आलिया भट्ट बनी गंगूबाई काठियावाड़ी जानें पूरी कहानी | Gangubai Kathiyawadi in hindi

कौन थी गंगूबाई काठियावाड़ी, संजय लीला भंसाली की अगली फिल्म, आलिया भट्ट निभाएंगी मुख्य किरदार (Gangubai Kathiyawadi Biography in hindi) (Biopic Movie, Real Story, Real Image, Star Cast, Age)

हमारे भारत देश में ऐसी बहुत सी कहानियां और किस्से हैं जो लोगों के सामने नहीं आ पाते हैं। क्योंकि उन्हें कोई जरिया नहीं मिल पाता है जिससे उनकी दर्दनाक कहानी दुनिया के सामने आ सके और उनके जीवन का सबक बन सके। एक ऐसी कहानी जो आज तक किसी ने नहीं सुनी वह बॉलीवुड के बड़े पर्दे पर नजर आने वाली है। एक ऐसी महिला जिसने अपने जीवन में बहुत दयनीय स्थिति देखी और एक वेश्या के रूप में मशहूर हुई। उस चरित्र का नाम है गंगूबाई काठियावाड़ी जिसके बारे में आज हम विस्तार से जानेंगे।

gangubai kathiyawadi biography in hindi

गंगुबाई काठियावाड़ का परिचय (Gangubai Kathiyawadi Introduction)

परिचय बिंदु परिचय
पूरा नाम (Full Name)   गंगा हरजीवन दास काठियावाड़ी
अन्य नाम (Other Name)  गंगूबाई
निक नाम (Nick Name) गंगू
पेशा (Profession) माफिया क्वीन, कोठा चलाना
शैली (Genre) कोठे वाली
जन्म (Birth) 1939
मृत्यु (Death)
जन्म स्थान (Birth Place) काठियावाड़, गुजरात
राष्ट्रीयता (Nationality) भारतीय
गृहनगर (Hometown) काठियावाड़
जाति (Caste) गुजराती
खाने में पसंद (Food Habit)
पसंद (Hobbies) आभिनेत्री बनना
शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification) 12वी
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) मैरिड
पति का नाम (Husband’s name) रमणीक
बालों का रंग (Hair Color) ब्लैक
आँखों का रंग (Eye Color) ब्लैक

कौन है गंगूबाई काठियावाड़ी?

गुजरात के एक सम्मानित परिवार की इकलौती बेटी गंगूबाई काठियावाड़ थी। जिन्हें आगे चलकर उनके जीवन की कठिन परिस्थितियों ने अपराधी, डॉन, एक वेश्या, बिजनेस वूमेन बना दिया। ऐसा कहा जाता है कि गंगूबाई पहली ऐसी महिला थी जो 60 के दशक में डॉन की तरह रहा करती थी उनसे कोई भी पंगा लेने से पहले सौ बार सोचा करता था। वे एक कोठा चलाया करती थी जिसकी पूरे देश में कई सारी ब्रांच भी थी।

आलिया भट्ट के साथ पहली फिल्म करने वाले हीरो के बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

गंगूबाई काठियावाड़ी का प्रारंभिक जीवन

गंगूबाई का जन्म गुजरात के काठियावाड़ नामक स्थान पर हुआ था। गंगूबाई के परिवार के सदस्य बेहद सम्मानजनक परिवार के थे। जो बेटियों को पढ़ा लिखा कर आगे बढ़ाने में विश्वास रखते थे। गंगूबाई उनके परिवार की इकलौती बेटी थी जिसे वे पढ़ा लिखा कर कुछ बनाना चाहते थे, परंतु गंगूबाई की दिलचस्पी पढ़ाई में नहीं बल्कि फिल्मों में ज्यादा थी। गुजरात के उस परिवार में गंगूबाई का जन्म 1939 में हुआ था। वे हमेशा से ही हीरोइन बनने का सपना देखा करती थी और मुंबई जाने की बातें किया करते थे।

गंगुबाई जी के पिता के पास एक अकाउंटेंट काम करता था, जिसका नाम रमणीक था।  गुजरात आने से पहले वह मुंबई में रहा करता था. यह बात जब गंगूबाई को पता चली तो जैसे उसे लगा कि उसको मुंबई जाने का रास्ता मिल गया। धीरे-धीरे रमणीक के साथ उसकी दोस्ती हो गई और दोस्ती प्यार में बदल गई।

पति ने शादी के बाद 500 रुपये में कोठे पर बेच दिया

मात्र 16 साल की उम्र में वे रमणीक के साथ घर से भाग गई और मंदिर में जाकर उन दोनों ने आपस में शादी कर ली। रमणीक और गंगूबाई दोनों गुजरात से मुंबई जा पहुंचे और वहां पर एक साथ रहने लगे। कुछ समय पश्चात रमणीक ने उसे यह कहकर 1 औरत के साथ भेज दिया कि ये मेरी मौसी है मैं हम दोनों के लिए एक अच्छा और नया घर ढूंढने वाला हूं तब तक तुम मेरी मौसी के साथ उनके घर पर ही रहो। रमन ने झूठ बोलकर गंगू को कोठे वाली के हाथों 500 रूपए में बेच दिया। गंगूबाई नहीं जानती थी रमणीक ने उसे जिसके हाथों सौंप रहा है वह मुंबई के मशहूर स्थान कमाठीपुरा रेड लाइट एरिया की एक कोठे वाली है।

मुंबई के दर्शनीय स्थल जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

दर्दनाक घटना के बाद बनी कोठेवाली

मुंबई के रेड लाइट एरिया कमाठीपुरा में जब गंगूबाई  सबसे अनजान थी, उस समय उसने अपनी परिस्थितियों से समझौता भी किया था. तब वहां पर एक वहशी दरिंदा जिसका नाम शौकत खान था उसने गंगूबाई के साथ जबरदस्ती की और पूरी रात उसको इस कदर नोच खाया कि उसकी हालत बहुत ज्यादा खराब हो गई। फिर शौकत खान गंगूबाई को बिना पैसे दिए ही वहां से चला गया। उस समय गंगूबाई की इतनी ज्यादा बुरी हालत हो गई थी कि उन्हें तुरंत अस्पताल में दाखिल कराया गया। जब वह पूरी तरह से ठीक हो गई तब उसने उस आदमी के बारे में पूरी जानकारी निकालने के लिए खुद ही प्रयास किया. तब उसे पता चला कि शौकत खान नाम का वह व्यक्ति मशहूर डॉन करीम लाला के साथ काम करता था।

करीम लाला के पास जाकर, गंगूबाई ने शौकत खान की वो हरकत बताई. उसके बाद करीम लाला ने उसकी रक्षा करने का प्रण ले लिया। करीम लाला ने शौकत खान को गंगू भाई के साथ किए जाने वाले अत्याचार के लिए बेहद कड़ी सजा दी। गंगूबाई ने करीम लाला को राखी बांध कर अपना मुंह बोला भाई बना लिया। उसी दिन से गंगूबाई को कमाठीपुरा में डॉन के नाम से भी जाना जाने लगा। मुंबई के लोग जितना करीम लाला से डरते थे उतना ही वे गंगूबाई से भी खौफ खाने लगे। धीरे धीरे वे प्रचलित होती गई और उन्होंने रेड लाइट एरिया में काम करने वाली वेश्याओं के लिए भी बहुत से सकारात्मक काम किए।

गंगूबाई का कहना था कि यदि मुंबई में रेड लाइट एरिया में काम करने वाली औरतें ना हो तो मुंबई की औरतों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाएगा। भले ही गंगूबाई वेश्यावृत्ति में पूरी तरह से रंग चुकी थी परंतु वह अपने यहां पर  किसी भी ऐसी महिला को नहीं रखती थी जिसका वहां पर रहने का या काम करने का मन ना हो।

बॉलीवुड में आगामी बायोपिक में विक्की कौशल काम कर रहे है, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

गंगूबाई के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • गंगूबाई का पूरा नाम गंगा हरजीवनदास काठियावाड़ी था। बाद में मुंबई के रेड लाइट एरिया में उन्हें गंगू के नाम से जाना जाने लगा।
  • उनके जीवन में उनके साथ जो भी घटनाएँ हुई और जिस तरह से उन्हें मुंबई के डॉन की बहन बना दिया गया, इन सब बातों को लेकर उनका नाम माफ़िया क्वीन ऑफ मुंबई की किताब में शामिल किया गया है।
  • वेश्याओं के साथ-साथ उन्होंने मुंबई के बहुत से अनाथ बच्चों के लिए भी बहुत बड़े बड़े काम किये।
  • मुंबई में वेश्याओं के खिलाफ आंदोलन में उन्होंने वेश्याओं का नेतृत्व स्वयं किया।
  • मुंबई के डॉन करीम खान की मुंह बोली बहन होने की वजह से उन्हें भी मुंबई की लेडी डॉन कहा जाने लगा था।

गंगूबाई काठियावाड़ी बॉयोपिक फिल्म

गंगूबाई के जीवन की संपूर्ण कथा को अब जल्द ही बॉलीवुड के बड़े परदे पर दिखाया जाएगा।  बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर संजय लीला भंसाली इस फिल्म को खुद डायरेक्ट कर रहे है। इस फ़िल्म में आलिया भट्ट को गंगूबाई के किरदार में दिखाया जाएगा। इस फ़िल्म में अभिनय करने के लिए आलिया भट्ट को काठियावाड़ भाषा भी सिखाई जा रही है जिसमें उन्हें रेड लाइट एरिया की गंदी गंदी गालियां भी सिखाई जाने वाली हैं।  साल 2020 में सितंबर महीने  कि 10 तारीख को गंगूबाई के जीवन को बॉलीवुड की एक बहुत बड़ी फिल्म बनाकर रंगीन पर्दे पर उतारा जाएगा। इस फिल्म के जरिए जहां एक तरफ गंगूबाई के जीवन की तकलीफ है और उसका साहस दर्शाया जाएगा वहीं मुंबई में मौजूद रेड लाइट एरिया की असलियत भी बड़े पर्दे पर संजय लीला भंसाली द्वारा उतारी जाएगी। फिल्म की कास्टिंग पूरी नहीं हुई है, इस फिल्म से अजय देवगन, रणबीर कपूर के भी जुड़ने की संभावनाएं है.

Other links –

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *