Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

साहित्यिक मधुशाला

गिरिधर की कुंडलियाँ दोहे हिंदी अर्थ सहित एवम जीवन परिचय

giridhar girdhar kundliya

गिरिधर कविराय के जीवन के संबंध में मतभेद हैं कई महानुभाव के अनुसार इनका जन्म 1717 माना जाता हैं | कहा जाता हैं यह अवध के किसी छोटे स्थान में जन्मे थे | यह अत्यंत दयालु व्यक्ति थे जिन्हें अपने परिवेश से बहुत प्रेम था | इनकी रचनाओं में जीवन …

Read More »

सूरदास जीवन परिचय एवम् दोहे पद हिंदी अर्थ सहित | Surdas Dohe Jeevan parichay jayanti in hindi

Surdas Dohe Jeevan Parichay

सूरदास जीवन परिचय एवम् दोहे पद हिंदी अर्थ सहित| Surdas Dohe, Jeevan parichay  (biography),  jayanti  in hindi  सूरदास भक्ति काल सगुण धारा के कवी कहे जाते हैं. ये श्री कृष्ण के परम भक्त हैं इसलिए इनकी रचना में कृष्ण भक्ति के भाव उजागर होते हैं. सूरदास जन्म से ही नेत्रहीन …

Read More »

कबीर दास के दोहे हिंदी अर्थ सहित, जीवन परिचय व जयंती | Kabir ke Dohe and Poem Jayanti in hindi

कबीर दास के दोहे हिंदी अर्थ सहित, जीवन परिचय व जयंती ( Kabir ke Dohe and Poem Jayanti in Hindi) कबीर शब्द का अर्थ इस्लाम के अनुसार महान होता है. वह एक बहुत बड़े अध्यात्मिक व्यक्ति थे जोकि साधू का जीवन व्यतीत करने लगे, उनके प्रभावशाली व्यक्तित्व के कारण उन्हें …

Read More »

मीरा के पद/ दोहे हिंदी अर्थ सहित जयंती एवम जीवन परिचय | Meera Bai Ke Pad or Dohe Meaning and 2018 Jayanti In Hindi

Meera Bai Ke Pad Dohe Meaning In Hindi

मीराबाई के पद या मीरा के दोहे हिंदी अर्थ सहित 2018 जयंती एवम जीवन परिचय ( Meera Bai Ke Pad or Dohe Meaning Jeevani, 2018 Jayanti In Hindi) कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीरा बाई के जीवन में भक्ति के अलावा किसी को स्थान प्राप्त नहीं था. मीरा के …

Read More »

Bihari Ke Dohe बिहारी के दोहे एवं उनके हिंदी अर्थ

Bihari Ke Dohe Meaning In Hindi

Bihari Ke Dohe With Meaning In Hindi बिहारी के दोहे हिंदी अर्थ सहित  यह हिंदी पाठको के लिए लिखा गया हैं एवम जिन्हें काव्य में रूचि हैं लेकिन बिहारी के दोहे को शब्दों में बाँधना बहुत कठिन हैं | बिहारी रीतिकाल के कवी थे उस समय के कविराज कहे जाते थे …

Read More »