लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना | Lucky Grahak Yojana Digi Dhan Vyapar in hindi

लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना (Lucky Grahak Yojana Digi Dhan Vyapar in hindi)

भारत में डिजिटल यानि कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 दिसम्बर 2016 को दो नए और आकर्षक स्कीम शुरू करने की घोषणा की थी. आम उपभोक्ताओं और छोटे व्यापारियों को ध्यान में रखते हुए, इन दोनों स्कीमों का नाम क्रमशः लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना रखा गया है. यह योजना उन लोगों और व्यापारियों के लिए है, जो वैध डिजिटल माध्यम से भुगतान कर रहे हैं या भुगतान प्राप्त कर रहे हैं. इस योजना के तहत भारी-भरकम इनामी राशि की घोषणा की गई है. योजना के विभिन्न स्तरों पर दिए जाने वाले ईनाम की राशि को 1000 रुपये से 1 करोड़ रुपये तक रखा गया है.

25 दिसम्बर 2016 यानि जबसे यह योजना शुरू हुई है, तबसे हर दिन एक लकी ड्रा के माध्यम से 15000 विजेता चुने जा रहे हैं और उन्हें ईनाम दिया जा रहा है. योजना के तहत लकी ग्राहक योजना के विजेता दैनिक और साप्ताहिक आधार पर चुने जा रहे हैं जबकि डिजिधन व्यापार योजना के विजेता का चयन साप्ताहिक आधार पर हो रहा है. इस योजना का समापन 14 अप्रैल 2017 को होगा और उस दिन मेगा ड्रा निकाला जाएगा. मेगा ड्रा के विजेताओं के बीच करोड़ों रुपये के ईनाम बांटे जाएंगे.

Lucky Grahak Yojana Digi Dhan Vyapar

 

हम सभी लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना का लाभ उठा सकते हैं. लेकिन इसके लिए हमें योजना की प्रक्रिया और शर्तों के बारे में जानकारी का होना जरूरी है. आगे हम इस योजना की पूरी प्रक्रिया का विस्तार से उल्लेख कर रहे हैं.

लकी ग्राहक योजना (Lucky grahak yojana eligibility in hindi)

यह योजना उन व्यक्तिगत ग्राहकों के लिए है जो सरकार की ओर से निर्धारित चार तरीकों में से किसी एक तरीके से योजना की निर्धारित अवधि में डिजिटल भुगतान करेंगे. डिजिटल या कैशलेस भुगतान के निर्धारित चार तरीके निम्न हैं:

  1. यूएसएसडी (Unstructured Supplementary Service Data) द्वारा भुगतान – मोबाइल फ़ोन द्वारा किया जानेवाला डिजिटल भुगतान का यह सबसे सरल और सस्ता माध्यम है. इसके न तो स्मार्टफोन का होना आवश्यक है और न ही फ़ोन में इंटरनेट की अनिवार्यता. हाँ, फ़ोन में सिम जरूर होना चाहिए. इसका इस्तेमाल बहुत ही आसान है. जैसे लोग अपने फ़ोन में बैलेंस जानने के लिए एक नंबर डायल करते हैं, उसी प्रकार यूएसएसडी से भुगतान करने के लिए आपको अपने मोबाइल से *99# डायल करना होता है. इसके बाद निर्देशानुसार आप पेमेंट कर सकते हैं.
  2. यूपीआई (Unified Payments Interface) द्वारा भुगतान मोबाइल फ़ोन द्वारा किए जाने वाले कैशलेस पेमेंट का यह तरीका काफी लोकप्रिय हो रहा है. इसका इस्तेमाल करने के लिए उपभोक्ता के पास इंटरनेट सुविधा से युक्त स्मार्टफोन का होना आवश्यक है. यह एक मोबाइल एप्प है, जिसे उपभोक्ता अपने बैंक के वेबसाइट या फिर गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर उपयोग कर सकते हैं. हाल में भारत सरकार द्वारा लांच किया गया, भीम (BHIM) एप्प भी यूपीआई प्लेटफार्म का ही एक एप्प है. एप्प को डाउनलोड करने के बाद उपभोक्ता निर्देशानुसार पैसों का लेनदेन कर सकते है. यूपीआई (UPI) एप्प से संबंधित विस्तृत जानकारी और इसे इस्तेमाल करने के तरीके के लिए देखें यूपीआई के जरिए डिजिटल ट्रांजेक्शन कैसे करें?
  3. रुपे कार्ड (Rupay Card) द्वारा भुगतान रुपे एक डेबिट कार्ड है. इसे विशुद्ध भारतीय कार्ड के रूप में मास्टरकार्ड व वीसा कार्ड के विकल्प के तौर पर स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है. इसके लिए जनधन खाताधारकों को रुपे डेबिट कार्ड दिए गए हैं और सरकार की कोशिश है कि इसका अधिक से अधिक लोग इस्तेमाल करें. अगर ऐसा होता है तो डिजिटल भुगतान का दायरा अपने आप बड़ा हो जाएगा. रुपे कार्ड को लोकप्रिय बनाने के उद्देश्य से ही सरकार ने लकी ग्राहक योजना में सबसे अधिक ईनाम इस कार्ड से पेमेंट करने वाले वर्ग के लिए सुरक्षित रखा है. रुपेय कार्ड की उपयोगिता यहाँ पढ़ें.
  4. एईपीएस (Aadhar Enabled Payment System) – डिजिटल पेमेंट के इस प्लेटफार्म के लिए उपभोक्ता को अपने पास किसी प्रकार के गैजेट्स यानि मोबाइल फ़ोन या अन्य रखने की जरूरत नहीं है. कैशलेस पेमेंट के इस प्लेटफार्म पर केवल आधार नंबर और उँगलियों के निशान (Finger Print) से पेमेंट हो जाता है. इसके लिए दूकानदार या कोई भी भुगतान लेने वाला एक माइक्रो एटीएम (Micro ATM) रखता है और उपभोक्ता का आधार नंबर के साथ उसका फिंगरप्रिंट लेकर पेमेंट प्राप्त कर लेता है.

डिजिटल पेमेंट का कौनकौन सा माध्यम लकी ग्राहक योजना में शामिल नहीं है?

जैसा कि आप सभी जानते होंगे कि उपरोक्त उल्लेखित डिजिटल पेमेंट के तरीकों के अलावा और भी कई तरीके हैं. परन्तु लकी ग्राहक योजना में उन तरीकों को शामिल नहीं किया गया है. ये सभी हैं – मोबाइल वॉलेट (Mobile Wallet) जैसे Paytm, Freecharge आदि, किसी भी बैंक का Mastercard या Visa Card और नेट बैंकिंग से किए गए पेमेंट.

लकी ग्राहक योजना में कब और कैसे मिल रहे हैं ईनाम (Lucky grahak yojana price money) –

लकी ग्राहक योजना के तहत मिल रहे और मिलने वाले इनामों को तीन वर्गों में बांटा गया है. अगर आप इस योजना के मान्य तरीकों से डिजिटल पेमेंट करते हैं तो हर दिन, हर सप्ताह और अंत में मेगा ड्रा में ईनाम जीत सकते हैं.

दैनिक लकी ड्रा (Daily Lucky Draw) – डेढ़ सौ करोड़ के बजट के साथ इस वर्ग में कुल 15 लाख उपभोक्ताओं को ईनाम दिए जाएंगे. इस वर्ग के तहत हर रोज 1000 रुपया प्रति उपभोक्ता की दर से 15000 उपभोक्ताओं को ईनाम से नवाजा जा रहा है. 25 दिसम्बर 2016 से शुरू हुआ, यह सिलसिला लगातार 100 दिनों तक चलते हुए 13 अप्रैल 2017 तक चलेगा.

साप्ताहिक लकी ड्रा (Weekly Lucky Draw) – इस वर्ग में हर सप्ताह 7 हजार विजेताओं को ईनाम दिए जा रहे हैं. हालाँकि इस वर्ग को तीन श्रेणियों में बांटा गया है और सभी श्रेणियों के लिए ईनाम की राशि अलग-अलग है. तीनों श्रेणियों के विजेताओं के लिए क्रमशः 1 लाख, 10 हजार और 5 हजार रुपये दिए जाने का प्रावधान है.

मेगा ड्रा (Mega Draw) – योजना की समाप्ति पर 14 अप्रैल 2017 को मेगा ड्रा निकाला जाएगा. इस ड्रा में वे सभी उपभोक्ता शामिल होंगे जिन्होंने 9 नवम्बर 2016 से 13 अप्रैल 2017 के बीच डिजिटल भुगतान किया है. इसमें वे भी शामिल होंगे जो दैनिक और साप्ताहिक लकी ड्रा जीत चुके हैं. मेगा ड्रा के पहले विजेता को 1 करोड़ रुपये के ईनाम से नवाज़ा जाएगा, जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वाले विजेता को क्रमशः 50 लाख और 25 लाख रुपये दिए जाएंगे.

डिजिटल पेमेंट के किस प्रारूप (Mode) से कितने विजेता होंगे

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आप डिजिटल पेमेंट के किस प्रारूप से भुगतान करेंगे कि आपके ईनाम जीतने की संभावना बढ़ जाएगी. नीचे उल्लेखित कॉलम से यह स्पष्ट हो जाएगा कि किस प्रारूप से कितने विजेताओं का चयन हो रहा है.

पेमेंट का प्रारूप प्रतिदिन चुने जाने वाले विजेता
रुपे कार्ड (Rupay Card) द्वारा पेमेंट 11900
यूपीआई (UPI) द्वारा पेमेंट 1500
एईपीएस (Aadhar Enabled Payment System) द्वारा पेमेंट 1500
यूएसएसडी (USSD) द्वारा पेमेंट 100

खरीदारी या पेमेंट की सीमा

यहां उल्लेखनीय है कि लकी ग्राहक योजना का मुख्य उद्देश्य समाज के निचले तबके के लोगों में डिजिटल लेनदेन के प्रति प्रोत्साहन जगाना है. इसके लिए भुगतान की अधिकतम सीमा को निर्धारित किया गया है. योजना के अंतर्गत वही डिजिटल भुगतान शामिल किए जाएंगे, जो न्यूनतम 50 रुपये और अधिकतम 3000 रुपये या इसके बीच के होंगे. इस सीमा के अंतर्गत आप जीतना अधिक बार भुगतान करेंगे, आपकी ईनाम जीतने की संभावना उतनी ही अधिक प्रबल होगी. आपके द्वारा किए गए भुगतान को तीनों वर्गों के ड्रा में शामिल किया जाएगा.

कैसे बनें ईनाम के लिए मजबूत दावेदार

वैसे तो लकी ग्राहक योजना में ईनाम जीतना आपके भाग्य (Luck) पर निर्भर करता है. परन्तु कोई भी उपभोक्ता जो डिजिटल पेमेंट करते हैं वह अगर निम्न समझदारी भरा कदम उठाते हैं तो वह ईनाम के प्रबल दावेदार हो सकते हैं और वह योजना में अधिक से अधिक हिस्सेदारी कर सकते हैं.

  • अगर आपके पास रुपे डेबिट कार्ड है तो किसी भी खरीदारी और पेमेंट के लिए रुपे कार्ड के इस्तेमाल को प्राथमिकता दें. योजना में सबसे अधिक भागीदार रुपे कार्ड से पेमेंट करने वाले को ही बनाया गया है.
  • रुपे कार्ड न होने की स्थिति में दूसरी प्राथमिकता यूपीआई (UPI) से पेमेंट करने को दें. इसके लिए आपके पास इंटरनेट की सुविधा के साथ स्मार्ट फ़ोन का होना जरूरी है. बस आप यूपीआई एप्प को मोबाइल फ़ोन में डाउनलोड करें और अपने बैंक खाता से इसे जोड़कर पेमेंट करें.
  • स्मार्टफोन और रुपे कार्ड न होने की स्थिति में भी आप लकी ग्राहक योजना में भाग ले सकते हैं. यह संभव होता है आपके आधार नंबर के माध्यम से. जब आप कहीं खरीदारी कर रहे हों, तो वहां पता कर लें कि वहां पर माइक्रो एटीएम या पीओएस (Micro ATM / POS) है कि नहीं. अगर है तो आप केवल अपना आधार नंबर बताकर और मशीन पर उँगलियों के निशान (Finger Print) देकर पेमेंट कर सकते हैं और लकी ग्राहक योजना में आसानी से शामिल हो सकते हैं.
  • डिजिटल पेमेंट का एक और अन्य तरीका यूएसएसडी (USSD) माध्यम से पेमेंट भी लकी ग्राहक योजना में मान्य है परन्तु इस माध्यम से पेमेंट करने वालों की हिस्सेदारी इस योजना में सबसे कम रखी गई है. हालाँकि इस माध्यम से भी पेमेंट करके आप अपना भाग्य लकी ग्राहक योजना में आजमा सकते हैं. इसके लिए आपके पास एक कोई भी मोबाइल फ़ोन होना चाहिए, जिसमें सिम लगा हुआ हो और आपका बैंक में अकाउंट हो. अपने फ़ोन से *99# डायल कर और निर्देशों का पालन कर आप पेमेंट कर सकते हैं.

लकी ग्राहक योजना में कैसे चुने जाते हैं विजेता

इस योजना के 100 दिनों के लिए देश के 100 शहरों का चयन किया गया है. सभी शहरों में एक-एक दिन डिजिधन मेले का आयोजन किया जा रहा है. इसी मेले में रोज योजना का ड्रा निकाला जा रहा है. जिस किसी का भी नाम ड्रा में निकलता है, उसके बैंक खाते में ईनाम की राशि का ट्रान्सफर कर दिया जाता है. यहां याद रखें कि ईनाम उसी बैंक खाते में जाता है जिस खाता से पेमेंट किया हुआ होता है. योजना से संबंधित एक और बात ध्यान देनेवाली है कि अगर किसी का योजना के दैनिक ड्रा या साप्ताहिक ड्रा में नाम निकलता है तब भी उसका नाम मेगा ड्रा में शामिल होगा और वह बड़े ईनाम का हक़दार हो सकता है.

लकी ग्राहक योजना में विजेता होने की जानकारी कैसे मिलेगी?

लकी ग्राहक योजना के विजेताओं की घोषणा सार्वजनिक किए जाने का कोई प्रावधान योजना के अंतर्गत नहीं किया गया है. अगर कोई यह जानना चाहता है कि वह विजेता बना है कि नहीं, तो इसके लिए उसे निम्न प्रक्रियाओं का पालन करना होगा.

  • सबसे पहले लकी ग्राहक योजना के लिए बनाए गए वेबसाइट mygov.in पर जाएं. इस वेबसाइट के होमपेज पर लॉग इन करने के लिए आपको दो विकल्प मिलेंगे – ‘Consumer’ और ‘Merchant’. अगर आप उपभोक्ता हैं तो Consumer पर क्लिक करें या फिर व्यापारी हैं तो Merchant पर क्लिक करें.
  • इसके बाद आपसे आपका मोबाइल नंबर माँगा जाएगा. आप जो भी मोबाइल नंबर डालेंगे उसपर एक पासवर्ड (OTP Number) आएगा. इस पासवर्ड के डालते ही कंप्यूटर स्क्रीन पर आपके विजेता होने या न होने की सूचना मिल जाएगी. अगर आप विजेता हैं तो आपके नाम के साथ आपके द्वारा किए गए पेमेंट का ब्योरा और मिले ईनाम की राशि की सूचना मिलेगी.

डिजिधन व्यापार योजना (DigiDhan Vyapar Yojana)

व्यापारिक लेनदेन में पारदर्शिता लाने और अर्थव्यवस्था में कैशलेस सिस्टम को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने लकी ग्राहक योजना की तरह ही देश के व्यापारी वर्ग को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से डिजिधन व्यापार योजना को शुरू किया है.  लकी ग्राहक योजना की ही तरह 25 दिसम्बर 2016 से शुरू हुई यह योजना 13 अप्रैल 2017 तक चलेगी और 14 अप्रैल 2017 को एक मेगा ड्रा के साथ  इस योजना का भी समापन होगा.

डिजिधन व्यापार योजना के लिए पात्रता और ईनाम राशि (Eligibility & Prize Money)

  • डिजिधन व्यापार योजना में वही दूकानदार या व्यापारी भाग ले सकते हैं जो योजना के नियत समय सीमा में रुपे कार्ड (Rupay Card), यूपीआई (UPI), यूएसएसडी (USSD) या फिर एईपीएस (Aadhar Enabled Payment System) के माध्यम से अपने ग्राहकों से भुगतान प्राप्त करेंगे या फिर अन्य डिजिटल लेनदेन करेंगे.
  • योजना के तहत हर सप्ताह 7000 व्यापारियों को लकी ड्रा के माध्यम से तीन ईनाम दिए जा रहे हैं. इनमें पहला 50,000 रुपये का, दूसरा 5,000 रुपये और तीसरा ईनाम 2,500 रुपये का है.
  • योजना के समापन पर निकलने वाले मेगा लकी ड्रा में व्यापारी वर्ग के लिए क्रमशः 50 लाख रुपये, 25 लाख रुपये और 5 लाख रुपये की ईनाम राशि रखी गई है.

वस्तुतः यह कहा जा सकता है कि भारत को डिजिटल अर्थव्यवस्था (Digital Economy) की तरफ ले जाने और आम लोगों में इसके प्रति जागरूकता पैदा करने में लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना एक बड़ा कदम साबित हो सकता है. जरूरत है तो बस कि इस योजना की जानकारी जन-जन तक पहुंचे और अधिक से अधिक लोग इसमें भागीदारी करें. अगर आप अभी तक पीछे हैं तो जल्दी ही योजना में भागीदार बनें और करोड़पति बनने के लिए अपना स्थान लकी ड्रा के लिए सुनिश्चित करें.

Update 

15/9/2018

यह योजना अप्रैल 2017 में ख़त्म हो चुकी है. इस योजना के अंतर्गत सरकार ने कुल 258 करोड़ की पुरुस्कार राशि 16 लाख विजेताओं को वितरित की है.

अन्य पढ़ें

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *