गाजर खाने के फायदे एवम उपयोग | Carrots Health Benefits, nutrition, diet and risks in hindi

गाजर खाने के सेहत बालों व त्वचा के लिए फायदे एवम उपयोग (Carrots Health, Hair, skin Benefits, nutrition, diet and risks upayog in hindi)

जीवन जीने के लिये, शरीर का स्वस्थ होना बहुत जरुरी है. स्वस्थ रहने के लिये, शरीर मे हर चीज की मात्रा या संतुलन होना, बहुत आवश्यक है. जीवन की हर एक वस्तु बहुत उपयोगी होती है. परन्तु , एक संस्कृत की कहावत है बहुत पुरानी, अति सर्वत्र वर्जयेत् अर्थात् किसी भी चीज़ की अति, नुकसानदायक होती है. शरीर को स्वस्थ रखने के लिये, फल-सब्जिया बहुत ही उपयोगी सिद्ध हुई परन्तु, वो भी एक सीमित मात्रा मे, ही लेना चाहिये .

carrot benefits

गाजर के बारें में पूरी जानकारी

गाजर बहुत ही उपयोगी, सब्जियों मे से एक है . जो पहले के समय मे, विशेष रूप से सर्दियों के मौसम मे, मिलती है, पर बदलते समय के साथ, अब बारहमासी सब्जीयों मे से एक हो गई है . गाजर का हलवा भी बहुत लाभकारी होता है. गाजर अपने आप मे, बहुगुणी सब्जी है जो, शरीर के कई अंगो के लिये फायदेमंद साबित हुई है . इसी के साथ गाजर कई बीमारियों मे, रामबाण औषधि के रूप मे, भी साबित हुई है .

  • गाजर का कैलोरी चार्ट
  • गाजर की बहुमुल्यता
  • गाजर के उपयोग के तरीके

गाजर का कैलोरी चार्ट (Carrots calorie chart)–

भागमभाग की इस दुनिया मे, हर व्यक्ति कही ना कही, एक कैलकुलेशन लेकर चलता है जोकि, शरीर के लिये भी बहुत जरुरी है . डॉक्टर भी सबसे पहले कैलोरी चार्ट बना कर देते है जिससे, शारीरिक संतुलन बराबर चले . किसी भी चीज़ की ना तो कमी हो, ना ही अति हो . उसी तरह गाजर का कैलोरी चार्ट, नीचे दिया गया है .

गाजर की मात्रा : 100 ग्राम

नुट्रीशियनअमाउंट
बेसिक कंपोनेंट्स 
प्रोटीन.10 gm
वाटर4.7gm
कैलोरीज 
टोटल कैलोरीज40
कार्बोहाइड्रेट 
टोटल कार्बोहाइड्रेट12 g
शुगर4.5 g
फैट एंड फैटी एसिड्स 
टोटल फैट49g
विटामिन्स 
विटामिन्स A330%
विटामिन्स C10%
विटामिन्स B66%
मिनरल्स 
कैल्शियम5%
आयरन2 %
मैग्नीशियम5%
फॉस्फोरस1        %

गाजर की बहुमुल्यता (carrot health benefits )–

बुहुमुल्य और उपयोगी सब्जियों मे से, एक गाजर है . जिसे कई तरीके से, उपयोग कर कई बीमारियों से, बचा जा सकता है .

ब्लडप्रेशर-

ब्लडप्रेशर वाले मरीज अपनी दिनचर्या मे, गाजर को जरुर शामिल करे . प्रतिदिन दो गाजर भोजन के पूर्व ले .

कोलेस्ट्राल –

कोलेस्ट्राल की समस्या, एक उम्र के बाद हर किसी के शरीर मे, ख़ास कर ओवर वेट वाले व्यक्ति को होती है . जो आगे जाकर गंभीर बीमारी का रूप ले लेती है जिसके, लिये शाम के भोजन की बजाय गाजर के जूस का सेवन करना चाहिये .

कैंसर

बहुत बड़ी समस्याओं मे से एक है कैंसर . बीटा-कैरोटीन से कैंसर का खतरा कम होता है . गाजर के अन्दर ,बीटा-कैरोटीन की एक अच्छी मात्रा होती है जिसके, सेवन से कैंसर जैसी समस्या से भी, लड़ा जा सकता है .

डाईजेशन –

डाईजेशन किसी बीमारी से कम नही है . डाईजेशन के असंतुलन शरीर मे, कई बीमारियों को उत्पन्न भी कर सकता है और, सही डाईजेशन शरीर की बीमारी को खत्म भी कर सकता है . सुबह खाली पेट गाजर के जूस के सेवन से, पेट और डाईजेशन जैसी समस्या खत्म होती है .

डायबिटीज

डायबिटीज आज ऐसी बीमारी है जो, हर उम्र के व्यक्ति को हो सकती है . इसके लिये जितना अधिक से अधिक, सलाद और सात्विक भोजन का सेवन होगा, उतनी डायबिटीज कंट्रोल मे रहेगी .

स्किन व आखों के लिये

गाजर मे कई विटामिन होते है जिसके, सेवन से बहुत फायदे होते है . आखों की रोशनी बढ़ाने और स्किन की चमक दोनों बरकरार रहती है .

प्रतिदिन दो से तीन गाजर का सेवन, किसी ना किसी रूप मे हर किसी को , ख़ास कर युवा वर्ग को करना ही चाहिये .

गाजर के उपयोग के तरीके  (carrot uses )

  • एक ग्लास गाजर का जूस निकाल कर, प्रातः खाली पेट लेने से ,डाईजेशन से संबंधित समस्या दूर होती है, व वजन कम होता है .
  • आधी गाजर , दो टमाटर , दो पिस चुकुन्दर के इनको उबाल कर, सूप बनाकर सायंकाल ले . इससे आखों की रोशनी बढती है .
  • आधी गाजर को कद्दूकस कर के उसका जूस निकाल ले , उस जूस मे पपीते का एक चम्मच पल्प थोडा सा मिल्क मिला कर 15-20 मिनिट फेस पर लगाये और धोले .
  • चार चम्मच गाजर का जूस, एक पिंच दालचीनी पाउडर और आधी चम्मच शहद मिला कर 10 मिनिट फेस पर लगाये .
  • गाजर चार से पांच चम्मच जूस , दो चम्मच बेसन, एक पिंच हल्दी, चाहे तो दही भी मिक्स कर सकते है इसे हफ्ते मे, दो से तीन बार उपयोग करे.
  • भोजन के आधा घंटा पूर्व, एक गाजर का सेवन किसी भी रूप मे ,सलाद मे ले जो, कई बीमारियों के लिये फायदेमंद सिद्ध हुई है .

देखा जाये तो, गाजर के उपयोग के और भी बहुत से तरीके है परन्तु ,एक सीमित मात्रा मे और अपने चिकित्सक की सलाह पर ही, इसका सेवन कर सकते है . गाजर बच्चो को किसी ना किसी रूप मे चाहे जूस, सलाद, केक, हलवा या कोई अन्य डिश के रूप मे दे पर इसका सेवन जरुर करे .

अन्य पढ़े:

Priyanka
प्रियंका खंडेलवाल मध्यप्रदेश के एक छोटे शहर की रहने वाली हैं . यह एक एडवोकेट हैं और जीएसटी में प्रेक्टिस कर रही हैं . इन्हें बैंकिंग, टेक्स्सेशन एवं फाइनेंस जैसे विषयों पर लिखना पसंद हैं ताकि उनका ज्ञान और अधिक बढ़ सके. उन्होंने दीपावली के लिए लिखना शुरू किया और इस तरह अपने ज्ञान को पाठकों तक पहुँचाने की कोशिश की.

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here