Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

रजत शर्मा का जीवन परिचय | Rajat Sharma biography in hindi

रजत शर्मा का जीवन परिचय ( Rajat Sharma biography, wife, net worth in hindi)

हिंदी पत्रकारिता में रजत शर्मा एक बहुत बड़ा नाम हैं, इन्होंने अपनी पत्रकारिता के अलग अंदाज़ के ज़रिये हिंदुस्तान के लोगों में अपनी अलग पहचान बनाई.  इनका शो “आप की अदालत” लोगों के बीच बहुत प्रशंसनीय रहा, जिसमें इन्होंने देश के बड़े बड़े व्यक्तित्व का साक्षात्कार लिया. रजत शर्मा इंडिया टीवी के ‘एडिटर इन चीफ़’ के पद पर काम कर रहे हैं. टीवी जर्नलिज्म में आने से पहले इन्होंने प्रिंट मीडिया में भी काफी बेहतर काम किया था. टीवी में क़दम रखने से पहले इन्होंने ‘ऑनलूकर’, ‘सन्डे आब्जर्वर’ और ‘द डेली’ के एडिटर के तौर पर भी काफी अच्छा काम किया.  रजत शर्मा ने अपने कठिन परिश्रम के बल पर बहुत बड़े बड़े मुक़ाम हासिल किये, तात्कालिक समय में ये ‘द न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया’ के अध्यक्ष और ‘स्ट्रेटेजिक अफेयर्स ऑफ़ दी इंडियन ब्राडकास्टिंग फाउंडेशन’ के उपाध्यक्ष हैं.

Rajat Sharma

रजत शर्मा के जीवन से जुड़ी जानकारी ( Rajat Sharma Short Biography in hindi)

नाम (Name)रजत शर्मा
जन्मदिन (Date of birth)18 फ़रवरी 1957
जन्म स्थान (Birth Place)सब्ज़ी मंडी , दिल्ली  
गृहनगरदिल्ली
नागरिकता (citizenship)भारतीय
शिक्षाएम कॉम (M.Com)
धर्महिन्दू
जाति (Caste)
भाषा ज्ञानहिंदी, अंग्रेजी
पेशापत्रकारिता

रजत शर्मा का जन्म और परिवार ( Rajat Sharma Family information)

  • रजत शर्मा का जन्म दिल्ली में हुआ, दिल्ली के सब्ज़ी मंडी में ये अपने छः भाई, एक बहन के साथ और माता- पिता के साथ रहते थे.
  • इनका आरंभिक जीवन बहुत ही अभावपूर्ण था, जिस घर में ये और इनका परिवार रहता था, वह केवल 100 वर्गफीट के आस पास था.
  • इस दौरान इनके घर में न तो बिजली का प्रबंध था और न ही पानी का. इस कारण प्रत्येक दिन इनके और इनके परिवार के लिये परीक्षा से पूर्ण होता था.
  • इन्होंने टीवी प्रोड्यूसर रीतू धवन से विवाह किया, इसके अलावा इनके घर में इनके माता,पिता और संतान किसी के संबंध मे कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है.

रजत शर्मा की शिक्षा ( Rajat Sharma Education)

  • रजत शर्मा की शिक्षा सनातन धर्म मिडिल स्कूल से शुरू हुई, बचपन ग़रीबी से भरा होने के कारण इन्हें सब्ज़ी मंडी रेलवे स्टेशन के लैंप पोस्ट की रौशनी में अपनी पढाई करनी पड़ती थी.
  • बाद में इन्होंने करोल बाग़ स्थित रामजस स्कूल में दाखिला लिया, ये अपने घर से स्कूल पैदल जाया करते थे. इन्होंने श्री राम कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स से स्नातक की पढ़ाई पूरी की.
  • भारत के तात्कालिक वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली कॉलेज में इनके सीनियर थे और उन्होने इन्हें फीस भरने में आर्थिक मदद की थी. इसके अलावा अरुण जेटली इनके करीबी मित्रों में हैं, जिन्होंने कई बार वैचारिक रूप से भी इनकी सहायता की.

रजत शर्मा का करियर (Career)

  • रजत शर्मा ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1982 में पाक्षिक पत्रिका ऑनलुकर में ट्रेनी रिपोर्टर के रूप में की थी. ऑनलुकर में अपने पहले लेख के एवज़ में इन्हें कुल 300 रूपए प्राप्त हुए, यह इनके करियर की पहली कमाई थी.
  • अपने कड़े परिश्रम के बल पर इन्होंने दो वर्ष के अंदर ही यानि वर्ष 1984 में ऑनलुकर के ‘चीफ़ ऑफ़ ब्यूरो’ का और वर्ष 1985 में संपादक पद को प्राप्त किया.  
  • इसके बाद वर्ष 1987 में इन्होंने ‘सन्डे ऑब्जर्वर’ के संपादक का कार्यभार संभाला, यहाँ इन्होंने दो वर्ष तक कार्य किया. इसके बाद वर्ष 1989 में इन्होंने ‘द डेली’ के संपादक के रूप में काम करना शुरू किया, यहाँ इन्होंने वर्ष 1992 तक संपादन का कार्य किया.
  • इन स्थानों पर काम करने के बाद इन्होंने ‘आप की अदालत’ शुरू की, जो काफी सफल प्रोग्राम रहा. इसका पहला एपिसोड 14 मार्च 1993 में प्रसारित हुआ था.
  • वर्ष 2004 में कई और पत्रकार साथियों के साथं इन्होंने ‘इंडिया टीवी’ लांच किया. अपने गंभीर समाचारों के कारण इस चैनल को काफ़ी समृद्धि प्राप्त हुई.
  • फिलहाल ये इसी न्यूज़ चैनल में कार्यरत हैं, ‘आपकी अदालत’ के साथ ही ये प्राइम टाइम शो ‘आज की बात’ में भी नज़र आते हैं.

‘आपकी अदालत’ संबंधित विशेष जानकारियाँ (Aap Ki Adalat Show information)

  • ‘आपकी अदालत’ की कल्पना रजत, डॉ सुभाष चंद्रा और गुलशन ग्रोवर ने मिल कर की थी, जिसमे रजत शर्मा वकील के रूप में इंटरव्यू देने वाले से सवाल करते हैं.
  • वर्ष 1997 में इन्होंने अपनी वाइफ़ के साथ मिलकर अपना प्रोडक्शन हाउस ‘इंडिपेंडेंट न्यूज़ सर्विस’ (आईएनएस) की स्थापना की, जिसके ज़रिये ‘इंडिया न्यूज़’ लांच किया गया था.
  • ‘आपकी अदालत’ में पहला इंटरव्यू लालू प्रसाद यादव का लिया गया, इसके बाद लेखक खुशवंत सिंह, टी एन शेषन, कपिल देव और भी कई लोगों का इंटरव्यू लिया गया. ये शो अब अपने पच्चीसवें वर्ष में क़दम रख चुका है, जिस दौरान इसमें लगभग एक हज़ार से अधिक जाने माने व्यक्तित्वों ने हिस्सा लिया है.

रजत शर्मा की कुल संपत्ति (Rajat Sharma Net Worth)

वर्ष 2004 में शुरू होने वाले इंडिया टीवी से रजत शर्मा को उनकी मेहनत का बेहद अच्छा फल मिला. चार वर्ष के कठिन परिश्रम के बाद चैनल का कुल रेवेन्यु ग्रोथ 120 प्रतिशत का हो गया. अपने द्वारा किये गये शो से इनके चैनल की टीआरपी बनी रही और इन्हें काफी लाभ प्राप्त हुआ. इस समय इनके पास लगभग 15 मिलियन डॉलर की संपत्ति है.

अवार्ड्स (Awards)

अपने पत्रकारिता के दौरान इन्होने बहुत सम्मान हासिल किये, औपचारिक तौर पर इन्हें 23 अगस्त 2014 को ‘तरुण क्रांति सम्मान’ से सम्मानित किया गया. वर्ष 2015 में भारत सरकार द्वारा इन्हें ‘साहित्य और शिक्षा’ के क्षेत्र में ‘पद्म भूषण सम्मान’ से भी नवाजा गया.

रजत शर्मा सम्बंधित दिलचस्प बातें ( Interesting Facts)

एक रोचक सफ़र होने के कारण रजत शर्मा के साथ कई दिलचस्प बातें जुड़ी हुई हैं जो इस प्रकार है :

  • रजत शर्मा ने अपने एम.कॉम की डिग्री पूरी करने के बाद एक रिसर्चर के रूप में काम करना शुरू किया था. उनकी प्रतिभा को देख जनार्दन ठाकुर ने उन्हें पत्रिकाओं में लिखने के लिए प्रोत्साहित किया.
  • रजत शर्मा ने जे.पी आन्दोलन में भी हिस्सा लिया और आंदोनलन के नेता जयप्रकाश नारायण से मुलाक़ात भी की. आपातकाल के दौरान इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था और इन्हें इस दौरान 11 महीने तिहाड़ जेल में रखा गया.
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी के चुनाव में जिस समय विजय गोयल प्रेसिडेंट (अध्यक्ष) के रूप में चुने गये, उसी समय रजत शर्मा को जनरल सेक्रेट्री के रूप में चुना गया था.
  • रजत शर्मा ने भारत का प्रथम प्राइवेट टेलीविजन न्यूज़ बुलेटिन का प्रसारण करके एक इतिहास कायम किया. सैटेलाइट के माध्यम से यह चैनल एशिया, यूरोप और उत्तरी अमेरिका में प्रसारित हुआ.

रजत शर्मा के वाद- विवाद (Controversy and critics) :

रजत शर्मा अपने युवा काल में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बहुत ही सक्रीय कार्यकर्ता रहे थे. इस कारण वे अक्सर खुले तौर पर भारतीय जनता पार्टी के और उसके एजेंडों का समर्थन करते हुए नज़र आते हैं. फलस्वरूप कई बार उन्हें आलोचना झेलनी पड़ती है. कई अन्य स्थापित पत्रकार और बुद्धिजीवी उनपर  तात्कालिक समय में नरेन्द्र मोदी के एजेंडा से जुड़े होने का आरोप लगाते हैं.

अन्य पढ़े:

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika