विवाह कविता बहना की बिदाई | Bahana Ki Bidai Wedding Kavita In Hindi

Bahana Ki Bidai Wedding Kavita (Poem) In Hindi बहना की बिदाई हिंदी कविता | मेरी प्यारी बहना तेरी शादी की ख़ुशी बहुत हैं मुझे, पर तेरे जाने का गम  भी कुछ कम नहीं | तेरे बिना कोई बात याद ही नहीं | प्यार हो या लड़ाई हर पल तुझसे ही सजा हैं, तेरे होने का अहसास ही मेरी ज़िन्दगी का यादगार लम्हा हैं | सोचा तेरी बिदाई को यादगार बना दूँ अपने दिल के अल्फाज़ो को कुछ पंक्तियों में सजा दू |

Bahana Ki Bidai Hindi Kavita..

विवाह कविता बहना की बिदाई 

Bahana Ki Bidai Wedding Kavita In Hindi

तू हैं कोमल गुलाब की कली,
सूर्य की तीखी किरणों से बनी |
तू चाँदनी सुनहरी,
प्यारी बहना मेरी |
जब तू चली जाएगी,
तेरी याद बहुत सतायेगी |
तेरे आने की आस दिल में ख़ुशी जगायेगी,
कौन मेरी बकवास सुनेगा,कौन मुझे डाट लगायेगा |
अब तो ये मन तूझे बार- बार फ़ोन लगायेगा |
तू मिलने मुझसे चली आना
वरना ये फ़ोन का बिल बहुत आएगा
बिल बहुत आएगा ||

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *