कोरोना वायरस की नई (तीसरी) लहर क्या है, लक्षण, उपाय, Corona New (3rd) Wave India in Hindi

कोरोना वायरस की नई लहर क्या है, पहली, दूसरी, तीसरी लहर, भारत, लक्षण, (Corona New (3rd) Wave India in Hindi) (New Phase, Symptoms, 1, 2, 3, Second, Third, Treatment)

कोरोना की दूसरी लहर अपने अंतिम चरण पर है ऐसा, माना जा रहा है. कोरोना की दूसरी लहर में जिस प्रकार से देश में ऑक्सीजन की त्रासदी हो रही हैं, यह माहोल काफी खतरनाक हैं. कोरोना की इस दूसरी लहर के बाद अब नई लहर यानि तीसरी लहर ने भी अपने पाँव देश में जमाना शुरू कर दिया है. कोरोना की इस दूसरी लहर के बाद अब देश में तीसरी लहर का भी शुभारम्भ हो गया माना जा रहा है. कोरोना की यह तीसरी लहर भी खतरनाक मानी जा रही हैं. कोरोना की इस लहर में मुख्य रूप से बच्चो को खतरा हैं. इससे छोटे बच्चों को सुरक्षित रखना भी काफी जरुरी हैं साथ ही उनको जरूरी सुविधाएं देना ही जरूरी है.

corona waves india in hindi

कोरोना नई (तीसरी) लहर क्या है 

देश में इस महामारी का तीसरा चरण आने को है. यह कोरोना की तीसरी लहर हैं जिसे पसली और दूसरी लहर से भी खतरनाक माना जा रहा है. कोरोना की इस लहर में बच्चों पर खतरा होगा, इसके भी संकेत दिए गये हैं. तीसरी लहर में जो समस्या उत्पन्न होगी इसमें मुख्य बिमारियाँ फेफड़ो से संबंधित होगी. कोरोना इस इस लहर में बच्चो को ज्यादा खतरा हैं बजाय बड़ो के. हालांकि यह भी कहा जा रहा है की इस लहर से बचने के लिए देश का मेडिकल सिस्टम पूरी तरीके से तैयार हैं. 

कोरोना नई (तीसरी) लहर कब आयेगी

कोरोना की तीसरी लहर भारत में आ चुकी है. और यह लहर बच्चों को अपनी चपेट में ले रही है. दरअसल दक्षिण भारत में बच्चों पर कोरोना की तीसरी लहर के लक्षण देखने को मिले हैं. इसलिए यह लहर धीरे – धीरे सब जगह फ़ैल सकती है. इससे समय पर बचाव नहीं किया तो यह भी कोरोना की दूसरी लहर की तरह अपना तांडव बचा सकती है. इसलिए इसके लिए सावधानियां बरतनी बहुत जरुरी है.

कोरोना नई (तीसरी) लहर के लक्षण

जिस तरह से कोरोना अपना कोहराम देश के साथ ही दुनिया में मचा रहा हैं. इसी तरह से यह कयास लगाये जा सकते हैं कि कोरोना की इस तीसरी लहर में कोई विशेष फर्क नहीं हैं, परन्तु इस लहर के वे लक्षण जिससे हमें सावधान रहने की जरुरत है निम्न है. 

  • इस कोरोना लहर से सबसे ज्यादा खतरा बच्चो को होगा. चिकित्सा विशेषज्ञों की मानें, तो इस कोरोना की लहर में बच्चों में भी सांस की समस्या देखने को मिलेगी. 
  • बच्चे को अगर तेज बुखार के साथ शरीर में थकान होती हैं तो यह कोरोना का कारण हो सकता है, शरीर में ऐसी समस्या देखते ही डॉक्टर से जरूर सलाह ले.
  • दस्त लगना और उल्टी होना साथ ही शरीर में थकान के साथ सांस की समस्या होना भी इस कोरोना की लहर का उदाहरण है.
  • खांसी और जुकाम होना भी इस कोरोना का असर हैं.
  • शरीर में दर्द के अलावा पीठ तेजी से दर्द करना और पांव में दर्द होना. 

कोरोना नई (तीसरी) लहर से उपचार

  • कोरोना की इस तीसरी लहर से बचने के लिए आप यह कर सकते हैं की आप सबसे पहले सरकारी नियमों का पालन करे
  • अपने चेहरे को मास्क से ढके, एवं अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं एवं सेनीटाइज करें.
  • अगर आपको कोरोना से संबंधित कोई भी लक्षण दीखता हैं तो सबसे पहले डॉक्टर को दिखाएं और उनसे सलाह ले.
  • कोरोना से बचाव के लिए शरीर में immunity का होना जरुरी हैं इसलिए आप उन चीजों का सेवन करे तो आपके शरीर में immunity बढाने में मदद करते हैं.

कोरोना नई (तीसरी) लहर से बचाव के लिए क्या खाएं

कोरोना की तीसरी लहर से बचने के उपचार देखे तो उसका प्राथमिक इलाज तो यही है की आप अस्पताल में जाकर डॉक्टर को जरूर दिखाएं. इसके अलावा कुछ घरेलू उपचारों के बारे में भी आपको देखना चाहिए जो कोरोना में काफी लाभदायक साबित हो सकते हैं. 

  • कोरोना में सबसे जरूरी होता है शरीर की immunity को मजबूत करना, इसके लिए आप नीम गिलोय का जूस बना कर जरुर पिये, साथ ही नीम की पत्तियों का रस निकल कर पिए जिससे आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होगी. 
  • हमारे शरीर में जरूरी विटामिन, मिनरल्स, फाइबर, प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट की कमी को पूरा करने के लिए आपको ताजे फल और एंटीऑक्सीडेंट फलों का सेवन करना चाहिए. 
  • खाना खाते समय ऐसी चीजों को खाने का ध्यान रखें जो आपके शरीर में विटामिन की कमी को पूरा कर सके. खाने में आपको ताज़ी सब्जिया और दाले खाने चाहिए. आलू, शकरकंद इतियादी के सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती हैं. 
  • सब्जियों को भी बनाये तो ज्यादा न पकाए, ऐसा करने से उसमे पोषक तत्व ख़त्म हो जाते हैं. सब्जी को हलकी – हलकी पकाए उसके बाद उनका सेवन करें. 
  • अगर आप डिब्बाबंद सब्जियां खरीदते हैं तो इस बात का ख्याल करे की उसमे शुगर और नमक की मात्रा ज्यादा ना हो. 
  • हमारे शरीर के लिए पानी सबसे ज्यादा जरूरी है. अपने शरीर में पानी की कमी ना होने दे. जरूरत होने पर पानी जरूर पीएं. पानी के अलावा आप जूस का भी सेवन कर सकते हैं पर जितना हो सके कोल्ड ड्रिंक को दूर रखें.
  • अगर आपको पसंद हो तो आप कुछ मांसाहारी चीजों का भी सेवन कर सकते हैं. मांसाहारी में अगर आप मछली के सेवन करते हैं तो यह आपको ज्यादा फायदा दे सकता है.

यह सभी तरीकों के अलावा आप सरकारी नियमों का पालन करे. मुह को मास्क से ढके, भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने से बचे. बेवजह घर से बाहर ना निकले. 

कोरोना नई (तीसरी) लहर से बचाव के लिए क्या न खायें

कोरोना के इस समय में सबसे जरूरी है हमारी सेहत, जिसका ख्याल आपको रखना हैं. इसके लिए आपको कुछ चीजों का खास ख्याल रखें. 

  • बाज़ार से आई या घर पर बनी हुई तली हुई चीजों को ना खाए क्युकी इससे शरीर में फेट बढती हैं और उससे शरीर की immunity कमजोर हो सकती हैं. 
  • हमेशा ताजा फल और ताज़ी सब्जियाँ ही खाए, इसके अलावा आप घर पर बनी देशी सब्जियों का ही सेवन कर सकते हैं. बाजार से सब्जियां लेकर न खाएं. 
  • किसी भी सोशल मीडिया के बहकावे में न आवे और नशीले पदार्थों जैसे शराब, सिगरेट आदि चीजों का सेवन बिलकुल ना करें. 

कोरोना की इस तीसरी लहर से बचने के उपायों के बारे में आपको यहाँ बताया है. कोरोना की यह नई लहर कोरोना की पिछली लहरों से भी ज्यादा खतरनाक हैं. इससे बचाव ही उपाय हैं. क्या आपको पता है कोरोना की दूसरी लहर, कोरोना की पहली लहर से भी ज्यादा खतरनाक रही है। नहीं, तो यहाँ देखिये कि कोरोना की पहली लहर क्या है ? कोरोना ही दूसरी लहर क्या है ? यहाँआपको इसके संदर्भ में पूरी जानकारी दी जाएगी। 

कोरोना वायरस लहर

वर्तमान में कोरोना जिस तरह से कहर मचा रहा है ऐसे में हमें इस बात को समझना चाहिए की कोरोना केवल एक बीमारी ही नहीं है बल्कि यह एक जानलेवा महामारी है। वर्तमान में कोरोना से मृत्यु दर में काफी इजाफा देखने को मिला है जो काफी भयानक है। भारत मे वर्तमान में दूसरी लहर काफी सक्रिय है जिससे लोगों की मृत्यु दर में काफी इजाफा हुआ है. साथ ही देश जिस तरह से प्राणवायु ऑक्सीजन के लिए प्रयत्न कर रहा है, वही देश में आर्थिक तंगी के कारण कई समस्याएं जैसे बेरोजगारी और भुखमरी जैसी समस्याएं भी उत्पत्र हो रही है। कोरोना ने जब से दुनिया में दस्तक दी है, तब से अभी तक में कोरोना की 3 लहरों ने तबाही मचा दी है. कोरोना के सभी लहरों एवं कोरोना के लक्षण की जानकारी हम यहाँ प्रदर्शित कर रहे है.

कोरोना पहली लहर

दुनिया में जब कोरोना की शुरुआत हुई थी तो उसे कोरोना की पहली लहर कहा जा सकता है। इसकी शुरुआत दिसम्बर 2019 से मानी जाती है जब कोरोना दुनिया के कई हिस्सों में अपने पैर पसार चुका था। यह दुनिया में अलग – अलग हिस्सों के साथ भारत में भी आ चुका था, भारत में पहला केस केरल राज्य में मिला था।

कोरोना पहली लहर लक्षण

कोरोना की पहली लहर में मरीजों को कुछ इस प्रकार की समस्याएं होती थी। 

  • कोरोना मरीजों को सर्दी व जुकाम के साथ – साथ तेज खांसी की समस्या होती थी। 
  • तेज बुखार और बदन का टूटना। 
  • गले में खराश का होना साथ ही खाने के स्वाद में बदलाव का आना। 
  • कोरोना संदिग्धों के गले में दर्द व सूखापन की समस्या भी होती थी। 

कोरोना की पहली लहर में मरीजों में इस प्रकार के लक्षण देखे गये है। भारत में अगस्त माह के बाद कोरोना के मरीजों में कमी देखी गई थी साथ ही मरीजों की रिक्वरी भी तेजी की दर से होने लगी थी।

कोरोना दूसरी लहर

देश कोरोना की पहली लहर से उभर ही रहा था की देश में कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत हो चुकी थी. विशेषज्ञों का मानना था कि यह दूसरी लहर पहली लहर से भी खतरनाक हो सकती है। डॉक्टर की मानें तो इस लहर में लोगों को काफी ज्यादा खतरा है, अगर लोग लापरवाही करने से भी नही मानते है, तो आने वाला समय काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

कोरोना दूसरी लहर लक्षण

कोरोना की इस दूसरी लहर में मरीजों को कुछ इस प्रकार की समस्या का सामना कर पड़ सकता है।

  • मरीज के शरीर में दर्द एवं पीड़ा।
  • गले में सूखी खराश।
  • तेज दस्त लगना।
  • आँख आना या आंखों में तकलीफ होना।
  • तेज सिरदर्द।
  • स्वाद या गंध का चला जाना।
  • त्वचा पर दाने या उंगलियों या पैर की उंगलियों का काटना, चुभना या लाल होना।
  • मरीज जो इस समस्या से जूझ रहे है उनमे ऐसा देखा गया है की उनके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर एकदम से गिर जाता है, जिससे उन्हें सांस लेने में परेशानी हो रही है.
  • मरीज के सीने में दर्द व सीने में कफ की समस्या का उत्पत्र होना।
  • शरीर में थकान का होना व शरीर का टूटना। 

साल 2020 के दिसंबर माह में कोरोना का कहर एकदम खत्म होता दिखाई दे रहा था की अचानक कोरोना एक नया स्ट्रेन सामने आ गया, जिसमें मरीजों को सांस की समस्या ज्यादा होने लगी. काफी गम की बात है की इस नये लहर में लोगों ने अपने भी काफी खोये है। 

कोरोना कैसे फ़ैल रहा है

कोरोना से बचने के उपाय जानने से पहले हमें इसके संक्रमण की जानकारी होनी चाहिए। कोरोना किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने से फैलता है। किन्तु अगर कोई कोरोना संक्रमित आपके सम्पर्क में आता है तो आपको उसके बाद क्या करना चाहिए, यह जानना भी काफी जरूरी है। 

  • अगर आपको लगता है की आप कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आये है तो सबसे पहले अपने हाथों को सेनेटाइज करें। 
  • यह कोशिश करें की आपके हाथ आपके मुंह तक न जाय न ही आपके हाथ आपके नाक को स्पर्श करे। क्योंकि कोई भी वायरस हमारे शरीर में मुंह या नाक के जरिये ही प्रवेश करता है। 

कोरोना से बचने के उपाय

कोरोना से बचने के उपाय आपको हम नीचे बता रहे हैं –

  • नीम के पेड़ के पत्तों का सेवन करें साथ ही नीम गिलोय की टहनी का सेवन, यह दोनों आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करते है। 
  • भीड भाड के इलाके में जाने से बचें साथ ही बाहर जाते समय 2 मास्क या अच्छी क्वालिटी के मास्क का प्रयोग करें। 
  • दूसरों से सामाजिक दूरी बनाए रखें।
  • अगर आपको ऐसा महसूस होता है की आपके शरीर में तकलीफ है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

हम उम्मीद करते है की इस लेख में कोरोना वायरस से संबंधित बताई गई रोचक जानकारी आपको पसंद आई होगी। अतः कोरोना की गाइडलाइन का पालन करे और अपना एवं अपनों का बचाव करें।  

FAQ

Q : कोरोना क्या है ?

Ans : कोरोना संक्रमण से फैलने वाली एक बीमारी है। 

Q : वर्तमान में भारत में कोरोना की कौन सी लहर तबाही मचा रही है ? 

Ans : दूसरी एवं तीसरी 

Q : कोरोना का सबसे बडा उपचार क्या है ?

Ans : कोरोना से बचाव ही उपचार है। 

Q : कोरोना की शुरूआत कब हुई थी ? 

Ans : विश्वव्यापी महामारी की शुरुआत दिसम्बर 2019 से मानी जाती है। 

Q : कोरोना की तीसरी लहर से किसे ज्यादा खतरा हैं ? 

Ans : बच्चों को

Q : कोरोना की तीसरी लहर से कैसे बचे ?

Ans : सरकारी नियमों का पालन करे और खुद सुरक्षित रहे. 

Q : कोरोना से बचाव के लिए किन चीजो का सेवन करे ? 

Ans : कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए पौष्टिक खाना जरूर खाएं जिससे शरीर की immunity बनी रहे. 

Q : कोरोना में क्या सावधानियां बरतें ? 

Ans : मुंह को मास्क से ढके और भीड़ – भाड़ वाले इलाको में जाने से बचे. 

अन्य पढ़ें –

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here