बार कोड क्या होता है, जानकारी | Barcode in Hindi

बारकोड क्या है, के बारे में जानकारी, इतिहास, उपयोग, कैसे बनाते हैं, कैसे काम करता है, मशीन, तरीका, स्कैन कैसे करें [Barcode in Hindi] (Generator, Use, free Online, Machine, How to make, Scan)

आप कहीं शॉपिंग करने जाते है या ऐसे की स्थान पर जाते है जहा पर आपको पैकिंग में सामान मिलता है। क्या आपने कभी देखा की आपको जो भी पैकेट दिया जाता है उसपे काले रंग की पतली और मोटी खडी डंडी लगी होती है, वह होती क्या है। आपके मन में यह सवाल भी जरूर आया होगा की यह लाइन होती क्या है। उस लाइन में कुछ जानकारी छूपी होती है। आपको इस लेख में इसी बार कोड के बारे में बताया जा रहा है। अतः आप इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको इसके संदर्भ में पूरी जानकारी मिल सके। 

barcode kya hota hai in Hindi

बार कोड क्या होता है

बार कोड की परिभाषा की अगर बात करें तो आपको इसके बारे में हम कह सकते है की बार कोड एक मशीन में पढने वाला कोड होता है जो पूरी तरह से एक कोड में परिवर्तित होता है। यह बार कोड लाइन, नम्बर इत्यादि के फाॅर्मेट में होता है। बार कोड में चलने वाली लाइन एक प्रकार से parallel की तरह होती है जो किसी भी प्रिंट प्रोडक्ट के साथ लगी रहती है। 

बार कोड के बारे अगर यह कहाँ जाएँ की यह व्यवसाय के लिए काफी फायदेमंद होती है तो इसमें कुछ गलत बात नही होगी। इस बार कोड की सहायता से किसी भी प्रोडक्ट को आसानी से ट्रैक किया जा सकता है। एक बार कोड में प्रोडक्ट की दर के साथ उस प्रोडक्ट की अन्य जानकारी छुपी होती है। 

जिस बार कोड को देख कर हम इतने परेशान होते है यह सोच कर की आखिर यह कोड होता क्या है। कम्पयूटर इस कोड को काफी आसानी से पढ़ सकता है। इस कोड के उपयोग से एक प्रोडक्ट की पूरी जानकारी पढ़ने में काफी आसानी होती है। 

बार कोड का इतिहास 

यहा तक आपने समझ लिया होगा की बार कोड होता क्या है, तो अब आगे हम देखते है की इस बार कोड का इतिहास क्या है ? बार कोड का इतिहास इतना भी पूराना नही है। आज से तकरीबन 70 साल पहले इस कोड का विकास हो चुका था। जिस तरह से तकनीक बढ रही है उसी तरह इसकी कार्यप्रणाली भी बढ़ रही है। इस कोड का पहली बार इस्तेमाल वैज्ञानिकों को अधिक अधिक जानकारी प्रदान करना था। इस बार कोड का इस्तेमाल आज से पहले 1949 में एक समुद्री किनारे के तट पर हुआ था। ऐसे कोड Joseph Woodland को पहली बार ने बनाया था जो स्वयं एक Mechanical Engineer थे और वे Drexel University में पढ़ाई करते थे, यह कोड से काफी मिलता था। 

बार कोड बनाने का तरीका 

अगर आप भी अपने व्यवसाय के लिए बार कोड बनाना चाहते है तो उसके लिए आप इन आसान से स्टेप्स को फॉलो कर सकते है। 

  • अपने व्यवसाय के या किसी प्रोडक्ट के बार कोड जनरेट करने के आपको सबसे पहले वेबसाइट पर आना होगा। इस वेबसाइट से आप आसानी से बार कोड जनरेट कर सकते है।
  • इस वेबसाइट पर आने के बाद आपको ऑनलाइन बार कोड जनरेट करने का ऑप्शन मिलेगा। इस प्रोसेस के जरिए आप आसानी से अपने बार कोड जनरेट और डाउनलोड कर पाएंगे 
  • इस वेबसाइट पर आने के बाद आपको यहां पर आपको कई तरह के बार कोड जनरेट करने के ऑप्शन मिलेंगे जिससे आप Linear Codes, Postal codes, 2D codes, Banking and Payments Codes इत्यादि प्रकार के बार कोड आसानी से जेनरेट कर पाएंगे। 
  • इतना करने के बाद आपसे कुछ जरूरी जानकारी मांगी जाएगी जिसे आपको भरना होगा और उसके बाद जनरेट Barcode करना होगा, इतने से आसान प्रोसेस के बाद आपके लिए एक बार कोड जनरेट हो जाएगा। 

बार कोड कितने प्रकार के होते है

वैसे तो बार कोड के कई प्रकार होते है परन्तु इसमें मुख्यतः बार कोड दो प्रकार के होते है। जिसमे 2डी और 3डी प्रकार के होते है। बार कोड को स्कैन करने के लिए एक विशेष प्रकार की मशीन की आवश्यकता होती है। जिसे बार कोड रिडर कहते है। 

बार कोड कैसे काम करता है

बार कोड निम्न तरीकों से काम करता है जिसे आप आगे समझ सकते है। 

  • बार कोड एक बार कोड रीडर की मशीन में काम करता है। अगर आप किसी प्रोडक्ट के साथ कोई कोड लगाना चाहते है तो आप इस Barcode को जनरेट कर उसका प्रिंट कर सकते है। इस कोड को चेक करने के लिए एक विशेष प्रकार की मशीन का उपयोग किया जाता है। 
  • बार कोड को फिंगर मशीन से भी स्कैन किया जा सकता है बस उसके लिए कंप्यूटर में एक विशेष प्रकार के सॉफ्टवेयर की जरूरत पडती है। 

बार कोड को रीड करने के लिए मशीन

हा बार कोड का रीड करने के लिए हमेशा एक विशेष प्रकार के स्कूल की और एक विशेष प्रकार के सॉफ्टवेयर की जरूरत पड सकते है। ऐसे में अगर आप किसी बड़े स्तर के व्यवसाय के लिए प्रोडक्ट के लिए बार कोड बनाना चाहते है तो उसके लिए भी एक अलग सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है। 

बार कोड का उपयोग 

बार कोड का इस्तेमाल हमेशा एक विशेष कार्य के लिए किया जाता है जैसे 

  • ग्राहक की जानकारी को पढ़ने व उनके एक सीक्रेट कोड में लोड करने के लिए काम में ली जाती है। 
  • इस कोड को किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है यहा तक की हमारे हाथ में जो नोट होता है उस पर भी बार कोड लगा होता है। 
  • आजकल तो हर चीज मे जैसे टिकट बुकिंग, कार बुकिंग इत्यादी में बार कोड का इस्तेमाल भरपूर किया जाता है। 

इस लेख में आपको बार कोड के बारे में व इसकी प्रक्रिया के बारे में बताया गया है। इस लेख में आपको यह भी बताया गया है की आप किस तरह से अपना स्वयं का एक बार कोड जनरेट कर सकते है। उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा। आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। आप अपने सुझाव हमें नीचे कमेंट करके बता सकते है। 

अन्य पढ़ें –

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here