क्या है कोरोना हॉटस्पॉट एवं उसके नियम, कौनसे होंगे ये जिले | Corona Hotspot In Hindi

क्या है कोरोना हॉटस्पॉट एवं उसके नियम, और लिए गये अहम फैसले,कौनसे जिले होंगे कोरोना हॉटस्पॉट, जिला लिस्ट,Corona Hotspot  Rules list In Hindi [Maharashtra, UP, Delhi, MP]

सोशल डिस्टेंसिंग का तरीका भी अपना लिया गया और पूरी तरह से देश को लॉक डाउन भी कर दिया गया, परंतु फिर भी कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में कमी नहीं बल्कि दिन-प्रतिदिन इजाफा होता दिख रहा है। ऐसे में देश की सरकार ने एक और अहम कदम उठाया है जिसे नाम दिया गया है कोरोना हॉटस्पॉट क्षेत्र की पहचान करना और तुरंत उन्हें सील कर देना। भीलवाड़ा एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर एक डॉक्टर की वजह से कई सारे लोग कोरोना संक्रमित हो गए थे जिसके चलते भीलवाड़ा को पूरी तरह से कोरोना हॉटस्पॉट्स क्षेत्र घोषित करके प्रत्येक 2 किलोमीटर के दायरे को सील करने के बाद पूरी तरह से वहां पर कोरोना महामारी पर रोक लगा दी गई।  आइए जानते हैं आखिर कैसे कोरोना संक्रमित में क्षेत्रों को हॉटस्पॉट बना कर छुटकारा पाया जा सकता है और आखिरकार क्या होते हैं यह कोरोना हॉटस्पॉट क्षेत्र?

Corona hotspot

देश में हो रहा है जातिवाद का खेल?

सरकार जहां एक तरफ कोशिश कर रही है, इस महामारी से देश को बचाने की वही तबलीगी जमात के लोग लगातार इस वायरस को लोगों में फैलाने का काम किए जा रहे हैं। तबलीगी जमात में इकट्ठे हुए 4000 से ज्यादा लोगों ने पूरे देश के कोने कोने तक जाकर कोरोना संक्रमण फैला दिया हैं । जिसकी वजह से दिन प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती नजर आ रही है। एक सबसे मुख्य कारण यही है कि सरकार ने प्रत्येक राज्य के प्रत्येक जिले को हॉटस्पॉट घोषित करके उन्हें सील करने का आदेश दे दिया है।

इतिहास की सबसे बड़ी महामंदी होने का सबसे बड़ा कारण क्या था जानिए क्या हैं आर्थिक महामंदी द ग्रेट डिप्रेशन क्या थी यहाँ क्लिक करे

क्या होता है कोरोना हॉटस्पॉट क्षेत्र

सरकार द्वारा मुख्य रूप से उन क्षेत्रों को कोरोना हॉटस्पॉट घोषित किया गया है जिन क्षेत्रों में 6 या 6 से अधिक कोरोना संक्रमित के पाए गए हैं। हॉटस्पॉट क्षेत्र में ऐसे इलाके भी शामिल किए गए हैं, जहां पर यदि कोई भी व्यक्ति संक्रमित पाया गया है तो उसके बाद यदि बाकी व्यक्तियों की संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है तो उस क्षेत्र को भी कोरोना हॉटस्पॉट घोषित किया गया है। सरकार का कहना है कि ऐसे क्षेत्रों को बिल्कुल पूरी तरह से सील कर दिया जाए ना वहां पर किसी व्यक्ति का प्रवेश और ना ही वहां से निकास अनिवार्य किया जाए। चाहे वह एक घर हो या फिर कुछ घर हो या इसके अलावा कोई रिहायशी सोसायटी या फिर कोई कॉलोनी या पूरा जिला ही क्यों ना हो।

 मेघालय कोरोना सहायता के तहत सरकार दे रही है हर हफ्ते 700 रूपए जानने के लिए क्लिक करे

कोरोना हॉटस्पॉट के लिए बनाए गए कुछ नियम

 इन हॉटस्पॉट के लिए कुछ नियम भी सरकार द्वारा बनाए गए हैं जिनका पालन करना बेहद जरूरी है अन्यथा लोगों को किसी भी प्रकार का दंड दिया जा सकता है आइए जान लेते हैं क्या है वे नियम?

  • जिन क्षेत्र, सोसाइटी या जिलों को हॉटस्पॉट घोषित किया गया है वहां पर पूरी तरह से लॉक डाउन पालन कराया जाएगा।
  • ऐसे हॉटस्पॉट क्षेत्र में जरूरत से जुड़े सामान के अलावा अनुमति लेने के बाद ही कुछ आवश्यक और महत्वपूर्ण व्यक्ति प्रवेश कर सकते हैं। परंतु प्रवेश से पूर्व उनका पूरी तरह से टेस्ट किया जाएगा कि उनमें कोई कोरोना से जुड़े लक्षण तो नजर नहीं आ रहे हैं।
  • हॉटस्पॉट बनाए गए क्षेत्रों में किसी भी प्रकार की एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को भी बिना परमिशन जाने की इजाजत नहीं दी गई है।
  • कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार का जरूरत का सामान जैसे कोई दवाई या राशन से जुड़ी किसी भी वस्तु को लेने के लिए घर से बाहर नहीं आ सकता है।
  • इन हॉटस्पॉट वाले एरिया में मौजूद प्रत्येक प्रकार का मॉल, दुकाने आदि सभी पूरी तरह से बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया है।
  • इन हॉटस्पॉट जिले में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिए मास्क पहनना बेहद आवश्यक कर दिया गया है।

मोदी सरकार की इस योजना से हर महीने घर बैठे मिलेंगे 5 हजार रुपये, जानने के लिए क्लिक करे

क्षेत्रों को हॉटस्पॉट घोषित करने के बाद क्या करेगी सरकार?

आज के समय में सरकार का मुख्य उद्देश्य देश में से कोरोनावायरस महामारी को जड़ समेत उखाड़ कर फेंक देना ही है।

  • ऐसे में चुने हुए क्षेत्रों को हॉटस्पॉट बनाने का भी उद्देश्य यही है, हॉटस्पॉट बनाने के बाद सरकार उन चुने हुए इलाकों में प्रत्येक लोगों के घर जाकर उनकी पूरी जांच करेगी कि उन व्यक्तियों में किसी भी प्रकार का कोरोना संक्रमित लक्षण पाया जाता है अथवा नहीं।
  • सरकार द्वारा किया जाने वाला दूसरा काम यह होगा कि वह एक परिवार के सभी व्यक्तियों से यह पता करेंगे कि वह पिछले कुछ दिनों में किसी कोरोनावायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं या नहीं।
  • जिन इलाकों को सरकार पूरी तरह से बंद कर रही है और जिन इलाकों को हॉटस्पॉट घोषित कर रहे हैं उसके बाद उस इलाके को पूरी तरह से सरकारी कर्मचारियों द्वारा सैनिटाइज किया जाएगा ताकि वहां पर किसी भी प्रकार का कोई भी जीवाणु या वायरस जिंदा ना बचे।
  • प्रत्येक घर में मौजूद प्रत्येक व्यक्तियों की सेहत का पूरा ख्याल रखा जाएगा उन्हें किसी भी प्रकार का लक्षण दिखते ही तुरंत तैयार खड़ी हुई एक इमरजेंसी एंबुलेंस में मौजूद डॉक्टर और नर्स की टीम को तुरंत उनके पास बुलाया जाएगा।
  • सभी प्रकार के आम लोगों के लिए उनकी आधारभूत वस्तुएं जैसे खाद्य पदार्थों से जुड़ा कोई सामान या अन्य कोई सामान जिसकी उन्हें आवश्यकता हो उनके घर तक तुरंत पहुंचाया जाएगा। ताकि उन्हें अपने घर और सोसाइटी के बाहर निकलने की आवश्यकता बिल्कुल भी ना पड़े।

क्यों कोरोना वायरस को महामारी (पेंडेमिक) घोषित किया गया है, जाने कब घोषित होती है महामारी जानने के लिए क्लिक करे

हॉटस्पॉट बनाए गए क्षेत्र व राज्य

देश के जिन जिलों और राज्यों में से सबसे ज्यादा करो ना कर मामले भारत सरकार के सामने आए हैं वे सभी राज्य और क्षेत्र पूरी तरह से हॉटस्पॉट में तब्दील किए जाने का फैसला सरकार द्वारा ले लिया गया है। इन हॉटस्पॉट क्षेत्रों की नवीनतम सूची नीचे दी गई है:-

  • दिल्ली:- आइए सबसे पहले जान लेते हैं भारत की राजधानी दिल्ली में जहां पर तबलीगी जमात ओं की वजह से कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में काफी हद तक इजाफा हो गया है जिसकी वजह से दिल्ली में सबसे पहला हॉटस्पॉट निजामुद्दीन बनाया गया है और उसके बाद दिल्ली में स्थित दिलशाद गार्डन। इन दोनों क्षेत्रों के अलावा वसुंधरा एंक्लेव, कल्याणपुरी, कृष्ण कुंज, पांडव नगर, खिचड़ीपुर, संगम विहार, मालवीय नगर, पटपड़गंज भी इस लिस्ट में शामिल किए गए हैं।
  • उत्तर प्रदेश:- उत्तर प्रदेश राज्य में भी अब तक कोरोना अपना पैर पूरा पसार चुका है जिसके चलते 343 से भी ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है जिसके चलते वहां के 15 जिलों को पूरी तरह से हॉटस्पॉट घोषित कर दिया गया है जिसमें गौतम बुध के 22 जिलों को पूरी तरह से हॉटस्पॉट के हवाले कर दिया गया है। नोएडा, लखनऊ मैं भी 12 जिलों को पूरी तरह से सरकार के आदेश अनुसार हॉटस्पॉट में परिवर्तित कर दिया गया है। साथ ही गाजियाबाद में 13 जगहों को पूरी तरह से लिया गया है। इनके अलावा उत्तर प्रदेश में मौजूद आगरा, मेरठ, वाराणसी, बुलंदशहर, शामली, कानपुर, बरेली, बस्ती, फिरोजाबाद, सहारनपुर, महाराजगंज और सीतापुर भी हॉटस्पॉट के हवाले किए जा चुके हैं।
  • बिहार:- वर्तमान में ही बिहार के सिवान जिले में एक घर के दो लोगों को कोरोनावायरस के बाद सिवान जिले को पूरी तरह से हॉटस्पॉट घोषित कर दिया गया है।
  • मुंबई:- मुंबई में वर्तमान समय में 55 नए मरीज मिलने के बाद हड़कंप सा मच गया है जिसके चलते साउथ वॉर्ड के अंदर सम्मिलित किए जाने वाला वर्ली इलाका कोरोनावायरस से पूरी तरह प्रभावित होने के बाद संपूर्ण हॉटस्पॉट में परिवर्तित कर दिया गया है। क्योंकि वर्तमान में मिले सारे 55 मामले सिर्फ एक इसी क्षेत्र से पाए गए हैं। पूरे महाराष्ट्र में अब तक 1135 केस सामने आ चुके हैं जिसकी वजह से पूरे महाराष्ट्र में दहशत का माहौल बना हुआ है और महाराष्ट्र में इस वायरस में तीसरे स्टेज में प्रवेश कर लिया है। मुंबई के सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में से 8 इलाकों को पूरी तरह से हॉटस्पॉट में तब्दील कर दिया गया। जिसमें से पहला इलाका जी साउथ लोअर परेल वर्ली परिसर है। दूसरे नंबर पर भायखला अवार्ड भायखला फायर ब्रिगेड और उसके आसपास का पूरा इलाका पूरी तरह से हॉटस्पॉट में तब्दील कर दिया गया। इसके साथ-साथ ही डी बोर्ड नाना चौक से मालाबार हिल परिसर को पूरा बंद कर दिया गया, केवट अंधेरी पश्चिम का इलाका भी इस लिस्ट में शामिल किया गया। पी नॉर्थवार्ड मलाड मारवाड़ी दिंडोशी, एच एस वर्ड आने वाले बांद्रा पूर्व, वाकोला परिसर, कलानगर मातोश्री से सांताक्रुज, के ईस्टवॉर्ड में गिना जाने वाला अंधेरी पूर्व, चकाला, एमआईसीडी, एम वेस्टवॉर्ड- मानखुर्द परिसर भी इस लिस्ट में कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से सम्मिलित हो गए।
  • आंध्र प्रदेश:- अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि पिछले 12 घंटों के दौरान आंध्र प्रदेश में देखी गई है जिसकी वजह से आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले को सबसे बड़ा हॉटस्पॉट घोषित कर दिया गया है। इसके अलावा कृष्णा, कडप्पा, कुरनूल, गुंटूर में भी बढ़ते हुए मामलों को देखने के बाद इन जिलों को भी पूरी तरह से हॉटस्पॉट में तब्दील करने का फैसला ले लिया गया है।

सरकार का मानना है कि जिलों को हॉटस्पॉट घोषित करने के बाद उन्हें पूरी तरह से जांच पड़ताल करके ही उन्हें पूरी तरह से संक्रमित रहित किया जा सकता है ऐसे में सरकार को अपना महत्वपूर्ण सहयोग देने से ही जनता इस महामारी से निजात पा सकती है। थोड़ा धैर्य और खुद को सुरक्षित रखने के लिए अपने घर में रहना बेहद जरूरी है। इसलिए सिर्फ एक ही बात दिमाग में रखें घर में रहें सुरक्षित रहें।

अन्य पढ़े

  1. डॉ मीनल भोसले ने बनाई भारत की पहली कोरोना टेस्ट किट
  2. मेघालय कोरोना सहायता के तहत सरकार दे रही है हर हफ्ते 700 रूपए
  3. कर्फ्यू पास क्या है और इसे कैसे प्राप्त किया जा सकता है 
  4. हरियाणा श्रमिक पायें 4000 रूपए प्रतिमाह जानिए कैसे 

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *