ताज़ा खबर

मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना उत्तरप्रदेश 2018

मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना उत्तरप्रदेश (UP Mukhyamantri Kisan Evam Sarvhit Bima Yojana in Hindi) 2018 Download Claim Form, Online Application Form

दुर्घटना से ग्रस्त लोगों की मृत्यु हो जाने पर उनके परिवार पर मानसिक एवं आर्थिक रूप से गहरा प्रभाव पड़ता है. खास कर किसानों और गरीब लोगों को इससे बहुत सी परेशानियाँ होती हैं. लेकिन कुछ समय पहले किसानों एवं गरीब लोगों की इस परेशानी को कम करने के लिए उत्तरप्रदेश राज्य सरकार ने उन्हें दुर्घटना बीमा प्रदान करने की एक योजना की शुरूआत की थी. इस योजना के तहत, लाभार्थियों को दुर्घटना बीमा की राशि प्रदान की जाती थी, किन्तु अब इसमें लोग बीमा केयर कार्ड के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. इसके बारे में पूरी जानकारी इस प्रकार है.

Yogi kisan yojana

लांच की जानकारी (Launched Details)

1.  नाम यूपी मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना
2.  लांच जानकारी सन 2018
3.  घोषणा योगी आदित्यनाथ  ( मुख्यमंत्री)
4. पुराना नाम समाजवादी किसान एवं सर्वहित बीमा योजना
5. योजना को जारी रखा वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने
6. देखरेख इंस्टिट्यूशनल वित्त बीमा एवं एक्सटर्नल सहायता प्रोजेक्ट के डायरेक्टरेट जनरल
7. हेल्पलाइन नंबर 180030701520
8. लाभार्थी आर्थिक रूप से कमजोर किसान एवं गरीब लोग
9. ब्रांड एम्बेसडर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी
10. अधिकारिक वेबसाइट www.1520up.com/


विशेषतायें एवं लाभ (F
eatures and Benefits)

  • बीमा राशि :- यदि किसी परिवार के मुखिया की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है या वह जीवन भर के लिए विकलांग हो जाता है तो उन्हें 5 लाख रूपये की बीमा राशि प्रदान की जाएगी. वहीं दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने वाले लोगों को ईलाज के लिए 2.5 लाख रूपये दिए जायेंगे और यदि आवश्यकता हो तो 1 लाख रूपये की अतिरिक्त सहायता भी प्रदान की जाएगी.
  • निशुल्क ईलाज :- इस योजना के तहत, लोगों को निशुल्क ईलाज प्रदान किया जायेगा. इसके लिए 30 से भी अधिक बिस्तरों के साथ सभी सूचीबद्ध प्राइवेट अस्पतालों एवं सभी सरकारी अस्पतालों को मिलाकर लगभग 1540 अस्पतालों को इसमें शामिल किया गया है. जहाँ लाभार्थी निशुल ईलाज करा सकते हैं.
  • अन्य सुविधा :– इसके अलावा इसमें सभी दुर्घटनाग्रस्त लोगों को 25,000 रूपये तक की प्राथमिक ईलाज की सुविधा के साथ ही पास के सभी अस्पतालों में कम से कम 10 बिस्तर प्रदान किये जायेंगे. ईलाज पूरा होने के बाद इसकी आपूर्ति बीमा कंपनियों द्वारा की जाएगी.
  • योजना के कुल लाभार्थी :- इस योजना में उन गरीबों एवं किसानों को सहायता दी जानी है, जिनकी आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर हैं. इसके लिए राज्य के लगभग 3 करोड़ परिवारों को दुर्घटना बीमा प्रदान कर इसमें शामिल किये जाने का प्रावधान है.
  • इसमें शामिल होने वाली दुर्घटनाएं :- इस योजना में सड़क या वायु या रेल दुर्घटना, टक्कर, गिरने के कारण चोट, गैस के रिसाव, मोंगूस (नेवला), गैस सिलिंडर के कारण विस्फोट, कुत्ते के काटने पर, जंगली जानवर के काटने या हमला करने पर, जलने पर, डूबने पर, बाढ़ में बहने पर, दुर्घटना में हाथ या पैर कट जाने पर, भूकम्प के कारण एवं बिजली के करंट जैसी दुर्घटनाओं से ग्रस्त लोगों को बीमा प्रदान किया जायेगा.
  • बीमा केयर कार्ड :– इस योजना के अंतर्गत लोगों को अब ईलाज के लिए बीमा केयर कार्ड भी उपलब्ध कराया जा रहा है, जोकि निशुल्क है. और साथ ही यह कार्ड आवेदक के नाम से जारी किया जायेगा. इसके लिए वे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी करा सकते हैं.

योग्यता मापदंड (Eligibility Criteria)

  • आयु सीमा :- इस योजना का लाभ 18 से 70 साल तक की उम्र के बीच में आने वाले परिवार के मुखिया को दिया जायेगा, चाहे वह पुरुष हो या महिला दोनों में से किसी को भी इसका लाभ प्रदान किया जा सकता है.
  • आवासीय योग्यता :- इस योजना में दी जाने वाली बीमा की राशि प्राप्त करने के लिए आवेदक का उत्तरप्रदेश का निवासी होना जरूरी है.
  • आय योग्यता :- योजना में जिस व्यक्ति को बीमा प्रदान किया जाना है, उसके परिवार की सभी स्त्रोतों से वार्षिक परिवारिक आय 75,000 रूपये से कम होनी चाहिए.
  • खतौनी में खाता :- खतौनी, कृषि से सम्बंधित कानूनी दस्तावेज (खसरा) है जोकि परिवार या एकल परिवार के मुखिया के अधिकार में होने वाले कुल गाँव की भूमि की सूची है. इसमें आवेदकों का अकाउंट होल्डर या को – अकाउंट होल्डर के रूप में रजिस्टर्ड होना आवश्यक है.

आवश्यक दस्तावेज (Required Documents)

इस योजना में आवेदकों को फॉर्म के साथ कुछ व्यक्तिगत दस्तावेज जैसे परिवार के मुखिया का आयु प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, खसरा खतौनी प्रमाण पत्र, मृत्यु होने पर मृत्यु प्रमाण पत्र, भर्ती होने पर डॉक्टर का प्रमाण, मेडिकल से जुड़े बिल, बैंक बचत खाते की जानकारी एवं बैंक का आईएफएससी कोड आदि देना आवश्यक है.

बीमा केयर कार्ड के लिए आवेदन करने का तरीका (How to Get Bima Care Card)   

  • इस योजना में प्रदान किये जाने वाले बीमा केयर कार्ड को प्राप्त करने के लिए आवेदकों को सबसे पहले इसकी अधिकारिक वेबसाइट http://www.1520com/ पर क्लिक करना होगा.
  • इसके बाद होम पेज पर नीचे एक लिंक दिखाई देगी ‘मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना’, उस पर क्लिक करें फिर ‘क्लेम फॉर्म’ पर क्लिक करें.
  • इस योजना के तहत क्लेम फॉर्म को डाउनलोड करने के लिए डायरेक्ट लिंक भी दी गई है. जिस पर क्लिक करके अलग – अलग स्थिति के अनुसार फॉर्म के लिए क्लेम किया जा सकता है. जोकि इस प्रकार है –
  1. यदि परिवार के मुखिया की इस योजना के बीमा केयर कार्ड प्राप्त करने से पहले दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है, तो वे क्लेम फॉर्म 1 की लिंक http://www.1520com/attachments/claimforms/CLAIMFORM_1.pdf पर क्लिक करें.
  2. यदि वे दुर्घटना में विकलांग हो जाते हैं तो वे क्लेम फॉर्म 2 की लिंक http://www.1520com/attachments/claimforms/CLAIMFORM-2.pdf पर क्लिक करें.
  3. बीमा केयर कार्ड प्राप्त करने से पहले दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को बिना सूचीबद्ध अस्पतालों में प्राथमिक ईलाज (पहला चिकित्सा लाभ) का लाभ उठाने के लिए क्लेम फॉर्म 3 की लिंक http://www.1520com/attachments/claimforms/CLAIMFORM-3.pdf पर क्लिक करना होगा.
  4. इसके अलावा दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूचीबद्ध अस्पतालों में प्राथमिक ईलाज का लाभ उठाने के लिए क्लेम फॉर्म 4 की लिंक http://www.1520com/attachments/claimforms/CLAIMFORM-4.pdf पर क्लिक करना होगा. मरीज का उस अस्पताल में भर्ती होना जरुरी है.
  5. बीमा केयर कार्ड प्राप्त करने के बाद यदि परिवार के मुखिया की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो वे इसके लिए क्लेम फॉर्म 5 की लिंक http://www.1520com/attachments/claimforms/CLAIMFORM-5.pdf पर क्लिक करें.
  6. यदि बीमा केयर कार्ड प्राप्त करने के बाद वह दुर्घटना में पूरी तरह से विकलांग हो जाता है, तो उसे क्लेम फॉर्म 6 पर क्लिक करना होगा.

इन अलग – अलग स्थितियों के अनुसार फॉर्म भरने से यह सुनिश्चित होगा कि आवेदक को किस स्थिति के आधार पर बीमा राशि प्रदान की जाएगी. इस योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लिंक http://www.1520up.com/attachments/Scheme_at_glance.pdf पर क्लिक करें.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *