ताज़ा खबर

मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ें व जाने कितने सिम चल रहे हैं आपके आधार कार्ड पर | How to link Aadhaar Card with mobile number and check How Many SIMs Registered On Aadhar Number in hindi

घर बैठे मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ें व जाने कितने सिम चल रहे हैं आपके कार्ड पर | How to link Aadhaar card with mobile number 14546 ivrs OTP and Check How Many SIMs  Registered On My Aadhar Number in hindi 

उच्चतम न्यायालय ने देश के हर निवासी को अपने मोबाइल नंबर को अपने आधार कार्ड के साथ जोड़ने का आदेश दिया है. इसलिए अगर आपने अभी तक कोर्ट के इस फैसले पर अमल नहीं किया है, तो जल्द ऐसा कर लें. क्योंकि इस आदेश को मानने के लिए कोर्ट द्वारा अंतिम तारीख इस साल की 31 मार्च तय की गई है.

दूरसंचार विभाग के मुताबिक अगर आप अपने मोबाइल फोन का प्रयोग जारी रखना चाहते हैं, तो ऐसी स्थिति में आपके द्वारा जिस नंबर का प्रयोग किया जा रहा है, उस नंबर को आपको आधार कार्ड से जोड़ना जरूरी होगा. वहीं ऐसा करने के लिए आपके पास तीन विकल्प हैं,पहला मोबाइल एप के जरिये, दूसरा पासवर्ड का इस्तेमाल करके, तीसरा आईवीआरएस सिस्टम के द्वारा. इन तीनों में से किसी भी एक प्रक्रिया की सहायता से आप अपने मोबाइल नंबर को दूरसंचार केंद्र जाए बिना भी आधार से लिंक करा सकते हैं. आज हम आपको ऐसा करने की सबसे सरल प्रक्रिया के बारे में बताएंगे, जिसको अभी मंगलवार से ही प्रयोग में लाया गया है. इसके पहले भारत सरकार ने आधार कार्ड को बैंक खाते से जोड़ने के लिए भी बताया है.

कौनकौन सी दूरसंचार कंपनियों के उपभोक्ता कर सकते हैं पंजीकरण (How to link aadhaar with Idea, Vodafone, Airtel mobile number)

वोडाफोन, आईडिया एवं एयरटेल जैसी कंपनियों ने इंटेरेक्टिव वॉइस रिस्पांस सिस्टम (आईवीआरएस) के द्वारा आधार को मोबाइल नंबर से लिंक करना शुरू कर दिया है. आधार कार्ड से सम्बंधित सभी जानकारी यहाँ पढ़े. अगर आप इनके ग्राहक या कस्टमर है, तो आप अभी नीचे बताई जा रही प्रक्रिया में दी गई जानकारी का इस्तेमाल करके आसानी से अपने मोबाइल नंबर को आधार लिंक कर सकते है.

link Aadhaar card with mobile number

मोबाइल नंबर को इंटेरेक्टिव वॉइस रिस्पांस सिस्टम से कैसे करें आधार कार्ड से लिंक (How to link aadhaar with mobile number by IVR) (Re verification of mobile number in aadhar card in Hindi)

  • इस प्रक्रिया के सबसे पहले चरण में आपको अपने मोबाइल नंबर से 14646 नंबर पर फोन करना होगा. याद रहे आप उसी नंबर से फोन करें जिस नंबर को आप लिंक कराना चाहते हैं.
  • उसके बाद आपसे आपके आधार कार्ड वाला 12 अंको का नंबर पूंछा जायेगा, जिसे आपको एंटर करना होगा, उसके बाद सिस्टम आपसे आपका आधार नंबर जांच ने के लिए, खुद से बोलेगा कि आपने जो अंक एंटर (प्रविष्ट) या अंकित किये है वो इस प्रकार है. उसके बाद आईवीआर सिस्टम एक-एक करके आपका आधार नंबर बताएगा, जिससे आप अपने द्वारा एंटर किया गया नंबर एक बार जांच ले.
  • उसके बाद आपसे 1 नंबर डायल करने को कहा जायेगा, जिससे सत्यापित हो जायेगा कि आपने सहीं नंबर एंटर (अंकित) किया है. उसके बाद आईवीआर सिस्टम आपके आधार को सत्यापित करेगा, आपका आधार नंबर सही है, तो आपको अगले चरण में भेज दिया जायेगा.
  • इसलिए सही आधार संख्या ही प्रविष्ट करें, क्योंकि आईवीएस सिस्टम आधार कार्ड केंद्र के डेटाबेस से आपकी जानकारी लेगा. और आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक नंबर भेजा (OTP) जाएगा.
  • फिर आपको सन्देश में से इस पासवर्ड को पढ़कर आईवीआर सिस्टम को बताना होगा या एंटर करना होगा. इसके बाद सिस्टम आपसे प्रक्रिया को पूरी करने हेतु 1 दबाने को कहेगा. आपके 1 दबाते ही कॉल कट जाएगी, और आपको सत्यापन के तौर पर एक एसएमएस (सन्देश) प्राप्त हो जायेगा.

इंटेरेक्टिव वॉइस रिस्पांस सिस्टम के आलावा अन्य तरीके (aadhar Card to mobile number online and offline)

सरकार के अनुसार अभी तक सात सौ लाख लोगों ने अपने नंबर को आधार कार्ड के साथ जोड़ दिया है. वहीं अगर किसी कारण से आपका सत्यापन ऊपर दी गयी प्रक्रिया से नहीं हो पाता है, तो आप दूसरे रास्ते भी अपना सकते है या फिर अपनी कंपनी के रिटेलर के पास जाकर लिंक करा सकते हैं.

जाने आपके आधार कार्ड पर कितने सिम चल रहे हैं. (How To Know How Many SIMs Are Registered On My Aadhar Number In Hindi)

इस वक्त भारत के लगभग हर नागरिक के पास आधार कार्ड है और भारत में  आधार कार्ड काफी महत्वपूर्ण दस्तावेज के तौर पर गिना जाता है. वहीं आधार कार्ड से सरकार ने लगभग हर तरह की सेवाओं को भी जोड़ दिया है, ताकि सरकार के पास हर चीज की सही जानकारी पहुंच सके. लेकिन इन सबके बीच आधार कार्ड का काफी गलत इस्तेमाल भी होने लगा है, जो कि काफी चिंता का कारण है.

आधार कार्ड का हो रहा है गलत इस्तेमाल (Misuse Of Aadhar Card Number)

आधार कार्ड एक व्यक्ति का पहचान पत्र है, जिसकी मदद से सरकार किसी भी व्यक्ति से जुड़ी कोई भी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकती है. ऐसे में कई लोग, अपने आधार कार्ड की जगह किसी और का आधार कार्ड इस्तेमाल कर देते हैं, ताकि वो अपनी पहचान सरकार से छुपा सकें.

वहीं आधार कार्ड के हो रहे, इस गलत इस्तेमाल का शिकार, कोई भी हो सकता है और किसी के भी आधार कार्ड के नंबर के जरिए कोई भी इंसान नया फोन नंबर ले सकता है. या फिर सरकार की किसी भी योजना का फायदा उठा सकता है. ऐसे में आपको इस बात की जानकारी होना काफी जरुरी है कि कहीं आपके पहचान पत्र का कोई गलत इस्तेमाल तो नहीं कर रहा है या फिर कोई अपने निजी काम आपके आधार का प्रयोग करके तो नहीं कर रहा है.

आपके मन में ये सवाल भी आ रहा होगा कि आपको ये कैसे पता चलेगा कि आपके कार्ड का इस्तेमाल कहा-कहा किया गया है और आपके कार्ड पर कितने फोन के सिम खरीदे गए हैं. वहीं आपके इन्हीं सवालों के जवाब आज हम अपने इस लेख में देने जा रहें हैं और बताने जा रहे हैं कि कैसे आप ये पता कर सकते हैं कि आपके कार्ड पर कितने लोगों ने सिम लिया है. या फिर आपके आधार पर क्या किसी ने कोई बैंक अकाउंट खुलवाया है या नहीं.

लेकिन इन सब सवालों के जवाब जानने से पहले आपका ये जाना जरुरी है कि आखिर आधार कार्ड होते क्या हैं, ये कैसे बनाया जाते हैं और इनका इस्तेमाल कहां और कैसे किया जाता है.

क्या होता है आधार कार्ड (What is Aadhaar card)

आधार कार्ड एक तरह का पहचान पत्र है, जिसको भारत सरकार से मान्यता प्राप्त है. ये कार्ड भारत सरकार द्वारा देश की जनता यानी नागरिकों को दिया जाता हैं और इसको देने की जिम्मेदारी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के पास है और UIDAI के द्वारा ही ये जारी किए जाते हैं. इस प्राधिकरण को जनवरी 2009 में भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया था और साल 2016 तक भारत के करीब 109 करोड़ लोगों ने ये कार्ड बनवाए थे.

कौन बना सकता हैं आधार कार्ड (Aadhar Card Registration) –

हर भारतीय नागरिक के पास केवल एक ही आधार हो सकता है, क्योंकि ये कार्ड केवल एक बार ही बनते हैं. इसको बनाने में किसी भी तरह का फीस नहीं लगती है. 12 अंकों का ये कार्ड हर भारतीय के पास होना अनिवार्य है और इसको, व्यक्ति की पहचान और उसके पते का प्रमाण माना जाता है. इसलिए अगर आपके पास अभी तक ये कार्ड नहीं है तो तुंरत इसे बनवा लें.  इस कार्ड को आप नामांकन केंद्र (Enrolment Centre) से बनवा सकते हैं. अपने शहर के एनरोलमेंट सेंटर की इनफार्मेशन आपको आधार कार्ड से जुड़ी ऑफिसल वेबसाइट से प्राप्त हो जाएगी.

कहां कहां इस्तेमाल होता हैं, आधार कार्ड ( Where Is It Mandatory)

  • आधार कार्ड को कोई भी व्यक्ति अपनी पहचान के रुप में उपयोग कर सकता है और सरकारी योजनाओं का फायदा उठा सकता है. ध्यान रहे कि बिना आधार कार्ड के आप लोग किसी भी तरह की सरकारी योजना जैसे कि डायरेक्ट  बेनिफिट्स  ट्रांसफर योजना, छात्रवृत्ति योजना और इत्यादि योजनाओं का लाभ उठाने में असमर्थ हैं.
  • जिन लोगों को सरकार से मासिक पेंशन मिलती है उन लोगों के पास भी ये कार्ड होना जरुरी है. सरकार ने पेंशन लेने वाले लोगों को, अपना आधार नंबर उस विभाग को देने अनिवार्य कर दिया है. जिस विभाग से उन्होंने पेंशन मिलती है.
  • कर्मचारियों को अपने आधार संख्या को ईपीएफओ (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) के साथ जोड़ने का नियम भी सरकार ने बना दिया है. अगर आप ईपीएफओ का फायदा उठाना चाहते हैं, तो आपको अपना आधार इसके साथ जोड़ना होगा.
  • इसके अलावा अगर आप अपना कोई बैंक अकाउंट खुलवाते हैं, तो तब भी आपको आधार को बैंक से जोड़ने की जरुरत पड़ती है. अगर आप कोई घर या जमीन खरीदते हैं, तब भी आपको पहचान के रुप में अपना आधार कार्ड नंबर देना होता है. रेलवे की ऑनलाइन टिकट बुकिंग के समय भी आपसे ये मांगा जाता है.
  • मोबाइल फोन कनेक्शन लेते समय भी आप से आपकी आधार संख्या मांगी जाती है. ताकि कभी भी अगर किसी फोन नंबर का गलत यूज़ किया जाता है. तो आसानी से आधार संख्या के मदद से ये पता चल सके कि ये नंबर किस व्यक्ति द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा है.

सरकार ने आधार कार्ड की मदद से हमारे देश में होने वाले कई घपलों और धोखाधड़ी को रोकने की कोशिश की है और सरकार अपनी इस कोशिश में काफी हद तक कामयाब भी रही है.

ऑनलाइन चैक करें अपने आधार कार्ड की जानकारी (Check Aadhaar Card Information Online) 

अपने आधार कार्ड के इस्तेमाल से जुड़ी इनफार्मेशन कोई भी आसानी से प्राप्त कर सकता है. अपने आधार कार्ड से जुड़ी जानकारी को पाने के लिए आपको बस नीचे बताई गई प्रक्रिया को फॉलो करना होगा.

  • आप अपने आधार कार्ड से जुड़ी किसी भी इनफार्मेशन को हासिल करना चाहते हैं, तो आपको आधार कार्ड से जुड़ी ऑफिसल वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाकर ये इनफार्मेशन मिल जाएगी.
  • ऊपर बताए गए लिंक पर जाने के बाद एक पेज ओपन होगा और उस पेज में आपको आधार कार्ड से जुड़ी ऑनलाइन सर्विस की इनफार्मेशन मिलेगी. इस पेज पर आपको ऑनलाइन सर्विस के नीचे, तीन तरह की इनफार्मेशन दी गई होगी, जिनमें से पहली जानकारी आधार नामांकन से जुड़ी होगी, दूसरी जानकारी आधार कार्ड के अपडेट से जुड़ी होगी और आखिरी जानकारी आधार कार्ड सर्विस से जुड़ी होगी.
  • आपको आधार कार्ड सर्विस के नीचे लिखे गए आधार प्रमाणीकरण(Authentication) इतिहास पर क्लिक करना होगा. आप चाहे तो ऊपर बताई गई प्रक्रिया की जगह डायरेक्ट इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं और https://resident.uidai.gov.in/notification-aadhaar ये लिंक आप को सीधा आधार प्रमाणीकरण इतिहास के पेज पर ले जाएगा.
  • आधार प्रमाणीकरण इतिहास के पेज पर पहुंचने के बाद, आपसे आपका आधार कार्ड का नंबर पूछा जाएगा. आधार कार्ड का नंबर डालने के बाद, आपको एक सुरक्षा कोड को भी भरने होगा, ये कोड आपको उसी जगह पर लिखा हुआ मिलेगा , जिसे कैप्चा कहते है. आपको ये सिक्योरिटी कोड देखकर भरना होगा.
  • सही आधार कार्ड नंबर और सिक्योरिटी कोड डालने के बाद आपको जनरेट ओटीपी यानी वन टाइम पासवर्ड लिखा हुआ दिखे. आपको पर क्लिक करना होगा. इस पर क्लिक करते ही आपके फोन नंबर पर एक पासवर्ड आएगा और आपको वो पासवर्ड भरना होगा.
  • पासवर्ड भरते ही आपको अपने कार्ड से जुड़ी इनफार्मेशन यानी हिस्ट्री हासिल प्राप्त हो जाएगी, इसके अलावा आपके कार्ड पर कितने लोगों द्वारा सिम खरीदे गए हैं ये जानकारी भी आपको मिल जाएगी.
  • वहीं अगर आप ये पाते हैं कि आपके आधार कार्ड पर कोई ऐसा फोन चल रहा है जो कि आपका नहीं है तो आप तुंरत इसकी शिकायत करें.

हम उम्मीद करते हैं कि आपको ऊपर बताई गई प्रक्रिया सही से समझा आई होगी और ये लेख आपके लिए फायदेमंद रहा हो.

अन्य पढ़े:

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *