Dodo Drop फाइल शेयरिंग एप क्या हैं | Dodo Drop File Sharing App Download In Hindi

Dodo Drop फाइल शेयरिंग एप क्या हैं Dodo Drop File Sharing App Download In Hindi कैसे इस्तेमाल करे

इस समय दुनिया में कोरोना वायरस जैसे महामारी अपना प्रकोप दिखा रही हैं. इस बीमारी की शुरुआत चीन से हुई हैं. जिसके कारण इन दिनों चीन की छवि पूरी दुनिया में काफी ख़राब हो गई हैं. चीन का विरोध भी किया जा रहा है. हमारे देश की सरहद के अंदर चीन की घुसपैठ के कारण भी देश में चीन को लेकर गुस्सा बना हुआ है. इसके चलते देश के साथ – साथ पूरी दुनिया में चीनी उत्पाद एवं एप्प का बहिष्कार किया जा रहा है. भारत में कम से कम 59 चाइनीज़ एप्प को बंद कर दिया गया हैं. जिसके कारण लोगों को कुछ परेशानी तो हो रही हैं, लेकिन भारत में रहने वाले लोगों ने इसका हल निकालना भी शुरू कर दिया हैं. शेयर इट एवं जेंडर जैसे फाइल शेयरिंग एप्प के बंद होने के बाद भारत में फाइल शेयर करने के लिए एक एप्प को लांच किया गया हैं जिसकी जानकारी हम यहाँ दे रहे हैं.

dodo drop file sharing app

फाइल शेयरिंग करने वाला देसी एप्प कौन सा है

भारत में लोग किसी भी फाइल को शेयर करने के लिए अब तक चाइना के शेयर इट या जेंडर जैसे एप्प का इस्तेमाल करते थे, किन्तु अब उनके लिए भारत के एक व्यक्ति ने एक ऐसा एप्प का लांच कर दिया है जिससे उनकी फाइल शेयरिंग से संबंधित सारे परेशानी खत्म हो जाएगी. इस एप्प नाम है Dodo Drop App.

कोरा क्या है एवं इसका उपयोग कैसे किया जाता है यहाँ पढ़ें.

Dodo Drop App क्या है

Dodo Drop App चाइना के शेयर इट एप्प को पूरी तरह से टक्कर देने के लिए भारत में बनाया गया हैं. जोकि आसानी से किसी भी फाइल, फोटो, वीडियोस एवं टेक्स्ट मैसेज को एक डिवाइस से दूसरी डिवाइस में ट्रान्सफर कर सकता हैं. वो भी बिना इंटरनेट का उपयोग करें.

Dodo Drop App का लांच

Dodo Drop App को भारत के जम्मू कश्मीर राज्य के राजौरी जिले में रहने वाले एक व्यक्ति ने बनाया है. इसका निर्माण करने वाले व्यक्ति का नाम है अशफ़ाक महमूद चौधरी. ये केवल 17 वर्षीय एक बालक है. जिन्होंने इतनी छोटी सी उम्र में शेयर इट जैसे एप्प के विकल्प के तौर इस एप्प को बनाया है. इन्होने 13 साल की उम्र में सोशल मीडिया सर्फिंग का काम शुरू किया था और एक वेबसाइट का निर्माण भी किया था. इस एप्प का लांच चाइनीज़ एप्प पर लगने वाले प्रतिबन्ध के बाद जुलाई में किया गया है.

चाइनीज़ प्रोडक्ट्स के स्थान पर उपयोग करें स्वदेशी प्रोडक्ट्स, सूची यहाँ पढ़ें.  

Dodo Drop App की विशेषताएं

  • Dodo Drop App की मुख्य विशेषता यह हैं कि इसमें शेयर इट एप्प की तरह ही कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल फोन, टैबलेट या स्मार्ट टीवी पर किसी फाइल, इमेज, वीडियो, म्यूजिक, गाने या फिर किसी टेक्स्ट फाइल को किसी दूसरे व्यक्ति के डिवाइस पर आसानी से पहुंचा सकता है.
  • यह एप्प सैमसंग, गूगल, हुआवई, सोनी, विवो एवं मोटोरोला जैसी कंपनी के उपकरणों को सपोर्ट करता हैं. यानि कि इन कंपनियों के किसी भी डिवाइस पर इसे आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है. 
  • इस एप्प को बनाने वाले व्यक्ति अशफ़ाक को इस एप्प का निर्माण करने में कुल मिलाकर 4 सप्ताह का समय लगा था.
  • इस एप्प में फाइल ट्रान्सफर करने की स्पीड 480 एमबीपीएस है, जोकि पहले के शेयर इट एप्प की स्पीड से कई गुना ज्यादा है. किन्तु इसके लिए जरुरी हैं कि यूजर इसका सही वर्शन का इस्तेमाल करें.
  • इस एप्प में बैटरी पॉवर भी काफी कम उपयोग होता है.
  • इस एप्प को ओल्डर वर्शन, ट्रायल वर्शन एवं वीआईपी वर्शन आदि में से किसी में भी डाउनलोड कर सकते हैं. इस एप्प की साइज़ 11.43 एमबी है.
  • यह एप्प सिक्यूरिटी एनक्रिप्टेड एप्प हैं यानि कि इस एप्प में यूजर को किसी भी फाइल को ट्रान्सफर करने में पूरी तरह से सुरक्षित महसूस होगा है. इसमें किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी नहीं हो सकती हैं. 
  • यह एप्प को भारत के एक व्यक्ति ने बनाया है. इसलिए इसे ‘मेड इन इंडिया’ भी कहा गया है.

Dodo Drop App को डाउनलोड करने का तरीका

Dodo Drop App को भारत का कोई भी एंड्राइड मोबाइल फोन यूजर अपने फोन में मौजूद गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकता हैं. और यदि कोई यूजर आई फोन का उपयोग करता हैं तो वह अपने फोन में एप्पल स्टोर में जानकर इस एप्प को डाउनलोड कर सकता हैं. डाउनलोड करने के लिए यूजर्स को ‘डोडो ड्रॉप – सिक्योर फाइल ट्रान्सफर’ सर्च करना होगा. जिसके बाद उन्हें ये एप्प मिल जायेगा, उस पर क्लिक करके वे इस एप्प को डाउनलोड एवं अपने फोन में इनस्टॉल कर सकते हैं.

नेटफ्लिक्स डाउनलोड करके देखें लेटेस्ट फ़िल्में, वो भी घर बैठे.

अतः भारत में इस तरह के एप्प का निर्माण होने से मोदी सरकार के मेक इन इंडिया अभियान को उड़ान मिल रही हैं. इससे अब देश की ही विभिन्न कंपनियों ने अपने प्रोडक्ट एवं एप्प का लांच करके बहुत अधिक मुनाफा कमाना शुरू कर दिया है. चाइना के एप्प पर प्रतिबंध लगने के बाद इस तरह के एप्प के भारत में लांच होने से चाइना की अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है. उम्मीद है देश में इसी तरह के और भी एप्प का निर्माण किया जायेगा, जिससे लोगों को अब चाइना के एप्प का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं होगी और उनकी सारी परेशानी भी ख़त्म हो जाएगी.

FAQ’s

Q : Dodo Drop App से क्या होता है ?

Ans : किसी भी फाइल, फोटो, वीडियो, मैसेज आदि को एक डिवाइस से दूसरी डिवाइस में ट्रान्सफर किया जा सकता है.

Q : Dodo Drop App को किसने बनाया ?

Ans : जम्मू कश्मीर के एक युवक अशफ़ाक महमूद चौधरी.

Q : Dodo Drop App की स्पीड कितनी है ?

Ans : 480 एमबीपीएस

Q : Dodo Drop App को डाउनलोड कैसे करें’ ?

Ans : गूगल प्ले स्टोर से

Q : Dodo Drop App से फाइल ट्रान्सफर कैसे होती है ?

Ans : इसमें शेयर इट एप्प की तरह ही फाइल ट्रान्सफर की जाती है.

अन्य पढ़ें –

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *