Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

सबसे दिलचस्प कॉमिक बुक्स चरित्र | Most interesting Comic book characters in hindi

Most interesting Comic book characters in hindi इक्कीसवीं सदी के आरम्भ में बच्चे टीवी देखने के अलावा जो चीज़ सबसे ज्यादा पसंद करते थे, वो थी कॉमिक. इस समय सभी के घर टीवी नहीं हुआ करती थी, और टीवी थी तो बच्चों को पसंद आने वाले प्रोग्राम बहुत कम थे, अतः अधिकांश बच्चे कॉमिक पढना पसंद करते थे. कॉमिक में मूलतः ऐसे पात्रों का वर्णन होता था, जिन्हें दिव्य शक्तियां प्राप्त थी. जो समाज में आते संकटों को हमेशा दूर करने की कोशिश करते थे. इस समय कई विदेशी कॉमिक्स भी थे, जिसे प्रायः ‘आर्चीस’ कॉमिक कहा जाता था, किन्तु कई बच्चे आर्चीस कॉमिक की जगह चाचा चौधरी और नागराज जैसी कॉमिक्स पढ़ते थे. इसकी ख़ास वजह ये थी कि ये सभी देशी पत्र यद्यपि कई आर्चीस कॉमिक के पात्रों से प्रेरित थे किन्तु भारतीय समाज से जुड़े होने के कारण बच्चों को बहुत जल्द समझ में आ जाते थे. नीचे एक एक करके कुछ विशेष हिंदी कॉमिक पात्रों का वर्णन है, जो नब्बे के दशक के समय के बच्चों के लिए आज भी बहुत ख़ास महत्व रखते हैं.

comic characters

सबसे दिलचस्प कॉमिक बुक्स चरित्र

Most interesting Comic book characters in hindi

चाचा चौधरी कॉमिक चरित्र (Chacha Choudhary comic character)

कार्टूनिस्ट प्राण कुमार शर्मा की कल्पना की उपज चाचा चौधरी इस समय के मशहूर कॉमिक्स में एक था, जिसे डायमंड कॉमिक्स द्वारा प्रकाशित किया जाता था. इस कॉमिक के मुख्य पात्र चाचा चौधरी, साबू, राकेट आदि थे. ये कॉमिक इस समय बच्चों में इतनी मक़बूल हुई थी कि हिंदी और अंग्रेजी समेत दस भाषाओँ में इसका प्रकाशन होता था. इस कॉमिक के आईडिया के विषय में कार्टूनिस्ट का कहना था कि प्रत्येक परिवार में एक ऐसा व्यक्ति ज़रूर होता है, जो परिवार में सबसे बुद्धिमान हो. चाचा चौधरी भी एक ऐसा ही पात्र है, किन्तु ह्यूमर के साथ, बच्चों के मनोरंजन के साथ सही शिक्षा देने का काम चाचा चौधरी करते हैं. चाचा चौधरी अन्य कॉमिक पात्रों की तरह सुपर हीरो नहीं थे. इनके पास न तो कोई दिव्य शक्ति थी और न ही किसी तरह का विशेष शारीरिक बल. चाचा चौधरी इन सबसे परे सिर्फ अपने दिमाग और अपनी लाठी का प्रयोग करते थे. कहा जाता है –‘चाचा चौधरी का दिमाग़ कंप्यूटर से भी तेज़ चलता है’

नागराज कॉमिक चरित्र (Nagraj comic character)

राज कॉमिक्स ने भी इस क्षेत्र में बहुत अच्छा काम किया था. नागराज राज कॉमिक्स की तरफ से आने वाला एक काल्पनिक ‘सुपरहीरो’ था. ये चरित्र सन 1980 के दौरान संजय गुप्ता ने किया था. इस कॉमिक में पिछले पच्चीस सालों में नागराज के रूप और शक्तियों में बहुत परिवर्तन आया है.

नागराज, प्रोफेसर नागमणि की रचना का परिणाम होता है. प्रोफ़ेसर नागमणि, नागराज का प्रयोग जहाँ एक तरफ अपने प्रयोगों के लिए करते हैं, वहीँ दूसरी तरफ दुनिया भर के विलेन तथा दहशत गर्दों के लिए करना चाहते है. प्रोफ़ेसर नागमणि कर्सर कहा करते हैं कि नागराज की शक्तियां उसे सर्प दंश दे कर लायीं गयी, और ये सर्प दंश तब तक दिया गया जब तक नागराज का खून ख़ुद ही जहर न बन गया. नागमणि के अनुसार नागराज का ‘वेनम’ 1000 अलग अलग साँपों के काटने से बना है, अतः ये बहुत ही ज़हरीला है. नागराज को उसकी दैवी शक्तियां एक इच्छाधारी सर्प की चिता के भस्म से प्राप्त हुई है. नागराज के पास जहरीला दंश, ज़हरीली सांस, तुरंत ठीक हो जाने की क्षमता आदि कई बड़ी शक्तियां मौजूद होती हैं.

डोगा कॉमिक चरित्र (Doga comic character)

डोगा भी राज कॉमिक बुक्स की तरफ से आने वाली एक कॉमिक का सुपर हीरो चरित्र था. सन 1992 में इसे तरुण कुमार वाही, संजय गुप्ता और मनु ने मिलकर तैयार किया था. डोगा राज कॉमिक का पहला एंटीहीरो था. डोगा के पास एक विशेष क्षमता थी कि वह कुत्तों से बात कर सकता था. कुत्तों से बातें कर वह शहर भर की सभी विशेष घटनाओं को जान पाता था. डोगा अपने गुस्से को क़ाबू में रखने के लिए अपराधों से लड़ता है. इसे कई अपराधियों द्वारा बचपन में बहुत सताया गया है. अपना एक लंबा समय जिम में गुज़ारने, मार्शल आर्ट सीखने की वजह से ये शारीरिक रूप से बहुत बलवान हो जाता है और निडर भी. डोगा के दिल में अपराधियों के लिए किसी भी तरह की दया नहीं रहती और वह स्वयं भी बहुत अधिक देर तक दुःख सह सकता है.

सुपर कमांडो ध्रुव कॉमिक चरित्र (Super Commando Dhruv comic character)

सुपर कमांडर ध्रुव भी राज कॉमिक्स का ही एक काल्पनिक सुपरहीरो है, जिसकी कल्पना लेखक अनुपम सिन्हा ने की. ये चरित्र पहली बार सन 1987 में ‘प्रतिशोध की ज्वाला’ नामक कॉमिक में देखा गया था. इस कॉमिक को बच्चों द्वारा खूब पसंद किया गया और ये अभी तक चल रहा है. इस पात्र का असली नाम ध्रुव मेहरा है. ये राज सुपर हीरो कॉमिक का सबसे यंग पात्र है. ध्रुव एक 23 साल का जवान लड़का है, जो अपनी चौदह साल लकी उम्रवास्था से ही अपराधों से लड़ रहा है. ध्रुव बहुत ही नर्म लहजे का पात्र है, जो सभी से बहुत ही अच्छे से बात करता है. इसकी रचना एक ऐसे सुपर हीरो की तरह की गयी है जिसके पास कोई विशेष शक्ति नहीं है किन्तु सभी अपराधों से लड़ने की क्षमता रखता है. अनुपम सिन्हा ने इस पात्र को बच्चो का रोल मोडल बनाने की कोशिश की.

परमाणु कॉमिक चरित्र (Parmanu comic character)

परमाणु भी राज कॉमिक्स का ही एक सुपर हीरो है. इसके पास कई तरह की दिव्य शक्तियाँ मौजूद होती हैं. परमाणु 1000 किमी के वेग से उड़ सकता है. दुश्मनों से लड़ने के लिए परमाणु अपने शर्रीर से एटम बोल्ट फायर करता है. इसके बेल्ट में कई तरह के गैजेट मौजूद हैं, जिसकी सहायता से ये अपराधियों से लड़ता है. इन गैजेट की सहायता से परमाणु अपना आकार एक छोटे से परमाणु का कर सकता है साथ ही अपनी नज़र दिल्ली पर लगातार बनाए रखता है.

बिल्लू कॉमिक चरित्र (Billu comic character)

बिल्लू प्राण कुमार शर्मा की कल्पना थी, जिसकी रचना सन 73 में की गयी. इस कॉमिक का कथानक 70 -80 के मध्य की दिल्ली के इर्द गिर्द रहता है. बिल्लू स्कूल में पढने वाला एक टीन ऐज विद्यार्थी है, ये कहीं न कहीं अमेरिकन कॉमिक पात्र आर्ची से प्रेरित लगता है. बिल्लू को क्रिकेट खेलना पसंद है. इसकी आँखे हमेशा इसके बालो से ढंकी रहती है और कोई भी आज तक इसकी आँखों को नहीं देख सका है. बिल्लू हर समय मोहल्ले की गलियों में अपने पालतू कुत्ते के साथ घूमता दिखाई देता है, और जब ये घर पर होता है तो टीवी से चिपका रहता है. बिल्लू के दोस्तों में गबडू, जोज़ी, मोनू, भिसंबर आदि हैं.

पिंकी कॉमिक चरित्र (Pinky comic character)

पिंकी डायमंड कॉमिक सीरीज का एक बहु चर्चित कॉमिक रहा है, जिसकी कल्पना प्राण कुमार शर्मा ने सन 1978 के आस पास की. ये कॉमिक 10 भाषाओँ में प्रकाशित हुई. पिंकी एक पांच वर्षीय लड़की है, जो अक्सर अपने पालतू गिलहरी कूटकूट के साथ पायी जाती है. पांच वर्षीय बच्ची की सहायता से कोमिक राइटर ने कम उम्र के बच्चो का ध्यान कॉमिक की तरफ आकर्षित करने की कोशिश की, जिसकी सहायता से बच्चों को मनोरंजन के साथ साथ नैतिक शिक्षा भी दी जा सके.  

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *