आईएनएस विक्रांत 2022 क्या है INS Vikrant History Details in hindi (flag,cost, length)

0

विक्रांत ने संभाली नौसेना की कमान INS vikrant 2022 details in hindi, Details, Cost, Length, Flag, History, full form,

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई मेक इन इंडिया की मुहिम अब रंग दिखाती नजर आ रही है। आपको बता दें कि, इसके जरिए दुनियाभर में भारत में बने हथियार अपना दबदबा दिखा रहे हैं। जिसको देखकर ताकतवर देश भी अपना लोहा मनवाने के लिए तैयार हो गए हैं। आपको बता दें कि, 2 सिंतबर को पीएम मोदी द्वारा पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विक्रांत भारतीय नौसेना को सौंप दिया गया है। जिसके कारण अब ये देश के समुद्री इतिहास में तैयार किया गया सबसे बड़ा और ताकतबर जहाज बन गया है। इस जहाज में इस्तेमाल की गई हर एक चीज स्वदेशी है। 

INS Vikrant Details 2022

नामआईएनएस विक्रांत
कब किया गया रिटायर31 जनवरी 1997
कब हुआ अनावरण2 सितंबर 2022
किसके द्वारा हुआ अनावरणपीएम मोदी द्वारा
कहां तैयार किया गयाभारत
स्वदेशी चीज का इस्तेमालस्टील

हर तरफ से है स्वदेशी

जैसा की आप सभी जानते हैं कि, कोरोनाकाल के बाद सरकार ने मेक इन इंडिया को और ज्यादा बढ़ावा देना शुरू कर दिया है। जिसको ध्यान में रखते हुए आईएनएस विक्रांत को तैयार किया गया। जिसके बाद वो और ताकतवर बन गया। ये स्वदेशी सामर्ध्य, संसाधन और कौशल से भरपूर है। इसको बनाने में जो स्टील का इस्तेमाल किया गया है वो भी स्वदेशी है। आज भारत में विकास की और बहुत बड़ा कदम आगे बढ़ाया है। जिसके बाद हर कोई हमारे देश की प्रशंसा कर रहा है। इसके तैयार होने के बाद हर किसी में एक नया विश्वास पैदा हो गया है। 

एक बार फिर हुआ पुनर्जन्म

आपको बता दें कि, आईएनएस विक्रांत को 31 जनवरी 1997 को नेवी से रिटायर कर दिया गया था। लेकिन अब करीबन 25 साल बाद दोबारा और नए तरीके से इसकी वापसी हो रही है। 1971 की जंग के दौरान आईएनएस विक्रांत को सीहॉक लड़ाकू विमान अन्य चीजों को ढ़ूंढ़कर तबाह कर दिया था। 

क्या है आईएनएस विक्रांत की खासियत

हम इतनी स्वदेशी की बात कर रहे हैं तो आपको बता दें कि,ये भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर है।जिसको भारत में तैयार किया गया है। ये अबतक का सबसे बड़ा युद्धपोत है। इसमें 30 एयरक्राफ्ट रखे जा सकते हैं। 15 डेक, मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल, पूल। वहीं इसमें महिला अफसरो के लिए केबिन भी तैयार किए गए हैं। आईएनएस हर तरह से तैयार है।

कितने एयरक्राफट होगे तैनात

आईएनएस पर 30 फाइटर जैट्स तैनात होगे। इनमें मिग-29के, कामओव-31 और एमएच-60आर शामिल है। फिलहाल अभी इसपर मिग-29के फाइटर जेट तैनात किए गए हैं। 

आईएनएस विक्रांत की लंबाई, चौड़ाई और कीमत

आईएनएस विक्रांत की कीमत की बात करें तो ये 20 हजार करोड़ रूपये का है। इसका वजन 40 हजार टन, लंबाई 262 मीटर है। वहीं इसकी चौड़ाई 62 मीटर है। इसमें जो केबल बिछाई गई है वो 2400 किमी की लंबाई से बिछाई गई है। जो दिल्ली और कोच्चि के बीच की दूरी के बराबर है। इसमें 2300 डिब्बे, 1700 नाविकों को जगह दी गई है।

विक्रांत पर तैनात रहेगी महिला सैनिक

पीएम मोदी ने कहा कि, विक्रांत पर नौसेना की अनेक महिला सैनिकों की तैनाती की जाएगी। समंदर के अथाह शक्ति के साथ महिला शक्ति भी दिखाई देगी। 

FAQ

Q- आईएनएस विक्रांत की कितने सालों बाद हो रही है वापसी?

Ans- आईएनएस विक्रांत की 25 साल बाद हो रही है वापसी।

Q- क्यों हैं आईएनएस विक्रांत स्वदेशी?

Ans- आईएनएस विक्रांत स्वेदशी इसलिए है क्योंकि इस भारत में तैयार की जाने वाली स्टील से तैयार किया गया है।

Q- इसमें किस चीज का खास ध्यान रखा गया है?

Ans- इसमें महिला सैनिक की तैनाती का खास ध्यान रखा गया है।

Q- कब किया गया था आईएनएस विक्रांत को रिटायर?

Ans- 31 जनवरी 1971 को किया गया था आईएनएस विक्रांत को रिटायर।

Q- किसने किया इसका अनावरण?

Ans- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया अनावरण।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here