ताज़ा खबर

हिमा दास का जीवन परिचय | Hima Das Biography In Hindi

हिमा दास का जीवन परिचय – Hima Das Biography In Hindi (Age, Height, 400m Gold, Family)

भारतीय रेसर हिमा दास ने फिनलैंड देश की धरती पर नया इतिहास रच दिया है और ये हमारे देश की पहली ऐसी महिला बन गई हैं, जिन्होंने आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ को प्रथम स्थान पर आकर खत्म किया है. असम राज्य के किसान परिवार से आने वाली हिमा ने साल 2017 में अपने कोच से दौड़ने की ट्रेनिंग लेना स्टार्ट किया था और बेहद ही कम समय में इन्होंने रेस में महारत हासिल कर ली.

Hima Das 400 m Gold

हिमा दास से जुड़ी जानकारी

नाम (Name) हिमा दास
निक नेम  (Nick Name)
जन्मदिन (Birthday) 9 जनवरी, साल 2000
जन्म स्थान (Birth Place) ढिंग, नागांव, असम
नागरिकता (Citizenship) भारतीय
गृह नगर (Hometown) असम
कहां से हासिल की शिक्षा (Education)

स्कूल का नाम

 

कॉलेज/यूनिवर्सिटी का नाम

 

जानकारी नहीं

धर्म (Religion) हिन्दू
घर का पता (Home Address)
पेशा (Occupation) ट्रैक और फील्ड
रिकॉर्ड (Record) विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप (400 मीटर दौड़ ) जीतने वाली प्रथम भारतीय महिला
बुरी आदतें (Bad Habits)
कुल संपत्ति (Net Worth)

 हिमा दास का जन्म, परिवार और शिक्षा (Birth, Family And Education)

  • हिमा दास का जन्म भारत के असम राज्य के ढिंग गांव में हुआ है और इनके माता पिता का नाम जोमाली और रोनजीत दास है.
  • 18 वर्षीय हिमा के परिवार में इनके माता पिता के अलावा इनके पांच भाई और बहन हैं और ये अपने माता पिता की सबसे छोटी बेटी हैं.
  • हिमा दास ने कितनी पढ़ाई कर रखी है और किस स्कूल से पढ़ाई कर रखी है इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं हैं.

हिमा दास का करियर (Career)

  • हिमा दास का बचपन से ही स्पोर्ट की और झुकाव था और ये बचपन से ही कई तरह के स्पोर्ट खेला करती थी. कहा जाता है कि हिमा अपने स्कूल के दिनों में लड़कों के साथ मिलकर फुटबॉल खेला करती थी और इसी दौरान ही इनका स्टैमिना काफी बढ़ गया था.
  • साल 2017 में हिमा की मुलाकात अपने कोच, निपुण दास से खेल और युवा कल्याण निदेशालय की और से आयोजित किए गए इंटर-डिस्ट्रिक्ट मीट के दौरान हुई थी.
  • हिमा से मिलने के बाद निपुण दास ने उन्हें रनर बनने की सलाह दी थी और हिमा को अपने साथ गुवाहाटी ले आए थे. हिमा का परिवार काफी गरीब था इसलिए गुवाहाटी में हिमा को ट्रेनिंग देने के दौरान उनके रहने का सारा खर्चा उनके कोच द्वारा किया गया था.
  • शुरू शुरू में निपुण ने इन्हें 200 मीटर रेस के लिए तैयार किया था और जैसे जैसे इनका स्टैमिना बढ़ता गया, इन्होंने 200 मीटर की जगह 400 मीटर के ट्रेक पर दौड़ना शुरू कर दिया था.

हिमा दास द्वारा बनाए गए रिकॉर्ड (Record)

हाल ही में ये फर्स्ट ऐसी इंडियन महिला बन गई हैं, जिन्होंने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप ट्रैक कॉम्पिटिशन में स्वर्ण पदक हासिल किया . इनसे पहले कोई भी भारतीय महिला आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप की चार सौ मीटर की रेस जीतने में कामयाब नहीं हुई है. इन्होंने 400 मीटर की ये रेस केवल 51.46 सेकेंड में पूरी की है और प्रथम स्थान प्राप्त किया.

इन्हें गोल्ड जीतने के बाद उनको पीएम मोदी और हमारे देश के प्रेजिडेंट सहित कई राजनेताओं द्वारा बधाई दी जा रही है और हर कोई अपने ट्विटर अकाउंट में इनकी तारीफ कर रहे हैं. उम्मीद है कि आने वाले समय में हिमा कई और रिकॉर्ड बनाए और हमारे देश कि लिए और मेडल जीते.

4 comments

  1. Tranding news india

    Have a great life intro

  2. brij mohan asawa

    great news, please pile up more info on the lady and let us know.

    • Since she is new so information is not that great. Will try to increase information as soon as she gives some kind of interview.

  3. Congratulation Heema Das for such a great performance.👍👍👌💐💐🎂🎂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *