Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

Digital Digi Locker In Hindi

डिजिलॉकर योजना क्या है Digital Digi Locker In Hindi 

डिजिलॉकर (DigiLocker) अपने डॉक्युमेंट्स सेफ रखने की एक व्यक्तिगत जगह है । परंतु डिजिलॉकर पाने के लिए आधार कार्ड का होना जरूरी है क्यूकी यह डिजिलॉकर व्यक्ति के आधार कार्ड से लिंक होता है। इस डिजिलॉकर (DigiLocker) का उपयोग व्यक्ति अपने e-documents को सुरक्शित रखने के लिए करता है साथ ही साथ इसका उपयोग कर व्यक्ति अपने और भी कई डॉकयुमेंट सुरक्षित रख सकता है । इन डिजिलॉकर का उपयोग व्यक्ति e-sign का उपयोग करके कर सकता है ।

Digital Digi Locker In Hindi

डिजिलॉकर का उपयोग कैसे करे?? (How to use digilocker)

यूजर आईडी बनाना (User ID Creation)

  • स्टेप 1 (Step 1) :- https://digitallocker.gov.in/ पर क्लिक करके डिजिटल लॉकर की साईट खोले, जिन नागरिकों के पास आधार कार्ड नम्बर हैं वो डिजिटल लॉकर बना सकते हैं, लेकिन इससे पहले ये सुनिश्चित कर ले कि आधार कार्ड पर तात्कालिक मोबाइल नम्बर रजिस्टर्ड हो, यदि ना हो तो युआईडीएआई (UIDAI) सेंटर को विजिट करके अपने मोबाईल नम्बर अपडेट किये जा सकते हैं.
  • स्टेप 2 (Step 2):-अब साइन अप पर क्लिक करे.
  • स्टेप 3 (Step 3Enter your Aadhar number):- एंटर योर आधार नम्बर के नीचे दिए कॉलम में अपने 12 डिजिट के आधार नंबर डाल,ऐसा करने के बाद 2 ऑप्शन दिखाई देंगे- यूज ओटीपी या (or) यूज फिंगरप्रिंट.
  1. ऑप्शन 1यूज आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर-सेलेक्ट यूज ओटीपी (Use Aadhar Registered Mobile number-Select “Use OTP”):-

इस ऑप्शन को सिलेक्ट करने पर आपके आधार में रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर आये ओटीपी को स्क्रीन पर लिखना होगा. फिर वेरीफाई बटन पर क्लिक करना होगा.ओटीपी के वेलिडेशन के बाद यूजरनेम और पासवर्ड बनाने को कहा जायेगा

  1. ऑप्शन 2:यूज फिंगरप्रिंट फॉर ऑथेंटिफीकेशन-यूज फिंगरप्रिंट को चुने (Option2:- Use Fingerprint forAuthentification).

फिंगर प्रिंट को स्कैन करने के लिए आधार एप्रूव्ड बायोमैट्रिक डिवाइस की जरूरत होगी. मोबाइल फ़ोन की जगह फिंगर प्रिंट के उपयोग के लिए यूजर फिंगरप्रिंट पर क्लिक करे,यदि आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर एवेलेबल या अपडेटेड नहीं है तो ये ऑप्शन बहुत ही उपयोगी सिद्ध हो सकता हैं.

  • फिंगर प्रिंट को स्कैन करने के लिए उपयोग में लिए जाने वाले डिवाइस को चुने. आगे की प्रक्रिया ज़ारी रखने के लिए डिक्लेरेशन चेक बॉक्स को सेलेक्ट करे.
  • एक बार फिंगर प्रिंट स्कैनर पर फिंगर रख देने पर प्रिंट स्कैनर पर प्रणित केप्चर हो जायेंगे, इसके बाद एप्लीकेशन पर यूजर नेम और पासवर्ड के क्रिएट करना होगा.
  • फिर साईनअप बटन पर क्लिक करने पर एकाउंट बन जाएगा.

डिजिटल लॉकर अकाउंट में साइन इन करना (Sign in into Digital locker Account)

साइन इन पर क्लिक करेClick on “Sign In:- https://digitallocker.gov.in पर क्लिक करे और साईट खुलने पर पेज के टॉप पर दिए हुए साइन इन पर क्लिक करे.

यूजर की डिटेल डाले (Enter /user details):- यूजर 3 तरीकों से लॉग-इन कर सकते हैं

  1. आधार नम्बर और ओटीपी
  2. अकाउंट बनाने के दौरान यूजर नाम
  3. और पासवर्ड डालकर फेसबुक आईडी के वेलिडेशन से

यदि यूजर नाम का ऑप्शन चुना हैं तो यूजर आईडी और पासवर्ड को एंटर करे,और इसके बाद साइन इन बटन पर क्लिक करे.

यदि सोशल मीडिया अकाउंट(फेसबुक) को सेलेक्ट किया हैं तो फेसबुक आईडी और पासवर्ड डाले

सर्टिफिकेट और डाक्यूमेंट्स अपलोड करना (Uploading Certificate and Documents)

  • डोक्यूमेंट अपलोड स्क्रीन (Document upload screen):- डिजिटल लॉकर में साइन इन करने के बाद अपलोड डोक्यूमेंट पर क्लिक करे और फिर अपना डॉक्यूमेंट अपलोड करने के लिए अपलोड पर क्लीक करे.एक साथ कई सारे डोक्यूमेंट भी अपलोड किये जा सकते हैं,
  • डोक्यूमेंट अपलोड स्क्रीन (Document Uplaod Screen):- अपलोड बटन पर क्लिक करे,लोकेशन चुने और फ़ाइल या एक से ज्यादा हो तो सभी फाइल्स को सलेक्ट करे. फ़ाइल सलेक्ट करने के बाद ओपन बटन पर क्लिक करे,इस तरह एक साथ कई सारे डोक्यूमेंट एक साथ में अपलोड किये जा सकते हैं. अपलोड किये गये डोक्यूमेंट “अपलोड डॉक्यूमेंटस” सेक्शन में दिखाई देंगे.
  • डोक्यूमेंट का टाइप चुने (Select document type):- अपलोड डॉक्यूमेंट लिस्ट में से किसी भी डॉक्यूमेंट के लिए “सलेक्ट डॉक टाइप” पर क्लिक करे. दिए हुए ड्रॉप-डाउन में से डॉक्यूमेंट टाइप को चुने,यदि आपका डॉक्यूमेंट किसी भी पहले से चुने हुए डोक्यूमेंट टाइप के साथ मैच नही कर रहा तो ड्रॉप-डाउन में से “अदर(other)” को चुने. इन सभी स्टेप्स के बाद “सेव” बटन पर क्लिक करे.

सर्टिफिकेट देखना (Viewing Certificate)

  • डिजिटल लॉकर अकाउंट में लॉग-इन करने के बाद सभी यूजर के अपलोडेड सर्टिफिकेट और डोक्यूमेंट देखने के लिए अपलोड डोक्यूमेंट पर क्लिक करे.
  • यूजर यहाँ पर फ़ाइल नेम, डॉक टाइप को एडिट, डाउनलोड और शेयर कर सकते हैं.

ई साइन डोक्यूमेंट/सर्टिफिकेट (eSign Document/Certificate)

  • अपलोड डॉक्यूमेंट सेक्शन में दिए हुए डॉक्यूमेंट में ई-साइन के लिंक पर क्लिक करे.
  • यूजर को मोबाइल पर ओटीपी मिलेगा जिससे टेक्स्ट बॉक्स भरा जा सकेगा. ओटीपी डालने के बाद ई-साइन बटन पर क्लिक करना होगा. चुने हुए डॉक्यूमेंट पर ईसाइन होंगे और यदि ये पहले से पीडीएफ में नहीं हैं तो इन्हें पीडीएफ में कन्वर्ट करना होगा.
  • एक बार में केवल एक ही डॉक्यूमेंट पर ई-साइन हो सकेगा.

शेयर डॉक्यूमेंट (Share Documents)

  • अपलोड किये हुए डॉक्यूमेंट के सेक्शन में जाकर हर डॉक्यूमेंट पर दिए गये शेयर लिंक पर क्लिक करे.
  • यूजर को जिसके साथ भी डॉक्यूमेंट शेयर करना हैं उसका ईमेल आईडी एंटर करने का ऑप्शन मिलेगा
  • इमेल आइडी एंटर करने के बाद सेंड बटन पर क्लिक करे चुने हुए डॉक्यूमेंट को दिए हुए ईमेल पर शेयर किया जाएगा, एक बार में केवल एक डॉक्यूमेंट ही शेयर किया जायेगा.

इश्यू हुए डोक्यूमेंट को देखना (Viewing Issued Documents)

  • डिजिटल लॉकर अकाउंट में लॉग-इन करने के बाद सभी इश्यूड सर्टिफिकेट देखने के लिए इश्यूड डॉक्यूमेंट पर क्लिक करें.
  • यूजर रजिस्टर्ड इश्युर के द्वारा शेयर किये हुए डॉक्यूमेंट के यूआरआई देख सकेंगे.
  • यूआरआई पर क्लिक करने पर इश्युअर के डेटाबेस/फ़ाइलसिस्टम से एक्चुअल डोक्यूमेंट दिख जाएगा.

एक्टिविटी देखना (Viewing Activity)

  • डिजिटल लॉकर अकाउंट में लॉग-इन करने के बाद यूजर की एक्टिविटी देखने के लिए एक्टिविटी पर क्लिक करे.
  • एक्टिविटी लिस्ट केवल देखने के लिए हैं,इसमें एडिटिंग नहीं की जा सकती.

डिजिलॉकर आपकी मदत कैसे करता है : How to help Digi Locker In Hindi

डिजिलॉकर (DigiLocker) की मदत से कागजो पर जो फ़िज़िकल डॉकयुमेंट होते है उनका उपयोग कम हो गया । इसकी मदत से e-document को प्रमाणिकता मिलती है । डिजिलॉकर (DigiLocker) की सहायता से यूसर अपने सारी जरूरी डॉकयुमेंट सुरक्षित रख सकता है। डिजिलॉकर (DigiLocker) की सहायता से सरकार तथा कई ऑफिसो के कागजो को संभालना सरल हो गया।  तथा कोई भी इसे उपयोग करके अपने कोई भी कागज आसानी से ढूंढ सकता है वो भी बिना किसी एक्सट्रा काम किए।

सन 2014 मे यह डिजिलॉकर (DigiLocker) का कान्सैप्ट सरकार ने जन साधारण से इंट्रड्यूस कराया इसमे कोई भी आम आदमी अपने सारे सरकारी डॉकयुमेंट बर्थ सर्टिफिकेट से लेकर डिग्री तक सब सेव करके रख सकता है। यह सभी डॉकयुमेंट डिजिटल फॉर्मेट मे सेव रहते है तथा व्यक्ति इसे खी भी अपने आधार नंबर का उपयोग करके यूस कर सकता है।

इलेक्ट्रोनिक ओर information technology डिपार्टमेंट के द्वारा डिजिलॉकर (Digi Locker) का beta version इंट्रड्यूस कराया गया। यह प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की DigiLocker के प्रति बहुत ही अच्छा कदम है ।

इस (Digi Locker) सुविधा का उपयोग करने के लिए यूसर को खुद का अकाउंट इसकी वैबसाइट पर खोलना होता है यह अकाउंट यूसर के आधार कार्ड का identification नंबर का यूस करके खोला जाता है।

यह डिजिटल लाकर (Digi Locker) का खोलने का मुख्य कारण सभी जरूरी कागजात जैसे educational, medical, पासपोर्ट और pan card आदि कोई भी डॉकयुमेंट हर हिंदुस्तानी के पास डिजिटल फॉर्म मे हर समय उपलब्ध हो ताकि वह किसी भी समय तथा किसी भी परिस्थिति मे कही भी इनका उपयोग कर सके । अगर कभी भी यात्रा के दौरान वह अपने कागज खो देता है या अपने साथ नहीं रखता तो उसे  किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े।

आगे यह सर्विस सिर्फ beta वर्शन मे उपलब्ध रहेगी परंतु इसके पहले सरकार ने आम जनता से इसके प्रति उनके कमेंट मांगे है । इसके लिए कोई भी यूसर अपने कमेंट mp.gov.in पर दे सकता है।

इस (DigiLocker) सुविधा को लेकर सबसे बड़ा सवाल डॉकयुमेंट की सुरक्षा को लेकर बनता है।  परंतु electronic ओर information technology डिपार्टमेंट के सेक्रेटरी आर.एस. शर्मा ने जनता को इसके प्रति आश्वस्त करते हुये कहा है कि यह सिस्टम पूर्णतह सुरक्षित है। उन्होने कहा है कि इसकी सुरक्षा को लेकर जो टेक्नालजी उपयोग की जा रही है वह highest level की है इसमे डाटा को वन टाइम पासवर्ड के द्वारा सेव किया जाता है जो हर बार आपके अपने दिये गए मोबाइल नंबर पर सेंड किया जाता है। इस डिजिटल लॉकर (DigiLocker) का कॉन्सेप्ट ऑनलाइन बैंकिंग के कॉन्सेप्ट की तरह ही है।

डीजी लॉकर की विशेषताए  Importance Of Digi Locker in Hindi:

  • डीजी लॉकर (DigiLocker)केवल वह लोग यूस कर सकते है जिनके पास आधार कार्ड है ।
  • अगर आपका मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी आपके आधार कार्ड के लिंक है तो आप डिजी लॉकर (DigiLocker)यूस सकते है ।
  • अगर आपका मोबाइल नंबर जोह आपके आधार कार्ड से लिंक है आपके यूस हो रहे मोबाइल नंबर से अलग है तो पहले आपको अपने मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन मे चेंज करना होगा। फिर ही आप डीजी लॉकर (DigiLocker)खोल सकते है ।
  • अभी किसी भी डिजी लॉकर (Digi Locker) यूसर के लिए 10 MB का स्पेस उपलब्ध है परंतु इसे बड़ाकर 1 GB कर दिया जाएगा ।

डीजी लॉकर के फायदे Advantages Of Digi Locker In Hindi

  • डीजी लॉकर (Digi Locker) के कारण फ्रॉड की संभावना कम हो गयी है : डीजी लॉकर (DigiLocker) मे कोई भी व्यक्ति अपना डाटा सेफ रख सकता है । यह पब्लिक Wi-Fi स्पोर्ट्स के लिए accessible नही है इससे यह और भी सेफ हो जाता है। इसमे डाटा का प्रोसैस मैनेजमेंट सभी सेफ है और यह किसी भी एसे व्यक्ति के साथ शेयर नही किया जाता जिसका इससे कोई संपर्क नही है ।
  • Quicker turn – around – time for government services : डीजी लॉकर (DigiLocker) का यूस करके आप अपने काम बड़ी ही आसानी से कर सकते है तथा इससे आप अपने काम बड़ी तेजी से भी कर सकते है जैसे अगर आप अपना पैन कार्ड बनवाना चाहते है तो इसका सबसे कम समय 2 हफ्ते है परंतु अगर आप इसे किसी एजेंट से बनवाते है तो आपको एक्सट्रा पैसे देना होते है तथा आप डीजी लॉकर (DigiLocker)की मदत से डिजिटल सिग्नेचर करके इसे खुद ही तुरंत बनवा सकते है ।
  • The cost of government services to be reduce at both ends : डीजी लॉकर (DigiLocker) का उपयोग करने पर सेम काम को कम लोगो की मदत से किया जा सकता है इसकी सहायता से कोई भी यूसर कम पैसे और कम टाइम मे कम्प्युटर का उपयोग अपना काम आसानी से कर सकता है।

Digi  locker Vs private cloud storage provider in Hindi

S.N. Digi Locker Private cloud storage
अगर आप Digilocker का उपयोग करते है तो आपको हर समय अपने डॉकयुमेंट उपयोग करने के लिए उन्हे अपलोड़ करने की जरूरत नही होती आप इन्हे अपने dijilocker से तुरंत ही यूस कर सकते है परंतु private cloud storage मे आपको इन्हे यूस करना हो तो एक जगह से दूसरी जगह ट्रान्सफर करना होगा या डाउन्लोड या अपलोड़ करना होगा।
Digilocker मे आपके डॉकयुमेंट किसी भी अन्य डिवाइस से ज्यादा सेफ रहते है । क्यूकी इसकी ज़िम्मेदारी सरकार द्वारा ली गयी है । private cloud storage मे अपने डॉकयुमेंट को सेफ रखना आपकी अपनी ज़िम्मेदारी होती है ।
Digilocker का उपयोग करके आप corruption को रोक सकते है। वह टाइम जब हर काम manually होता था तथा आपको अपना काम करने के लिए रिश्वत देनी पड़ती थी digilocker की सहायता से आप अपना हर काम ऑनलाइन करके इन सब को रोक सकते है।  

आप अगर digilocker का उपयोग करते है तो आपको अपने डॉकयुमेंट की हार्ड कॉपी हर जगह साथ रखने की जरूरत नही । परंतु private cloud storage मे आपको अपने डॉकयुमेंट की हार्ड कॉपी रखना जरूरी होता है।

डिजिटल इंडिया की शुरुआत के अंतर्गत डिजिलॉकर भी शुरू किया गया हैं जिसका लक्ष्य सरकारी एजेंसियों में ऑनलाइन डॉक्यूमेंट की सत्यता जांचने के लिए  फिजिकल डोक्यूमेंट के उपयोग को कम करके ज्यादा से ज्यादा ई-डॉक्यूमेंट का उपयोग करना हैं.

Digilocker App –

पेपरलेस गवर्नेंस के लिए डीजीलॉक एप की शुरुआत की गयी हैं, इस एप की सहायता से डिजिटल तरीके से डोक्यूमेंट को वेरीफाई करना और इश्यू करना जैसे कई काम संपादित किए जा सकते हैं,जिससे फिजिकल डॉक्यूमेंट का उपयोग कम करना पड़ेगा.

यह एप्प एंड्राइड एवं एप्पल दोनों प्लेटफार्म के लिए मौजूद है. एंड्राइड फ़ोन वाले इस एप्प को आप इस लिंक से डाउनलोड कर सकते है https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digilocker.android&hl=en_IN. आईफोन वालों को एप्प यहाँ से मिल जाएगी https://itunes.apple.com/in/app/digilocker/id1320618078?mt=8.

Other Links 

Sneha

Sneha

स्नेहा दीपावली वेबसाइट की लेखिका है| जिनकी रूचि हिंदी भाषा मे है| यह दीपावली के लिए कई विषयों मे लिखती है|
Sneha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *