[cgschool.in] छत्तीसगढ़ पढाई तुंहर द्वार पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर घर बैठे पायें शिक्षा | CG Padhai Tunhar Dwar in hindi

छत्तीसगढ़ पढाई तुंहर द्वार पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने का अवसर (ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें, पात्रता, पढ़ाई आपके द्वार पर) (CG Padhai Tunhar Dwar Student Portal in hindi, Registration Form Online @cgschool.in, Eligibility, Apply)

छत्तीसगढ़ सरकार ने ‘छत्तीसगढ़ पढ़ाई तुंहर द्वार’ नामक एक पोर्टल की शुरुआत की है. जिसमें छात्र एवं शिक्षक रजिस्ट्रेशन कर ऑनलाइन अध्ययन कर सकते हैं एवं करा सकते हैं. उनका मानना है कि कॉविड – 19 महामारी से निपटने के साथ ही बच्चों की पढ़ाई पर इसका कोई असर न पड़े, इसका एक मात्र उपाय ऑनलाइन अध्ययन ही है. यहाँ हम छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा शुरू किये गये इस पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करने की जानकारी दे रहे हैं.

CG Padhai Tunhar Dwar portal hindi

छत्तीसगढ़ पढाई तुंहर द्वार पोर्टल

नामछत्तीसगढ़ पढाई तुंहर द्वार पोर्टल
लांच की तारीख7 अप्रैल, 2020
लांच की गईमुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा
लाभार्थीराज्य के सभी छात्र एवं शिक्षक
संबंधित विभागस्कूल शिक्षा विभाग
अधिकारिक पोर्टलcgschool.in/

कोरोना सहायता के तहत महिलाओं के जन धन अकाउंट में ट्रान्सफर हुए 500 रुपए, लाभ लेने के लिए यहाँ क्लिक करें

छत्तीसगढ़ पढाई तुंहर द्वार पोर्टल की विशेषताएं एवं लाभ

  • पोर्टल शुरू करने का उद्देश्य :- छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू किये गये पढ़ाई तुंहर द्वार पोर्टल को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य लॉकडाउन के चलते छात्रों की शिक्षा पर पड़ रहे असर को ख़त्म कर उन तक घर बैठे शिक्षा पहुँचाना है. साथ ही डिजिटल प्लेटफार्म को बढ़ावा देते हुए छात्रों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में सुधार करना है.
  • छात्रों को शिक्षा घर बैठे मिलेगी :- इस पोर्टल के शुरू होने से राज्य से सभी छात्रों को घर बैठे ही पढ़ाई की सुविधा मिल जायेगी.
  • छात्रों को सीखने एवं बढ़ने में मदद मिलेगी :- इस पोर्टल के माध्यम से छात्रों को घर बैठे सीखने, पढ़ने, लिखने एवं बढ़ने का अवसर प्राप्त होगा.
  • मुफ्त पढ़ाई :- राज्य के किसी भी छात्र को इस पोर्टल के साथ जुड़कर लाभ प्राप्त करने के लिए कोई शुल्क का भुगतान नहीं करना है, इस पोर्टल के माध्यम से अध्ययन करना उनके लिए पूरी तरह मुफ्त है.
  • शिक्षकों की मदद :- राज्य के सभी शिक्षक इस पोर्टल के साथ जुड़ कर राज्य के सभी छात्रों को शिक्षा प्रदान कर सकेंगे. उन्हें किसी एक स्कूल के बच्चे को पढ़ाने के लिए निर्भर नहीं होना होगा.
  • कुल अवधि :- इस पोर्टल के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने कोई अवधि निश्चित नहीं की है, यह पोर्टल लॉकडाउन के बाद भी जारी रखने का फैसला सरकार ने किया है. इससे छात्र आगे की भी पढ़ाई आसानी से कर पाएंगे.
  • समय का सदुपयोग :- यह पोर्टल छात्रों के लिए बेहद उपयोगी हैं, क्योंकि इससे वे रोचक तरीके से नए विषयों को सीखकर अपने समय का बेहतर तरीके से उपयोग कर सकते हैं.

छत्तीसगढ़ पढ़ाई तुंहर द्वार पोर्टल पर कंटेंट (Chhattisgarh Padhai Tunhar Dwar Portal Content)

यह ऑनलाइन एजुकेशनल पोर्टल न केवल टेक्स्ट मटेरियल प्रदान करेगा, बल्कि कक्षाओं जैसी सभी आवश्यक सुविधायें भी बच्चों को ऑनलाइन उपलब्ध कराएगा. इस पोर्टल पर पढ़ाई सामग्री के रूप में छात्र पीडीएफ फॉर्मेट में टेक्स्ट बुक, ऑडियो एवं वीडियो लेसन आदि प्राप्त कर सकते हैं. आपको बता दें कि इस पोर्टल के साथ अब तक हजारों बच्चे रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं और सैकड़ों शिक्षकों ने भी इस पोर्टल में जुड़कर कम से कम 150 पाठ्यक्रम सामग्री वाले वीडियो एवं ऑडियो को अपलोड कर दिया है.   

कोरोना वायरस से बचने के लिए मोबाइल और लैपटॉप की स्क्रीन को कैसे साफ करें यहाँ पढ़ें

ज़ूम एप्प के माध्यम से ऑनलाइन इंटरैक्टिव कक्षाएं (Online Interactive Classrooms Through ZOOM App)

शिक्षकों एवं छात्रों को एक दूसरे के साथ जोड़ने के लिए ऑनलाइन इंटरैक्टिव कक्षाएं आयोजित की जायेंगी. जिसका माध्यम जूम एप्प होगा. इन कक्षाओं में बच्चे एवं शिक्षक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये घर बैठे ही एक दूसरे के साथ जुड़ सकेंगे. इन ऑनलाइन कक्षाओं में शिक्षक द्वारा पाठ पढ़ाया जायेगा, और बच्चे वास्तविक कक्षाओं की तरह अध्ययन करने का अनुभव प्राप्त कर पाएंगे.

इस पोर्टल के माध्यम से छात्र शिक्षकों से शिक्षा इस तरह से प्राप्त कर सकेंगे कि जब शिक्षक इसमें बच्चों को पढ़ाने के लिए उन्हें लेक्चर देंगे, और छात्रों को कोई डाउट होगा, तो वे उसे इसी में हल भी कर सकेंगे. साथ ही शिक्षक यदि कोई होमवर्क देते हैं तो उसे जांचने की सुविधा भी इस पोर्टल में दी गई है. इसके लिए छात्रों को होमवर्क करने के बाद उसे मोबाइल फोन से फोटो खींच कर इसमें अपलोड करना होता है. और फिर शिक्षक इसकी ऑनलाइन जाँच कर इसका परिणाम भी इसी में भेज सकते हैं. इसके अलावा इसमें मजेदार खेल एवं गतिविधियों के माध्यम से भी बच्चों को प्रोत्साहित किया जायेगा.

पढ़ाई तुंहर द्वार पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करने के लिए पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria)

  • कक्षा 1 से 10 वीं तक के छात्र :- इस पोर्टल में अभी शुरुआत में कक्षा 1 से 10 वीं तक के छात्रों की शिक्षा को शामिल किया गया हैं. किन्तु कुछ समय बाद कक्षा 11 वीं, 12 वीं, कॉलेज एवं यूनिवर्सिटीज के छात्रों को भी इसमें शामिल किया जा सकता है.
  • शिक्षक पात्रता :- इस पोर्टल पर शामिल होने के लिए राज्य के सभी शिक्षक पात्र हैं. और साथ ही वे किसी एक स्कूल के साथ न जुड़कर पूरे राज्य के बच्चों को शिक्षा देने के लिए पात्र होंगे.
  • हिंदी भाषी छात्रों के लिए :- देश में यह इस तरह का पहला प्लेटफार्म है जोकि छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा मंच प्रदान कर रहा है. खास बात यह है कि यह छत्तीसगढ़ के साथ ही अन्य हिंदी भाषी राज्यों के हिंदी भाषा बोलने वाले यानि हिंदी मीडियम के छात्रों के लिए भी उपलब्ध है.

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत क्या क्या दे रही है सरकार, यहाँ पढ़ें

छत्तीसगढ़ पढ़ाई तुंहर द्वार पोर्टल में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया (Chhattisgarh Padhai Tunhar Dwar Portal Online Registration Process)

  • छत्तीसगढ़ पढ़ाई तुंहर द्वार पोर्टल में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले छात्रों एवं शिक्षकों को इस पोर्टल की लिंक पर क्लिक करना होगा.
  • अब इसके बाद यदि आप एक छात्र हैं तो आप ‘विद्यार्थी पंजीयन’ वाली लिंक पर क्लिक करिए, और यदि शिक्षक है तो ‘शिक्षक पंजीयन’ वाली लिंक पर क्लिक करिये.
  • यदि आप छात्र हैं तो आपके सामने जो पेज खुला हैं उसमें आपको कुछ जानकारी जैसे आपका मोबाइल नंबर, नाम, ईमेल आईडी, जिला एवं पते की जानकारी देनी होगी. साथ ही इसमें आपको एक पासवर्ड बनाना होगा और फिर अंत में ‘पंजीयन करें’ वाली लिंक पर क्लिक कर दीजिये.
  • इसके बाद आपका इस पोर्टल में रजिस्ट्रेशन हो जायेगा, फिर अब अपने मोबाइल नंबर एवं पासवर्ड की मदद से इस पोर्टल में लॉग इन करके आप शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं.
  • इसके अलावा यदि आप एक शिक्षक है तो आपके सामने जो पेज खुला है उसमें आपको कुछ जानकारी जैसे मोबाइल नंबर, नाम, ईमेल आईडी, जिला, पता, स्टेटस, अनुभव का वर्ष, शिक्षा का स्तर एवं प्रशिक्षण का स्तर आदि जानकारी देनी होगी. और इसके बाद आपको ‘टीचर कोड’ एवं पासवर्ड जनरेट करना होगा.
  • और फिर आप इसके माध्यम से इस पोर्टल में लॉग इन करके छात्रों को शिक्षा प्रदान कर सकते हैं.

इस तरह से एक ई – लर्निंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से लॉकडाउन के चलते छात्रों की पढ़ाई पर पड़ रहे असर को कम करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने यह एक सराहनीय कदम उठाया है. अतः यदि आप भी शिक्षा प्राप्त करने के या देने के इच्छुक है तो इस पोर्टल के साथ जुड़ कर इसका लाभ उठा सकते हैं.

Other links –

Karnika
कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं | यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here