Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

गुलाब जल के फायदे और बनाने की विधि| Gulab Jal Kaise Banaye Fayde in hindi

Gulab Jal (Rose Water) Kaise Banaye and Fayde in hindi गुलाब जल एक सुगन्धित तरल पदार्थ होता है, जोकि गुलाब की पंखुड़ियों के द्वारा बनाया जाता है. गुलाब का तेल बनाने के लिए गुलाब जल का उपयोग किया जाता है, इस गुलाब के तेल का उपयोग इत्र बनाने में भी होता है. गुलाब जल का उपयोग तरह तरह के भोज्य पदार्थ जैसे गुलाब जामुन में किया जाता है. चिकित्सा के लिए और कॉस्मेटिक चीजों में भी इसका उपयोग होता है. यूरोप और एशिया में इसे धार्मिक उद्धेश्य के लिए भी उपयोग किया जाता है. गुलाब का शरबत, गुलाब जल में चीनी डाल कर बनाया जाता है, जोकि बहुत स्वादिस्ट होता है. गुलाब जल हमारी त्वचा और बालों के लिए भी लाभदायक है. इससे त्वचा के पी एच का स्तर सम्भाला जाता है. यह त्वचा की सफाई करने के भी काम आता है.

गुलाब का फूल (Rose Flower Information) –

गुलाब एक तरह का फूल होता है, ये बहुत सारे रंगो जैसे पीला, लाल, गुलाबी, मैरून में होता है. इसकी 100 जातियां होती है. इसकी जातियां ज्यादातर एशिया में होती है, यह यूरोप, उत्तरीय अमेरिका, उत्तर दक्षिण अफ्रीका में बहुत कम होती है. गुलाब के पौधे की ऊँचाई बहुत ज्यादा नहीं होती, इसलिए इसे घर के बगीचे में भी लगाया जा सकता है. गुलाब एक सजावटी पौधा होता है जोकि घर की सुन्दरता को बढ़ाता है. ज्यादातर लोग इसे अपने घर में लगा कर अपने घर की शोभा बढ़ाते है. इसका उपयोग इत्र के व्यवसाय और गुलदस्ते के व्यवसाय के लिए होता है. यह अधिकतर लोगों का पसंदीदा पौधा है. यह कई उपयोगी उद्देश्य जैसे खेल, घर की सजावट, भगवान को चढ़ाने के लिए भी किया जाता है.

gulab jal

गुलाब जल बनाने की विधि (Gulab Jal kaise banaye  at home) –

आधुनिक समय में अलग -अलग प्रकार की फैक्ट्री में इसका निर्माण होने लगा है, जिससे यह बाजार में आसानी से मिल जाता है. लेकिन गुलाब जल बनाने का बहुत ही आसान तरीका आपके घर में ही मौजूद है.  

गुलाब जल बनाने के लिए तीन चीजों की अवश्यकता होती है,

  • गुलाब की पंखुड़ियाँ,
  • जल
  • बर्फ

इसके लिए एक ऐसा बर्तन लीजिये, जिसमें एक दूसरा बर्तन भी समां सके. अब इस बर्तन में एक स्टैंड रख दीजिये.

  • 2 ग्लास जल में लगभग 15 गुलाब के फूल की पंखुड़ियाँ लीजिये, और इस बर्तन में डाल दीजिये,
  • स्टैंड के उपर एक खाली बर्तन रखिये.
  • अब इस बर्तन को आग के ऊपर, लगभग 20 से 25 मिनिट तक के लिए रखिये, और गरम होने दीजिये.
  • अब जब यह गरम होगा, तो यह भाप के रूप में ऊपर आएगा, लेकिन हमें इसे इक्कठा करने के लिए, इस बर्तन के ऊपर एक उल्टा ढ़क्कन रखना होगा.
  • इस ढक्कन पर बर्फ के टुकड़े रखें, जिससे यह भाप बाहर न निकले और ठंडी होकर, उस खाली बर्तन में जल के रूप में इक्कठी हो सके,
  • फिर इसे आग से हटा दीजिये, और ठंडा होने दीजिये.
  • इस तरह गुलाब जल का उत्पादन आप घर पर ही कर सकते है. इससे आपको बिना रासायनिक तत्व मिला हुआ, शुद्ध गुलाब जल भी मिल जायेगा, और आपके पैसे भी बच जायेंगे.

गुलाब जल के उपयोग और उनसे होने वाले फायदे (Rose Water Benefits and uses in hindi)

गुलाब जल का उपयोग बहुत सी जगहों पर किया जाता है. इनमें से कुछ उपयोग और उनसे होने वाले फायदे इस प्रकार है-

क्र.म. गुलाब जल उपयोग करने के स्थान गुलाब जल का उपयोग गुलाब जल के फायदे
1. त्वचा के लिए रुई को गुलाब जल में डुबोकर त्वचा में लगायें. त्वचा की गन्दगी निकलती है, और त्वचा खिल उठती है.
2. बालों के लिए नारियल तेल में, गुलाब जल की कुछ बुँदे डालकर बालों की जड़ो में लगायें. बाल मुलायम  और चमकदार दिखेंगे, बालों का उलझना और झड़ना बंद हो जायेगा. 
3. कॉस्मेटिक के लिए क्रीम में मिलाकर लगायें. त्वचा कोमल और चमकदार दिखेगी.
4. चिकित्सा के लिए मलहम के रूप में चोट में आराम मिलेगा.
5. धार्मिक चीजों के लिए इत्र के रूप में इसकी खुशबू से मन को शांति मिलती है.

गुलाब जल का उपयोग अलग –अलग जगहों पर अलग –अलग प्रकार से किया जाता है, इनमें से कुछ और इस प्रकार है-

त्वचा के लिए (Rose water for skin) –

त्वचा के लिए गुलाब जल बहुत ही लाभदायक होता है, किन्तु अलग –अलग  प्रकार की त्वचा के लिए गुलाब जल का उपयोग अलग –अलग प्रकार से होता है, जिनमें से कुछ के प्रकार निम्न है-

  • कोमल त्वचा के लिए
  • रुखी त्वचा के लिए
  • तैलीय त्वचा के लिए
  • त्वचा के पीएच (PH) को सँभालने के लिए
  • त्वचा की सिकुड़न के लिए
  • त्वचा में कील, मुहांसों के लिए
  • त्वचा की रंगत के लिए (Rose water for skin lightening)
  • आँखों के नीचे काले घेरों के लिए (Rosewater for dark circles)
  • कोमल त्वचा के लिए (Rosewater for soft skin) –

कोमल त्वचा के लिए गुलाब जल एक बहुत अच्छा उत्पाद है, गुलाब के पास एंटी – ओक्सीकरण क्षमता होती है, जोकि त्वचा के कोमल और उत्तेजित करने वाले भाग को आराम देती है. गुलाब जल त्वचा की परेशानियों को हटाकर, डल त्वचा में निखार लाता है. यदि त्वचा में जिस जगह जलन हो रही हो, वहां गुलाब जल और ग्लिसरिन को बराबर मात्रा में मिलाकर लगाया जाये, तो त्वचा को आराम मिलता है.

  • रुखी त्वचा के लिए (Rose Water for Dry skin) –

रुखी त्वचा को गुलाब जल नमी प्रदान करता है, रुखी त्वचा में गुलाब जल   लगाने से त्वचा को ठंडक मिलती है. यह रुखी त्वचा को हाइड्रेट करता है. गुलाब में प्राकृतिक चीनी होती है जो न केवल त्वचा को साफ और कोमल बनाती है, बल्कि इसे नमी भी प्रदान करती है.

  • तैलीय त्वचा के लिए (Rosewater for oily skin) –

तैलीय त्वचा के लिए गुलाब जल का उपयोग बहुत ही आसान तरीके से किया जाता है. गुलाब जल में नीम्बू का रस मिला कर लगाने से त्वचा का तेल हटाया जाता है. नीम्बू में कुछ तत्व ऐसे होते है जो त्वचा से तेल को हटाने का काम करते है. नीम्बू के फायदे व उपयोग जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

  • त्वचा के पीएच (PH) को सँभालने के लिए (Rose Water ph level) –

त्वचा में पी एच के स्तर को बरक़रार रखने के लिए, किसी भी प्रकार की त्वचा के लिए गुलाब जल बहुत अच्छा उत्पाद है. यह अपने आप ही त्वचा के पी एच की जाँच करके उसे संभालता है. त्वचा का पी एच संभलना बहुत जरुरी होता है, क्यूकि इसी से त्वचा हाइड्रेट होती है, और यह त्वचा के बंद हो चुके छिद्र खुलते है.

  • त्वचा की सिकुड़न के लिए (Rose water for wrinkles) –

गुलाब जल त्वचा में आई सिकुड़न को रोकता है. गुलाब जल की विशेषता यह है कि काले धब्बे, सिकुड़न, झाइयाँ इन सभी को यह आसानी से दूर कर देता है. त्वचा में गुलाब जल को एक दिन में, तीन बार छिढ़कने से ये सारी परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है.

  • त्वचा में कील, मुहांसों के लिए (Rose water for pimples) –

गुलाब जल से त्वचा में आये मुहांसों और कीलों को भी आसानी से हटाया जा सकता है. गुलाब जल में एक नीम्बू का रस मिला कर चेहरे में लगाने से त्वचा से कील और मुहांसे साफ़ हो जाते है. इसे हफ्ते में 2 बार लगाना चाहिए. यदि बहुत ज्यादा मुहांसे हो तो, उसमें नीम्बू न मिला कर सिर्फ गुलाब जल को एक दिन में, तीन बार छिड़कने से आराम मिलता है. इसमें बहुत ही उपयोगी उत्पाद होते है जो इन परेशानियों से लड़ने में सहायक होते है. मुहांसे हटाने के घरेलु उपाय यहाँ पढ़े.

  • त्वचा की रंगत के लिए (Rose Water for skin whitening) –

सूर्य की किरणों के त्वचा में पड़ने से त्वचा जल जाती है, बेजान दिखाई देने लगती है, जिससे त्वचा की रंगत काम हो जाती है. गुलाब जल को बेजान त्वचा में लगाने से, त्वचा में जान आ जाती है, और त्वचा की रंगत वापस आ जाती है, और  त्वचा निखरती है. सुंदर त्वचा के घरेलु उपाय यहाँ पढ़ें.

  • आँखों के नीचे काले घेरों के लिए (Rosewater for dark circles) –

आँखों के नीचे काले घेरे होने से त्वचा की रंगत में कमी नजर आती है, इसके लिए रुई को गुलाब जल में डुबोकर आँखों के चारों ओर लगाकर 15 मिनिट तक रखने से, यह परेशानी भी धीरे -धीरे दूर हो जाती है, और त्वचा फिर से खिल उठती है.

बालों के लिए (Rose water for hair) –

  • तैलीय बालों के लिए
  • रूखे बालों के लिए
  • बालों को मुलायम बनाने के लिए
  • धूल मिट्टी से बचाने के लिए
  • बालों की लम्बाई बढ़ाने के लिए
  • बालों को झड़ने से बचाने के लिए
  • बालों को रूसी से बचाने के लिए
  • बालों को संक्रमण से बचाने के लिए
  • तैलीय बालों के लिए (Rosewater for oily hair) –

जिस प्रकार गुलाब जल तैलीय त्वचा से तेल को हटाता है, उसी प्रकार यह बालों से भी तेल को हटाता है. कुछ लोगों के पास वसामय ग्रंथियां होती है, जो बहुत ज्यादा मात्रा में बालों की जड़ो में पाई जाती है, जिससे बाल तैलीय हो जाते है. लेकिन गुलाब जल से इस समस्या का भी निवारण हो सकता है. गुलाब जल में रुई को डुबोकर बालों की जड़ो में लगाने से बालों से तेल को हटाया जाता है, इससे बालों का पी एच भी सम्भाल जाता है और  बाल भी चमकदार दिखने लगेंगे.

  • रूखे बालों के लिए (Rosewater for dry hair) –

गुलाब जल बालों से तेल तो हटाता है, साथ ही रूखे बालों के लिए भी यह उपयोगी है. गुलाब जल और ग्लिसरिन को बराबर मात्रा में मिला कर, बालों की जड़ो में लगाने से, यह बालों को हाइड्रेट करता है, जिससे बालों को नमी मिलती है, और बाल उलझते नहीं है.

  • बालों को मुलायम बनाने के लिए (Rosewater for soft hair) –

शैम्पू करने के बाद हमारे बालों को मुलायम रखने की आवश्यकता होती है क्यूकि शैम्पू में बहुत से रासायनिक तत्व पाए जाते है, जो कि बालों को हानि पहुचाते है. इसके लिए गुलाब जल की जगह गुलाब के तेल को उपयोग में लाया जाता है. नारियल तेल में, 10 बूँद गुलाब के तेल की डाल कर बालों में लगाने से बाल मुलायम हो जाते है. नारियल के गुण व फायदे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

  • धूल मिट्टी से बचाने के लिए (Rosewater for hair growth) –

धूल और मिट्टी से बाल ख़राब हो जाते है. ऐसे में बालों को धोना बस सही नहीं है, क्यूकि इससे बाल साफ तो हो जाते है, किन्तु उससे बालों का पी एच कम हो जाता है, और बाल रूखे हो जाते है. इसके लिए गुलाब जल में विटामिन इ की गोलियों और तेल मिलाकर बालो में लगाये, बालों का टूटना कम हो जायेगा, और बाल चमकदार दिखने लगेंगे.

  • बालों की लम्बाई बढ़ाने के लिए-

बालों की लम्बाई बढ़ाने के लिए गुलाब जल का इस्तेमाल किया जाये, यह बात  विज्ञान में साबित नहीं हुई है, लेकिन कुछ सूचना से पता चला है, कि गुलाब जल में विटामिन ए, बी, सी, और इ होता है जोकि बालों की लम्बाई बढ़ाने में आवश्यक होता है. इसलिए गुलाब जल को तेल के साथ मिलाकर लगाने से बाल टूटते नहीं है, और बालों की लम्बाई बढ़ती है. लम्बे घने बालों के घरेलु उपाय यहाँ पढ़ें.

  • बालों को झड़ने से बचाने के लिए (Rosewater for hair loss) –

बालों की लम्बाई बढ़ने के साथ -साथ बालों का मजबूत होना भी बहुत जरुरी होता है. बालों को मजबूत बनाने के लिए सबसे पहले शैम्पू और कंडीशनर का घर में ही उत्पादन करना होगा, क्यूकि बाजार के शैम्पू में पाये जाने वाले रासायनिक तत्व बालों तो ख़राब कर सकते है. इसके अलावा गुलाब जल में विटामिन इ मिलाकर लगाइए, यह बालों की जड़ो में खून के स्त्राव को बढ़ाता है, जिससे बाल झड़ते नहीं है और मजबूत बनते है.

  • बालों को रूसी से बचाने के लिए (Rosewater for dandruff) –

बालों की जड़ो में नमी कम होने की वजह से रुसी की समस्या होती है. यह बालों को जड़ो से ख़राब कर देती है, जिससे बाल टूटने लगते है. इसके लिए गुलाब जल में मैथी के दाने कुछ घंटो के लिए फुलाकर रखिये, और इसे बालों की जड़ो में लगाने से रुसी हट जाती है, और बाल अच्छे हो जाते है. रुसी हटाने के घरेलु उपाय यहाँ पढ़ें.

  • बालों को संक्रमण से बचाने के लिए –

गुलाब जल से बालों को संक्रमण से बचाया जा सकता है. गुलाब जल में पाए जाने वाले तत्व संक्रमण से लड़ते है, और बालों को खराब होने से बचाते है.

कॉस्मेटिक के लिए –

गुलाब जल का उपयोग लोग कॉस्मेटिक में जैसे कोल्ड क्रीम में करते है. भारत में भी इसका उपयोग ज्यादा किया जाता है. गुलाब की सुगंध इत्र बनाने के लिए भी आवश्यक होती है. मिठाई बनाने जैसे गुलाब जामुन में इसका उपयोग होता है. गुलाब जामुन की रेसिपी पढने के लिए यहाँ क्लिक करें.  शादियों में मेहमानों के ऊपर भी इसका छिढ़काव करके, उनका स्वागत किया जाता है. इस प्रकार यह कॉस्मेटिक के सामान, मीठे में, और मेहमानों के लिए गुलाब जल का प्रयोग होता है.

चिकित्सा के लिए (Rose Water for health) –

गुलाब जल का उपयोग चिकित्सा के लिए भी किया जाता है. गुलाब जल को एक मलहम के रूप में, चोट में लगाने से चोट वाली त्वचा की जगह मुलायम हो जाती है, और इससे आराम भी मिलता है.

धार्मिक चीजों के लिए (Rose water for Spiritual cleansing) –

गुलाब के तेल से इत्र बनाया जाता है. गुलाब जल का उपयोग, इत्र के रूप में धार्मिक समारोह में भी किया जाता है. जैसे हिन्दु धर्म में इत्र पूजा की सामग्री में रखा जाता है, जोकि भगवान को चढ़ाया जाता है, और मुस्लिम एवं ईसाई धर्म में भी इसका बहुत महत्व है.

इस तरह गुलाब जल इन सभी के लिए उपयोगी और फायदेमंद है.

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *