ताज़ा खबर

एवान स्पाईजेल का जीवन परिचय | Evan Spiegel biography in hindi

Evan Spiegel biography in hindi एवान थॉमस स्पाईजेल अमेरिका में स्थित ‘मल्टीनेशनल टेक्नोलॉजी’ तथा एक सोशल मीडिया कंपनी ‘स्नैप आईएनसी’ के संस्थापक तथा सीईओ हैं, जिसे उन्होने बॉबी मर्फी और रिगी ब्राउन के साथ मिलकर अपने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के पढाई के दिनों में बनाया. इन्होने बहुत कम समय में अपनी मेहनत के बल पर बहुत अधिक नाम और पैसा कमाया है. एवान स्पाईजेल विश्व के सबसे कम उम्र के बिलियनरी में अपना शुमार रखते हैं.

Evan-Spiegel

एवान स्पाईजेल का जीवन परिचय

Evan Spiegel biography in hindi

एवान स्पाईजेल का जन्म और शिक्षा (Evan Spiegel education)

एवान स्पईजेल का जन्म 4 जून 1990 में कैलिफ़ोर्निया के लोंस एंजेलेस में हुआ. इनके पिता का नाम जॉन डब्ल्यू स्पाईजेल तथा माता का नाम ऐन थॉमस स्पाईजेल है. एवान की शिक्षा –दीक्षा सैंट मोनिका में स्थित क्रॉसरोड्स स्कूल ऑफ़ आर्ट एंड साइंस स्कूल से शुरू हुई. डिजाईनिंग में रुची होने की वजह से इन्होने अपने हाई स्कूल के दिनों में ओटिस कॉलेज ऑफ़ आर्ट एंड डिजाईन से डिजाइनिंग की क्लासेस ली. हाई स्कूल ख़त्म होने के बाद आर्ट सेंटर कॉलेज ऑफ़ डिजाईन में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में जाने से पहले डिजाईनिंग की क्लास ली. अपने हाई स्कूल के दौरान इन्होने रेड बुल के मार्केर्टिंग टीम में अनपेड इंटर्नशिप भी किया. अपने छात्र होने के दौरान एवान ने एक बायोमेडिकल कंपनी के लिए पेड इंटर्नशिप के तहत कार्य किया. ये कम्पनी दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन में स्थित थी.

एवान स्पाईजेल का करियर (Evan Spiegel career)         

सन 2012 में स्टेंफोर्ड से अपनी डिग्री पूरी होने से पहले ही स्नैप चैट को विकसित करने के लिए कॉलेज ड्राप कर दिया. अपनी डिजाइनिंग की पढाई के दौरान एवान ने अपने क्लास प्रोजेक्ट में स्नैप चैट प्रेषित किया. स्नैप चैट का विचार बहुत सार्थक सिद्ध हुआ तथा एवान अपने दो दोस्त बॉबी मर्फी तथा रिगी ब्राउन के साथ मिलकर इसे अंजाम दिया. इस समय ये स्नैप आईएनसी के सीईओ हैं. एवान ने अपने पहले प्रोजेक्ट को बॉबी मर्फी के साथ शुरू किया था. इससे पहले प्रोजेक्ट का नाम ‘फ्यूचर फ्रेश्मैन’ था. ये एक ऑनलाइन सॉफ्टवेयर था, जिसका प्रयोग कॉलेज एडमिशन के मैनेजमेंट के लिए किया जाता था. इस ऑनलाइन सॉफ्टवेयर का प्रयोग काउंसलर, विद्यार्थी के माता पिता, स्कूल विद्यार्थी कर सकते थे. हालाँकि शुरू में ये खूब चला किन्तु एक समय बाद इनके यूजर कम हो गये. इसके बाद स्नैप चैट का विचार इनके एक दोस्त रिगी ब्राउन की मदद से आया.

शुरूआती समय में स्नैप चैट का नाम पिकाबू था, किन्तु ब्राउन ने ये सुझाव दिया कि इस नाम से ये एप्लीकेशन इन्वेस्टर नहीं मिल पायेंगे. साथ ही एक प्रशन ये भी था कि कोई इस तरह से तस्वीरें कैसे साझा करेगा जो ख़ुद ब ख़ुद डिलीट हो जाता हो.

मर्फी और स्पाईजेल मिलकर पिकाबू का नाम बदला तथा नए फीचर्स के साथ लॉन्च करने में लग गये. शुरू में कुछ किशोरों ने इसे बहुत पसंद किया और धीरे धीरे इसके यूजर बढ़ते गये. देखते ही देखते ये कंपनी स्नैप चैट में आवश्यक विकास के साथ साथ एक बहुत बड़ी कंपनी बन गयी.

एवान स्पाईजेल का व्यक्तिगत जीवन (Evan Spiegel personal life)

एवान ने एक सीक्रेट मोडल मिरांडा केर को लगभग साल भर डेट किया. इन दोनों की एक दुसरे से पहली मुलाक़ात सन 2014 में न्यूयॉर्क के विटन गाला डिनर में हुई थी. इसके ठीक एक साल बाद दोनों को ‘कपल’ के रूप में एक साथ देखा गया. इसके एक साल बाद सन 2016 के जुलाई के महीने में मिरांडा ने सोशल मीडिया के ज़रिये इस सच्चई को अपने फैन्स के साथ शेयर किया कि वे दोनों एक साथ हैं और उसने एवान की तरफ से आये शादी की बात को स्वीकार चुकी है.

एवान स्पाईजेल का वाद- विवाद (Evan Spiegel controversial)

मई 2014 में वैलीवाग नाम के एक ब्लॉग ने एवान के अंडर ग्रेजुएशन के दौरान भेजे गये मेल को सार्वजनिक किया है. इस दौरान ये फ्रातेर्निटी के सदस्य भी थे. इस इमेल में स्त्रियों की स्मिता को गिराने जैसी बातें मौजूद थीं. कालांतर में स्पाईजेल ने इस बात के लिए सभी से माफ़ी माँगी. साथ ही ये भी कहा कि आज एवान जो भी हैं, स्त्रियों के प्रति उनका वैसा रुख नहीं है. स्नैप चैट के एक भूत पूर्व कार्यकर्ता ने स्नैप आईएनसी के विरुद्ध एक मुक़द्दमा ज़ारी किया है. इस मुक़द्दमे के अनुसार स्पाईजेल ने सन 2015 में कहा था कि स्नैप चैट सिर्फ और सिर्फ अमीरों के लिए है और वे नहीं चाहते कि इसका विस्तार भारत तथा स्पेन जैसे ग़रीब देशों में हो. इस मुक़द्दमें के बाद से कई भारतीय स्नैप चैट यूजर में बहुत ही रोष की भावना दिख रही है.  

अन्य पढ़ें –  

Karnika

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *