Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
ताज़ा खबर

क्यूंकि सास भी कभी बहु थीओल्ड सीरियल | Kyunki Saas Bhi Kabhi Bahu Thi Star Plus Old Serial In Hindi

Kyunki Saas Bhi Kabhi Bahu Thi Star Plus Old Serial In Hindi भारत के टेलीविजन में सास बहु ड्रामा की शुरुवात करने वाले इस  सीरियल के बारे में हर भारतीय बहुत अच्छे से जानता है. टीवी क्वीन एकता कपूर द्वारा बनाया गया ये सीरियल अपने समय में हाईएस्ट TRP के लिए जाना जाता है, इसने TRP ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए थे. यह कई सालों तक सबसे लम्बा चलने वाला टीवी सीरियल भी रहा. 3 जुलाई, सन 2000 में पहली बार टीवी पर शुरू हुआ ये डेली सोप, दर्शकों के दिलों में कुछ इस कदर बैठा की, लोग इस सीरियल को देख रोते, हँसते, खुशियाँ मनाते थे. सीरियल में कई किरदार थे, कहानी सास बहु के रिश्ते से शुरू हुई थी, लेकिन 8 सालों के लम्बे सफर में इसमें कई तरह की कहानियां और किरदार जुड़ते चले गए. सन 2000 में केबल चैनल के बहुत से चैनल आते थे, उसी में से एक था स्टार प्लस. इस प्राइवेट चैनल में एकता कपूर के बहुत से सीरियल की शुरुवात हुई थी. जिसमें क्यूंकि सास.., कहानी घर घर की, कसौटी ज़िन्दगी बहुत फेमस सीरियल थे.

KSBKBT में सीरियल ने कई बार लीप लिया, जिससे कई पुराने चेहरे हटते गए और नए जुड़ते गए. इस सीरियल के द्वारा बहुत से नए चेहरों को टीवी पर काम करने का मौका मिला था, जिसके बाद आज वे एक जाना माना नाम बन चुके है. यह सीरियल किसी एतेहासिक सीरियल से कम नहीं है, जो भारत के पन्नो पर इस कद्र छप गया है कि कभी कोई इसे नहीं भूल सकता है. इस सीरियल ने ही भारतीय टेलीविजन में क्रांति ला दी और फिर इसके बाद ही सास बहु सीरियल, डेली सोप की बहार आ गई. आज जो टीवी का इतना बदला रूप देख रहे है, वो यही से शुरू हुआ था.

kyunki-saas-bhi-kabhi-bahu-thi

सीरियल की दीवानगी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब सीरियल में मुख्य किरदार मिहिर की मौत का सीन दिखाया गया था, तब भारत के कई हिस्सों में एकता के खिलाफ प्रदर्शन किया गया था, और सीरियल में उसे वापस लाने की बात कही जा रही थी. सीरियल की प्रोडूसर एकता कहती है कि ‘उस सीन के दिखाए जाने के बाद कई दिनों तक लोग मेरे घर के बाहर, ऑफिस में प्रदर्शन करते रहे. कई लोग मुझे मेल, चिट्टी लिखकर मिहिर को वापस लाने की बात बोलते थे. यहाँ तक की मुझे कई धमकी भरे फ़ोन भी आये थे.’ किसी सीरियल के प्रति ऐसी दीवानगी कभी देखने नहीं मिली है. जब सीरियल में मिहिर को वापस लाने का फैसला किया गया, और उसे वापस लाया गया तब, उस एपिसोड के टेलीकास्ट के समय  टीवी पर TRP के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. उस दिन रिकॉर्ड तोड़ 22.4 TRP रिकॉर्ड की गई, जो किसी भी भारतीय टीवी सीरियल को मिलने वाली अधिकतम TRP थी. यही से सीरियल में मरने के बाद जिन्दा करने का भी ट्रेंड आ गया.

क्यूंकि सास भी कभी बहु थीओल्ड सीरियल 

Kyunki Saas Bhi Kabhi Bahu Thi Star Plus Old Serial In Hindi

क्रमांक परिचय बिंदु विवरण
1. निर्माण कंपनी बालाजी टेलेफिल्म्स
2. कहानी लेखक आर एम जोशी, सलिल संद, अनिल नागपाल, कोयल चौधरी, हितेश शाह और स्वाति शाह
3. निर्देशक आशीष पाटिल, कौशिक घटक, निवेदिता बसु, सूरज राव, संतोष बादल, धर्मेश शाह,संतराम वर्मा, दीपक चव्हाण, संतोष भट्ट
4. निर्माता एकता कपूर, शोभा कपूर
5. एपिसोड 1833
6. प्रसारण समय 3 जुलाई 2000 – 6 नवम्बर 2008
7. चैनल स्टार प्लस
8. मुख्य कलाकार स्मृति ईरानी, अमर उपाध्याय, मंदिर बेदी, अप्रा मेहता, रोनित रॉय

क्यूंकि सास भी कभी बहु थी सीरियल की कहानी (Kyunki Saas Bhi Kabhi Bahu Thi Story) –

जैसा कि नाम से ही समझ आता है, सीरियल की कहानी सास बहु रिश्ते के इर्द गिर्द ही घुमती है. सीरियल की शुरुवात मुख्य किरदार तुलसी से होती है, जो एक पंडित की बेटी होती है. उसे एक बड़े गुजराती बिजनेस फॅमिली के बेटे मिहिर वीरानी से प्यार हो जाता है. मिहिर भी उसे पसंद करता है, और दोनों परिवार के खिलाफ जाकर शादी कर लेते है. तुलसी एक सीधी सादी साधारण लड़की होती है, जो शादी के बाद अपने ससुराल वालों का दिल जीतने में लग जाती है. वीरानी परिवार में सबसे बड़े गोबर्धन वीरानी होते है, उनके तीन बेटे होते है. ये तीनों का परिवार एक साथ एक ही छत के नीचे रहता है. तुलसी की शादी के बाद, उसकी सास सविता वीरानी उसे पसंद नहीं करती है. तुलसी अपनी दादी सास के बहुत करीब होती है, उन्हें सब बा कहते है. तुलसी और मिहिर की ज़िन्दगी इन्ही सब उतार चढाव के साथ आगे बढ़ती है, इनके 2 बच्चे होते है गौतम और शोभा. मिहिर के छोटे भाई किरण और उसकी पत्नी के बच्चे नहीं होते है, तो वे गौतम को लेकर कभी भाग जाते है. इसके साथ ही सीरियल में मिहिर के 4 कजिन की भी शादियाँ हो जाती है और उनके बच्चे हो जाते है. इसके बाद सीरियल में 20 साल का लीप आता है.

लीप के बाद सीरियल में सब बच्चे बड़े हो जाते है, और तुलसी एवं उनके बच्चों के बीच के रिश्तों को दिखाया जाता है. कुछ समय बाद तुलसी के बच्चों की शादी हो जाती और तुलसी सास बन जाती है. सीरियल में कई नए चेहरे भी जुड़ते जाते है, और तुलसी के अलावा कई कहानियां चलती रहती है. सीरियल में एक बार फिर लम्बा 20 साल का लीप आता है. अब तुलसी हरिद्वार में रहने लगती है, वीरानी परिवार के अनुसार वो मर चुकी है. तुलसी एक बच्ची को गोद ले लेती है, जिसका नाम कृष्णा तुलसी होता है, जिसे सब केटी कहते है. ये बिलकुल तुलसी की तरह ही होती है. क्यूंकि सास भी कभी बहु थी की कहानी किसी महाभारत से कम नहीं थी, इसमें महाभारत के जैसे कई किरदार होते है, साथ ही इसमें में भी भाई भाई के बीच लड़ाइयाँ दिखाई गई है.

क्यूंकि सास भी कभी बहु थी सीरियल के किरदार और उनके नाम (Kyunki Saas Bhi Kabhi Bahu Thi Cast and Characters) –

  • तुलसी वीरानी – ये किरदार स्मृति ईरानी ने निभाया था. ये स्मृति का पहला सीरियल था, जिसके बाद उनकी ज़िन्दगी ही बदल गई. तुलसी के इस किरदार को लोगों ने इस कदर पसंद किया कि लोग आज भी स्मृति को तुलसी ही बोलते है. तुलसी का किरदार एक अच्छी बहु का था, जो सर्व गुण संपन्न थी. जो किसी भी बात में अपने परिवार को सबसे उपर रखती है. तुलसी का किरदार रोने वाला था, जिसमें वो हमेशा रोते हुए ही दिखती थी. लेकिन अंत में अच्छाई से सबका दिल जीत लेती थी. स्मृति ईरानी ने सीरियल में काम करने के बाद राजनीती का रुख कर लिया था, अभी वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कैबिनेट मंत्रालय में, कपड़ा मंत्री है.
  • मिहिर वीरानी – मिहिर का किरदार सबसे पहले अमर उपाध्याय ने निभाया था. इसके बाद रोनित रॉय और फिर इन्दर कुमार ने ये किरदार निभाया था. मिहिर एक अच्छे समझदार बेटे और सच्चे पति थे. वे हमेशा अपनी माँ और बीवी के बीच तालमेल बना कर चलते थे. इनके बच्चे बड़े होने के बाद वे अपने बच्चों के साथ भी अच्छा रिश्ता रखते थे.
  • सविता वीरानी – तुलसी की सास के रूप में अप्रा मेहता थी. जो पहले अपनी बहु को बिलकुल पसंद नहीं करती थी. सविता की जान उसके बेटे मिहिर में बस्ती थी, वो अपने बेटे से बहुत प्यार करती थी. लेकिन मिहिर की पसंद तुलसी को वो दिल से नहीं अपना पाती है, वो मिहिर के लिए एक बड़े घर की लड़की पायल को पसंद करती थी. सास- बहु के इस खट्ठे मीठे रिश्ते में धीरे-धीरे प्यार पनपने लगता है. सविता को पायल के बुरे इरादों का भी पता चलता है. जिसके बाद सविता अपनी बहु तुलसी की दोस्त और सबसे बड़ी सपोर्टर बन जाती है.
  • पायल – ये किरदार जया भट्टाचार्य ने निभाया था. पायल का ये किरदार खलनायिका का था, जिसमें उन्हें बहुत पसंद किया गया था. सीरियल में पहली बार खलनायक की जगह खलनायिकाका किरदार इतना पसंद किया गया था. इस सीरियल के बाद जया को बहुत से खलनायिका के किरदार ऑफर हुए थे.
  • दक्षा – केतकी दवे. ये तुलसी की चाची सास होती है. दक्षा का डायलोग अरा रा रा रा.. बहुत प्रसिद्ध हुआ करता था.
  • चिराग – हुसैन ने निभाया था. ये दक्षा के बेटे होते है, जो लीप के पहले फिल्म स्टार बनने के लिए कोशिश करता रहता है. हुसैन अपनी माँ के खिलाफ जाकर प्राजक्ता से शादी कर लेता है. लीप के बाद चिराग बड़ा आदमी बन जाता है, जो काम में इतना अधिक व्यस्त रहता है कि उसकी बीवी अकेलापन महसूस करती है.
  • किरण – जीतेन लालवानी. ये मिहिर के छोटे भाई होते है, जिसकी शादी आरती (रुशाली अरोरा) से होती है. दोनों की एक बेटी करिश्मा (किरण दुबे) होती है.
  • अनुपम कपाड़िया – अमन यतन वर्मा. अनुपम एक बड़ा बिजनेस मैन होता है, ये वीरानी परिवार से मिहिर की मौत के बाद मिलता है. अनुपम तुलसी को पसंद करने लगता है, जिसके बाद दोनों की शादी फिक्स हो जाती है. शादी वाले दिन ही मिहिर और तुलसी मिल जाते है. अनुपम कुछ समय बाद तुलसी की बहन केसर से शादी कर लेता है.
  • मंदिरा – ये किरदार पहले मंदिरा बेदी फिर अचित कौर ने निभाया था. ये एक डॉक्टर होती है, जो अनुपम की बहन होती है. मिहिर को यही ठीक करती है, और फिर उससे प्यार करने लगती है. मिहिर तुलसी के मिलने के बाद, ये मिहिर को अपने पास वापस लाने की बहुत कोशिश करती है. तुलसी और उसके परिवार को तोड़ने की ये बहुत कोशिश करती है. मिहिर और मंदिरा का बेटा करण होता है, जो तुलसी के साथ रहता है.
  • करन – हितेन तेजवानी. तुलसी का सौतेला बेटा होने के बावजूद ये तुलसी के बहुत करीब रहता है और उसे अपनी माँ से बढ़कर मानता है. करण की शादी नंदिनी (गौरी तेजवानी) से होती है, जिससे उसे एक बेटी भूमि (रश्मि घोष) होती है. नंदिनी जब जेल में रहती है करण तान्या (रक्षंदा खान) से शादी कर लेता है.
  • गौतम – सुमीत सचदेव. गौतम तुलसी का बेटा होता है, लेकिन उसे किरण उठाकर ले जाता है. अच्छी परवरिश न मिलने की वजह से वो बिगड़ जाता है, जब वो भारत वीरानी परिवार में लौटता है तब तुलसी उसे सुधारती है. गौतम का गंगा से तलाक होने के बाद तृषा (अश्लेशा सावंत) से शादी होती है, जो एक दुर्घटना में मर जाती है. जिसके बाद उसकी शादी दामिनी (रीवा बब्बर) से होती है.
  • गंगा – शिल्पा सकलानी. गंगा तुलसी की तरह ही समझदार, छोटे परिवार की होती है. तुलसी इसे अपने बेटे गौतम के लिए पसंद करती है, लेकिन गंगा साहिल से प्यार करती है. तुलसी को पता नहीं होता है, और वो गंगा-गौतम की शादी करा देती है. थोड़े समय बाद इनका तलाक हो जाता है, और फिर गंगा साहिल की शादी हो जाती है.
  • साहिल – संदीप बस्वाना. साहिल, हेमंत-पूजा का बेटा होता है. गंगा और साहिल के दो बेटे लक्ष्य (पुलकित सम्राट) और नकुल (नमन शाह) होता है. साहिल बाद में तृप्ति से शादी कर लेता है. नकुल, गौतम और दामिनी का जुड़वाँ बेटा होता है. गंगा का मरा बेटा पैदा होता है, जिसके बाद दामिनी उसे अपना एक बेटा दे देती है.
  • अम्बा वीरानी (बा) – सुधा शिवपूरी. सीरियल में ये बा के रूप में दिखाई दी थी, जिनका किरदार कई सालों तक जीवित रहा. इस वजह से लोग बा को अमर भी कहते थे.
  • अंश वीरानी – आकाशदीप साइगल. ये मिहिर और तुलसी का असली बेटा होता है, जिसे आदित्य गुजराल उठा के ले जाता है. अंश एक बिगड़ा, बदमाश लड़का होता है. ये नंदिनी से प्यार करने करने लगता है, जो उसके साथ जबजस्ती भी करता है. अंश के बढ़ते बुरे कामों से परेशां तुलसी उसे मार डालती है.
  • इंदु – करिश्मा तन्ना. इंदु, मिहिर की कजिन सेजल की बेटी होती है. सेजल अपने पति से अलग होकर मायके में ही रहती है. इंदु बहुत चुलबुला किरदार होता है, जो हमेशा अपनी झल्ली बातों से लोगों को हंसाती रहती है.
  • हर्ष – मेहुल कजारिया. ये मिहिर तुलसी का एक और बेटा है. इसकी शादी मोहिनी (तसनीम शेख) से होती है, जिससे उसे अर्चिता(गुंजन विजया) बेटी होती है.
  • शोभा – रितु चौधरी. ये मिहिर तुलसी की प्यारी बेटी होती है.
  • केटी – मौनी रॉय. आज के समय की नागिन मौनी ने करियर की शुरुवात यही से की थी. ये तुलसी की गोद ली हुई बेटी थी, जो उसी की तरह थी. कृष्णा तुलसी गंगा के बेटे लक्ष्य से प्यार करती थी, लेकिन उसकी शादी गौतम के बेटे एकलव्य से हो जाती है, और इस तरह तुलसी उसकी दादी सास बन जाती है.
  • मयंक – राहुल लोहानी. ये गौतम दामिनी का बेटा होता है.
  • मीरा सिंघानिया – शुभावी के. ये वीरानी परिवार की वकील होती है. जो तुलसी की अच्छी दोस्त भी होती है. समय के साथ ये मिहिर से प्यार करने लगती है, और उससे शादी करना चाहती है. मिहिर के लिए इसकी दीवानगी बढ़ती जाती है और वो तुलसी को परेशां करने लगती है.
  • केसर – नारायणी शास्त्री. ये तुलसी की बहन होती है, जिसकी शादी अनुपम कपाड़िया से होती है.
  • बाबरी – हंसिका मोटवानी. ये चिराग और प्राजक्ता की बेटी होती है.
  • गौतमी कपूर – आखिरी की कुछ समय सीरियल में तुलसी का किरदार गौतमी ने निभाया था. तुलसी की किसी एक्सीडेंट के बाद प्लास्टिक सर्जरी होती है, जब गौतमी की एंट्री होती है. सीरियल के अंत तक वे सीरियल से जुड़ी रहीं.

सीरियल के ये बताने का प्रयास किया गया है कि सास को ये कभी नहीं भूलना चाहिए कि वो भी एक बहु थी. वो भी किसी समय घर में बहु बन कर आई थी, जो आज सास बन गई है. सास बहु के खट्टे मीठे रिश्ते को इसमें दिखाने का प्रयास किया गया है. इसे सबने अपनी ज़िन्दगी से जोड़ कर देखा, जिस वजह से ये काफी लोकप्रिय रहा.

अन्य पढ़े:

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *