लाडली लक्ष्मी योजना : योजना के तहत अब सरकार बिजनेस सेटअप के लिए करेगी बेटियों की मदद, विस्तार से जाने

हमारे देश में बेटियां जन्म लेते ही माता – पिता के ऊपर बोझ बन जाती है. जिसके कारण बहुत से माता – पिता उसकी हत्या कर देते हैं, या उन्हें बिना शिक्षा प्रदान किये उनका बाल विवाह कर देते हैं. हालाँकि अब यह करना एक अपराध माना जाता है लेकिन फिर भी बहुत से लोग ऐसा कर रहे हैं. ऐसी प्रथा को खत्म करने एवं बेटियों को शिक्षित करके उनका भविष्य सवारने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने एक योजना चलाई है जिसका नाम है लाडली लक्ष्मी योजना. इस योजना के तहत बेटियों को उनके जन्म से लेकर उनकी शादी तक के लिए सरकार की ओर से वित्तीय सहायता दी जाती है. हालही में मध्यप्रदेश सरकार ने इस योजना को एक कानून बनाने की इच्छा जताई है. आइये इस लेख में हम आपको इस योजना से संबंधित सभी जानकारी विस्तार से बताते हैं.

ladli laxmi yojana mp in hindi

सुकन्या समृद्धि योजना – सरकार दे रही है डेढ़ लाख रूपये तक की मदद, जानें कैसे मिलेगा लाभ.

लाडली लक्ष्मी योजना से संबंधित ताजा खबर (Latest news)

मध्यप्रदेश सरकार चाहती है कि लाडली लक्ष्मी योजना को एक कानून बना दिया जाये. ताकि बेटियां अपनी पढ़ाई एवं शादी अच्छे से कर सकें और आत्मनिर्भर बन सकें. उनके अनुसार इस योजना को कानून बनाते हुए इसमें निम्न चीजों को शामिल किया जाना चाहिये.

  • इस योजना को कानून बनाने के बाद भी इसमें पहले की तरह वित्तीय सहायता राशि दी जाती रहेगी. लेकिन इसमें लाभार्थियों को और नियम एवं सुविधाएँ दी जा सकेंगी.
  • इस योजना के कानून में तब्दील होने से बेटियों को उनकी उच्च शिक्षा और साथ में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में भी मदद मिल सकती है. यहाँ तक कि यदि वे खुद का कोई बिज़नेस करना चाहती हैं तो उनमें भी सरकार उनकी मदद करेगी.
  • इस योजना के कानून बन जाने से समाज में एक बहुत ही अच्छा सन्देश जायेगा, वह यह होगा कि बेटियां अब किसी भी माता – पिता के ऊपर बोझ नहीं रहेंगी, बल्कि वे खुद आत्मनिर्भर बनकर अपना भविष्य सवारेंगे.
  • इसके अलावा इस योजना कानून में यह भी खंड शामिल हो सकता है कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में कुछ ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन उसमें लड़कों को लडकियों की किस तरह से रेस्पेक्ट करनी चाहिये यह सिखाया जाये.

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा दिए गये इस सुझाव का केंद्र सरकार पर क्या असर होगा, एवं क्या वे इस तरह का कोई कानून लायेंगे यह जानकारी आने वाले समय में पता चल जाएगी.

लाडली लक्ष्मी योजना की विशेषताएं

  • दरअसल मध्यप्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई इस लाडली लक्ष्मी योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियां आत्मनिर्भर बनें, उन्हें उनके माता – पिता बोझ न समझें एवं उनका भविष्य उज्ज्वल बन सके.
  • इस योजना के लागू होने से बेटियों को उनका अधिकार मिल सकता है. इससे सेक्स अनुपात को संतुलन, लिंग भेदभाव को खत्म होना, बेटियों की शिक्षा दर में वृद्धि होना और साथ ही उनके परिवार की आर्थिक स्थिति के लिए वित्तीय सहायता सरकार से प्राप्त होना आदि शामिल है.
  • इस योजना की खास बात यह है कि इसमें बेटियों के लिए दी जाने वाली कुल राशि को एक साथ नहीं बल्कि किस्तों में उन्हें दिया जायेगा. ताकि बेटी को मिलने वाली राशि का सही जगह इस्तेमाल हो सके.

भाग्यलक्ष्मी योजना उत्तरप्रदेश – उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा बेटियों एवं उनकी माताओं को दिया जा रहा है लाभ, ऐसे प्राप्त करें.

लाडली लक्ष्मी योजना में मिलने वाली राशि का वितरण

इस योजना में लाभार्थी बेटियों के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली राशि को निम्न किस्तों के आधार पर वितरित किया जायेगा.

  • बेटी के जन्म से लेकर 5 साल तक में 6 – 6 हजार रूपये यानि कि 30 हजार रूपये जमा किये जायेंगे.
  • जब वह 6 वीं कक्षा में पहुँच जायेगी तो उनके बैंक कहते में 2000 रूपये की राशि जमा की जाएगी.
  • जब बेटी हाई स्कूल में पहुंचेगी तो उसके लिए उन्हें 4000 रूपये की वित्तीय सहायता मिलेगी.
  • हायर सेकण्ड्री में पहुँचने पर 6000 रूपये मिलेंगे.
  • स्कूल की अंतिम कक्षा यानि की 12 वीं कक्षा में लाभार्थी बेटियां 6000 रूपये की राशि फिर से प्राप्त करेंगी, जोकि उनकी प्रतियोगी परीक्षा में बैठने में भी मदद कर सकती है.
  • इसके अलावा जब बेटी 21 साल की हो जाएगी तो उसकी शादी के लिए या वह यदि उच्च शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक है, तो उसके लिए सरकार की ओर से 1 लाख रूपये की अंतिम क़िस्त दी जाएगी.

लाडली लक्ष्मी योजना में पात्रता मापदंड

  • बेटी का जन्म मध्यप्रदेश में हुआ होना चाहिए.
  • बेटी का परिवार गरीबी रेखा से नीचे आने वाला बीपीएल कार्ड धारक होना चाहिए.
  • बेटी के जन्म के 1 साल के अंदर योजना में रजिस्ट्रेशन हो जाना चाहिये यदि माता – पिता कि मृत्यु हो गई तो रजिस्ट्रेशन की अवधि 5 साल तक बढ़ा दी जाएगी.
  • पढ़ाई बीच में छोड़ने वाली बेटी को इसका लाभ नहीं मिलेगा.
  • एक परिवार की 2 बेटियों को लाभ दिया जायेगा, किन्तु जुड़वां होने से पहले कोई बेटी है तो 3 बेटियों को इसका लाभ मिल सकता है.
  • बेटी जा रजिस्ट्रेशन आंगनवाड़ी केंद्र में होना चाहिये, ताकि उसका टीकाकरण समय पर हो सकें और उसका स्वास्थ्य भी बेहतर बना रहे.

अल्पसंख्यक महिलाओं के लिए नई रोशनी योजना उनके सशक्त एवं मजबूत बनाने में मदद कर रही है, जानें कैसे जुड़ सकते हैं इसके साथ.

लाडली लक्ष्मी योजना में आवश्यक दस्तावेज

  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता – पिता का पहचान प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते की जानकारी के लिए पासबुक
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट आकार 2 फोटोग्राफ आदि.

लाडली लक्ष्मी योजना में आवेदन कैसे करें

ऑनलाइन आवेदन –

  • सबसे पहले आवेदकों को इस अधिकारिक लिंक पर क्लिक करना होगा.
  • उसके बाद ऊपर ही ‘आवेदन’ करके एक बटन होगी उसे क्लिक कर दें.
  • इसके बाद दिए हुए 3 विकल्प में से ‘जनसामान्य’ वाले विकल्प पर क्लिक करें.
  • इसके बाद जो भी जानकारी मांगी जा रही हैं उसे भरते जायें और अंत में फॉर्म को सबमिट करके रजिस्ट्रेशन कि प्रक्रिया को पूरा करें. यहीं से आप स्टेटस भी चेक कर सकते हैं.

ऑफलाइन आवेदन – यदि आप ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो अपने क्षेत्र के आंगनवाड़ी सेंटर में जायें और वहां जाकर आवेदन करें.

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना – किसान अब बुढ़ापे में पा सकते है पेंशन का लाभ, जल्द रजिस्ट्रेशन करा कर पायें लाभ

इस तरह से इस योजना का लाभ बेटियों के भविष्य को संवार सकता है, और साथ ही उन्हें आत्मनिर्भर बनाने में उनकी मदद कर सकता है.

अन्य पढ़ें –

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *