Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

2016 की रोचक जानकारियाँ | Interesting news 2016 in hindi

Interesting news 2016 in hindi देश में इस वर्ष बहुत सी ऐसी अप्रत्याशित घटनाएं हुई जिसने सभी को चकित कर दिया, हम आपको ऐसी ही घटनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे पूरा भारत पूरे साल प्रभावित रहा.

2016

2016 की रोचक जानकारियाँ

Interesting News 2016 in hindi

नोटबंदी (Demonetisation) –

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नोटबंदी का ऐताहिसक फैसला लेकर हमारे देश से भ्रष्टाचार, आतंकवाद और काले धन को बाहर निकालने के लिए एक सख्त कदम उठाया. भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने 8 नवबंर 2016 को 500 और 1000 रुपए के नोटबंदी का ऐलान किया है और  देश को भ्रष्टाचार और कालाबाजारी से मुक्त करने का यह एक ठोस कदम के रूप में प्रचारित किया.  इस नोटबंदी के कारण देश की अर्थव्यवस्था कुछ महीनों के लिए रुक सी गई थी. नोटबंदी के कारण कई लोगों की जान भी गई है. प्रधानमंत्री ने किये 500, 1000 के नोट बंद, इस खबर को यहाँ पढ़ें

सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical strike) –

29 सितंबर 2016, को भारत में आतंकी हमला हुआ, जिसमें भारत के 18 सैनिकों वीरगति को प्राप्त हुए. इसके बाद भारत सरकार की बारी थी और सरकार ने भी उनसे बदला लेने के लिए एक शिविर बनाया गया, उसी शिविर के माध्यम से भारतीय सैनिकों ने पाक में घुसपैठ कर उनके कई सैनिकों को मार गिराया. भारतीय सरकार ने दावा किया है कि उनके 40 से 50 सैनिकों को मार गिराया, पर पाकिस्तान सरकार इस बात का खंडन करते हुए कहती है कि किसी प्रकार का कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुआ था. 2016 में भारत और पाकिस्तान के बीच लगातार क्रास बार्डर फायरिग होती रही है. भारतीय सेना के द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक पूरी जानकारी यहाँ पढ़े.

जयललिता का मृत्यु –

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और बीते समय की सुनहले पर्दे की क्वीन जयललिता की मृत्यु 5 दिसंबर 2016 को हुई थी. लगातार अस्वस्थता से उनकी स्थिति खराब होने पर उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ वह पिछले 74 दिनों से भर्ती थी. 5 दिसंबर को वर्तमान समय की सशक्त महिला मुख्यमंत्री का निधन हो गया. देश के प्रधानमंत्री से लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्री ने उनकी मृत्यु पर गहरा शोक जताया. तमिलनाडु के नागरिक उन्हें भगवान की तरह प्यार करते थे. जयललिता की मौत के बाद तामिलनाडु गहरे शोक में डूब गया और लोगो की बेहद ज्यादा हालात ख़राब हो गई थी. जयललिता के मृत्यु के सदमें में यहां के 400 से अधिक लोगों ने अपनी जान ले ली और 1000 से अधिक लोगों ने प्राण देने की चेष्टा में घायल हो गये. तमिलनाडु की 6 बार मुख्यमंत्री रही जयललिता राजनीति में आने से पहले वह एक सफल अभिनेत्री रही थी. जयललिता को तमिल की फिल्मों की क्वीन के नाम से जाना जाता था.

कश्मीर में उपद्रव –

2016 काश्मीर के लिए काफी दर्दनाक रहा. हिजबुल मुहाजिदिन का एक आतंकवादी बुरहान वानी के मार दिये जाने के बाद कश्मीर में मुस्लिम बहुमत ने उपद्रव करना शुरू किया. लोगों ने यहाँ तक कि कर्फ्यू को तोड़कर सुरक्षा बलों पर आक्रमण करना आरंभ कर दिया. जबावी कारवाई में कुछ नागरिक भी मारे गये. अगर मीडिया रिपोर्ट्स को माने तो लोगों के गुस्‍से को देखते हुए इस क्षेत्र से सुरक्षाकर्मियों को हटा लिया गया और वहीं घाटी में हुए इस घटना में मरने वालों की संख्‍या 10 हो गई. बीजेपी महासचिव ने इस घटना पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वानी की हत्या को सरकार के आतंकवाद नीति को लेकर जीरो टॉलरेंस पॉलिसी के तौर पर परखना चाहिए, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह सुरक्षाबलों की जीत है, फिर क्या  उनके इस वक्तव्य के बाद वहाँ पर स्थित बीजेपी के कार्यालय पर भी भीड़ ने हमला किया. श्रीनगर और आसपास के कई इलाकों में भीड़ ने पुलिस और सुरक्षाकर्मियों पर भी पत्थर फेंके. इस उपद्रव में पांच पुलिसवालों समेत 22 लोग घायल हो गए और कर्फ्यू जैसी हालात काफी दिनों तक बनी रही हैं. सरकार ने सुरक्षा के मद्देनजर अमरनाथ यात्रा पर भी रोक लगा दिया था. कई अलगाववादी लीडरों को नजरबंद करके रखा गया. अमरनाथ यात्रा की जानकारी के लिए पढ़े.

कावेरी नदी विवाद

18 वीं सदी से विवादों में दो प्रमुख दक्षिण भारतीय राज्यों तमिलनाडु और कर्नाटक आज भी आपसी झगड़े को सुलझा नहीं पाये. उनके इस आपसी संघर्ष का प्रमुख कारण कावेरी नदी के पानी का बंटवारा है. मामला अदालत में है फिर भी दोनों राज्यों में कावेरी जल के बड़े हिस्से के लिए आपस में तकरार जारी है और सुप्रीम कोर्ट और ट्रिब्यूनल के आदेश को न मानते हुए सितंबर के महीने में दोनो ही राज्यों के बीच काफी संघर्ष और विवाद हुआ. विवाद का असर दोनों ही राज्यों के नागरिकों पर भी पड़ा. इन आपसी संघर्ष में दोनों राज्यों में काफी लोगो की मौत हुई और यहां पर सरकार ने धारा 144 भी लगाई गई.

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

One comment

  1. Very good story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *