नवीन रोजगार छतरी योजना 2020 उत्तर प्रदेश [ऑनलाइन फॉर्म]|UP Naveen Rojgar Chhatri-Yojana 2020 In Hindi

नवीन रोजगार छतरी योजना 2020 उत्तर प्रदेश क्या हैं अनुसूचित जाति गरीबों को सरकार दे रही है आर्थिक सहायता- ऑनलाइन फॉर्म, आवेदन प्रक्रिया [UP Naveen Rojgar Chhatri-Yojana 2020 In Hindi Online Form, Eligibility Criteria]

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में एक नयी योजना “नवीन रोजगार छतरी योजना” की शुरुवात की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं योजना की घोषणा करते हुए बताया कि राज्य के विकास के लिए सभी वर्गों के बीच समानता होनी चाहिए, यह समानता आर्थिक रूप से भी आनी चाहिए. अगर एक वर्ग आर्थिक रूप से कमजोर है तो वह हमेशा दुसरे वर्गों से पिछड़ा रहेगा. सामाजिक समानता के साथ साथ आर्थिक समानता भी होनी चाहिए, जिससे राज्य का विकास सही दिशा में हो सके. इन्ही सब मुद्दों के आधार पर योगी सरकार ने राज्य के अनुसूचित जाति के तबकों को आर्थिक मजबूती देने के लिए नवीन रोजगार छतरी योजना की शुरुवात की है. योजना का लाभ कैसे और किसको मिलेगा, यह सभी जानकारी हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा देने जा रहे है.

naveen rojgar chhatri yojana up hindi

नाम

नवीन रोजगार छतरी योजना

कहाँ शुरू हुई

उत्तरप्रदेश

किसने शुरू की

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लाभार्थी

अनुसूचित जाति (बेरोजगार श्रमिक)

लाभ

आर्थिक मदद

आवेदन प्रक्रिया

ऑनलाइन/ऑफलाइन

उत्तर प्रदेश किसान फसल ऋण मोचन कर्ज माफ़ी योजना की सूचि में अपना नाम चेक करने के लिए लिंक पर जाएँ

उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना मुख्य बिंदु –

  • उद्देश्य – कोरोना काल में लाखों मजदूरों का रोजगार छीन गया है. कई मजदूर अपने कामकाज को छोड़ कर घर लौट गए है, जहाँ उनकों योग्यता के अनुसार रोजगार भी नहीं मिल रहा है. ऐसे मजदूरों को खुद का काम शुरू करने के लिए यूपी सरकार एक मौका दे रही है. ताकि वे सभी अपने पैरों में खड़े होकर परिवार का पालन पोषण कर सकें.
  • आर्थिक सहायता – योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना को विडियो कांफ्रेंस के द्वारा लांच किया, जिसमें पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के अंतर्गत लगभग तीन हजार लाभार्थी के खाते में डायरेक्ट पैसे ट्रान्सफर किये गए, ताकि वे अपना खुद का व्यापर शुरू कर सकें.
  • लक्ष्य – राज्य सरकार का लक्ष्य है कि उत्तरप्रदेश में आने वाले एक साल में सभी मजदूर/श्रमिकों की स्थिति में सुधार आये, और इस योजना से लगभग 7 लाख 50 हजार परिवार लाभान्वित हो सकें. सरकार ने संबंधित विभाग से कहा है कि हमें यह लक्ष्य समय से पूर्व पूर्ण करना है, इसलिए इस पर काम तेजी से किया जाये.
  • अभी तक लाभान्वित लोग – अभी तक इस योजना से कुल 2 लाख लोग लाभान्वित हो चुके है, अब आने वाले समय में 5 लाख से उपर लोगों को जोड़ कर लक्ष्य को पूरा करना है.
  • कुल राशी – योगी सरकार ने लाभार्थी के खाते में सीधे कुल राशी 17 करोड़ 50 लाख रूपए ट्रान्सफर किये है. योजना के तहत पूरा खर्चा उत्तरप्रदेश सरकार उठा रही है.
  • नए व्यापार कर सकते है शुरू – मुख्यमंत्री योगी जी सीधे ऑनलाइन, लाभार्थीयों से संवाद किया, जिसमें लाभार्थियों ने बताया कि वे इन पैसों के द्वारा कई तरह के बिजनेस शुरू कर सकते है जैसे किराने की दुकान, लौंड्री, टेलरिंग, चाय की दुकान, नाश्ते की होटल, नाइ की दुकान, साइबर कैफ़े, टेंट हाउस, डेयरी आदि.
  • बड़े शहरों से अपने गाँव पलायन कर चुके लोगों के पास कोई रोजगार नहीं है, सरकार उन्हें मनरेगा के तहत काम तो दे रही है लेकिन रोज की मजदूरी सिर्फ 194 रूपए है, जिस पर रोज काम मिलता भी नहीं है. ऐसे में बेरोजगारों की मजबूरी को समझते हुए सरकार ने इस तरह की स्वरोजगार योजना की शुरू की है, जिसमें श्रमिकों को स्वाबलंबी बनाना उनका मुख्य उद्देश्य है.
  • योगी जी ने बोला कि समाज में समानता होना बहुत जरुरी है, डॉ भीमराव अम्बेडकर जी ने अपने जीवन काल में हमेशा सामाजिक समानता के लिए कई बड़े प्रयास किये, ताकि सभी वर्ग के लोग एक साथ समानता से रह सकें. इन्ही बातों को लेकर योगी सरकार प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में इस तरह की योजना शुरू कर रही है.

यूपी श्रमिक भरण पोषण भत्ता योजना के तहत 1000 रूपए की आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए लिंक पर जाएँ

योगी सरकार द्वारा कोरोना काल में शुरू की गई मुख्य योजनायें –

  • योगी सरकार ने कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान श्रमिक भरण पोषण योजना की घोषणा की थी, जिसके तहत सभी गरीब, बेसहारा, श्रमिक, रोजन का कमाने वालों को हर महीने 1000 रूपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी.
  • उत्तरप्रदेश में सभी राशनकार्ड धारक को सरकार ने मुफ्त में अनाज देने की भी घोषणा की थी. लॉकडाउन के दौरान सभी गरीब लाचार लोगों को मुफ्त अनाज दिया गया, जिनके पास राशनकार्ड नहीं है उन्हें भी अनाज दिया गया ताकि कोई भी भूखा न रहे. महीने में 2 बार सरकार की तरफ से मुफ्त अनाज बांटा गया.
  • सरकार ने जनधन खाता धारक महिलाओं के खाते में लगातार तीन महीनों तक 500 रूपए की किश्त भी डाली, ताकि घर चलाने में उन्हें कुछ मदद मिल सके.

नवीन रोजगार छतरी योजना पात्रता नियम

योजना का लाभ मुख्य रूप से अनुसूचित जाति को ही दिया जायेगा, ताकि यह वर्ग आर्थिक रूप से मजबूती पा सके. और इस योजना का लाभ सिर्फ उत्तरप्रदेश के मूल निवासी को दिया जायेगा.

नवीन रोजगार छतरी योजना ऑनलाइन फॉर्म-

योगी सरकार ने योजना की घोषणा करते हुए इसके द्वारा मिलने वाले लाभ और लाभार्थी के बारे में बताया है, योजना का लाभ कैसे उठाया जा सकता है, इसकी जानकारी अभी तक नहीं आई है. हम उम्मीद करते है सकरार जल्द ही इसकी सारी जानकारी आम जनता को मुहैया कराएगी.

उत्तरप्रदेश आवास प्लस योजना में पंजीयन करवाने के लिए लिंक पर जाएँ

FAQ –

Q. उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना क्या है?

Ans. योगी सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत राज्य में दलित गरीब बेरोजगारों को अपने पैरों में खड़े करने के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी. ताकि वे अपना काम शुरू कर सकें.

Q.उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना का उद्देश्य क्या है?

Ans.मुख्यमंत्री योगी जी ने कहा है कि इसका मुख्य उद्देश्य राज्य में सामाजिक समानता के साथ-साथ आर्थिक समानता भी लाना है.

Q. उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना के मुख्य लाभार्थी कौन हैं?

Ans. योजना का लाभ उत्तर प्रदेश में रहने वाले अनुसूचित जाति समुदाय को दिया जायेगा.

Q.उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना के तहत कौन कौन से बिजनेस शुरू किये जा सकते है?

Ans.योजना के तहत मिलने वाली आर्थिक मदद से किराने की दुकान, लौंड्री, टेलरिंग, चाय की दुकान, नाश्ते की होटल, नाइ की दुकान, साइबर कैफ़े, टेंट हाउस, डेयरी आदि काम शुरू किये सकते है?

Q.उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना के तहत कितने लोगों को लाभ मिलेगा?

Ans.योजना का लाभ राज्य के लगभग 7.50 परिवारों को दिया जायेगा.

Other links – 

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *