Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

डायनेमिक और हार्डवर्किंग प्रशासनिक अधिकारी बी चंद्रकला का जीवन परिचय | B Chandrakala biography in hindi

B Chandrakala biography in hindi भारतीय राज व्यवस्था को नौकरशाह चला रहे हैं, ये बात हमें अक्सर सुनने को मिलती है. भारतीय प्रशासनिक सेवा के ये अधिकारी देश के लिए नीति निर्माण से लेकर उसे धरातल पर उतारने तक महत्वपूर्ण भूमिका ​का निर्वाह करते हैं. जनता को राहत पहुंचाने से लेकर व्यवस्था बनाए रखने तक सारे महत्वपूर्ण काम इन्हीं अधिकारियों के माध्यम से आम लोग तक पहुंचते हैं. ऐसे में कुछ अधिकारी अपने दैनिक सरकारी कामों की लीक से हटकर व्यवस्था की बुराइयों को दूर करने की कोशिश करते हैं, तो वे अखबारों की सुर्खियां बटोरने से लेकर आम जनता के दिल में जगह तक बना लेते हैं. ऐसे अफसरों की फेरहिस्त में आए दिन नये नाम जुड़ते रहते हैं, इसी सूची में जगह बनाई है उत्तर प्रदेश कैडर की भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी बी. चंद्रकला ने, जो अपनी प्रशासनिक दक्षताओं की वजह से पूरे देश की मीडिया में प्रशंसा की पात्र बनी हुई हैं.

b chandrakala

डायनेमिक और हार्डवर्किंग प्रशासनिक अधिकारी बी. चंद्रकला का जीवन परिचय

B Chandrakala biography in hindi

बी. चंद्रकला का जन्म और शिक्षा (B Chandrakala education)

बी. चंद्रकला का पूरा नाम बी. चंद्रकला नीरू हैं और उनका जन्म 27 सितम्बर 1979 को तेलंगाना राज्य के करीम नगर जिले में हुआ. बी. चंद्रकला ने अपनी स्कूली शिक्षा केन्द्रिय विद्यालय से पूरी की और विवाह के बाद तक अपनी शिक्षा जारी रखी. इन्होंने अपनी स्नातक की उपाधि ओस्मानिया विश्वविद्यालय से पूरी की और वहां भूगोल इनका मुख्य विषय था. इन्होंने इसी विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातकोतर की उपाधि भी ग्रहण की. चंद्रकला विवाहित हैं और इनकी एक बेटी भी है. बी. चंद्रकला भारतीय प्रशासनिक सेवा की 2008 बैच की अधिकारी है और फिलहाल उत्तर प्रदेश कैडर में कार्यरत हैं. वे मथुरा और इलाहाबाद जैसे शहरों में जिला कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट रही, और अपनी कार्यकुशलता से लोगों के बीच लोकप्रिय हुईं.

बी. चंद्रकला का कैरियर और काबिलियत (B Chandrakala IAS)

इस प्रखर आईएएस अधिकारी के काम को पूरी दुनिया के सामने लाने में सोशल मीडिया का अहम योगदान रहा. दरअसल बी. चंद्रकला के अपने बुलंद शहर के कार्यकाल में औचक निरीक्षण का एक वीडियो यूट्यूब और फेसबुक पर वायरल हो गया और लाखों लोगों ने इस युवा अधिकारी को अपने अधिनस्थ अधिकारियों को लापरवाही पर फटकारते हुए देखा. इससे लोगों में एक संदेश गया कि यह नई आईएएस अधिकारी इस व्यवस्था में सुधार करेगी. इस वीडियो ने कलेक्टर की इस महिला कलेक्टर को रातोरात लोगों का चहेता बना दिया. वे अपनी कार्यप्रणाली से हमेशा अखबार की सुर्खियों में बनी ही रहीं.

दरअसल वे अपने काम से भी ज्यादा उन छापेमारी अभियानों के लिए जानी गई जो उन्होंने अपने जिले के सरकारी विभागों पर मारे और सरकारी कर्मचारियों को रंगे हाथों पकड़ा और उन पर कड़ी कार्रवाई की. इसके अलावा उन्हें अपने जिले में स्वच्छ भारत अभियान के सफल क्रियान्वयन के कारण भी पहचान मिली. स्वच्छ भारत अभियान के तहत मेरठ को खुले में शौच से मुक्त कराने के उनके विशेष प्रयासों को खूब सराहना मिली. आम जनता की शिकायतों पर भी चंद्रकला का विशेष ध्यान रहा और उनको उन्होंने प्राथमिकता से दूर किया. उन्होंने पीपल्स कलेक्टर की भूमिका का बखूबी निर्वाह किया. उन्हें अपनी इस मेहनत का परिणाम भी मिला और उन्हें सम्मानित भी किया गया.

दरअसल भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई की शुरूआत ने उन्हें जनता की आंखों का तारा बना दिया जिसे उन्होंने अभी तक जारी रखा हुआ है. स्वच्छ भारत अभियान और खुले में शौच से मुक्त अभियान को उन्होंने अपने बिजनौर के कार्यकाल के दौरान भी जारी रखा. उनकी सख्ती से जिले के लगभग हरेक विभाग प्रभावित हुए. उन्होंने डॉक्टर्स से लेकर पटवारी तक सभी पर अपनी पहुंच सुनिश्चित की, और साथ ही यह भी सुनिश्चित किया कि जिले का हरेक अधिकारी और कर्मचारी अपनी पूरी निष्ठा के साथ जनता की सेवा करे. वे व्यवस्था में आने वाले दबाव के आगे कभी नहीं झुकी और एक चुनाव अधिकारी के तौर पर राज्य के प्रति अपनी निष्ठा का सबूत देते हुए उन्होंने साक्षी महाराज के खिलाफ भी आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कड़ी कार्रवाई की और अपनी विश्वसनीयता में इजाफा किया.

अच्छे काम पर दिल्ली से बुलावा (B Chandrakala in Delhi)

बी. चंद्रकला की प्रसिद्धी का आलम यह रहा कि वे यूपी में काम करने वाले सबसे चर्चित चेहरों में से एक रहीं. वे राज्य के किसी भी राजनेता से ज्यादा लोगों की पसंद बनी रही और फेसबुक पर उनकी चर्चा किसी भी राजनेता की तुलना में कहीं ज्यादा रही. अपनी इसी प्रसिद्धी और काम करने के बेहतरीन तरीके की वजह से केन्द्र सरकार ने उनकी सेवाएं लेने के लिए उन्हें प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली बुला लिया. अब वे केन्द्र सरकार के लिए काम करेंगी, फिलहाल केन्द्र सरकार ने उन्हें उपसचिव पेयजल का काम दिया है.

बी. चंद्रकला लोगों में उम्मीद जगाती है कि अगर आदमी ठान ले तो व्यवस्था में सुधार लाना और इसी व्यवस्था से बेहतर काम लेने में कोई परेशानी नहीं है. वे इस बात की मिसाल हैं कि अगर आप अपना काम ईमानदारी और पूरी निष्ठा से करें तो आपको पूरी दुनिया से सम्मान मिलता है.

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *