लॉक डाउन क्या है, क्यूँ किया जाता है, जानें पूरी जानकारी | Lockdown Mode in hindi

लॉक डाउन क्या है और कब होता है (What is City Lockdown Mode in hindi)

कोरोना जैसी महामारी बढ़ते बढ़ते आज 200 से ज्यादा मामले पार कर चुकी है ऐसे में देश में घबराहट और भय का माहौल फैला हुआ है। ऐसे में महाराष्ट्र सहित चार राज्यों में लॉक डाउन की स्थिति पैदा हो गई है आखिर क्या होता है। यह लॉक डाउन और कैसे लॉक डाउन की वजह से पूरी अर्थव्यवस्था पर गहरा प्रभाव पड़ रहा है आइए जानते हैं विस्तार से…

lockdown mode hindiदेश मे कोरोना का कहर

सरकार अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही है लेकिन इसके बावजूद भी कोरोना ने भारत की अर्थव्यवस्था को पूरी तरह से हिला कर रख दिया है। ऐसे में महाराष्ट्र से यह खबर आ रही है कि वहां पर 31 मार्च तक लॉक डाउन कर दिया गया है। कोरोना के कहर से हाल फिलहाल 24 घंटे के अंदर कई सारे मामले सामने आ चुके हैं। जबकि सरकार द्वारा हर पल लोगों की सुरक्षा को लेकर काम किए जा रहे हैं। चाहे वह हवाई यात्रा से जुड़े हो या रेल यात्रा से प्रत्येक जगह पर सैनिटाइजिंग लगातार की जा रही है। इसके बावजूद भी कोरोना अपना कहर धीरे-धीरे भारत पर फैलाता जा रहा है। करोना के कहर का ही परिणाम है भारत के कई राज्यों में लॉक डाउन।

कोरोना वायरस की तरह 100 साल पहले कौनसी भयानक बीमारी आई थी, यहाँ पढ़ें

क्या है लॉक डाउन

लॉक डाउन एक ऐसा आपातकालीन प्रोटोकॉल है जिसके तहत शहर या प्रदेश में रहने वाले लोगों को क्षेत्र छोड़कर जाने या घर से बाहर निकलने पर पूरी तरह से रोक लगाता है। देश में चल रही आपातकालीन स्थिति कोरोनावायरस की वजह से भारत के कई शहरों में लॉक डाउन की स्थिति देखने को मिल रही है। भारत में कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सबसे पहला लॉक डाउन महाराष्ट्र में देखा गया है। वहां की सरकार ने घोषणा कर दी है कि 31 मार्च तक महाराष्ट्र के प्रमुख शहरों में मौजूद सभी प्रकार के कार्य स्थल, मॉल, सरकारी कार्यालय, स्कूल, कॉलेज और साथ ही जिम से लेकर पब सभी प्रकार के ऑफिस व दुकानें पूरी तरह से बंद कर दी गई हैं। साथ ही नागरिकों को हिदायत दी जा रही है कि जिस प्रकार कोरोना के मामले 1 हफ्ते में इतने अधिक पड़ते नजर आ रहे हैं ऐसे में यदि लोग अपने घर में रहे तो ही सुरक्षित रह सकते हैं।

लॉक डाउन का असर सार्वजनिक परिवहन पर भी दिखने वाला है क्योंकि सार्वजनिक परिवहन को भी पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा ताकि लोग अपने घर से निकल कर इधर-उधर जाने की कोशिश ना करें। लॉक डाऊन के चलते सरकारी कार्यालयों में केवल कर्मचारियों की 25% उपस्थिति रहेगी ताकि आपातकालीन स्थिति में वे अपने कार्यों को अंजाम दे सके। पूरे महाराष्ट्र में मात्र 1 सप्ताह के अंदर 52 नए मामले सामने आ चुके हैं जिसकी वजह से पूरा महाराष्ट्र हिल चुका है।

महाराष्ट्र सरकार का कहना है यह एक ऐसा वैश्विक युद्ध है जहां पर यदि लोग अपना जीवन चाहते हैं तो अपने घरों में रहे ताकि वह सुरक्षित रह सकें। इस महामारी के चलते महाराष्ट्र में सभी प्रकार की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं और सभी विद्यार्थियों को अगली कक्षा में पदोन्नत कर दिया गया है। सरकार ने ऐसे आदेश जारी किए हैं यदि स्थिति ठीक रही तो 9वी और 11वीं की परीक्षाएं 15 अप्रैल 2020 के बाद फिर से आयोजित की जा सकती हैं। सरकार का कहना है कि लॉक डाउन की स्थिति में घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि भारत देश में रहने वाले प्रत्येक नागरिक को आधारभूत सुविधाएं समय-समय पर प्रदान की जाएगी उनमें किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं होगी।

कोरोना वायरस से बचने के लिए हैण्ड सैनिटाइजर घर में ही आसानी से बनायें, यहाँ पढ़ें

दिल्ली में भी दिखा लॉक डाउन का असर

महामारी का असर दिल्ली में भी लगातार देखने को मिल रहा है जिसके चलते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा शुक्रवार को यह बयान जारी किया गया है कि इस खतरे को देखते हुए देश की राजधानी में मौजूद सभी प्रकार के मॉल बंद रहेंगे। इसके अलावा केवल दवाई की दुकान, किराना की दुकान और आवश्यक सामान से जुड़ी दुकानें ही खोलने की अनुमति दी जाएगी।

जरूरत पड़ने पर ही जाएं अस्पताल

राज्य के प्रत्येक प्रशासन द्वारा यही आदेश जारी किए जा रहे हैं कि यदि नागरिकों में से किसी व्यक्ति को गंभीर आवश्यकता हो तभी वह हॉस्पिटल जैसी जगह पर जाए अन्यथा ऐसी जगह पर बिल्कुल प्रवेश ना करें। क्योंकि अस्पताल एक ऐसी जगह है जहां पर हर प्रकार के मरीज आते हैं ऐसे में आपको छोटी सी गलती बहुत ज्यादा भारी पड़ सकती है। इसलिए आपातकालीन स्थिति से पहले हॉस्पिटल जाने की चेष्टा ना करें। यदि आवश्यक हो तो अपने किसी जानकार डॉक्टर से फोन पर ही सलाह लेकर कोई भी कार्य को अंजाम दें अन्यथा हॉस्पिटल और किसी भी मेडिकल जगह के आसपास भी ना जाए।

सरकार द्वारा कोरोना वायरस की सही जानकारी के लिए जारी की गई टोल फ्री लाइन , यहाँ पढ़ें

पूरे विश्व में कोरोना का कहर

चीन से आरंभ होती हुई यह वैश्विक महामारी पूरी दुनिया के 150 से ज्यादा देशों में फैल चुकी है। लगभग 2,54,698 लोगों को अपना शिकार बनाते हुए 10,446 लोगों को मौत के घाट भी इस महामारी के चलते उतार दिया गया है। हालांकि 89,071 लोगों को पूरे विश्व के जाने-माने डॉक्टर और विशेषज्ञों ने स्वस्थ भी कर दिया है। 7,466 लोग पूरे विश्व में ऐसे हैं जो इस महामारी की वजह से बहुत ज्यादा दयनीय स्थिति में है। साथ ही 1,47,715 लोगों का इलाज लगातार विशेषज्ञों द्वारा किया जा रहा है। लेकिन अब भी इस वैश्विक महामारी का असर धीरे-धीरे फैलता हुआ नजर आ रहा है क्योंकि अब तक इसको रोकने का कोई भी सटीक इलाज अब कोई भी नहीं ढूंढ पाया है। बड़े-बड़े विशेषज्ञ इस महामारी के आगे घुटने टेक चुके हैं और अब भी कुछ प्रशिक्षित लोग इस पर लगातार रिसर्च कर रहे हैं।

लॉकडाउन के दौरान क्या-क्या होता है?

कोरोना वायरस को हराना है तो खुद को लॉक डाउन करना बेहद आवश्यक है ऐसा सरकार ने भारत देश के प्रत्येक नागरिक को हिदायत दी है. भारत सरकार द्वारा कोरोनावायरस जैसी गंभीर समस्या को मद्देनजर रखते हुए भारत के लगभग 75 जिलों को पूरी तरह से लॉक डाउन कर दिया गया है.

जिसमें दिल्ली मुंबई कोलकाता चेन्नई बेंगलुरु को पूरी तरह से 31 मार्च तक लोग डाउन किया जा चुका है साथ ही महाराष्ट्र, केरला, गुजरात, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, बिहार, कर्नाटका, तेलंगाना, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पंजाब, जम्मू एंड कश्मीर, लद्दाख, वेस्ट बंगाल, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उड़ीसा, पांडिचेरी और उत्तराखंड यह सभी प्रदेश भी इस लॉक डाउन में शामिल किए गए हैं.

कोरोना वायरस संक्रमण इतनी तेजी से फैल रहा है जिसने अब तक भारत देश के अंदर 8 लोगों की जान भी ले ली है और अब तक 430 से भी ज्यादा लोगों को इस संक्रमण ने अपनी चपेट में ले लिया है. यह जान लेते हैं क्या-क्या बंद और खुला है इस लॉक डाउन के दौरान:-

  • इस लॉक डाउन के दौरान सभी प्रकार की बस पूरी तरह से बंद कर दी गई हैं जिसमें प्राइवेट और कुछ प्रतिशत सरकारी बसें भी शामिल है.
  • किसी भी प्रकार की टैक्सी या कैब आपको सड़कों पर घूमती हुई नहीं मिलेगी इसलिए इमरजेंसी की स्थिति में भी आप अपने पर्सनल संसाधनों का ही इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • इसके साथ-साथ दिल्ली में मौजूद मेट्रो सुविधा और साथ ही देश में मौजूद प्रत्येक प्रकार के रिक्शा और ई रिक्शा जैसे छोटे साधन भी पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं.
  • सभी प्रकार की घरेलू व विदेशी उड़ाने पूरी तरह से रद्द कर दी गई हैं कोई भी व्यक्ति ना तो बाहर जा सकता है और ना ही देश में प्रवेश कर सकता है.
  • रेलवे स्टेशन में पिछले कुछ दिनों से लगातार को रोना संक्रमित व्यक्ति पाए जा रहे हैं जिसके मद्देनजर सरकार ने कड़ा फैसला लेते हुए देश की सभी ट्रेनों को पूरी तरह से बंद कर दिया है. जिसके चलते देश के सारे स्टेशनों पर सन्नाटा छाया हुआ है.
  • एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए भी आपको किसी भी प्रकार की कोई परिवहन की सुविधा प्राप्त नहीं हो पाएगी क्योंकि सरकार द्वारा सब पर रोक लगा दी गई है.
  • कुछ आवश्यक और सरकारी दफ्तरों को छोड़कर सभी प्रकार के दफ्तर पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं और उनमें काम करने वाले कर्मचारियों को घर पर बैठकर काम करने की हिदायत दी गई है.
  • किसी भी प्रकार का माल ढुलाई करने वाली प्रत्येक ट्रेन पर कोई रोक नहीं है ऐसी ट्रेनें एक राज्य से सामान लेकर दूसरे राज्यों तक पहुंचाने का काम निरंतर करती रहेंगी.
  • जो सरकारी और आवश्यक दफ्तर बंद नहीं किए गए हैं उनमें काम करने वाले कर्मचारियों की सुविधा के लिए कुछ सरकारी बस चलाई गई हैं.
  • यदि आपको किसी आपातकालीन स्थिति में आवश्यकता पड़ने पर कहीं जाना है तो आपके निजी साधन को कहीं पर भी ले जाने पर कोई रोक नहीं है. परंतु बेवजह अपने साधन पर बैठ कर इधर-उधर घूमना सरकार की तरफ से पूरी तरह निषेध है.
  • बाजार में सभी प्रकार की दुकानें, फैक्ट्री अनावश्यक दफ्तर पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं.
  • यदि किसी भी प्रकार निर्माण कार्य किया जा रहा था उसे पूरी तरह से अब बंद कर दिया गया है.
  • आपके आसपास जो भी साप्ताहिक बाजार लगा करते थे अब वह भी 31 मार्च तक पूरी तरह से बंद है.
  • आसपास मौजूद सभी प्रकार के रेस्टोरेंट, स्पा सेंटर, सैलून आदि सब पूरी तरह से सील कर दिए गए हैं.
  • केवल कुछ परचून की दुकान है और मेडिकल स्टोर को सरकार द्वारा खोलने की अनुमति प्रदान की गई है.
  • आधारभूत जरूरतों से जुड़ी जिनमें दूध की डेरी, मांस मछली और अंडे की दुकानें खोलने की अनुमति दी सरकार द्वारा दी जाती है.
  • कई सारे ऑनलाइन वेब पोर्टल को भी घर तक सामान पहुंचाने की अनुमति दे दी गई है जिसमें उनके कर्मचारी प्रत्येक व्यक्ति द्वारा किए गए ऑर्डर को उनके घर तक पहुंचा कर आ सकते हैं. जिसमें ग्रोफर्स, बिग बास्केट आदि.
  • रेस्टोरेंट में बैठकर आप खाना खाने नहीं जा सकते हैं परंतु घर बैठे खाने को ऑर्डर कर सकते हैं और होम डिलीवरी करने वाले प्रत्येक रेस्टोरेंट को इस बात की अनुमति दी गई है. होम डिलीवरी करने वाले सभी रेस्टोरेंट घर तक आवश्यक खाना पहुंचाने का काम कर सकते है.
  • सभी प्रकार के हॉस्पिटल डिस्पेंसरी 24 घंटे हर पल खुले रहेंगे और साफ सफाई से जुड़े हुए कूड़ा उठाने वाले कर्मचारी अपने काम पर कार्यरत रहेंगे.
  • फोन, इंटरनेट और पोस्ट ऑफिस जैसी सुविधाएं हर पल चालू रहेगी इन पर कोई पाबंदी नहीं है.
  • सभी प्रकार के सरकारी और निजी बैंकों को भी पूरी तरह से बंद रखा गया है क्योंकि हमें समाज में भीड़ को कम करना है जिसके चलते कैश काउंटर और एटीएम काउंटर को खुला रखा गया है बाकी बैंक पूरी तरह से बंद है.
  • धर्म से जुड़े हुए प्रत्येक मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारों को भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है क्योंकि यह भीड़ भाड़ वाले एरिया है और यहां से कोरोना वायरस संक्रमण की ज्यादा आशंका रहती है.
  • किसी भी प्रकार की भीड़ को इकट्ठा करना जिसमें कीर्तन, भजन किसी भी प्रकार की पार्टी, शादी जैसे फंक्शन पर पूरी तरह से निषेध है जहां पर 50 से ज्यादा लोग इकट्ठे हो ऐसी कोई भी जगह के लिए सरकार द्वारा कोई भी अनुमति नहीं दी गई है.
  • यदि बात करे सरकारी विभाग की तो सरकारी विभाग से जुड़े पुलिस स्टेशन, अस्पताल, फायर स्टेशन, सरकारी राशन की दुकान, पानी विभाग, टेलीफोन से जुड़ी कंपनी, बिजली विभाग और साथ ही मीडिया की सभी कंपनियों को खुले रहने का आदेश दिया गया है ताकि भारतीय नागरिको तक सभी प्रकार की सुविधाएं बिना देरी के पहुंचाई जा सके.

सरकार द्वारा बार-बार यही हिदायत दी जा रही है कि एक जगह पर एक साथ 5 से ज्यादा लोग इकट्ठे ना हो और सरकार की बात को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद आवश्यक है ताकि आप अपनी सुरक्षा करके भारत सरकार को सहयोग प्रदान कर सकें. यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है आपको एक दूसरे के सहयोग के साथ ही एक दूसरे का बचाव भी करना आवश्यक है.

आवश्यक सूचना:- किसी भी संक्रमण से बचने के लिए आवश्यक है कि आपके शरीर की इम्युनिटी पावर उचित मात्रा में होनी चाहिए ताकि आपका शरीर किसी भी भारत या किसी संक्रमण से लड़ने के लिए सक्षम हो सके ऐसे में आवश्यक है कि समय-समय पर हल्दी, गिलोय विटामिन से भरपूर खाद्य पदार्थ जिसमें सेब, संतरे, नींबू आदि आते हैं उनका निरंतर सेवन करते रहे. हाइजीन का ध्यान रखें और घर से बाहर निकलते समय पूरी सावधानी बरतें चेहरे को अच्छी तरह से कवर करें और घर पर आने के तुरंत बाद अपने आप को सैनिटाइज करें और साबुन या हैंड वाश से अपने हाथ अवश्य धोयें.

देश में लॉक डाउन केवल नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही किया जा रहा है यदि नागरिक हैं इस नियम का पालन नहीं करेंगे तो उन्हें इस वैश्विक हमले से कोई नहीं बचा सकता है। यदि आप इन सभी नियमों को अनदेखा और अनसुना करते हैं तो ऐसे में आप अपने साथ साथ अपने परिवार और अपने देश के लिए खतरा बन सकते हैं इसलिए अपने देश के प्रति सम्मान की भावना रखते हुए सरकार द्वारा जारी किए गए प्रत्येक नियम को अवश्य माने और उनका पालन करें। आपका देश, आपका कर्तव्य…. समय है देश के प्रति अपना कर्तव्य निभाने के लिए इसलिए एकजुट बने रहें और इस वैश्विक महामारी से लड़ाई में विजय प्राप्त करें।

Other links –

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *