Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

लता मंगेशकर की जीवनी

लता मंगेशकर की जीवनी और प्रसिद्ध गाने पर अवार्ड् (Lata mangeshkar Biography in hindi)

लता मंगेशकर सुरों की रानी, भारत देश के खास रत्नों में से एक है. लता जी देश विदेश सभी जगह अपनी आवाज की वजह से जानी जाती है. लता जी का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है, उन्होंने सबसे ज्यादा गाना गाकर एक रिकॉर्ड बनाया है. लता जी ने लगभग 30 हजार गाने 20 अलग भाषओं में 1948-87 तक गाये है. अब तो ये 40 हजार का आकड़ा पार कर चुका है. लता जी की आवाज के लिए अमेरिका के वैज्ञानिक कहते है, ऐसी आवाज ना कभी किसी गायक की सुनी ना सुनेयेंगे. उन्होंने लता जी से मरने के बाद उनके गले की जांच करने की बात भी रखी, वो जानना चाहते है कि आखिर लता जी के गले में ऐसा क्या है जो उनकी आवाज इतनी सुरीली और पतली है. आज सभी नए पुराने गायक लता जी को सुरों की देवी मानते है और उनके आगे अपना सर झुकाते है.

Lata Mangeshkar jivani gane Songs Award

नाम लता मंगेशकर
जन्म 28 सितम्बर 1929 इंदौर, मध्यप्रदेश
माता पिता का नाम शेवंती मंगेशकर, दीनानाथ मंगेशकर
भाई बहन का नाम मीना, आशा, उषा व हृदानाथ

लता जी के पिता एक क्लासिकल सिंगर थे, जो थिएटर में काम किया करते थे. लता जी को गायकी विरासत में अपने पिता से ही मिली थी. वो उन्ही से सीखा करती थी.

लता मंगेशकर के करियर की शुरुवात (Lata Mangeshkar Initial Singing Career)-

लता जी ने मात्र 5 साल की उम्र में पहला काम अपने पिता के एक नाटक में किया था. इसके बाद वे ट्रेनिंग लेती रही और 13 साल की उम्र में 1942 में एक मराठी फिल्म के लिए गाना रिकॉर्ड किया. फिल्म रिलीज़ हुई लेकिन किसी कारणवश फिल्म से गाना हटा दिया गया, इस बात से लता जी बहुत आहात हुई. इस साल लता जी के पिता की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. लता जी अपने घर में सब भाई बहनों में बड़ी थी, तो सारी ज़िम्मेदारी उनके कंधो पर आ गई. विनायक दामोदर एक फिल्म कंपनी के मालिक थे, जो दीनानाथ जी के अच्छे मित्र थे, उनके जाने के बाद उन्होंने लता जी के परिवार को संभाला.

फिल्म का नाम गाने के बोल सन
गजभाऊ (मराठी फिल्म) माता एक सपूत की दुनिया बदल दे तू (हिंदी गाना) 1943

1945 में लता जी मुंबई आ गई और अमानत अली खान से ट्रेनिंग लेने लगी. लता जी ने 1947 में हिंदी फिल्म ‘आप की सेवा में’ के लिए भी एक गाना गया, लेकिन किसी ने उनको नोटिस नहीं किया. उस समय गायिका नूर जहान, शमशाद बेगम, ज़ोह्राभई अम्बलेवाली का दबदबा था, बस यही गायिका पूर्ण रूप से सक्रीय थी, उनकी आवाज भारी व अलग थी, उनके सामने लता जी की आवाज काफी पतली और दबी हुई लगती थी. 1949 में लता जी ने लगातार 4 हिट फिल्मों में गाने गए और सबमे उनको नोटिस किया गया. बरसात, दुलारी, अंदाज व महल फ़िल्में हिट थी, इसमें से महल फिल्म का गाना ‘आएगा आनेवाला’ सुपर हिट हुआ और लता जी ने अपने पैर हिंदी सिनेमा में जमा लिए.

लता मंगेशकर को मिले प्रमुख अवार्ड (Lata Mangeshkar Singing Awards) –

सिविलियन अवार्ड
  • 1969 में लता जी को पहली बार देश की सरकार द्वारा देश का 3rd नंबर के अवार्ड पद्म भूषण से सम्मानित किया गया.
  • 1989 में लता जी को हिंदी सिनेमा के सर्वोच्य अवार्ड दादा साहेब फाल्के अवार्ड से सम्मानित किया गया.
  • 1999 में लता जी को देश का 4th नंबर के अवार्ड पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था.
  • 2001 में लता जी को देश का सबसे बड़ा सम्मान भारत रत्न ने सम्मानित किया गया.
  • 2008 में लता जी को स्वतंत्रता की 60वीं वर्षगांठ पर one टाइम अवार्ड for लाइफटाइम अचिवेमेंट्स के लिए देश की सरकार द्वारा सम्मानित किया गया.
नेशनल फिल्म अवार्ड
  • परिचय (1972) – बेस्ट प्लेबैक सिंगर
  • कोरा कागज (1974) – बेस्ट प्लेबैक सिंगर
  • लेकिन (1990) – बेस्ट प्लेबैक सिंगर
फिल्म फेयर अवार्ड फिल्म फेयर अवार्ड में पहले प्लेबैक सिंगर के लिए अवार्ड नहीं होता था, लता जी ने इसका विरोध किया और 1958 से यह अवार्ड जोड़ा गया. इसके बाद लता जी को 6 बार इस अवार्ड से सम्मानित किया गया.

इसके अलावा लता जी और भी बहुत से अनगिनत अवार्ड मिले. महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन्हें महाराष्ट्र भूषण व महाराष्ट्र रत्न से भी सम्मानित किया गया. लता जी को इसके अलावा 250 ट्रोफी व 150 गोल्ड मैडल प्राप्त है.

लता मंगेशकर का फ़िल्मी करियर (Lata Mangeshkar Filmy Career)–

लता जी ने लगभग सभी बड़े निर्माता निर्देशक के साथ काम किया है. पहले वे नूर जहान की तरह गाने की कोशिश करती थी, लेकिन समय के साथ लता जी ने अपनी आवाज में पहचान पा ली. लता जी ने नौशाद अली, अनिल विश्वाश, मदद मोहन, एसडी बर्मन, शंकर जयकिशन जैसे महान म्यूजिक डायरेक्टर के साथ काम किया है. लता जी के आने के बाद फिल्म इंडस्ट्री का मेकओवर हो गया था, फिल्मों में गानों को नयापन मिला. 50’s में लता जी की छोटी बहन आशा जी भी फ़िल्मी दुनिया में आ गई, दोनों बहनों की आवाज में बहुत अन्तर था, लेकिन एक ही जगह काम करने के कारण दोनों के बीच तुलना बहुत की जाती थी. लेकिन काम को दोनों बहनों ने अपने रिश्ते के बीच नहीं आने दिया.

लता जी ने फेमस गायक मोहम्मद रफ़ी, मुकेश व किशोर जी के साथ ढेरों गाने गाये. लता जी का गायकी को लेकर लालसा देखते ही बनती थी. मोहम्मद रफ़ी व एसडी बर्मन के साथ कुछ अनबन के चलते लता जी ने इनके साथ काम करने को मना कर दिया. रफ़ी के साथ उनके मनमुटाव को संगीतकार जयकिशन ने ठीक किया था, लेकिन बर्मन के साथ उनके रिश्ते नहीं ठीक हुए और 1972 के बाद से दोनों ने कभी साथ काम नहीं किया.

लता मंगेशकर के 1960 की फेमस फिल्म के गाने (Lata Mangeshkar 1960 hit Songs) –

क्रमांक फिल्म का नाम गाने के बोल
1. मुग़ल ए आजम (1960) प्यार किया तो डरना क्या
2. दिल अपना प्रीत पराई (1960) अजीब दास्ताँ है ये
3. गाइड(1965)
  • आज फिर जीने की तम्मना है
  • गाता रहे मेरा दिल (किशोर कुमार जी के साथ)
4. ज्वेल थीफ(1967) होंठो पे ऐसी बात

ये चारों फिल्म के गाने आज भी लोग याद करते है, और सुने जाते है. इसके अलावा भूत बंगला (1965), पति पत्नी (1966), बहारों के सपने (1968), अभिलाषा (1969) जैसी फिल्मों के गाने भी फेमस हुए थे. 1963 में लता जी ने उस समय प्रधान मंत्री रहे नेहरु जी के सामने देश का सबसे चहिता गाना ‘ये मेरे वतन के लोगों’ गया. इसे सुन नेहरु जी के आंसू छलक आये थे.

लता मंगेशकर के 1970 की फेमस फिल्म के गाने (Lata Mangeshkar 1970 hit Songs) –

क्रमांक फिल्म का नाम गाने के बोल
1. पाकीज़ा (1972)
  • इन्हीं लोगों ने
  • चलते चलते
2. प्रेम पुजारी (1970) रंगीला re
3. शर्मीली (1971) खिलते है गुल यहाँ
4. अभिमान (1973)
  •  पिया बिना
  • तेरी बिंदिया रे
5. परिचय(1973) बीती ना बिताई
6. नीलू कादली चेकाडली
7. कोरा कागज रूठे रूठे पिया
8. सत्यम शिवम् सुदरम सत्यम शिवम् सुदरम
9. रुदाली दिल हुम हुम करे

इस समय लता जी को 2 नेशनल अवार्ड मिले. इसके साथ ही लता जी देश विदेश में लाइव कॉन्सर्ट भी करती थी.

लता मंगेशकर के 1980 की फेमस फिल्म के गाने (Lata Mangeshkar 1980 hit Songs) –

  • सिलसिला
  • चांदिनी
  • राम लखन
  • मैंने प्यार किया
  • एक दूजे के लिए
  • हीरो

लता मंगेशकर के 1990 की फेमस फिल्म के गाने (Lata Mangeshkar 1990 hit Songs) –

  • लेकिन
  • दिल वाले दुलहनिया ले जायेंगे
  • दिल तो पागल है
  • हम आपके है कौन
  • मोहब्बतें
  • वीर जारा
  • लम्हे
  • डर

लता मंगेशकर जी इस समय अपने स्वास्थ के चलते ज्यादा फ़िल्में नहीं कर पाती हैं , 2000 के बाद से उन्होंने गिने  चुने गाने ही गाये. इसमें लगान फिल्म का ‘ओ पालन हारे’ रंग दे बसंती ‘लुका छिपी’ व बेवफा का ‘कैसे पिया से कहे’ शामिल है.

लता मंगेशकर स्वास्थ्य (Lata Mangeshkar Health)

लता जी का स्वास्थ्य इन दिनों ठीक नहीं है, उन्हें सांस की बीमारी के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अभी डॉक्टर्स का कहना है कि उनकी हालत ठीक नहीं है, उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम में रखा गया है. हम उनके स्वास्थ व लम्बी आयु के लिए प्राथना करते है.

लता जी एक लीजेंड है, जिस पर हर भारतवासी गर्व करता है. लता जी क्रिकेट की बहुत बड़ी फैन है, उनके पसंदीदा खिलाड़ी सचिन है. सचिन उन्हें अपनी माँ की तरह मानते है. लता जी के और गाने सुनने के लिए हम सब बेक़रार है. उम्मीद करते है उनका कोई नया गाना हमें जल्दी सुनने मिले. 

अन्य पढ़े:

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *