जाने जनता कर्फ्यू क्या है, मोदी जी ने क्यूँ किया इसका ऐलान | Janta Curfew in hindi

कोरोना वायरस से बचाव के लिए पीएम मोदी जी ने जनता कर्फ्यू का एलान किया (Janta Curfew in hindi, Time, Date, Why it is important)

भारत और भारतीय लोगों की एकता का प्रमाण आज तक भारतीय नागरिक देते आए हैं ऐसे में नरेंद्र मोदी जी ने भारत देश को संबोधित करते हुए गुरुवार रात 8:00 बजे लाइव आकर भारत की 130 करोड़ जनता को कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बारे में सतर्क करते हुए कुछ नए संदेश दिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश को कुछ ऐसी सावधानियां बरतने की हिदायत दी जिससे हम इस महामारी से निजात पाने के साथ-साथ खुद को सुरक्षित रखने तक सभी महत्वपूर्ण कदम उठाकर ही इस लड़ाई में जीत हासिल कर सकते हैं। आइए जानते हैं किस प्रकार देश को संबोधित करते हुए उन्होंने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के नाम से भारतीयों की एकता प्रदर्शित करने का आग्रह किया।

janta curfew in hindi modi

कोरोना वायरस से जुड़े अब तक के लेटेस्ट अपडेट्स:-

कोरोना जैसी महामारी से अब तक लगभग पूरी दुनिया के 150 देश जूझ रहे हैं जिसके चलते भारत में भी अब तक 175 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इस महामारी को देखते हुए भारत सरकार ने कई सारे अहम कदम भी उठाए हैं जिसके चलते ही आज रात 8:00 बजे मोदी सरकार ने लाइव आकर देश के नागरिकों को सतर्क रहने की हिदायत दी। सरकार द्वारा 36 देशों से आने वाले सभी प्रकार के यात्रियों के भारत प्रवेश पर रोक लगा दी गई है और यह रोग कब तक के लिए लगाई गई है इस बात पर अभी कोई भी घोषणा जारी नहीं की गई है। डॉक्टरों और भारत के मेडिकल टीम द्वारा लगभग 14 लोगों को अब तक कोरोनावायरस से निजात दिला कर उनके घर भी भेज दिया गया है।

कोरोना वायरस क्या है, कैसे फैलता है यहाँ पढ़ें

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दी गई नई अपडेट (मोदी जी के जनता से 9 आग्रह)

मोदी सरकार ने अपने लाइव अपडेट के दौरान कुछ महत्वपूर्ण और अहम बातें देश की जनता को समझाने के लिए उन्हें सुरक्षित रखने के लिए कहीं जो निम्नलिखित हैं:-

  • उन्होंने देश को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों को कोशिश रखनी चाहिए कि यदि आवश्यकता ना हो तो वह बिल्कुल भी अपने घर से बाहर ना निकले।
  • आने वाले कुछ सप्ताह तक के लिए उन्होंने अपने एक संबोधन में देश के नागरिकों को यह हिदायत भी दी कि जरूरी हो तभी घर से बाहर जाएं अन्यथा अपने ऑफिस से जुड़े काम भी घर पर रहकर ही करें।
  • उन्होंने बड़ी-बड़ी कंपनियों से यह आग्रह भी किया है कि यदि आपका कोई कर्मचारी ऑफिस नहीं आ पा रहा है तो इसके चलते उसकी सैलरी में कोई भी कटौती न की जाए. अपने स्वभाव को संवेदनशील रखते हुए उनके बारे में सोचें और कुछ आवश्यक और महत्वपूर्ण कदम उठाते हैं उनके बारे में सोचें और उन्हें उनका अधिकार प्रदान करें।
  • मोदी जी ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि जो लोग बिना अपनी जान के प्रवाह किए हुए देश की सेवा में लगे हुए हैं जिनमें से डिलीवरी ब्वॉय, देश के सिपाही और साफ सफाई करने वाले कर्मचारी जो आपका ख्याल रखते हुए दिन रात आपकी सेवा में लगे हुए हैं उनके सम्मान में 22 मार्च सुबह 7:00 बजे से रात 9:00 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करें और उन लोगों को सलाम करें।
  • मोदी सरकार ने यह भी कहा है कि भारत में किसी भी प्रकार जैसे दूध, खाने पीने का सामान, दवाईया, जीवन की किसी भी आधारभूत चीज की कोई भी कमी नहीं होगी जिसके लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं और आवश्यक कदम भी उठाए जा रहे हैं।
  • उन्होंने देश में सतर्कता फैलाने की बात भी कही है उन्होंने कहा है कि हर घंटे ऐसे 10 लोगों को फोन करें, जिनमें आपके रिश्तेदार और दोस्त भी शामिल हों और उन्हें कोरोना से संबंधित सभी प्रकार की अपडेट के बारे में जागरूक करें ताकि हम अपने देश के सभी नागरिकों को इस महामारी से बचा सके। और साथ ही उन्हें जनता कर्फ्यू के बारे में भी समझाएं।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी आग्रह किया है कि अपने परिवार के 10 साल से कम उम्र के बच्चों और 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को बिल्कुल भी घर से बाहर ना निकलने दें।
  • उन्होंने बताया कि भारत समेत बाकी किसी भी देश के बड़े-बड़े वैज्ञानिकों द्वारा भी अब तक इस वायरस से बचने के लिए कोई वायरस की खोज नहीं हो पाई है, इसलिए हमारी वैक्सीन सतर्कता और संयम ही है। जिसका पालन करने से ही हम इस भारत से बच सकते हैं।
  • यदि आवश्यक हो तो आपातकालीन स्थिति में खुद को अपने घर पर ही आइसोलेट कर ले और अपने निकटतम किसी फैमिली डॉक्टर से इस बारे में सलाह लेकर ही आगे कोई काम करें।

कोरोना वायरस से बचने के लिए मोबाइल और लैपटॉप की स्क्रीन को कैसे साफ करें यहाँ पढ़ें

अब बात आती है कि यह जनता कर्फ्यू है क्या तो चलिए जानते हैं विस्तार से:-

जनता कर्फ्यू क्यूँ लगाया जा रहा है, क्यूँ जरुरी है

मोदी सरकार के बताए गए अनुसार जनता कर्फ्यू 22 अप्रैल सुबह 7:00 बजे से लेकर रात को 9:00 बजे तक लगाया जाएगा जिसके अंतर्गत उन्होंने कहा है कि भारत देश के प्रत्येक प्रदेश में कोई भी व्यक्ति सुबह 7:00 बजे से लेकर रात को 9:00 बजे तक अपने घर से बाहर नहीं निकलेगा। यह कर्फ्यू उन लोगों को सलामी देने के लिए लगाया गया है जो निस्वार्थ भाव से देश की संपूर्ण जनता की सेवा में लगे हुए हैं और बिना अपना समय गवाएं और बिना संक्रमण की चिंता किए हुए आपके एक आर्डर पर आपके घर तक सामान पहुंचा कर जाते हैं। यह कर्फ्यू उन लोगों के लिए लगाया गया है जो कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत के प्रत्येक व्यक्ति का साथ दे रहे हैं जो बिना घबराए उनकी सेवा कर रहे हैं दिन रात उनकी देखभाल करते हुए उन्हें अपने हाथों से खाना खिला रहे है।

प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा है की उस दिन ऐसे लोगों को सलामी देते हुए शाम के समय ठीक 5:00 बजे आप सभी को अपने घर के बाहर दरवाजे पर या अपनी बालकनी में खड़े होकर उन सब को सलामी देने के लिए 5 मिनट तक तालियां बजानी होंगी या फिर किसी थाल को हाथ में लेकर उसे बजाना होगा या घंटियां बजाकर आपने उनका आभार व्यक्त करना है और उन्हें उनके काम के लिए धन्यवाद भी देना है और साथ ही उन्हें प्रोत्साहन प्रदान करना है कि वे जो कर रहे हैं वह बहुत ज्यादा प्रभावपूर्ण कार्य कर रहे हैं और देश के प्रति अपना अहम कर्तव्य निभा रहे हैं।

मोदी सरकार ने यह भी आग्रह किया है देश के प्रत्येक स्थान और प्रशासन से यही आग्रह है कि वह 22 मार्च को ठीक 5:00 बजे अपनी गाड़ी का सायरन बजाकर लोगों तक यह सूचना पहुंचाएं की सेवा ही हमारा सबसे पहला धर्म है और उन्हें सम्मान पूर्वक सलामी देने का समय आ गया है।

कोरोना वायरस की सही जानकारी के लिए सरकार ने टोल फ्री नंबर जारी किये, यहाँ पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में यह भी बताया कि देश में कोई भी आपातकालीन स्थिति आने वाली नहीं है और किसी भी अफवाह पर विश्वास करके 2 या 4 महीने का सामान अपने घर में ना जोड़ें ऐसा करने से आप कालाबाजारी करने वाले लोगों को बढ़ावा दे रहे हैं जिसकी वजह से कई लोगों को परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए मोदी जी ने यह भी कहा है कि नवरात्र का त्यौहार आने वाला है ऐसे पावन त्यौहार में माता रानी की उपासना करें और अपने घर पर रहे किसी भी प्रकार का सामान खरीदने या इकट्ठा करने के लिए बाजार में ना जाएं इससे आपको और आपके परिवार को किसी भी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। यह समय धैर्य और संयम से काम लेने का है इसलिए समझदारी से कोई भी काम करें घर के अंदर रहे जितना हो सके अपने रुटीन चेकअप के लिए भी बाहर ना जाएं यदि कोई गंभीर समस्या हो तभी घर से बाहर निकलने का प्रयास करें।

हमारी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि 22 मार्च से पहले पहले जनता कर्फ्यू के बारे में सभी प्रकार की जानकारी प्रत्येक भारतीय नागरिक तक पहुंच सके। जिससे हम भारत की एकता के बारे में देश ही नहीं बल्कि विदेशों के सभी नागरिकों को बता सकें।

अन्य पढ़ें –

pavan

Director at AK Online Services Pvt Ltd
मेरा नाम पवन अग्रवाल हैं और मैं मध्यप्रदेश के छोटे से शहर Gadarwara का रहने वाला हूँ । मैंने Maulana Azad National Institute of Technology [MNIT Bhopal] से इंजीन्यरिंग किया हैं । मैंने अपनी सबसे पहली जॉब Tata Consultancy Services से शुरू की मुझे आज भी अपनी पहली जॉब से बहुत प्यार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *