ताज़ा खबर

जानें मोबाइल पिन क्या है |What is MPIN number in banking in hindi

What is MPIN number in banking in hindi जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज का जमाना मोबाइल बैंकिंग का है. भारत में भी मोबाइल बैंकिंग का चलन तेजी से बढ़ रहा है. बैंकिंग के इस नए प्लेटफार्म पर मोबाइल पिन (MPIN) की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है. यह वह छुपा रुस्तम होता है जो आपके मोबाइल बैंकिंग को सुरक्षित बनाता है. मोबाइल या मोबाइल एप्प से किया जानेवाला कोई भी पेमेंट बिना MPIN के संभव नहीं हो पाता है. इसलिए हम सबके लिए यह जानना जरूरी है कि MPIN क्या है? यह जरूरी क्यों है? इसे कैसे जनरेट किया जाता है और जरूरत पड़ने पर इसे कैसे बदला जाता है. एक सुरक्षित मोबाइल बैंकिंग के लिए, हम आपको नीचे मोबाइल पिन यानि MPIN के सभी पहलुओं से परिचित कराने की कोशिश कर रहे हैं.

mpin-image

मोबाइल पिन क्या है? (What is MPIN number in banking in hindi) –

सरल शब्दों में कहें तो मोबाइल पिन एक पासवर्ड है. जैसे आप एटीएम मशीन में, इन्टरनेट बैंकिंग में या फिर अपना ईमेल खोलने के लिए पासवर्ड का उपयोग करते हैं, उसी प्रकार मोबाइल के माध्यम से किसी भी प्रकार के पेमेंट या लेनदेन करने के लिए MPIN की जरूरत होती है. यह पिन चार या फिर छह अंकों का होता है. वर्तमान में मोबाइल पिन का प्रयोग मुख्यतः मोबाइल बैंकिंग के साथ एसएमएस बैंकिंग और मोबाइल एप्प बैंकिंग जैसे यूएसएसडी और यूपीआई में किया जा रहा है.

मोबाइल पिन (MPIN) का महत्व –

मोबाइल बैंकिंग द्वारा पैसों के सुरक्षित लेनदेन में MPIN का विशेष महत्व है. मोबाइल बैंकिंग के द्वि-स्तरीय सुरक्षा तंत्र में इसकी भूमिका महत्वपूर्ण होती है. आपके यूजर आईडी की जानकारी तो आपको जानने वालों सभी को हो सकती है, परंतु MPIN आपका और सिर्फ आपका ही होता है. अगर इसकी जानकारी अन्य किसी को होती है तो आपके बैंक खाते का सुरक्षा चक्र ध्वस्त हो जाएगा और आपको आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है. सीधे शब्दों में कहें तो मोबाइल बैंकिंग में आपका मोबाइल नंबर पहले स्तर का सुरक्षा घेरा है और MPIN दूसरा सुरक्षा घेरा है. दोनों के बिना न तो आप और न ही कोई अन्य आपके बैंक खाते से लेनदेन कर सकता है.

कहां-कहां होता है MPIN का प्रयोग –

MPIN का प्रयोग मुख्यता मोबाइल बैंकिंग, एसएमएस बैंकिंग, तत्काल भुगतान सेवा (IMPS), यूएसएसडी बैंकिंग और यूपीआई बैंकिंग में किया जा रहा है.

कैसे जेनरेट करें और बदलें मोबाइल पिन (How to generate MPIN) –

मोबाइल बैंकिंग के विभिन्न माध्यमों में मोबाइल पिन (MPIN) जेनरेट करने के अलग-अलग तरीके हैं. परन्तु मोटे तौर पर MPIN जेनरेट करने के लिए सबसे पहले आपको अपने मोबाइल नंबर को संबंधित मोबाइल बैंकिंग प्लेटफार्म पर रजिस्टर्ड कराना होता है. रजिस्टर्ड कराने के बाद आपका बैंक आपको एक यूजर आईडी और पासवर्ड यानि MPIN देता है. परन्तु मोबाइल बैंकिंग के कुछ प्लेटफार्म पर आप खुद ही अपना यूजर आईडी और MPIN जेनरेट कर सकते हैं और आवश्यकतानुसार उसे बदल भी सकते हैं. हम आपको नीचे मोबाइल बैंकिंग के अलग-अलग प्लेटफार्म पर MPIN कैसे जेनरेट करेंगे, उसके बारे में बता रहे हैं.

एसएमएस (SMS) बैंकिंग के लिए मोबाइल पिन (How to change MPIN for sms banking) –

आमतौर पर सभी बैंक एसएमएस (SMS) बैंकिंग के माध्यम से ग्राहकों को बैलेंस इन्क्वायरी, मिनी स्टेटमेंट, अंतिम कुछ लेनदेन, चेक स्टेटस आदि की जानकारी उपलब्ध कराते हैं. इस सुविधा को प्राप्त करने के लिए बैंक के ग्राहक को अपने बैंक से लिखित में अनुरोध करना होता है. इसके बाद बैंक ग्राहक को यूजर आईडी और MPIN उपलब्ध कराता है. आपके मोबाइल पर जब एसएमएस बैंकिंग सक्रिय होता है तब आपको MPIN बदलने की सुविधा प्रदान की जाती है. एसएमएस बैंकिंग के लिए अलग-अलग बैंकों के अपने तौर-तरीके (Procedure) होते हैं. अगर कोई ग्राहक इस सुविधा को लेना चाहता है, तो उसे अपने बैंक से संपर्क करना होगा.

यूपीआई (UPI) बैंकिंग के लिए मोबाइल पिन (MPIN for UPI banking) –

एप्प आधारित इस बैंकिंग प्लेटफार्म पर बैंक के ग्राहक खुद अपना मोबाइल पिन (MPIN) जेनरेट कर सकते हैं. इसके लिए आपको अपने मोबाइल में इनस्टॉल UPI बैंकिंग एप्प को ओपन करना होगा और निम्न निर्देशों के अनुसार MPIN जेनरेट करना होगा.

  • सबसे पहले आप अपने बैंक के UPI APP में जाकर अपने वर्चुअल आईडी बनाएं. इसके बाद उसे अपने बैंक खाते से जोड़ें.
  • अब आप अपने जिस खाता के लिए MPIN जेनरेट करना चाहते हैं, उसको चुनें और SET MPIN विकल्प को क्लिक करें. क्लिक करते ही आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर ओटीपी (One Time Password) आएगा.
  • ओटीपी डालते ही आपका MPIN वाला कॉलम सक्रिय हो जाएगा. इसके बाद आप अपनी पसंद का चार या छह अंकों (संख्या आपके बैंक के UPI एप्प पर निर्भर करता है) का पिन डालें और सबमिट बटन पर क्लिक करें.
  • अगर एप्प में कोई तकनीकी समस्या न हो तो, आपका MPIN सफलतापूर्वक सेट हो जाएगा और इसकी सूचना आपको तुरंत मिल जाएगी.
  • जब आपको अपने MPIN को बदलना हो तो एप्प में ‘अकाउंट मैनेजमेंट’ विकल्प में जाएं और वहां मौजूद ‘Change MPIN’ विकल्प को क्लिक करें.
  • इसके बाद तीन कॉलम डिस्प्ले होंगे. पहले कॉलम में पुराना MPIN डालें और दूसरे कॉलम में अपनी पसंद का नया MPIN डालें और तीसरे कॉलम में नए MPIN को डालकर सुनिश्चित करें और सबमिट कर दें.
  • सबमिट करने के बाद ‘MPIN Successfuly Changed’ की अधिसूचना मिलेगी और आपका नया MPIN सक्रिय हो जाएगा.

यूएसएसडी (USSD) बैंकिंग के लिए मोबाइल पिन (MPIN for USSD) –

मोबाइल बैंकिंग के इस प्लेटफार्म पर भी आप खुद से निम्न निर्देशानुसार अपना MPIN जेनरेट कर सकते हैं.

  • सबसे पहले आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से *99*22(हिंदी भाषा के लिए)# डायल करें.
  • इसके बाद आपके फ़ोन में यूएसएसडी सेवा शुरू हो जाएगी. अब आपको इसे अपने बैंक खाते से जोड़ना है. इसके लिए अपने बैंक के नाम का शुरू का तीन अक्षर या फिर IFSC कोड के शुरू के चार अक्षर लिखने होंगे और सेंड करने होंगे.
  • फिर एप्प में अगला मेनू डिस्प्ले होगा. यहां 7 चुनें और सेंड कर दें.
  • फिर MPIN जेनरेट करने के लिए 1 विकल्प को चुनें और सेंड कर दें.
  • अगले चरण में आपसे अपनी पसंद का MPIN डालने और उसे सबमिट करने को कहा जाएगा. अब आप एप्प पर डिस्प्ले हो रहे निर्देशों का पालन करें और अपना MPIN प्राप्त करें.
  • अब जब आप अपना MPIN बदलना चाहें, तो ऊपर के तीन निर्देशों का पालन करने के बाद डिस्प्ले होने वाले विकल्प में से 2 विकल्प को चुनें और सेंड कर दें.
  • अब आगे फ़ोन के स्क्रीन पर MPIN बदलने के निर्देश आएंगे. इसमें पहले आपसे पुराना MPIN मांगा जाएगा और फिर नया MPIN और फिर सुनिश्चित करने के लिए दुबारा से नया MPIN डालने को कहा जाएगा. आप निर्देशों का पालन करें और सारी जानकारी देने के बाद सबमिट का बटन दबाएं.
  • उपरोक्त प्रक्रिया के बाद आपका पुराना MPIN रद्द हो जाएगा और नया MPIN सक्रिय हो जाएगा.

तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) बैंकिंग के लिए MPIN –

बैंकिंग के इस प्लेटफार्म पर भी मोबाइल फ़ोन के माध्यम से पेमेंट किया जाता है. हालांकि इस प्लेटफार्म की सुविधा कुछ ही बैंक दे रहे हैं. इनमें प्रमुख हैं – आईसीआईसीआई बैंक, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया और एक्सिस बैंक. इस सेवा का उपयोग करने के लिए भी MPIN की जरूरत होती है. तीनों बैंक अपने-अपने तरीके से इस सेवा को उपलब्ध करा रहे हैं. यहां हम आपको आईसीआईसीआई बैंक के IMPS प्लेटफार्म पर MPIN जेनरेट करने के बारे में बता रहे हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको *525# डायल करने होंगे.
  • इसके बाद डिस्प्ले होने वाले मेनू में से विकल्प 2 को चुनने होंगे.
  • अब निर्देशानुसार आप अपने बैंक खाते का अंतिम चार अंक डालें और सबमिट करें.
  • फिर स्क्रीन पर डिस्प्ले हो रहे निर्देशों का पालन करते हुए अपनी पसंद के 4 अंकों का MPIN डालें और सबमिट करें. सफलतापूर्वक MPIN जेनरेट होने की सूचना आपको तुरंत मोबाइल के स्क्रीन पर दे दी जाएगी.

अगर आप MPIN भूल जाते हैं तो घबराने या चिंतित होने की जरूरत नहीं है. आप अपने मोबाइल बैंकिंग के प्लेटफार्म पर जाकर दिए गए निर्देशों के अनुसार नया MPIN जेनरेट कर सकते हैं.

अन्य पढ़ें –

Ankita

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *