जानिए क्या है बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच

बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच क्या है? (बॉक्सिंग डे का मतलब, इतिहास, क्यूँ मनाते हैं) (What is Boxing Day Test Match in hindi, History, Meaning)

बॉक्सिंग डे’ नाम से ऐसे प्रतीत हो रहा है की यह खेल-कूद से जुड़ा कोई दिन है पर ऐसा बिलकुल नहीं है. अगर बॉक्सिंग डे के इतिहास के बारें में पढ़ा जाए तो यह बिलकुल इसके उल्ट है. आज हम इस आर्टिकल में आपको इसी उनुठे दिन के बारें में बताने वाले है. यहाँ आपको बॉक्सिंग डे से जुड़े अनेक रोचक तथ्यों से रूबरू करवाया जाएगा. मुझे यकीन है की यह पढने के बाद आपको बॉक्सिंग डे के बारे में पूरी जानकारी मिल जायेगी. और आप भी कहेंगे की यह मुक्केबाजी एंव किसी खेल से जुड़ा दिन नहीं बल्कि एक राष्ट्रीय पर्व है. आइये जानते है की ‘बॉक्सिंग डे’ क्या है और इसे कैसे मनाया जाता है. खेल के साथ इसे कैसे जोड़ा गया इसके बारें में यहाँ आप पढ़ पायेंगे –

boxing day meaning hindi

परिचय  विवरण
नाम बॉक्सिंग डे
कब मनाया जाता है 26 दिसंबर  
कौन मनाते है इसाई धर्म के लोग
कहां मनाया जाता है कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यजीलैंड एंव साऊथ अफिरका के लोग
उद्देश्य गरीबो की मदद करना
कैसे मनाया जाता है  बॉक्स में गरीबों के लिए सामान रखा जाता है
खेलकूद में बॉक्सिंग डे की अहमियत इस दिन अनेक देशों में खेलों का आयोजन किया जाता है.

बॉक्सिंग डे क्या है ?

बॉक्सिंग डे क्रिसमस डे के ठीक दुसरे दिन यानी 26 दिसंबर को मनाया जाता है. मान्यता है की यह उन कर्मचारियों के लिए होता है जो क्रिसमस के दिन भी कार्य करते है और उन्हें क्रिसमस के दुसरे दिन बॉक्सिंग डे के रूप में अवकाश दिया जाता है. एक मान्यता यह भी है की क्रिसमस के दिन चर्च में एक बॉक्स रखा जाता है और उस बॉक्स में लोग जरूरत का सामान छोड़ देते है. क्रिसमस के दुसरे दिन उस सामान को गरीबो में बांटा जाता है. इसलिए इस दिन को बॉक्सिंग डे कहा गया है. अब इस दिन को खेल से भी जोड़ दिया गया है.

क्रिसमस पर कविता यहाँ पढ़ें

बॉक्सिंग डे का मतलब  (Boxing Meaning)

बॉक्सिंग डे दो शब्दों से मिलकर बना है इसमें बॉक्स एक डिब्बे को भी कहा जा सकता है इसलिए बहुत से लोग गिफ्ट को बॉक्सिंग डे के दिन एक दुसरे को देते है. आप जानते है कि गिफ्ट एक बॉक्स में पैक होता है इसलिए इसे बॉक्सिंग डे भी कहा जाता है.

बॉक्सिंग डे इन देशो में मनाया जाता है

हमारे भारत में बॉक्सिंग डे कभी नहीं मनाया जाता है, हालाँकि अब चर्चा है की इसे खेलों के साथ जोड़कर बॉक्सिंग डे के रूप में मनाये जाने की परम्परा शुरू की जा रही है. अनेक ऐसे देश है जो 26 दिसंबर को बॉक्सिंग डे के रूप में मनाते है यह देश – कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड एंव साउथ अफ्रीका है. इन देशो में बॉक्सिंग डे को बहुत महत्व दिया जाता है और बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है.

क्रिसमस डे क्यों मनाते हैं यहाँ जानें

बॉक्सिंग डे का इतिहास

बॉक्सिंग डे का इतिहास 800 साल पुराना है, मान्यता है की जो लोग अमीर लोगों के घरो में नौकर होते है वह क्रिसमस के दिन अपने घर अपने परिवार के पास नहीं जा पाते है. क्रिसमस के अगले दिन अमीर लोग अपने घर के नौकरों को एक बॉक्स में घर के लिए खाना, मिठाई एंव पैसे दिया करते थे और क्रिसमस के दुसरे दिन यानी 26 दिसंबर को नौकर अपने परिवार से मिल पाता था. ऐसे में इस दिन को नौकर लोग बॉक्सिंग डे के रूप में मनाया करते थे. आज यह परम्परा लुप्त हो गई है और बॉक्सिंग डे को एक नए तरीके से मनाया जाने लगा है. इस दिन अनेक देशो में खेल-कूद प्रतियोगिता करवाई जाती है.

बॉक्सिंग डे को खेल-कूद से कैसे जोड़ा गया

माना जाता है की एक समय ऐसा था जब क्रिसमस के दिन सभी अपने परिवार के साथ व्यस्त होते है और अमीर लोगों के घरों में काम करने वाले एंव बैंक कर्मचारी अपना काम क्रिसमस के दिन भी किया करते थे. उस वक्त क्रिसमस की बैंक में छुट्टी नहीं होती थी. ऐसे में दुसरे दिन 26 दिसंबर को बॉक्सिंग डे का निर्माण किया गया और कर्मचारियों एंव नौकरों को छुट्टी दी गई. ऐसे में उसी वक्त विक्टोरिया में एक खेल का आयोजन हो रहा था और मैदान में इस दिन बहुत भारी भीड़ हुई अनुमान लगाया जाता है की इस दिन 82 हजार से भी ज्यादा दर्शक उस मैदान में शामिल थे. ऐसे में खेल-कूद प्रतियोगिता के लिए यह दिन सबसे अच्छा माना जाने लगा और अनेक बड़ी संस्थाओ ने इस दिन खेल-कूद प्रतियोगिता की शुरुआत कर दी और बॉक्सिंग डे खेल कैलेंडर की मुख्य तारीख बन गई.

विद्यार्थी जीवन में खेल कूद का महत्व यहाँ जाने

बॉक्सिंग डे पर मुख्य खेले जाने वाले खेल

यूनाईटेड किंगडम की तरफ से अनेक ऐसे खेलों का इस दिन आयोजन किया जाता है. एंव इस दिन लाखों करोड़ों लोग इस खेल का लुत्फ़ उठाते है. इस दिन मुख्य रूप से इन खेलों का आयोजन होता है जैसे – क्रिकेट, फुटबाल, हौर्स रेस एंव दौड़ जैसी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है.

इस दिन चर्च में भी मनाया जाता है बॉक्सिंग डे

बॉक्सिंग डे को चर्च में भी बहुत ही शानदार तरीको से मनाया जाता है. चर्च में एक बॉक्स रखा जाता है जिसमे अमीर लोग क्रिसमस के दिन गरीबो के लिए कुछ सामान, गिफ्ट और रुपये छोड़ जाते है. इस बॉक्स को क्रिसमस के अगले दिन यानि 26 दिसंबर को खोला जाता है और चर्च द्वारा निर्धारित लोग उन सभी चीजों को इकट्ठा करके गरीबो में बांटते हैं. गरीब लोगों के लिए यह दिन बहुत ही अच्छा एंव बहुत ही शानदार होता है इस दिन उन्हें बॉक्स खुलने का बहुत इंतजार होता है. यह विश्व की सभी चर्च में मनाया जाता है और भारत में भी ऐसी चर्च मौजूद है जहाँ पर बॉक्सिंग डे मनाया जाता है.

बॉक्सिंग डे खेल से जुड़ा दिन तो नहीं है पर इस दिन अनेक खेलों का आयोजन किया जाता है. बिक्सिंग डे गरीबों के लिए बहुत ख़ास होता है, क्योंकि इस दिन उनके लिए जरूरी सामान मिलता है और वह इसी सामान से अपना पूरा साल निकालते है. कुछ लोग गरीबो के लिए स्वेटर, कपड़े, जूते एंव रोजमर्रा में काम आने वाली चीजें बॉक्स में छोड़ते है ताकि गरीबों को अपना जीवन यापन करने में परेशानी ना हो. हम बॉक्सिंग डे को एक मुहीम बता सकते हैं जो गरीबों के भले के लिए है.

Other links –

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *