Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना | Pradhan Mantri Kisan Pension Yojana Hindi

प्रधानमंत्री (पीएम) किसान पेंशन योजना 2019-20 (आवेदन पत्र, पंजीकरण) (PM Kisan Pension Yojana 2019 in Hindi) [Pension Amount, Premium, Form, Eligibility Criteria, Documents] 

मोदी जी का प्रधानमंत्री के रूप में दूसरा कार्यकाल शुरू हो चूका है. और अपनी पहली ही कैबिनेट मीटिंग में मोदी जी ने किसानों, छोटे व्यापारियों एवं दुकानदारों को राहत देने के लिए उन्होंने कुछ अहम फैसले लिए. जिनमें से वरिष्ठ किसानों को अब मोदी सरकार ने पेंशन देने की योजना शुरू की है. यह आजादी के बाद पहली बार हैं कि भारत में किसानों के लिए पेंशन योजना केंद्र सरकार द्वरा लागू की गई है. इस पेंशन योजना के माध्यम से अब गरीब किसानों को उनकी वृद्धावस्था में भी पेंशन के रूप में पैसे मिल सकेंगे, ताकि वे अपनी आजीविका अच्छे से चला सकें. इस योजना के बारे में आप विस्तार से नीचे लेख को पढ़ते हुए जानें.

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना

क्र. . योजना की जानकारी बिंदु योजना की जानकारी
1. योजना का नाम प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना
2. योजना की घोषणा 2019 पहली कैबिनेट मीटिंग में
3. योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी एवं कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर
4. योजना का लांच जून, 2019
5. सम्बंधित विभाग / मंत्रालय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय
6. योजना के लाभार्थी भारत के छोटे एवं सीमांत किसान
7. पेंशन राशि 3,000 रूपये

योजना की विशेषताएं (Yojana Features)

  • किसानों को राहत :- हमारे देश में आज किसानों की हालत बहुत ही ख़राब हो गई है. ऐसे में उनके आर्थिक बोझ को कम करते हुए उन्हें सहायता देने एवं उन्हें अधिक दक्षता प्रदान करने के लिए मोदी सरकार की यह योजना एक वोलंटरी एवं कंट्रीब्यूटरी पेंशन योजना होगी.
  • किसानों का सशक्तिकरण :- यह एक नई केन्द्रीय क्षेत्र की योजना हैं जो पूरे देश के किसानों को सशक्त करेगी. यह योजना हमारे देश के ऐसे किसानों एवं मजदूरों को पेंशन कवर प्रदान करने के लिए हैं जो हमारे राष्ट्र को पोषित रखने के लिए दिन – रात एक करते हुए मेहनत करते हैं.
  • योजना के कुल लाभार्थी :- किसानों के लिए शुरू की गई इस पेंशन योजना के पहले 3 वर्षों में लगभग 5 करोड़ छोटे एवं सीमांत किसनों को लाभ मिलेगा. हालाँकि इस योजना में सरकार ने लगभग 12 से 15 करोड़ किसानों को यह लाभ देने का प्रावधान रखा है. इस योजना के तहत पहले 3 साल की अवधि के लिए 50 करोड़ रूपये आवंटित किये जायेंगे, जिसका खर्चा केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा. यह राशि इस योजना के तहत सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार की ओर से योगदान होगा.
  • किसानों का योगदान :- इस योजना में कुछ योगदान प्रीमियम के रूप में किसानों को भी करना होगा. जैसे कि अगर कोई किसान 29 साल की आयु में, योजना में शामिल होता है तो उसे 100 रूपये प्रीमियम हर महीने भरना अनिवार्य है. जितना प्रीमियम किसान भरेगा, उतना ही सरकार द्वारा दिया जायेगा
  • लाभार्थी की मृत्यु हो जाने पर :- यदि पेंशन प्राप्त करते समय लाभार्थी की मृत्यु हो जाती हैं तो लाभार्थी का जीवन साथी जोकि पति या पत्नी कोई भी हो सकता हैं, उसे पेंशन का 50 % प्रदान किया जायेगा. लेकिन आवश्यक है कि इसमें वह व्यक्ति पहले से इस योजना का लाभ प्राप्त न कर रहा हो.
  • लाभार्थी की योगदान देते समय मृत्यु हो जाने पर :- यदि किसी लाभार्थी को पेंशन मिलने से पहले योगदान देते समय मृत्यु हो जाती हैं, तो उसके जीवन साथी यानि पति या पत्नी भी नियमित रूप से योगदान देकर योजना को आगे जारी रख सकते हैं. उनके पास यह विकल्प होगा.
  • पीएम किसान सम्मान निधि योजना :- किसान पेंशन योजना में एक खास बात यह है कि किसान ‘किसान पेंशन योजना’ से सीधे लाभ प्राप्त करने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से प्राप्त लाभ में से अपना मासिक योगदान दे सकते हैं.

योजना के लिए योग्यता (Eligibility Criteria and documents of the scheme)

  • भारतीय नागरिक :- वे किसान जो केवल भारत के ही नागरिक हैं और भारत में ही रहकर कार्य कर रहे हैं, उन्हें इस पेंशन योजना का लाभ प्राप्त होगा.
  • आयु सीमा :- इस योजना में आवेदन करते समय किसान की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच की होनी चाहिए. इसके अलावा किसी भी किसान को इसमें शामिल होने की अनुमति नहीं है.
  • पेंशन प्राप्त करने के लिए आयु :- इस योजना में किसानों को दी जाने वाली 3,000 रूपये की मासिक पेंशन केवल उन किसानों को प्रदान की जाएगी, जोकि 60 साल की उम्र पार कर चुके हैं.

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया (PM Kisan Pension Yojana Application Process)

पीएम किसान पेंशन योजना और पीएम किसान सम्मान निधि योजना साथ में काम करेंगी, दोनों के बीच पूर्ण तालमेल होगा.

पीएम किसान सम्मान निधि योजना में पंजीकृत किसान को पेंशन योजना का लाभ सीधे मिलेगा, उसे अलग से पंजीकरण नहीं कराना होगा. साथ ही वह किसान मासिक प्रीमियम भी इस योजना के लाभ द्वारा दे सकता है.

किसान दुसरे तरीके से भी मासिक प्रीमियम भुगतान कर सकते है. कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs) के माध्यम से किसान योजना में पंजीकरण करा सकता है, जिसके बाद मासिक प्रीमियम का भुगतान वहां से किया जा सकता है.

यह योजना किसानों को उनके द्वारा दिए गये योगदान के लिए उन्हें सम्मान देने एवं उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए शुरू की जा रही है.प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना भी मोदी सरकार ने शुरू की हैं जो कि श्रमिकों के लिए शुरू की जाने वाली पेंशन योजना हैं ।  

अन्य पढ़े: 

  1. लॉक-इन अवधि प्लान क्या है 
  2. 101 कारण जिस वजह से नरेंद्र मोदी को 2019 में प्रचंड बहुमत से जीत मिली
  3. प्रधानमंत्री की योजनाएं कौन-कौन सी है
  4. अटल पेंशन योजना क्या हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *