बेसन के फायदे व उसकी सब्जियां| Besan ki sabji recipe in hindi

Besan ki sabji recipe in hindi बेसन, भारतीय रसोई की एक अनूठी पहचान है जोकि, एक तरह के आटे के रूप में जानी जाती है . ऐसा आटा जोकि चने की डाल से बनाया जाता है. भारतीय परिवार में बेसन के आलूबंडे व भजिये तो अत्याधिक फेमस हैं. बेसन को कई तरह से रसोई में उपयोग किया जाता है, और बहुत ही स्वादिष्ट व्यंजन बनाये जाते है.

  • बेसन का कैलोरी चार्ट
  • बेसन की सब्जियों की विधी
  1. राजस्थानी गट्टे की सब्जी
  2. पितोड़/पतोंडी की सब्जी
  3. अरबी के पत्ते की सब्जी
  • रसोई में बेसन के उपयोग
  • बेसन से सावधानियां

besan ki sabji

बेसन का कैलोरी चार्ट

हर वो चीज़ जिसका प्रयोग हम खाने में करते है, उसकी मात्रा तथा उसके सेवन से लाभ या हानि हमें मालूम होना चाहिये . जिसको मापने का सबसे अच्छा तरीका है उसका कैलोरी चार्ट. बेसन का  कैलोरी चार्ट निम्न है –

मुख्य नुट्रीशियन तथ्य100 gm
कैलोरी380 kcal
फैट15 %
कार्बोहाइड्रेट60%
प्रोटीन25%

बेसन की सब्जियां

Besan ki sabji recipe in hindi

  1. राजस्थानी गट्टे की सब्जी (Rajasthani gatte ki sabzi recipe)

राजस्थान मे बहुत ही प्रसिद्ध है गट्टे की सब्जी बनाने के लिए हमे कुछ सामान की आवश्यकता होगी, जो इस प्रकार है-

गट्टे का आटा तैयार करने की विधी-

सामग्रीमात्रा
बेसन1 कप (200 ग्राम)
अजवायन¼ TSP
दही1 TBSP
तेल1 TBSP
लाल मिर्च पाउडर½ TSP
नमकस्वादानुसार

भरावन के लिये सामग्री–

सामग्रीमात्रा
मावा(खोया)आधा कप (100 ग्राम)
काजू7-8 पिस
किशमिश7-8 पिस
काली मिर्च पाउडर¼ TSP
नमकस्वादानुसार

राजस्थानी गट्टा ग्रेवी के लिये (Rajasthani gatta curry)–

सामग्रीमात्रा
तेल2 TBSP
भुना जीरा½ TSP
हींगएक पिंच
अदरक का पेस्ट½ TSP
हरी मिर्च1 TSP
टमाटर2 (पिसे हुए)
हल्दी पाउडर½ TSP
मिर्च पाउडरस्वादानुसार
धनिया पाउडर1 TSP
कसूरी मैथी1 TSP
गरम मसाला¼ TSP
नमकस्वादानुसार
दही1 कप
हरा धनिया और क्रीमगार्निशिंग के लिये

राजस्थानी गट्टे की सब्जी बनाने की विधी (Rajasthani gatte ki sabzi vidhi )

  • बेसन मे अजवायन, मोयन के लिये तेल,दही, तथा स्वाद के लिये मिर्ची व नमक डाले और थोडा कड़क आटा गुथे |
  • आटे को 15-20 मिनिट के लिये रख दे और फिर पतली लंबी रोटी बना कर रुमाल से ढक दे |

भरावन के लिये –

  • मावा लें और उसे अच्छे से मिक्स करें फिर उसमें काजू के बहुत छोटे-छोटे तुकडे करके डालें,तथा साथ ही किशमिश,काली मिर्च पाउडर,नमक डाल कर मेंश करें.
  • अब जो बेसन की रोटियां बनाई है, उसमें यह भरावन भरें तथा रोल बना लें. ध्यान रहे गट्टे के रोल अच्छे से, पैक करें कहीं से भी रोल खुला ना हो.

गट्टे उबालने की विधी –

  • एक बर्तन जिसका तला नीचे से भारी हो वह लें और उसमें आधे से थोडा सा ज्यादा पानी डालें तथा उसे ढक कर रख दें .
  • पानी को अच्छी तरह उबलने दें तथा उस उबलते पानी में एक-एक कर गट्टे के रोल को डालें और ढक दें .
  • गट्टे को बीच में एक से दो बार हल्का सा किसी पतली लंबी वस्तु से हिलाये तथा दस से पन्द्रह मिनिट के लिये उबलने दें| जब गट्टे फूल कर ऊपर आ जाए तथा कलर बदल जाये तब समझ लीजिये की गट्टे बन चुके है .
  • अभी गैस बंद करें तथा गट्टे को छलनी में डालें और उपर से थोडा सा ठंडा पानी डाल कर तेल का हाथ लगा कर प्लेट में ठंडा होने दें और ठंडा होने के बाद लगभग एक-एक इंच के पिस कट कर लें .

राजस्थानी गट्टा ग्रेवी की विधी (Rajasthani gatta curry vidhi)–

  • एक कड़ाई में दी गई मात्रा के अनुसार तेल डालें और गरम होने रख दें. अब उसमें जीरा डालें फिर हींग, अदरक तथा हरी मिर्च का पेस्ट डालें , अब उसमें टमाटर का पेस्ट डालें और अच्छी तरह धीमी-धीमी आंच पर उस प्यूरी की सिकाई होने दें और उसे बीच-बीच में हिलाते रहे .
  • प्यूरी जब तेल छोड़ने लगे, तब उसमें हल्दी, मिर्ची, धनिया,कसूरी मैथी डालें व गरम मसाला डालें .
  • अब दही डालें और अच्छे से मिक्स करें तथा उबाल आने पर नमक डालें.
  • सबसे आखरी में गट्टे डालें तथा उसे मिक्स करें और एक उबाल आने दें .
  • सब्जी को बाउल में निकालें हरा धनिया और क्रीम से गार्निश कर सर्व करें .

पितोड़/पतोंडी की सब्जी (Pitod / patodi ki sabji recipe)

पतोंडी बनाने की सामग्री –

सामग्रीमात्रा
बेसन1 कप (200 ग्राम)
हींग1 पिंच
छाछ(बटर मिल्क)¼ कप
तेल1 TSP
लाल मिर्च पाउडर½ TSP
नमकस्वादानुसार
पानी2 कप

पितोड़ की ग्रेवी के लिये –

सामग्रीमात्रा
तेल2 TBSP
भुना जीरा½ TSP
हींगएक पिंच
अदरक का पेस्ट½ TSP
हरी मिर्च1 TSP
लहसुन का पेस्ट1 TSP
प्याज2 बारीक़ कटे हुये
टमाटर1 बारीक़ कटा हुआ
हल्दी पाउडर½ TSP
मिर्च पाउडरस्वादानुसार
धनिया पाउडर1 TSP
कसूरी मैथी1 TSP
गरम मसाला¼ TSP
नमकस्वादानुसार
दही1 कप
हरा धनिया और क्रीमगार्निशिंग के लिये

पतोंडी बनाने की विधी (Pitod/ patodi ki sabji banane ki vidhi )–

  • सबसे पहलें बेसन को अच्छी तरह छान लें तथा उसमें बटर मिल्क डालें और अच्छे से मिक्स करें, जिससे उसमें दाने या गुट्लिया नहीं पड़े .
  • अब उस मिश्रण में पानी मिक्स करें तथा हींग,लाल मिर्च,नमक स्वादानुसार डालें और मिक्स करें .
  • अब एक भारी तलें की कड़ाई लें तथा उसमें तेल डालें . तेल गरम होने पर उसमें यह मिश्रण डालें .
  • ध्यान रहे इस मिश्रण को लगातार चलाते रहे तथा इस मिश्रण को गाढ़ा होने तक चलाये . अब इसे ढक कर पांच से दस मिनिट तक रख दें.
  • एक प्लेट में तेल लगाये तथा थोडा ठंडा होने पर यह मिश्रण इसमें फैला दें . मिश्रण थोड़ी मोटी लेंयर में फैलाये और पूरी तरह ठंडा होने पर मन चाहे आकार में काटें.

पतोंडी की ग्रेवी की विधी ((Pitod/ patodi Curry Vidhi) –

  • एक कड़ाई में दी गई मात्रा के अनुसार तेल डालें और गरम होने रख दें| अब उसमें जीरा डालें फिर हींग, अदरक तथा हरी मिर्च व लहसुन का पेस्ट डालें .
  • अब उसमें प्याज डालें और थोडा पकने दें, फिर टमाटर डालें और अच्छी तरह धीमी-धीमी आंच पर उस मसाले को पकने दें और उसे बीच-बीच में हिलाते रहे .
  • मसाला जब पक जाये तब उसमें हल्दी, मिर्ची, धनिया,कसूरी मैथी डालें व गरम मसाला डालें .
  • अब दही डालें और अच्छे से मिक्स करें तथा उबाल आने पर नमक डालें .
  • सबसे आखरी में पतोंडी डालें तथा उसे मिक्स करें और एक उबाल आने दें .
  • सब्जी को बाउल में निकालें हरा धनिया और क्रीम से गार्निश कर सर्व करें .

पतोंडी का रायता  (Pitod/ patodi Raita)–

पतोंडी बनाने की विधी उपरोक्तानुसार ही रहेगी. उसी पतोंडी के द्वारा रायता भी बनाया जा सकता है, जिसकी सामग्री और विधी निम्न है –

रायते की सामग्री-

सामग्रीमात्रा
दही1-½ कप
काली मिर्च पाउडर1 TSP
भुना जीरा पाउडर½ TSP
पिसा पुदीना½ TSP
हरी मिर्च1 पिस
शक्करस्वादानुसार
नमकस्वादानुसार
पितोड़½ कप

रायता बनाने की विधी –

  • दही को अच्छी तरह फैट लें, उसमें उपरोक्त सभी सामग्री डालें तथा शक्कर व नमक स्वादानुसार डालें .
  • सबसे आखरी में पितोड़/पतौडी के पिस करें और सर्व करते टाइम मिक्स करें और गार्निशिंग करें .

अरबी के पत्ते की सब्जी  (Arbi vegetable ki sabji)

अरबी जोकि, एक तरह की सब्जी होती है . अरबी को उगाने के बाद उसमें सबसे पहले पत्ते आते है, जो देखने में हरे रंग के और काफी बड़े होते है . इन पत्तों को कई तरीके से रसोई में उपयोग किया जाता है. आज हम अपने इस अंक में आपको अरबी के पत्तों की सब्जी की विधी बता रहे है, जो इस प्रकार है.

अरबी के पत्ते बनाने की सामग्री-

सामग्रीमात्रा
अरबी के पत्ते3-4
बेसन1 कप
अजवायन½ TSP
हींग1 पिंच
लाल मिर्च पाउडर1 TSP
नमकस्वादानुसार

अरबी के पत्ते की सब्जी के तड़के की सामग्री –

सामग्रीमात्रा
तेल2 TBSP
राई2 TSP
तिल्ली2 TSP
हरी मिर्च3-4 पिस
हल्दी1 TSP
लाल मिर्च पाउडर1½ TSP
धनिया पाउडर2 TSP
लेमनस्वादानुसार
शक्करस्वादानुसार
किसा हुआ नारियल1TBSP
नमकस्वादानुसार

अरबी के पत्ते बनाने की विधी –

  • सबसे पहले बेसन को छान लें तथा उसमें पानी डाल कर उसका गाढ़ा मिश्रण तैयार करें .
  • अब उस मिश्रण में अजवायन,हींग,लाल मिर्च, व नमक स्वादानुसार डालें, और रख दें .
  • अरबी के पत्ते लें कर उसे पानी से धो लें और पतले कपड़े से साफ कर लें.
  • अरबी के पत्तों को उल्टा कर उसे फोल्ड कर लें तथा जो मोटी डंडी है, उसे कट कर लें, अब पत्ते दो भाग में बट जायेंगे.
  • एक-एक कर उस पत्ते पर बेसन का मिश्रण जो तैयार किया गया है उसे, स्पून से लगायेंगे .
  • सबसे महत्वपूर्ण बात जोकि पत्ते को फोल्ड करते समय ध्यान देनी है , मिश्रण लगाने के बाद जो पत्ते का लंबा भाग है, दोनों सिरे उसे फोल्ड करें. उसके बाद उपर के सिरे से फोल्ड करते हुए उसे अच्छी तरह पैक करें .
  • इसी तरह सभी पत्तों को फोल्ड करके रखे . एक मोटे तले के बर्तन में पानी लें तथा उसे गरम होने रखें. उस पर छलनी रखें| उस छलनी पर एक-एक करते हुए पत्ते जो रोल किये थे वो रखे . ध्यान रहे पत्ते एक के उपर एक ना रखें. अब उस बर्तन को ढक दें .
  • 15-20 मिनिट भाप में रखें , अब उसे देंखे की वह पक चुके है या नहीं . ध्यान रहे पत्ते का रंग बदल जायेगा तथा एक पत्ता निकल कर चेक कर लें .
  • अब पत्तों को ठंडा होने दें, ठंडा होने पर उसके लगभग कम से कम एक इंच की साइज़ के कट कर लीजिये .

तड़के की विधी –

  • कड़ाई मे तेल ले और उसे गरम होने दे | अब उसमे राई,तिल्ली, और हरी मिर्च डाले |
  • अब जो पत्ते कट किये है वो डाले तथा बाद मे हल्दी, लाल मिर्च, धनिया पाउडर डाले अब उसमे अपने स्वादानुसार खट्टा-मीठा डाले |
  • और सबसे आखरी मे खोपरे का भूरा डाले और सर्व करे |

नोट – ठंडे मौसम मे इसे बना कर 3-4 दिन तक उपयोग कर सकते है |

रसोई मे बेसन के उपयोग (Besan ke fayde and upyog)

बेसन आटे के रूप में उपयोग किया जाता है. यह एक ऐंसा आटा है, जोकि हर रूप में बदल जाता है और हर तरीके से उपयोग किया जाता है . पूड़ी/पराठे से लेंकर, सब्जियों में,तीखे में, मीठे में और हर तरीके के स्नैक्स में इसका प्रयोग किया जाता है.

बेसन के कुछ उपयोगी टिप्स –

  • जब भी किसी सूखी सब्जी में नमक तेज हो जाये तो, उसमें बेसन डाल कर उसे बनाये, नमक कम हो जायेगा और सब्जी का स्वाद बड़ जायेगा.
  • जब भी कभी ट्रेवलिंग पर जाना हो तब सूखे बेसन की सब्जी या पूड़ी लें जाएँ, ये अधिक दिन तक चलेंगी .
  • जब भी लौकी, मेंथी या अन्य किसी चीज़ के पराठे बनायें, उसमें बेसन का उपयोग करें. सब्जी जो पानी छोड़ती है, बेसन उसे सोख लेता है और स्वाद बड़ जाता है .

बेसन उपयोग करने समय ये सावधानियां रखें –

बेसन का उपयोग करने से पहले, उसकी मात्रा का भी ध्यान रखे . बेसन कई बार नुकसान भी करता है और कई लोगो को सूट भी नहीं होता .

  • बेसन का उपयोग करते समय उसमें अजवायन और हींग का प्रयोग करें.
  • रात्री के समय इसका सेवन ना करें .
  • बेसन के उपयोग के बाद गरम पानी पी लें .
  • अपच या गैसस्ट्रीक की समस्या या अन्य पेट से जुड़ी समस्या हो, तो बेसन का सेवन बिल्कुल ना करें.

अन्य रेसिपी के बारे में पढ़े:

Updated: May 31, 2016 — 11:23 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *