इन्द्रा गाँधी मातृत्व सहयोग योजना IGMSY – जननी सुरक्षा योजना 2020

इन्द्रा गाँधी मातृत्व सहयोग योजना IGMSY – जननी सुरक्षा योजना  2020-21 Indra Gandhi Matritva Sahyog Yojana (IGMSY) Janani Suraksha Yojana in Hindi 

सन 2010 मे महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा इन्द्रा गाँधी मातृत्व सहयोग योजना (Indra Gandhi Matritva Sahyog Yojana (IGMSY))जन साधारण के लिए शुरू गयी । इन्द्रा गाँधी जननी सहयोग योजना के अंतर्गत 19 साल या उससे अधिक उम्र की महिला को उसके 2 बच्चो तक  5000rs की राशि दी जाती है| जननी सुरक्षा योजना का मुख्य उद्देश्य जननी को बच्चे के जन्म के समय सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान करना तथा साथ ही साथ बच्चे के जन्म के बाद उसकी ठीक तरह से देखभाल प्रदान करना है ताकि एक महिला सुरक्षित रहते हुये बच्चे को जन्म दे सके ओर उसकी देखभाल कर सके। यह जननी सुरक्षा योजना 53 चुने हुये जिलो मे शुरू की गयी है । सन 2011-12 मे इससे लाभान्वित लोगो की संख्या 2.05 है तथा 2012-13 मे लाभान्वितों की संख्या बदकर 3.76 हो गयी है।

Indra Gandhi Matritva Sahyog Janani Suraksha Yojana in Hindi

जननी सुरक्षा योजना (Janani Suraksha Yojana)  के उद्देश्य :

  • जननी सुरक्षा योजना का मुख्य उद्देश्य डिलेवरी ओर गर्भावस्था के दौरान सही ओर सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान करना है ।
  • जननी सुरक्षा योजना का दूसरा मुख्य उद्देश्य यह है की बच्चे को और माँ को पूरी सुरक्षा देना है उनकी सेहत का पूरा ओर सही ध्यान रखना है । जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत बच्चे को जन्म के प्रथम 6 महीने तक माँ से ब्रेस्ट-फीडिंग कराने के लिए प्रेरित किया जाता है।
  • जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत गर्भवती महिला को कुछ राशि दी जाती है जिसे वह अपनी ओर अपने बच्चे के लिए यूस कर सकती है।

जननी सुरक्षा योजना के लिए योग्यता (Eligibility Criteria)

कोई भी महिला जो 19 साल से अधिक है ओर गर्भवती है वह इस जननी सुरक्षा योजना का लाभ लेने के लिए योग्य है परंतु इन महिलाओ मे वह महिला शामिल नही है जो पहले से ही मेटेरनिटी लिव पर है और कोई संस्था उन्हे इस लिए पे कर रही हो।

जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत वह लोग राशि पाने के योग्य है जो इन condition को पूरा करते है।

जननी सुरक्षा योजना (इन्द्रा गाँधी जननी सहयोग योजना) के लाभ Benefits Of Janani Surksha Yojana In Hindi

First Installment –

  • जननी सुरक्षा योजना मे गर्भवती महिला को पहली राशि 1500 रूपय दी जाती है यह राशि उन महिलाओ को दी जाती है जिन्होने :
  • अपना रजिस्ट्रेशन गर्भावस्था के प्रथम 4 महीनो मे किसी नजदीकी आगनवाड़ी केन्द्र मे कराया हो।
  • कम से कम 1 prenatal care session और TT attend किया हो तथा IFA की द्वाइया ली हो ।
  • कम से कम 1 से 3 session हैल्थ केयर सेंटर पर या AWC पर counselling ली हो।

Second Installment – 

  • दूसरी राशी रूपय 1500 डिलवरी के 3 महीनो के बाद दी जाती है यह राशि उन महिलाओ को दी जाती है जिन्होने :
  • बच्चे के जन्म का रजिस्ट्रेशन कराया हो ।
  • बच्चे को 6 और 10 हफ़्तों के बाद BCG और OPV से प्रतिरक्षित किया हो ।
  • कम से कम 2 session बच्चे की देखभाल के लिए attend किये हो ।

Third Installment – 

  • बच्चे के जन्म के 6 महीने बाद तीसरी राशी 1000 रूपय दी जाती है यह उन लोगो की दी जाती है जिन्होने :
  • जिन्होने कम से कम 6 महीने तक अपने बच्चे की ब्रेस्ट फीडिंग कराई हो तथा इससे अधिक समय के लिए ब्रेस्ट फीडिंग करने पर महिलाओ को सर्टिफिकेट दिया जाता है ।
  • कम से कम 2 session बच्चे की ग्रोथ के लिए दी गयी जानकारी पर attend करने पर।

2014 में मोदी सरकार के आने के बाद इस योजना को प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना में जोड़ दिया गया है. अब जो भी महिला पहले से जननी सुरक्षा योजना सेे जुुुुड़ी हुइ हैै उसे  प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत अतिरिक्त रुप से 1000 रुप्य दियेे जायेंगे. इस तरह कुल 6000 रुप्य उस महिला को मिलेंगे.

अन्य पढ़े :

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *