Top 5 This Week

spot_img

Related Posts

Harda factory blast news- हरदा में दुखद त्रासदी, सैकड़ो मौत का अंदेशा, जानिए कौन है दोषी

Harda Blast (Video, News, Blast News, location, Timing, Owner, Harda Blast news in Hindi) हरदा ब्लास्ट (न्यूज़, विडियो, हरदा फटका फैक्ट्री न्यूज़, फटका फ़ैक्टरि ब्लास, फैक्ट्री मालिक)

मध्य प्रदेश के हरदा जिले की एक पटाखा फैक्टरी में मंगलवार सुबह भयानक विस्फोट हुआ। इस घटना में 11 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक लोग घायल हुए। इसके अतिरिकत 51 गंभीर रूप से घायल लोग भोपाल और इंदौर मे रेफर किए गए है। कई लोग अब भी लापता है एनडीआरएफ़ की टीम मौके पर पंहुच गई है और मबे मे दबे लोगो को ढूँढने और उन्हे निकालने का काम कर रही है। विस्फोट की भीषणता ने आसपास के घरों और इमारतों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया, 60 से अधीक घर जल गए, आस पास के लगभग 100 घर खाली कराये गए है।

अब फ़ैक्टरि को लेकर कई बाते सामने आ रही है कुछ अधिकारी कह रहे है की फ़ैक्टरि अनफ़िट थी, कल मुख्यमंत्री हरदा जाकर बम ब्लास्ट और वह रह रहे लोगो और घायलो की हालत का जायजा लेंगे।

राहत और बचाव कार्य (Relief and rescue operations)

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने तुरंत आपात बैठक बुलाई और घायलों के लिए तत्काल उपचार और राहत सामग्री की व्यवस्था के निर्देश दिए। मृतकों के परिवारों को चार-चार लाख रुपये की सहायता और घायलों के इलाज का पूरा खर्च सरकार द्वारा वहन किए जाने की घोषणा की गई।

इसके अलावा कल इस घटना के तुरंत बाद हरदा के आस पास के जिलो से एंबुलेंस और फायरब्रिगेट भी मौके पर पहुची। घायलो को अस्पताल ले जाने के लिए भोपाल और हरदा के बीच ग्रीन कोर्रीडोर निर्मित किया गया।

हरदा ब्लास्ट का विडियो

राष्ट्रीय नेताओं की संवेदना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया। प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा कोष से मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की।

सामुदायिक प्रतिक्रिया

इस घटना ने समाज के विभिन्न वर्गों को एकजुट किया। आसपास के जिलों से फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस की टीमें राहत कार्यों में सहायता के लिए हरदा पहुंची। अधिकारियों ने बचाव और राहत कार्यों को प्राथमिकता दी और संबंधित एजेंसियों के साथ मिलकर काम किया।

जांच और निवारण (Investigation and prevention)

मुख्यमंत्री ने इस दुर्घटना की गहन जांच के आदेश दिए ताकि इसके कारणों की पहचान की जा सके और भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके। जांच के परिणामों के आधार पर, दोषी पाए जाने वाले व्यक्तियों या संस्थाओं के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

NGT (नेशनल ग्रीन ट्रियूनल) ने आदेश जारी कर कहा है की इस घटना मे हुई बड़ी संख्या मे हुई मौतों को देखते हुये इसमें न्यूनतम राहत देने की आवश्यकता है। NGT ने कहा है इस मामले में फ़ैक्टरि मालिक को तुरंत भुक्तन कर अन्तरिम राशि जमा करनी चाहिए, उन्होने फ़ैक्टरि मालिक को मृतको के लिए 15 लाख रूपाय , गंभीर चोट पर 5 लाख, समान्य चोट पर 3 लाख देने के आदेश दिये है। इसके अलावा उन्होने घर जलने पर 5 लाख और घर खाली करने पर 2 लाख की राशि देने का आदेश जारी किया है।

कौन है इस फ़ैक्टरि का मालिक (Who is the owner of this factory?)

यह अवैध फैक्ट्री राजू अग्रवाल के स्वामित्व में थी, इसे राजू अग्रवाल, सोमेश अग्रवाल और प्रदीप अग्रवाल मिलकर चला रहे थे।  उन्हे कल रात सारंगपूर से गिरफ्तार किया गया है =। जिसकी प्रशासन में गहरी पैठ बताई जा रही है। आरोप है कि इस फैक्ट्री का संचालन बिना उचित अनुमति के हो रहा था और इसे राजनीतिक संरक्षण प्राप्त था। कांग्रेस ने यह भी आरोप लगाया है कि राजू अग्रवाल सजायाफ्ता था, फिर भी फैक्ट्री का संचालन जारी रहा।

इस फैक्ट्री में दो साल पहले भी विस्फोट हो चुका है, जिसमें तीन लोगों की मौत हुई थी। स्थानीय लोगों ने इसे लेकर कलेक्टर से शिकायत भी की थी, लेकिन प्रशासन ने उन्हें नजरअंदाज किया।

लाइसेंस नवीनीकरण और अवैध भंडारण

होशंगाबाद संभाग के कमिश्नर ने कुछ समय पहले फैक्ट्री की लाइसेंस को बहाल किया था, जबकि फैक्ट्री पहले अनफिट बताई गई थी। यह भी आरोप है कि राजू अग्रवाल ने आसपास के घरों में बारूद का अवैध भंडारण किया था, जो हादसे का मुख्य कारण हो सकता है।

इस घटना ने न केवल हरदा के लोगों को, बल्कि पूरे देश को एक सबक सिखाया है कि सुरक्षा मानकों का पालन कितना जरूरी है और आपदा प्रबंधन में तेजी और सजगता कितनी महत्वपूर्ण है।

FAQ – 

 

प्रश्न : हरदा फैक्ट्री विस्फोट के मामले में फैक्ट्री का मालिक कौन है ?

उत्तर: हरदा फैक्ट्री विस्फोट के मामले में फैक्ट्री का मालिक राजू अग्रवाल था।

प्रश्न : हरदा फैक्ट्री विस्फोट में कितने लोगों की मौत हो गई है?

उत्तर: हरदा फैक्ट्री विस्फोट में एबी तक 11 लोगों की मौत हो गई है ।

प्रश्न : क्या हरदा पटाखा फैक्ट्री पहले भी किसी हादसे का शिकार हो चुकी थी?

उत्तर: हां, हरदा पटाखा फैक्ट्री में दो साल पहले भी एक हादसा हुआ था, जिसमें तीन लोगों की मौत हुई थी।

अन्य पढ़ें – 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles