Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

सपनों का शहर पेरिस के दार्शनिक स्थल | Paris Tourist Visiting Places In Hindi

Paris visiting places (tourist attractions) in hindi अगर आपको दुनिया की 10 जगहों के नाम पूछे जाएं, जहां आप घूमने का सपना देखते हैं तो पेरिस उनमें से ज़रूर एक होगा. ये हम नहीं यह फोर्ब्‍स कहता है. फोर्ब्‍स ने दुनिया के दस सबसे बेहतरीन घूमने लायक शहरों में पेरिस को तीसरा स्‍थान दिया है. हरेक प्रेमी जोडा चाहता है कि जिंदगी में एक बार वह एफिल टावर के नीचे कुछ खुशगवार पल बताएं. एक ऐसा शहर जो पूरी दुनिया के कला प्रेमियों को रोमांचित करता है. जहां आकर दुनिया का हरेक कलाकार खुद को पूरा महसूस करता है. अगर आप पेरिस जाना चाहते हैं तो इन जगहों पर ज़रूर जाएं क्योंकि इन जगहों को देखे बिना आपका फ्रांस की इस राजधानी पेरिस का दर्शन अधूरा ही रहने वाला है-

pairis

सपनों का शहर – पेरिस  के दार्शनिक स्थल

Paris Tourist Visiting Places In Hindi

एफिल टावर (Eiffel Tower) –

आइफल टावर या एफिल टावर आप इसे जो भी कहना पसंद करते हैं, इस शहर और इस यूरोपीय मुल्क की पहचान है. इसके बिना तो पेरिस की कल्‍पना करना ही असंभव हो जाएगा. इस ऐतिहा‍सिक टावर को फ्रेंच क्रांति के 100 साल पूरा होने की खुशी में मनाए जाने वाले जश्न के लिए बनाया गया था. उस वक्‍त कोई नहीं जानता था कि स्‍टील की बने इस बूर्ज को दुनिया इतना ज्‍यादा पसंद करने वाली है.

जब इसे बनाया गया था तो इसे पेरिस की खूबसूरती पर धब्‍बा कह कर कई लोगों ने इसका विरोध किया था. इसके डिज़ाइनर गुस्‍ताव एफिल के नाम पर इसे नाम दिया गया है- एफिल टावर. 1889 में बने 324 मीटर ऊँचे इस ढांचे को सबसे ज्‍यादा देखे जाने वाले स्‍मारकों में रखा गया है. इसे बनाने का काम 28 जनवरी 1887 को शुरू किया गया था. इस स्‍मारक को हर साल 7 मिलियन से ज्‍यादा लोग देखने आते हैं. पेरिस के कैंप दी मार्स इलाके में स्थित यह टावर पिटवां लोहे से बना हुआ है. 7300 टन लोहे से बने एफिल टावर को निर्माण के 20 साल बाद ही गिराने की योजना बनाई गई थी, लेकिन यह इतना पसंद किया गया कि आखिर में इसे पेरिस के स्‍थाई इमारत का दर्जा मिल गया. आप इस इमारत को सूर्यास्‍त के बाद जरूर देखने जाए क्‍योंकि इसमें बीस हजार बल्‍ब लगाए गए हैं और हरेक घंटे में 5 मिनट के लिए इन्‍हें जलाया जाता है, तो इस इमारत की खूबसूरती देखते ही बनती है. भविष्‍य में इस इमारत को हरियाली से ढक देने की योजना है ताकि ये एक विशाल पेड़ जैसा दिखाई दे.

eiffel-tower

नोट्रेडम कैथेड्रल  या नोत्र देम दे पॅरिस (Notre Dame Cathedral) –

पेरिस का दूसरा बड़ा आकर्षण नोट्रेडम कैथेड्रल या नोत्र देम दे पेरिस मध्‍यकाल का बना हुआ एक पारंपरिक कैथलिक कैथेड्रल है. इसका निर्माण 1163 ईस्‍वी के आस-पास शुरू होकर 1345 में पूरा हुआ था. फ्रेंच गोथिक आर्किटेक्‍ट का यह नायाब नमूना 69 मीटर ऊंचा है. इसके टावर तक पहुंचने के लिए सैलानियों को 387 सीढिया चढ़नी पड़ती है. जहां से पूरे पेरिस का विहंगम नजारा दिखाई  देता है. इस कैथेड्रल में नेपोलियन बोनापार्ट का राज्‍याभिषेक किया गया था. यह चर्च अपने विशाल घंटों के लिए भी प्रसिद्ध है. यहां लगा हुआ इमैन्‍यूल नाम का घंटा तो तेरह टन से भी ज्‍यादा वजन का है.

लौव्रे या लुव्र संग्रहालय  (Louvre Museum) –

संग्रहालय तो आपने बहुत से देखे है लेकिन लुव्र की बात ही निराली है. दुनिया के इस सबसे बड़े संग्रहालय का दर्जा रखने वाला यह म्‍यूजियम आपको अचंभित कर देगा. इस म्‍यूजियम को देखने के लिए दुनिया भर से सैलानी आते हैं. यह एक और रिकॉर्ड अपने नाम रखता है कि यह दुनिया का सबसे ज्‍यादा देखा जाने वाला संग्रहालय है. पेरिस में यह सीन नदी के दाहिने किनारे पर स्थित है. संग्रहालय बनने से पहले यह फ्रांस के शाही परिवार का महल हुआ करता था. 2 लाख 10 हजार स्‍केवयर मीटर क्षेत्र में फैले इस विशाल संग्रहालय में 60 हजार 600 दीर्घाएं हैं. इसे एक या दो दिन में पूरा देख पाना असंभव है. दरअसल यह शाही महल होने के साथ ही एक किला भी है जिसे हेनरी द्वितीय की देख रेख 12वीं शताब्‍दी में बनवाया गया था. किले के अवशेष आज भी महल के तहखानों में देखे जा सकते हैं. लियानार्डो ड विंसी की दुनिया भर में मशहूर कृति मोनालिसा आपको यहीं देखने को मिलेगी. अगर आप इस पूरे म्‍यूजियम को देखना चाहते हैं तो आपको पे‍रिस में महीनों बिताने होंगे. यह म्‍यूजिमय के आठ खण्‍ड हैं:

  • मिस्र के पुरावशेष
  • शाही पुरावशेष
  • ग्रीक, इट्रस्केन और रोमन दीर्घा
  • इस्लामी कला
  • मध्य युग की मूर्तियां, नवजागरण और आधुनिक समय से सम्‍बन्धित दीर्घा
  • कलात्‍म्‍ाक वस्तु
  • चित्र
  • ललित कला

डिज्‍नीलैंड (Disneyland Paris) –

अगर आप पूरे परिवार के साथ पेरिस की यात्रा पर हैं और एफिल टावर पर रोमांटिक फोटोग्राफी और लुव्र के ऐतिहासिक भ्रमण से आपके बच्‍चे उकता चुके हैं तो उनको खुश करने के लिए पेरिस के डिज्‍नीलैण्‍ड ले जाया जा सकता है. 5 भागों में बंटा हुआ यह थीम पार्क आपके बच्‍चो का मन खुश कर देगा. और कहीं आपके अंदर का बच्‍चा अभी बाकि है तो आपके लिए भी यहां ढेरों आकर्षण हैं. 4800 एकड़ में फैले हुए इस पार्क को वॉल्‍ट डिज्‍नी कंपनी ने 1992 में शुरू किया था. पहले पहल यह स्‍थानीय जरूरतों को ध्‍यान में रखकर बनाया गया था, लेकिन सैलानियों की बढ़ती दिलचस्‍पी को ध्‍यान में रखते हुए इसका विकास किया गया. ढेर सारे अलग-अलग तरीके के झूले, राइड्स, लेजर शो और कार्टून कैरेक्‍टर्स की परेड आपके बच्‍चों के लिए एकदम नया अनुभव साबित होंगे. इस थीम पार्क के पांच हिस्‍से हैं-

  • फैंटसी लैण्‍ड
  • एडवेंचर लैण्‍ड
  • मेन स्ट्रीट यू एस ए
  • फ्रंटियर लैण्‍ड
  • डिस्कवरी लैण्‍ड

इसके अलावा आपको यहां डिज्‍नी के लोकप्रिय पात्रों जैसे एलिस इन वंडरलैण्‍ड, पीटर पैन, स्‍नोवाइट एंड सेवन ड्राॅफ्स थीम पर बने झूले और वॉल्‍ट डिज्‍नी स्‍टूडियोज के भी दीदार होंगे.  

 आर्क ऑफ ट्रायम्फ (Arch of Triumph Paris) –

दिल्‍ली में जैसे इंडिया गेट है न, ठीक वैसे ही पेरिस में आर्क ऑफ ट्रायम्‍फ वॉर मेमोरियल है. आर्क ऑफ ट्रायम्‍फ को फ्रांस की क्रांति और फ्रांस के युद्धों में मारे गए सैनिकों की याद में बनाया गया है. इनमें से कुछ वीर सिपाहियों के नाम इस स्‍मारक पर उकेरे भी गए हैं. इसका डिजाइन ज्‍यां कैलग्रीन ने तैयार किया था और यह 1806 में बनकर तैयार हुआ था. इसके साथ एक और दिलचस्‍प बात जुड़ी हुई है कि जिस स्‍थान पर इसे तैयार किया गया, उस जगह पहले से एक अनजान सैनिक का मकबरा था जिसने पहले विश्व‍ युद्ध में देश के लिए लड़ते हुए अपनी जान गंवाई थी.

सेंट चैपल गिरजाघर  (Sainte Chapelle Church Paris) –

अगर आप पेरिस जाएंगे तो यहां के चर्च आपके लिए हमारे आकर्षण का विषय रहने वाले हैं. इन्‍हीं आकर्षक चर्चों में प्रमुख है सेंट चैपल गिरजाघर. इस मध्य‍ युगीन चर्च का निर्माण 13वी सदी में किया गया था. फ्रांस के दूसरे अन्‍य चर्चों की तरह ही इसकी निर्माण शैली भी गोथिक ही है. सेंट चैपल अपने छत पर किए गए स्‍टेन ग्‍लास पेंटिंग के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है.

लेस इनवेलिड्स  (Les Invalides) –

अपने अजीब नाम के साथ यह पर्यटन स्‍थल कुछ बेहतरीन अजूबे अपने अंदर समेटे हुए है. जिन लोगों को सैना और युद्ध में रूचि है. उन्‍हें एक बार ज़रूर इस जगह आना चाहिए. इमारतों का यह समूह अपने अंदर फ्रांस के सैनिक इतिहास को समेटे हुए है. दूसरे शब्‍दों में कहे तो यह फ्रांस का युद्ध संग्रहालय है. 17 वीं सदी में बनी इस इमारत का निर्माण लुई 14वें ने एक अस्‍पताल और आश्रय स्‍थल के तौर पर करवाया था. जहां घायल सैनिकों का इलाज किया जाता था और मृत सैनिकों के परिवारों को आश्रय मिलता था. यहां कई फौजियों की कब्र को भी देखा जा सकता है.

कॉनकॉर्ड स्‍कावयर (Concorde Square Paris) –

इतिहास पेरिस को हमेशा उसकी राज्‍य क्रांति के लिए याद रखेगा. ऐसी क्रांति जिसकी रोशनी में आज लगभग पूरी दुनिया में लोकतंत्र अपनी जड़े जमा चुका है. वह क्रांति जिसने फ्रांस में राजशाही का अंत किया और लोकतंत्र का बीज बोया. पेरिस में स्थित कॉनकॉर्ड स्‍कावयर ही वह जगह है जहां लुई सोलहवें के परिवार को सजा दी गई थी. यहां लोग उस आजादी को महसूस करने आते है जिसने पहल-पहल यहां जन्‍म लिया था.

अन्‍य पर्य‍टकीय स्‍थल

 पेरिस की बात करें तो इसकी हर गली, हर कोना और हरेक दुकान इतिहास और पर्यटन के किसी किताब की तरह है. आप इसे जितना पढ़ते हैं, उतना ही डूबते चले जाते हैं. यहां घूमने लायक अन्‍य महत्‍वपूर्ण जगह है –

  • कॉन्सिएगेरिए (Conciergerie),
  • ओपेरा नेशनल द पेरिस (Opera National de Paris)
  • पैन्थियोन (Pantheon) शामिल है.

अन्य पढ़ें –

Ankita

अंकिता दीपावली की डिजाईन, डेवलपमेंट और आर्टिकल के सर्च इंजन की विशेषग्य है| ये इस साईट की एडमिन है| इनको वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ और कभी कभी आर्टिकल लिखना पसंद है|
Ankita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *