पानी की बचत कैसे करे, निबंध, नारे उपाय, कविता | Save Water upay Poem slogans in hindi

पानी की बचत कैसे करें  जल संरक्षण के तरीके, उपाय, महत्व,कविता निबंध नारे (Save Water Essay upay, Poem slogans in hindi)

पानी बचाओ पर निबंध

पानी का महत्व

जल ही जीवन है, ये हमेशा हम सुनते है, लेकिन मानते कितना है? क्या हम जल की रक्षा जीवन की तरह करते है? क्या हम उसे भी उतनी तब्बजो देते है, जितना किसी इन्सान की जिंदगी को? इन सवाल के जबाब सबके पास ना में ही होंगे. हम सब जानते है कि पानी के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते. लेकिन फिर भी हम इसे फिजूल में खर्च कर देते है. हमारी प्रथ्वी के 70% भाग जल से डूबा हुआ है लेकिन 1-2 % ही इसमें से उपयोग करने लायक है. हमें जल को बहुत सहेज के रखने की जरुरत है, नहीं तो वह दिन दूर नहीं जब हम एक एक बूँद को तरसेंगे. पानी एक ऐसा धन है जिसे हम सहेज कर रखेंगे तभी हमारी आने वाली पीढ़ी उसे उपयोग कर पायेगी. जल है तो कल है.

पानी की बर्बादी को रोकने के लिए हम अपने घर से ही शुरुआत कर सकते है. बस थोड़ीसी समझदारी और एक उठाये हुए कदम के साथ हम अपनी आने वाली पीढ़ी को यह तोहफा दे सकते है.

पानी की बचत कैसे करे और बचाने के तरीके

  1. नल को खुला ना छोड़े – आप जब भी ब्रश करें, दाढ़ी बनायें, सिंक में बर्तन धोएं, तो जरूरत ना होने पर नल बंद रखे, बेकार का पानी ना बहायें. ऐसा करने से हम 6 लीटर हर एक min में पानी बचा सकते है. नहाते समय भी बाल्टी से पानी को व्यर्थ ना बहायें.
  2. नहाने के लिए शावर की जगह बाल्टी का उपयोग करें. अगर शावर उपयोग भी करें तो छोटे वाले लगायें, जिससे पानी की कम खपत हो. शावर का उपयोग ना करके हम 40-45 लीटर पानी हर 1 min में बचा सकते है.
  3. जहाँ कहीं भी नल लीक करे, उसे तुरंत ठीक करवाएं. नहीं तो उसके नीचे बाल्टी या कटोरा रखें और फिर उस पानी का प्रयोग करें.
  4. लो पॉवर वाली वाशिंग मशीन उपयोग करें, इससे पानी की बचत होती है एवं बिजली भी कम लगती है. वाशिंग मशीन में रोज थोड़े थोड़े कपड़े धोने की जगह इक्कठे करके धोएं.
  5. पोधों में पानी पाइप की जगह वाटर कैन से डालें, इससे बहुत कम पानी उपयोग होता है. पाइप से 1 घंटे में 1000 लीटर पानी तक पानी उपयोग हो जाता है, जो पूरी तरह से पानी का नुकसान है. हो सके तो कपड़े धोने वाले पानी को पोधों पर डालें.
  6. घर में पानी का मीटर लगवाएं. आप जितना पानी उपयोग करेंगे, उसके हिसाब से उसका बिल आएगा. बिल देते समय आपको समझ आएगा कि आपने कितना बर्बाद किया है और फिर आगे से ध्यान रखेंगे.
  7. गीजर से गर्म पानी निकालते समय उसमें पहले ठंडा पानी आता है जिसे हम फेंक देते है. ऐसा नहीं करें, ठन्डे पानी को अलग बाल्टी में भरें, फिर गर्म पानी को दूसरी में. इस पानी को आप दूसरी जगह उपयोग कर सकते है.
  8. फ्लश में भी बहुत अधिक पानी उपयोग होता है, इसलिए ऐसा फ्लश लगवाएं जिसमें पानी का फ़ोर्स कम हो.
  9. नालियां हमेशा साफ रखें, क्यूंकि जब ये चोक हो जाती है तो साफ करने के लिए बहुत पानी को बहाया जाता है. इसलिए पहले से ही साफ सफाई रखें.
  10. पेड़ पोधे लगायें जिससे अच्छी बारिश हो और नदी नाले भर जाएँ.
pani bachao save water upay essay kavita slogans nibandh in hindi

पानी को बचाने की जरुरत क्यों है

जल की रक्षा हमेशा करें, और ऐसा करने के लिए दूसरों को भी प्रेरित करें. हम करेंगे तभी हमारे छोटे भी हमसे सीखेंगे. रास्ते में कभी भी कही पर कोई नल खुला हुआ हो, तो उसे बंद करें, पाइप लाइन फूटी हो तो उसकी complaint करें. आजकल तो हमारे घर में पानी आ जाता है, पानी की कीमत वो लोग समझते है जो 4-5 km पैदल चलकर पानी भरने जाते है. 1-2 बाल्टी के लिए उन्हें घंटो लाइन में खड़े होना पड़ता है. हम उनकी मदद सीधे तौर पर तो नहीं कर सकते. लेकिन कम से कम पानी बचायें, जिससे सही हाथों तक ये पहुँच सके. आज से ही यह शुरुआत अपने घर से करे, यह एक सामाजिक जिम्मेदारी है जो हम सब को साथ मिल कर उठानी चाहिए.

==============

पानी बचाओ कविता (Save Water Hindi Poem)

माना पानी का नही हैं मोल
पर जीवन के लिए हैं ये अनमोल
साँसे जहाँ चलती हैं
वहीँ पानी से पनपती हैं
यह महज़ एक कविता नहीं
जीवन की एक सीख हैं
पानी बचाओ पानी बचाओ
वर्ना दुखदाई अंत हैं
जल की कोई सीमा नहीं
पर पिने को वो योग्य नहीं
जो जल जीवन बनाता हैं
वो हर जगह नहीं मिल पाता हैं
करो इसका मोल अभी
वर्ना पछताओगे
पानी बचालो आज सभी
वर्ना कठिन समस्या पाओगे  

===================

पानी की बचत पर नारे

पानी नहीं, तो जीवन नहीं ।

करोगे पानी की रक्षा, तो होगी जीवन की सुरक्षा ।

पानी पानी ही है जीवन सारा , पानी नहीं तो दुर्भाग्य हमारा ।

जल है तो जीवन है

प्रस्तावना :- जल ही जीवन है और इससे की हमारा जीवन चलता है पर क्या इसे कोई मानता है, नही। आज का जो समय है उस समय मे पानी की एक – एक बूूंद बचाना आवश्यक है। यह भी सत्य है ही अगर आप पानी नही बचायेंगे तो आपे वाली पीढी एक एक बूंद को तरसेगी। जितनी तेजी से धरती पर जल स्तर घट रहा है उस से तो ऐसा ही लग रहा है। शुरूआत मे जहा पृथ्वी पर काफी गहराई मे पानी था तो आज ऐसी स्थिति है की आज यहा 90 से 100 फुट पानी नीचे जा चुका है। 

पानी की बर्बादी पर रोक:- जिस प्रकार से पानी की बर्बादी होती है उससे यह सीख जरूर मिलती है ही पानी को आने वाले कल के लिए बचाना चाहिए। आज की पानी की बचत आने वाले समय के लिए जरूरत है। कई बार ऐसा देखा जाता है की खुले नाले, और खराब मशीनरी व पाईप के कारण पानी व्यर्थ जाता है जिस वजह से पानी काफी ज्यादा बर्बाद हो जाता है। आप को भी अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए और अगर आप कही पब्लिक पैलेस पर जा रहे है और वहा पर से पानी बंद करने की स्वयं की ज़िम्मेदारी समझे। बिना किसी कारण से पानी न बहाये और न ही व्यर्थ जाने दे। आप शायद इस बात से परिचित होंगे ही कई सारे पक्षी बिना पानी के अपना दम तौड देते है। 

पानी की बचत के लिए जल संरक्षण एवं संचय:- आज देखा जाये तो पानी ही जीवन का आधार है और अगर पानी को बचाना है तो इसका संरक्षण जरूरी है। पानी की उपलब्धता भी काफी तेजी से घट रही है, और महामारी भी बढ रही है। पानी को बचाना हमारी राष्ट्रीय ज़िम्मेदारी है एवं यह मुद्दा अन्टराष्ट्रिय लेवल पर भी काफी तेजी से फैल रहा है। पानी के स्त्रोतों मे कमी आ रही है। पानी को सुरक्षित रखना व इसे बचाना हमारी नैतिक ज़िम्मेदारी है। जिस प्रकार पानी के स्रोतों मे कमी आ रही है उस हिसाब से पानी को बचाना एकदम असंभव सा होता जा रहा है। पानी को बचाने के लिए भी हमे कार्य करने चाहिए, हमारी ज़िम्मेदारी को हमे समझना चाहिए। 

कृषि में पानी की बचत आज की जरुरत

कृषि पानी के बिना बिलकुल भी नही होती है। क्या आपको पता है की कृषि के लिए भी पानी काफी जरूरी होता है। पानी की बचत आज के समय के हमारी पहली प्राथमिकता हो जानी चाहिए। 

  • इसके लिए कृषि विभाग के साथ – साथ जो भी लाभार्थी है उनको इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वै आवश्यकतानुसार ही खेतों व फसलों मे पानी डाले उससे ज्यादा नही जाकि पानी की बचत की जा सके। 
  • जिन फसलों मे कम पानी की आवश्यकता हो उन फसलों को ज्यादा उगाया जाए ताकि पानी की बचत हो। 
  • अनावश्यक पानी की बर्बादी वाले फसलों को कम उगाया जाए साथ ही ऐसी फसलों को वर्षा के मौसम मे उगाया जाना चाहिए ताकि उन फसलों पर पानी की मांग कम हो। 

हमें पानी की बचत क्यों करना चाहिए

क्या आप जानते है की पानी की बचत हमें क्यों करना चाहिए ? इस प्रश्न के उत्तर के लिए सबसे पहले हमें जल के महत्व को हमें समझना होगा, पानी जीवन मे सबसे पहले जीवनदायी चीजों मे से एक है परंतु इसके अलावा ऑक्सीजन और पानी और खाना इसके बिना वह नहीं जी सकता। हमारी पृथ्वी के 71 प्रतिशत भाग पर पानी है जो की धीमे धीमे कम होता जा रहा है। इस 71 प्रतिशत पानी के भाग मे से केवल 2 प्रतिशत पानी ही पीने के लायक है। दूनिया मे लाखों लोग कई टन पानी रोजाना पी जाते है जिससे यह अनुमान लगाया जा सकता है की पानी की कमी काफी ज्यादा हो रहा है। इसके लिए यह जरूरी है ही पानी की बर्बादी को रोकना चाहिए। 

पानी का स्वच्छ होना भी पानी की आज की जरूरत है

  • गंदे व दूषित पानी से कई लोग बिमार हो रहे है जिस वजह से कई सारी बिमारिया फैल रही है इस इसलिए हमेशा पानी का बचाव करे ताकि वह सुरक्षित रहे और अच्छा रहे। 
  • आपको पता होगा ही अखबार बनाने के लिए 13 लीटर पानी का उपयोग होता है जिससे पानी काफी व्यर्थ हो जाता है। 
  • हमारे देश की स्थिति तो ऐसी है ही यहा हर 15 सैकेण्ड मे एक बच्च इस ग्रषित पानी से मर जाता है। 
  •  इसलिए दूर्षित पानी से बचने के लिए पाना का बचाव व सरक्षण जरूरी है। 

पानी की बचत आज की जरूरत

  • सबसे पहले आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए की पानी कम से कम व्यर्थ हो उसका सरंक्षण हो सके। 
  • एक अनुमान के अनुसार अगर पृथ्वी पर से थोडा थोडा पानी रोजाना बचाया जाए तो काफी पानी बच सकता है। 
  • दैनिक जीवन के उपयोग के पानी का जितना आवश्यक हो उतना ही इस्तेमाल करे ताकि पानी की बचत हो सके । 
  • नहाते समय जितना हो सके पानी का बचान करे बाल्टी भरने पर नल को बंद कर दे व आवश्यकता होने पर ही जल का उपयोग करे। 
  • नल को बंद करते समय उस टुटी को टाइट बंद करे ताकि बचा हुआ पानी व्यर्थ न हो
  • पेड पौधो को काटने से रोके ताकि पर्यावरण के नियमों के अनुसार वर्षा का पानी हमे मिल सके। 

पानी हमारे जीवन की जरूरत है उसे हमेशा बचाना चाहिए और जितना हो सके उसका सरक्षण करना चाहिए। आज के पानी की बचत कल की कमाई हो सकती है।  जिस प्रकार से पानी की बर्बादी होती है उससे यह सीख जरूर मिलती है ही पानी को आने वाले कल के लिए बचाना चाहिए। आज की पानी की बचत आने वाले समय के लिए जरूरत है। कई बार ऐसा देखा जाता है की खुले नाले, और खराब मशीनरी व पाईप के कारण पानी व्यर्थ जाता है जिस वजह से पानी काफी ज्यादा बर्बाद हो जाता है। उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा। 

FAQ

प्रश्न 1 – जल का सरंक्षण कैसे करे ?

उत्तर – जल का सरंक्षण करने के जितना आवश्यकता हो उतना ही जल का इस्तेमाल करे ताकि जल की ज्यादा से ज्यादा बचत हो सके।

प्रश्न 2 – जल के बचाव के उपाय क्या है ?

उत्तर – जन को बचाने के लिए वैसे तो कई उपाय है परन्तु आप आसान भाषा मे समझे तो इसके लिए आप जब भी किसी पब्लिक पैलेस पर जाते है और वहा पानी को व्यर्थ होता देखते है उसे बंद करना लेना चाहिए।

प्रश्न 3 – पृथ्वी पर कितना जल विद्यमान है ?

उत्तर – पृथ्वी पर 71 प्रतिशत जल विद्यमान है जिसमे से 2 प्रतिशत पीने योग्य है।

प्रश्न 4 – पानी का कृषि क्षेत्र मे उपयोग ?

उत्तर – कृषि क्षेत्र मे पानी की काफी ज्यादा जरूरत होती है, इस मे अगर आप जल बचाना चाहते है तो उस फसल को ज्यादा महत्व दे जो कम पानी मे भी फल फूल सकती है।

प्रश्न 5 – पानी का बचाव क्या जरूरी है ?

उत्तर – जिस तेजी से पानी दूनिया से खत्म हो रहा है उस स्थिति मे पानी का आज बचाव करना जरूरी है ताकि आने वाले कल के लिए पानी बचाया जा सके।

अन्य पढ़े:

Karnika
कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं | यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

More on Deepawali

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here