिल जाएगी. आम सेवा केंद्र, लाभार्थियों की पहचान को वेरीफाई करने के लिए केवाईसी दस्तावेजों की स्कैनिंग और अपलोडिंग के लिए भत्ता भी देंगे, एवं इसके माध्यम से लाभार्थी आयुष्मान योजना के परिवार कार्ड को प्रिंट करने में सक्षम भी रहेंगे, जिससे बहुत बड़ा फायदा होगा.

इस योजना के अंतर्गत हेल्थ वैलनेस सेंटर (Health Wellness Center, Empanelment Hospital list) :

इस योजना के द्वारा बेहतर स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रत्येक प्रदेश में चुनिंदा हॉस्पिटल और हेल्थ केयर सेंटर को हेल्थ वैलनेस सेंटर घोषित किया जायेगा और जरूरतमंदो को समय पर सुविधा उपलब्ध कराई जाएगीं. इस योजना के अंतर्गत संपूर्ण देश में लगभग 1.5 लाख हेल्थ वैलनेस सेंटर स्थापित किये जायेंगे ताकि लोगों समय पर सुविधा  मिल सके. इस तरह के सेंटर स्थापित करने के लिए सरकार ने 1200 करोड़ रुपय का बजट तय किया है.

आयुष्मान भारत योजना किन प्रदेेेेश में लॉन्च होगी  (Ayushman Bharat Yojana started from which state)

आयुष्मान भारत के सीईओ इंदु भूषण के अनुसार लगभग 33 राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों ने अब तक अलग – अलग मॉडल में आयुष्मान भारत योजना को लागू करने में रुचि व्यक्त की है. और कुछ राज्यों ने इसमें शामिल होने से इनकार कर दिया है, तो कुछ ने अपनी खुद की स्वास्थ्य सुरक्षा बीमा योजना शुरू करने का फैसला लिया है.

क्र. म. स्थिति मॉडल राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश
 

 

 

 

1.

 

 

 

 

 

योजना का हिस्सा बनने के लिए

बीमा मॉडल के लिए छत्तीसगढ़, हरियाणा, उत्तराखंड, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, मेघालय, नागालैंड, त्रिपुरा आदि राज्य एवं चंडीगढ़, दमन एवं दिउ, दादर एवं नगर हवेली आदि केंद्र शासित प्रदेश
ट्रस्ट मॉडल के लिए आंध्रप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, मध्यप्रदेश, बिहार, लक्षद्वीप, मणिपुर, पुडुचेरी, तेलंगाना, सिक्किम और गोवा आदि राज्य
मिश्रित मॉडल के लिए गुजरात, हिमाचल प्रदेश, केरल, महाराष्ट्र, मिजोरम, राजस्थान और तमिलनाडू आदि राज्य
2.. योजना का हिस्सा नहीं बनने के लिए            – पश्चिम बंगाल, दिल्ली, कर्नाटक, पंजाब, ओडिशा आदि राज्य

उत्तरप्रदेश में अब तक यह फैसला नहीं किया है कि वह किस मॉडल को अपनाना चाहते हैं. किन्तु वह भी इस योजना का हिस्सा है. इस योजना से 10 करोड़ परिवारों के लिए 5 लाख का सलाना स्वास्थ्य कवर प्रदान करने की उम्मीद की गई है, जिसमें 30 से 40 प्रतिशत लाभार्थी उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा और बिहार से होंगे.

UPDATES 

14/04/2018

आयुष्मान भारत प्रोग्राम पर आधारित पहला वेलनेस सेंटर छतीसगढ़ मे खोला गया . इसका अनावरण स्वयं मोदी जी ने किया. यह अनावरण अंबेडकर जयंती के दिन किया गया .

29/04/2018

यह योजना १५ अगस्त से शुरू हो सकती है।

01/06/2018

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा हैं कि स्टेट मे इस योजना के अंतर्गत हॉस्पिटल ओपन किये जायेंगे.

08/06/2018

30 अप्रैल 2018 को आयुष्मान दिवस मनाया गया .

28/6/2018

अभी हाल ही में सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय ने इंदिरा गाँधी नेशनल यूनिवर्सिटी के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर कियें है. इसके अनुसार स्वास्थ्य क्षेत्र में बढती हुई आवश्यकताओं को देखते हुए अगले आने वालें 4 वर्षो में 14 लाख युवाओं को प्रशिक्षित किया जायेगा. इसके तहत स्वास्थ्य क्षेत्र में 10 शार्ट टर्म ट्रेनिंग प्रोग्राम चालू किये गए है, जबकि प्रथम 2700 रेस्पोंडर को 12 अलग अलग राज्यों में प्रशिक्षण प्रदान किया गया है. और इसके आलावा 200 से अधिक मास्टर ट्रेनर और करीब 35 राज्य ऐसे कौर्सेस चलाने के इच्छुक है.

13/8/2018

आयुष्मान मित्र – आयुष्मान भारत योजना के तहत केंद्र सरकार ने आम नागरिकों और लाभार्थियों को बिना किसी परेशानी के योजना का लाभ प्राप्त करने में उनकी सहायता के लिए कम से कम 1 लाख आयुष्मान मित्रों को प्रशिक्षित एवं उन्हें तुरंत तैनात कर भर्ती करने का फैसला किया है. इसके लिए उन्हें हर महिने 15 हजार रुपय दिये जायेंगे, साथ ही 50 रूपये प्रति लाभार्थी प्रोत्साहन दिया जायेगा. इन आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों और चिकित्सा ईलाज सेंटर्स में की जाएगी.

15/08/2018

भारत के प्रधान मंत्री ने आज लाल किले से यह घोषण की की यह योजना 25 सितम्बर से लागू हो जाना चाहिए

अन्य पढ़े:

14 comments

  1. Ramesh Kumar Sharma

    Yojna Garib Tak Nahi Pahuchati Keval Paper Me hi rah Jati Ha

  2. Lallit Kumar Gautam

    Ayushman Bharat Scheme is good Scheme But Scheme ka sahi tareke se paalan hona chaiye taki jaruratmand logo ko eska laabh mil sake.

  3. RAM GOPAL YADAV

    इस योजना के अंतर्गत लोगो का पांच लाख का बीमा किस प्रकार एंव किन लोगो के द्धारा किया जायेगा इसमे पात्र को कैसे पता चले कि वो इस योज्ना के तहत चयनित है और मरीज वेलनेस सेंटर पर किन पर्पत्रो के साथ उपस्थित हो

  4. Ye bhut acchi yojona h sabi garibo ko milna chiye

  5. L.D.Dharmadhikari

    The Yojana is very good but in my opinion the members of EPF-95 pensioner get pension Rs.1000 to 2500 per month and it is very difficult to monthly expenses in pension amount.

  6. what is the start date of ayushman bharat scheme?

  7. यह योजना अनुसार secc 2011 में जो नाम रजिस्टर किया है उसको हि लाभ मिलेगा लेकिन secc 2011 रजिस्टर करणे के लिये क्या उपाय योजना कि थी या कोणसा सर्व्हे किया था ये किसिको मालूम नहीं है ये पहिले जान ले और 2011 अनुसार उसको मान्यता ना दे क्युकी आज भी बहुतसी परिवार इस योजना व्यंचीत हैं जो इस योजना का लाभ नहीं ले सकते ईसलीये मेरी विनंति हैं कि इस योजना रूप secc 2011 से न पंकडॆ यह योजना इस साल से
    सर्व्हे कर के पुनः नाम रजिस्टर करे यही मेरी विनंती है

  8. योजना तो काफी अच्छी है . पर इस योजना का लाभ गरीबो को मिलेगा या नहीं ये देखते है.

  9. खाली घोषणा मत करो.उसकी अंमलबजावणी होनी चाहिए.शासन बहुत घोषणा करती है लेकीन वह योजना तहसिल लेवल पे नही मिलती.वैसे हॉस्पिटल तहसिल लेवल पे नही होते है.यह योजना सरकारी हॉस्पिटल मे मिलनी चाहिए.

  10. what is the start date of ayushman bharat scheme?

  11. आयुष्मान भारत एक अच्छी योजना है। पर, यह कितनी सफल होती है….

  12. ab ke bar nahe mode sarkar jab ilekshan lage dekhne to modi je lage india me dekhne by modi sarkar 2018 last & bjp blast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *