सर्कस दूरदर्शन टीवी सीरियल | Circus Doordarshan TV serial in hindi

Circus Doordarshan TV serial in hindi नब्बे के दशक की शुरुआत के समय भारतीय टीवी सीरियल विकास की मार्ग पर था और ये मार्ग दूरदर्शन प्रशस्त कर रहा था. इस दौरान कई युवा अपना करियर टेलीविज़न में बनाने की कोशिश में थे. इसी समय कई फ़िल्म निर्देशक भी अपना हुनर टीवी सीरियल में आजमा रहे थे. सर्कस इसी आज़माइश की देन है. साल 1989 में दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले सीरियलों में सर्कस बहुत मशहूर सीरियल रहा. इस सीरियल को लोगों ने खूब पसंद किया, जिस वजह से ये सीरियल लोगों में एक साल तक बना रहा. इस सीरियल में कई जानवरों को सीरियल के माध्यम से ही लोगो को दिखाया गया. जानवरों को लेकर निर्देशित की गयी ये पहली सीरियल थी. इस सीरियल में तात्कालिक समय में ख़त्म हो रहे सर्कस शो की परम्पराओं के विषय में दिखाया गया था.  

Shah-Rukh-Khan’s-Serial-Circus

सर्कस दूरदर्शन टीवी सीरियल की कहानी (Circus Shahrukh Khan TV series Story in hindi)

इस सीरियल की कहानी एक सर्कस के इर्द गिर्द घूमती नज़र आती थी. इस समय बॉलीवुड में बादशाह के नाम से पहचाने जाने वाले शाहरुख़ खान, इसी सर्कस के मालिक के पुत्र के किरदार में नज़र आये थे. इस सीरियल की कहानी कहीं न कहीं सर्कस के भविष्य के इर्द गिर्द घूमती है. सर्कस के मालिक यानि शेखरन के पिता शेखरन को अपने साथ सर्कस में ही रखते हैं. शेखरन सर्कस में परफॉर्म भी करता है. कालांतर में शेखरन को इस सच्चाई का पता चलता है कि सर्कस का कोई भविष्य नहीं है. इसमें काम करके बहुत दिनों तक अपनी ज़िन्दगी नहीं चलाई जा सकती, किन्तु शेखरन के पिता चाहते हैं कि उनके बाद इस सर्कस का मालिक उनका बेटा ही बने. अतः वे उसे सर्कस में ही काम करने को कहते हैं. शेखरन हालाँकि किसी क़ीमत पर सर्कस में काम करना नहीं चाहता है और किसी दुसरे क्षेत्र में अपना रास्ता तलाशने की कोशिश करता है. इस रास्ते की खोज में वह सर्कस को पीछे बहुत पीछे छोड़ देता है. शाहरुख़ खान की जीवनी यहाँ पढ़ें.

इसी समय किसी वजह से शेखरन के पिता सर्कस चलाने में असमर्थ हो जाते हैं. शेखरन को अपने पास न पा कर उसके पिता किसी तरह सर्कस चलाने की कोशिश करते हैं, किन्तु ये कोशिश बेकार जाने लगती है. सर्कस का व्यापार डूबने लगता है. शेखरन हालाँकि अपने रास्ते मे बहुत आगे बढ़ रहा होता है, किन्तु अपने पिता के सपने यानि सर्कस को बचाने के लिए अपने सभी सपनो को अधूरा छोड़ देता है. यही इस कहानी की सबसे बड़ी कनफ्लिक्ट होती है. शेखरन पुनः अपनी नौकरी छोड़ कर वापिस सर्कस को सँभालने में लग जाता है, और एक बार पुनः सर्कस अपने पहले रंग में लौट आता हैं.

सर्कस दूरदर्शन टीवी सीरियल की कास्ट (Circus TV series cast)

इस सीरियल में कई बहुत नामी हस्तियों ने काम किया है. इस सीरियल में बॉलीवुड के जाने माने चेहरे और बादशाह शाहरुख़ खान ने काम किया. नीचे सभी मुख्य पात्रों का वर्णन उनके किरदार के नामों के साथ किया जा रहा है

कलाकार के नाम
शाहरूख खान (शेखरन के किरदार में)
सुनील शिंदे (शेखरन के पिता )
अनीता सरीन
रेखा सहाय
आशुतोष गोवारिकर (विक्की)
मीता वशिष्ठ
रेणुका शहाने
राहुल भाद
पवन मल्होत्रा
हैदर अली
नीरज वोरा

इस सीरियल में काम करने वाले आशुतोष गोवारिकर ने जोधा अकबर, स्वदेश, लगान तथा बाज़ी जैसी फ़िल्मों का निर्देशन किया है. जोधा अकबर की जीवनी यहाँ पढ़ें. शाहरुख़ खान के इस सीरियल के पहले एक और सीरियल में अभिनय किया था, जिसका नाम था फौजी. यह सीरियल भी काफी हित था और लोगों ने इसे भी ब्वाहुत पसंद किया था. फौजी टीवी सीरियल यहाँ पढ़ें.

सर्कस सीरियल एक नज़र (Circus TV series)

सीरियल का नामसर्कस
निर्देशककुंदन शाह और अज़ीज़ मिर्ज़ा
समय25 मिनट
देशभारत
भाषाहिंदी
सीजन की संख्या1
नेटवर्कडीडी नेटवर्क
प्रसारण1989 से 1990 तक

सर्कस दूरदर्शन टीवी सीरियल (Circus TV series news)

इसी साल 19 फरवरी को रात 8 बजे इस सीरियल को दूरदर्शन ने पुनः प्रसारित किया. कई लोग जो पहले सर्कस नहीं देख पाए थे, किन्तु शाहरुख़ की वजह से देखना चाहते थे. उन लोगों को इस सीरियल से तथा यंग शाहरुख़ खान को देखने का मौक़ा मिला. शाहरुख़ खान के फैन्स में इसके प्रति खूब उत्साह देखा गया.

अन्य पढ़ें –

Karnika
कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं | यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here