मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना मध्यप्रदेश 2020

‘मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मेधावी छात्र (विद्यार्थी) प्रोत्साहन योजना’ ,एमपी बोर्ड रिज़ल्ट 2020 (Mukhyamantri Medhavi Chhatra Vidyarthi Yojana MP in Hindi) [Eligibility Criteria, Documents, Application Form, Registration Fee,Download)

मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (एमपीबीएसई) के दसवीं और बारहवीं क्लास का परिणाम आ गया है और इस बार 12 वीं कक्षा के कुल 68 प्रतिशत छात्र इस इम्तिहान में पास हुए हैं.जबकि कक्षा 10 के कुल 66 प्रतिशत छात्र इम्तिहान पास कर पाए हैं. इस बार करीब 20 लाख उम्मीदवार ने इम्तिहान में हिस्सा लिया था. जिनमें से 7,65,358 छात्रों 12 वीं कक्षा के थे और 11,48,098 छात्र 10 वीं कक्षा के थे. जिन 10 वीं और 12 वीं कक्षा के छात्रों ने अभी तक अपनी रिजल्ट चेक नहीं किया है वो नीचे बताए गए लिंक पर जाकर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.

mukhyamantri-medhavi-chhatra-vidyarthi-mp

इस साल जो छात्र इन इम्तिहानों में पास रहे हैं उनके लिए मध्यप्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना की शुरुआत की है जबकि जो छात्रा इम्तिहान पास नहीं कर पाए हैं उनके लिए भी राज्य सरकार ने रुक जाना नहीं योजना शुरु की है.

“मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना”

मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना के जरिए 12 वीं क्लास को पास करने वाले छात्रों को उच्च शिक्षा हासिल करने में उनकी आर्थिक मदद सरकार द्वारा की जाएगी. लेकिन ये मदद केवल उन्हीं छात्रों को दी जाएगी जिन्होंने 12 वीं कक्षा में अच्छा प्रदर्शन किया हो और अच्छे अंक हासिल किए हों.

मुख्यमंत्री मेधावी छात्र  योजना के फायदे (Benefit of Medhavi Vidyarthi Yojana MP:)

सरकार करेगी पूरी फीस का भुगतान

  • इस योजना के तहत राज्य सरकार , सरकारी इंजीनियरिंग, चिकित्सा, प्रबंधन, कानून महाविद्यालय में एडमिशन लेने वाले योग्य छात्रों की फीस भरेगी.
  • बीएसस से लेकर बीए, बीकॉम, पॉलिटेक्निक (Polytechnic) , और राज्य में सभी स्नातक स्तर के कोर्सेज में एडमिशन लेने पर भी छात्रों की फीस भी राज्य सरकार देगी नेशनल एलिजिबिलिटी एंड एलिजिबिलिटी (एनईईटी) प्रवेश परीक्षा को पास करने वाले छात्रों द्वारा किसी भी केंद्रीय या राज्य सरकार चिकिस्तक कॉलेज में प्रवेश लेने पर उनकी पूरी फीस का भुगतान भी एमपी सरकार द्वारा किया जाएगा. इसी तरह राज्य सरकार सीएलएटी के माध्यम से राष्ट्रीय कानून विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने वाले छात्र की फीस का भी पूरा भुगतान करेगी.

इनाम राशि भी छात्रों को दी जाएगी

  • जो मेधावी छात्रों परीक्षा में पहला, दूसरा और तीसरा पद हासिल करेंगे उनको सरकार द्वारा नकद पुरस्कार भी दिया जाएगा.
स्थानराशि
पहले वाले छात्र को1 लाख
दूसरे स्थान वाले छात्र को75,000 हजार
तीसरे स्थाम वाले छात्र को50,000 हजार

इन सभी फायदों के अलावा छात्रों को 1.5 लाख रुपए तक की फाइनेंसियल असिस्टेंस भी उपलब्ध कराए जाएंगे.

योजना का नाममुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना
योजना के शुरू होने की तारीख 2020
किसके लिए शुरू की गई ये योजना12 कक्षा के छात्रों के लिए
मेधावी विद्यार्थी योजना एमपी के तहत पाठ्यक्रमइंजीनियरिंग ,चिकित्सा, कानून,बीएससी, बीकॉम, नर्सिंग, पॉलिटेक्निक और इत्यादि पाठ्यक्रम

 कौन छात्र उठा सकते हैं इस योजना का लाभ

  • इस योजना के लिए वो ही छात्र अप्लाई कर सकते हैं जिन्होंने माध्य्मिक शिक्षा मण्डल से 12 वीं क्लास की परीक्षा दी हो और उस परीक्षा में 75% से अधिक नंबर हासिल किए हों.
  • अगर किसी छात्र ने सीबीएसई (Cbse) /आईसीएसई (icse) बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षा में हिस्सा लिया है तो वो छात्र तभी इस योजना का लाभ ले सकता हैं. अगर उनके पास 85 प्रतिशत या उससे अधिक अंक होंगे.

पात्रता की शर्ते (Eligibility Conditions)

  • इस स्कीम का लाभ केवल उन्हीं छात्रों को मिलेगा जो कि मध्यप्रदेश के मूल निवासी होंगे. यानी जो छात्र मध्यप्रदेश का निवासी नहीं हैं वो इस योजना के लिए अप्लाई नहीं कर सकते हैं.
  • मुख्यमंत्री मेधावी छात्र स्कीम केवल गरीब छात्रों के लिए ही चलाई गई है और इ स स्कीम के लिए केवल वो ही छात्रा अप्लाई कर सकते हैं जिनके परिवार की सालान आय 6 लाख रुपए से कम होगी.

योजना से जुड़े जरूरी कागजात (Necessary documents )

  • मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना के लिए अप्लाई करते समय छात्रों को अपने 10 कक्षा और 12 वीं कक्षा की मार्कशीट की जरुरत पड़ेगी. इसके अलावा राज्य का निवासी होने का प्रमाण पत्र और आधार कार्ड की जरुरत भी छात्र को पड़ेगी.
  • जिस कॉलेजी में छात्र दाखिला लेंगे छात्रों को उस कॉलेजी में दाखिला लेने का भी प्रमाण पत्र देना होगा. साथ ही परिवार की आय के प्रमाण से जुड़े हुए कागजात की भी जरुरत पड़ेगी.

 “मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना से जुड़ी अन्य जानकारी-

  • गवर्नमेंट इंस्टीटूशन्स में दाखिला लेने वाले छात्रों को इस योजना के जरिए दी जाने वाली राशि संस्थान के खाते में दी जाएगी. जबकि निजी संस्थानों के छात्रों की फीस छात्रों के खातों में जमा की जाएगी.
  • इस योजना के कार्यान्वयन के लिए तकनीकी शिक्षा और कौशल विकास विभाग को जिम्मेदारी दी गई है और विभाग की और से ही इस योजना का कार्य देखा जाएगा.
  • इस योजना से जिन छात्रों को फायदा मिलेगा उन छात्रों को डिग्री हासिल करने के बाद दो साल तक के लिए मध्य प्रदेश सरकार के लिए काम करना पड़ेगा और छात्रों को सरकार के साथ 10 लाख रुपए का एक बोंड भी साइन करना होगा.

किसे करें आवेदन (How To Apply)

मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको लिंक पर जाना होगा. इस लिंक पर जाने के बाद आपको इस पेज पर रजिस्ट्रेशन लिखा हुआ दिखेगा और आपको इस पर क्लिक करना होगा.

  • रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करने के बाद एक पेज खुलेगा और उस पेज में आपसे आपकी पर्सनल इनफार्मेशन जैसी की आपका नाम, पता, माता-पिता का नाम, ईमेल आईडी और इत्यादि जानकारी मांगी जाएगी. इन इनफार्मेशन को भरने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा.
  • रजिस्ट्रेशन होते ही आपकी ईमेल आईडी पर एक मेल आएगा जिसमें आपको आपका पासवार्ड की इनफार्मेशन दी जाएगी और इस पासवार्ड की मदद से आपक लॉग इन कर सकेंगे और आगे का फॉर्म भर सकेंगे.

फॉर्म भरने के बाद की प्रक्रिया (Process)

ऑनलाइन फॉर्म भरने के बाद आपको अपने फॉर्म का प्रिंटआउट निकालना होगा और इस प्रिंटआउट हुए फॉर्म को अपने कॉलेज में जमा करवाना होगा. जिसके बाद कॉलेज द्वारा आपके दस्तावेज की जांच की जाएगी और अगर आपके दस्तावेज सही पाए जाते है तो आपको इस योजना का लाभ मिलेगा.

‘रुक जाना नहीं योजना’ (Ruk Jana Nahi Yojana MP)

फेल हुए छात्रों को भी मिलेगा दूसरा मौका

  • दसवीं कक्षा और बारहवीं कक्षा के जो छात्र परीक्षा में सफल नहीं हो पाएं हैं उनके लिए भी सरकार ने रुक जाना नहीं स्कीम शुरू की है. इस योजना का लक्ष्य फेल हुए छात्रों को दूसरा मौका देना है ताकि वो फिर से मेहनत करके उन पेपर को पास कर लें जिनमें वो फेल हुए हैं.

कब शुरू की गई ये योजना

रुक जाना नहीं योजना को मध्य प्रदेश सरकार ने साल 2016 को शुरू किया था और इस योजना की मदद से लाखों की संख्या में उन छात्रों को दोबार पेपर देने का मौका दिया जा चुका है, जो कि फेल हो गए थे. मध्य प्रदेश सरकार के अनुसार इस योजना से अभी तक 1, 16,000 छात्रों को फायदा पहुंचा है.

कौन छात्र कर सकते हैं इस योजना के लिए आवेदन  (Eligibility Criteria)

  • रुक जाना नहीं योजना का लाभ वो छात्र उठा सकते हैं जिन्होंने माध्य्मिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित की गई 10 वीं और 12 वीं कक्षा की परीक्षा को पास नहीं किया है.
  • इसके अलावा इस बोर्ड से पढ़ाई करने वाले वो छात्र भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं, जो की 10 वीं और 12 वीं कक्षा की परीक्षा किसी कारण से नहीं दे पाए हों.
  • वो छात्र जिन्होंने इस योजना के तहत 10 वीं कक्षा की परीक्षा पास की हो मगर वो 12 वीं की परीक्षा में हिस्सा नहीं सके हैं, तो वो छात्र भी इस साल होने वाली 12 वीं कक्षा की परीक्षा में भाग ले सकते हैं.

योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

  • रुक जाना नहीं योजना का लाभ उठाने के लिए छात्रों को अपने आपको पंजीकृत करवाना होगा. जिन छात्रों का सफल तरीक के पंजीकरण हो जाएगा केवल वो ही इस योजना के तहत पेपर दे सकेंगे. दोबार से पेपर देने वाले छात्रों को 25 मई तक खुद का पंजीकरण करवाना होगा.
  • पंजीकरण होने के बाद छात्रों के लिए परीक्षा का आयोजन जून महीने में किया जाएगा. इसलिए जो छात्र पहले परीक्षा में सफल नहीं रहे हैं उनके पास दोबार से तैयारी करने के लिए एक महीने से कम समय का वक्त ही बचा है.
  • रुक जाना नहीं योजना के जरिए तैयार किए जाने वाले प्रश्न पत्र का पाठ्यक्रम वहीं होगा जो माध्य्मिक शिक्षा मण्डल द्वारा तय किया गया है.
  • जो छात्र सफलतापूर्वक दोबारा ली जाने वाली इस परीक्षा को पास कर लेंगे उन्हें उनकी मार्कसीट मध्य प्रदेश स्टेट ओपन स्कूल एजुकेशन कौंसिल, भोपाल द्वारा दी जाएगी.

परीक्षा पास नहीं करने पर फिर मिलेगा मौका

अगर रुक जाना नहीं योजना के जरिए भी कोई छात्र किसी विषय में पास नहीं हो पाते हैं तो उन्हें निराश होने की जरुरत नहीं हैं. क्योंकि इस योजना के तहत जो छात्र फिर से असफल रहते हैं, वो दिसंबर के महीने में फिर से आयोजन होने वाली परीक्षा में हिस्सा ले सकते हैं.  हालांकि उनको अपना पंजीकरण दोबारा से करवाना होगा.

केवल पास होने वाले छात्रों को ही मिलेगा दाखिला

  • जून के महीने में आयोजित होने वाली परीक्षा को जो छात्र पास कर लेते हैं केवल वो ही छात्र 11 वीं कक्षा में दाखिला ले सकते हैं.
  • जो छात्र दिसंबर महीने में होने वाली परीक्षा में भाग लेते हैं वो 11 वीं कक्षा में दाखिला नहीं ले सकते हैं. हालांकि ये छात्र साल 2020 में रुक जाना नहीं योजना द्वारा आयोजित होने वाली 12 वीं कक्षा की परीक्षा में हिस्सा ले सकते हैं.

कब आएगा रिजल्ट (Result)

रुक जाना नहीं योजना में जरिए परीक्षा देने वाले छात्रों का रिजल्ट एक महीने के अदंर आ जाएगा और पास होने की स्थिति में उनको अगली कक्षा में दाखिला मिल जाएगा.

कैसे करें अप्लाई (How To Apply)

रुक जाना नहीं योजना के लिए पंजीकरण करवाने के लिए छात्र को सबसे पहले लिंक पर जाना होगा. इस लिंक पर जाने के बाद छात्र को राइट साइट में “रुक जाना नहीं” योजना परीक्षा फॉर्म दिखेगा और आपको इस पर क्लिक करना होगा. इस पर क्लिक करने के बाद आपसे आपका रोल नंबर, आप बीपएल हैं कि नहीं जैसी इनफार्मेशन को भरने को कहा जाएगा. इन इनफार्मेशन को भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा. जिसके बाद आपको एक फॉर्म भरने को कहा जाएगा और आपको ये फॉर्म भरना होगा.

दसवीं कक्षा की परीक्षा की तारीख (Ruk Jana Nahi Yojana Time Table, Class 10)-

संखयाविषयपरीक्षा की दिनांक
1सामाजिक विज्ञान
2स्पेशल लैंग्वेज हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू
3विज्ञान
4जनरल लैंग्वेज अंग्रेजी भाषा
5गणित
6जनरल लैंग्वेज उर्दू, संस्कृत, मराठी, पंजाबी
7जनरल लैंग्वेज हिंदी भाषा

 12 वीं कक्षा की परीक्षा की तारीख (Ruk Jana Nahi Yojana Time Table, Class 12)

विषयपरीक्षा की दिनांक
1स्पेशल लैंग्वेज हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू
2हिस्ट्री, फिजिक्स, बिज़नेस स्टडीज, साइंस एंड मैथ्स यूजफुल फॉर एग्रीकल्चर, होम मैनेजमेंट नुट्रिशन एंड टेक्सटाइल्स
3जियोग्राफी, केमिस्ट्री, क्रॉप प्रोडक्शन एंड होर्लीकल्चरे, एनोटॉमी फिजियोलॉजी एंड हेल्थ
4बुक कीपिंग एंड एकाउंटेंसी
5सोशियोलॉजी,  साइकोलॉजी, एग्रीकल्चर, होम साइंस
6गणित
7बायोलॉजी एंड इकॉनमी,
8पशुपालन दूध व्यापार पोल्ट्री खेतों और मत्स्य पालन, राजनीति विज्ञान, विज्ञान के तत्व, व्यापार अर्थशास्त्र
9दूसरी लैंग्वेज हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू
10संस्कृत
11इन्फोमेटिक प्रक्टिकला एंड इंडियन म्यूजिक

मध्य प्रदेश सरकार इन दोनों स्कीमों की मदद से छात्रों का भला करना चाहती है और इन स्कीमों की मदद से सरकार पढ़ाई में तेज और पढ़ाई में कमजोर छात्रों को एक बेहतर भविष्य देने में लगी हुई है. जिस तरह से इन स्कीमों को प्रदेश में चलाया जा रहा है उसकी मदद से कई लाख छात्रों की मदद की जा चुकी है और आने वाले समय में और छात्र भी इन स्कीमों का फायदा उठा सकेंगे.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हालही में यह घोषणा की है कि सीबीएसई में 80% अंक लाने वाले छात्र अब मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के लिए पात्र होंगे,पहले 85 % लाने वाले विद्यार्थी ही इसके पात्र थे. इसके साथ ही एमपी बोर्ड में भी इसके पात्रता मापदंड को 75% से कम करके 70% कर दिया गया है.

अन्य पढ़े:

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *