ताज़ा खबर

व्यक्तिगत ऋण के लिए ब्याज दर ईएमआई सेवा कर योग्यता दस्तावेज और फ़ायदे | Personal Loan interest rates EMI calculator charge eligibility benefits in hindi

Personal Loan interest rates, EMI calculator, service charge, eligibility, documents and benefits in hindi अपनी व्यक्तिगत या व्यावसायिक जरूरतों की पूर्ति के लिये लिया गया ऋण ही व्यक्तिगत ऋण या पर्सनल लोन कहा जाता है. जरूरते कोई भी हो सकती है जैसे कि बीमारी में इलाज के लिए लिया गया मेडिकल लोन, विदेश यात्रा के लिए लिया गया ऋण, बच्चों की शिक्षा के लिए लिया गया ऋण, बच्चो के विवाह के लिए लिया गया ऋण, घरेलू सामान जैसे कि कंप्यूटर, फ्रिज, एयर कंडीशनर की खरीद के लिए लिया गया ऋण या इसी तरह के विविध खर्चो के लिए लिया गया ऋण ये सभी व्यक्तिगत ऋण की सूचि में आते है. इस तरह के ऋण असुरक्षित होते है, इसको सिग्लेचर लोन्स भी कहा जाता है. इस तरह के ऋण उधारकर्ता की सम्पत्ति या उसके व्यक्तिगत आय को देखते हुए बैंक ऋण को निर्गत करता है. इसमें उधारकर्ता के पुरे क्रेडिट इतिहास को देखा जाता है जिसमे यह देखा जाता है कि वह लिए गए ऋण का भुगतान भविष्य में कर सकता है या नहीं. व्यक्तिगत ऋण का भुगतान उधारकर्ता को एक निश्चित अवधि के दौरान करना होता है. उधारकर्ता अपने लिए गए कर को किस्तों में बैंक को भुगतान करता है. इस तरह के ऋण को उपभोगता ऋण भी कहा जाता है आमतौर पर इस तरह का ऋण मिलना आसान होता है.

personal-loan

व्यक्तिगत ऋण और उसके लिए ब्याज दर, ईएमआई, सेवा कर, योग्यता, दस्तावेज और फ़ायदे

Personal Loan interest rates, EMI calculator, service charge, eligibility, documents and benefits in hindi

व्यक्तिगत ऋण सरकारी या गैर सरकारी किसी भी व्यक्ति को मिल सकता है. वर्तमान में बैंको की बाढ़ सी है, सभी बैंक अपने अपने तरीके से ग्राहकों को अपनी तरफ से आकर्षित करने का काम करते है. लेकिन स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया की गरिमा अभी भी बनी हुई है जब भी व्यक्तिगत ऋण की जरुरत पड़ती है. लोग इसकी तरफ ज्यादा आकर्षित होते है वैसे सारे बैकों की ऋण देनी की प्रक्रिया मिलती जुलती हुई ही रहती है. लेकिन यहाँ हम एसबीआई के ऋण ब्याज दर या उससे सम्बंधित योग्यता का अवलोकन करेंगे.          

व्यक्तिगत ऋण पर ब्याज दर (Personal Loan interest rates)

जो भी राशि आप कर्ज के रूप में लेते है उस कर्ज की राशि के अनुसार और उसको चुकता करने के समय के अनुसार ब्याज की दर बैंक के द्वारा बताई या लगाई जाती है. भारत में बैंको का जल बिछा हुआ है, ब्याज की दर प्रत्येक बैंक की अलग अलग होती है और यह समय के साथ बदलती भी रहती है साथ ही सबकी ब्याज की दरें भी अलग अलग होती है. जिसको नीचे की तालिका में दर्शाया गया है-

बैंक अवधि ब्याज दर राशि
एचडीएफसी 1 से 5 साल 11.49 से 19.8%   अधिकतम 25 लाख
आईसीआईसी 1 से 5 साल 11.59% से 18.49%  अधिकतम 20 लाख
एसबीआई 4 साल 11.95% से 16.55%  15 लाख

एसबीआई के द्वारा व्यक्तिगत ऋण पर ब्याज की दर का ब्यौरा (Personal Loan interest rates SBI)

इस बैंक से ऋण लेने पर गारंटर की आश्यकता नहीं पड़ती है, ऋण का कार्यकाल 5 साल तक का हो सकता है. ब्याज की दरें 12.90% से 14.90% तक हो सकती है, ऋण को कार्यान्वित करने में लगा चार्ज, जो भी राशि ऋण के रूप में ली गयी है उसका 1% राशि साथ ही जो भी सेवा कर लगेगा उसकी राशि.      

व्यक्तिगत ऋण पर ईएमआई की गणना (Personal Loan EMI calculator)  

ईएमआई उसे कहते है जब आप किसी बैंक या कंपनी से जो कर्ज लेते है, उसके बदले आप को कुछ पैसे हर महीने क़िस्त के रूप में बैंक या उस कंपनी को चुकाने होते है, जब तक कि आप के द्वारा ली गई ऋण की राशि पूरी नहीं हो जाती है.

बैंक के द्वारा जो पूरी राशि कर्ज की होती है, उस पर कुछ मात्रा में ब्याज भी लगा होता है जोकि हर महीने देना होता है. इस ब्याज को लेने के लिए बैंक, जो मूल राशि है उस पर प्रतिशत के आधार पर ब्याज दर लगात है. यह ऋण जब भी आप चुकाते है आपकी राशि से मूलधन के साथ ब्याज की राशि भी कटती जाती है. इस तरह से धीरे धीरे ऋण की राशि भी कम होती जाती है इस वजह से ब्याज की दर भी कम होती जाती है लेकिन ईएमआई प्रत्येक माह समान ही रहती है.

ईएमआई का भुगतान शुरुआत में बड़ी राशि से करना पड़ता है, धीरे धीरे यह राशि कम होती जाती है. ईएमआई की गणना को समझने के लिए एक सूत्र है-  

                   E = P. r. (1+r)^n / ((1+r)^n – 1)    

यहाँ पर E ईएमआई को दर्शाता है, P जो मूलधन है उसको दर्शाता है तथा r ब्याज की दर जो की महीने के आधार पर निर्धारित होती है, और n का अर्थ समय होता है. दर के लिए भी एक सूत्र है-

                     दर = वार्षिक ब्याज दर/12/100

व्यक्तिगत ऋण लेने की योग्यता (Personal Loan eligibility)

व्यक्तिगत ऋण देने के लिए भी प्रत्येक बैंक अपना अपना मानदंड रखे हुए है जिनमे से कुछ बैंक द्वारा जो व्यक्तिगत ऋण लेने की योग्यता है है उसका वर्णन निम्न है-

  • एसबीआई व्यक्तिगत ऋण की योगता : इस तरह के ऋण की योग्यता आपके आय और आपके द्वारा ऋण चुकाने की क्षमता पर निर्भर करती है. यदि आप भारतीय नागरिक है और अगर आप 2.50 लाख का ऋण लेते है तो आपको इस पर प्रोसेसिंग चार्ज 1% देना होगा. यदि आप दिल्ली, बैंगलोर, मुम्बई, अहमदाबाद, चेन्नई, कोलकाता जैसे महानगर में वेतनभोगी और अपना रोजगार करने वाले व्यावसायिक है, तो आप 5 लाख रूपये तक का व्यक्तिगत ऋण ले सकते हो. लेकिन अगर आप पेंशनधारी है तो 76 साल से ज्यादा के उम्र पर व्यक्तिगत ऋण नहीं ले सकते है.
  • एचडीएफसी बैंक से व्यक्तिगत ऋण लेने की योग्यता : आपकी उम्र कम से कम 21 वर्ष हो और अधिक से अधिक 60 साल की होनी चाहिए. अगर आप वेतनधारी है तो 2 साल का कार्य अनुभव के साथ ही वर्तमान में एक साल तक का कार्य पर. आपकी आय 12000 से 15000 तक होनी चाहिए अगर आप मेट्रो शहर में रहते है.                  

व्यक्तिगत ऋण पर सेवा कर (Personal Loan service charges)

2006 के सेवा कर या मूल्य निर्धारण नियम के अनुसार व्यक्तिगत रूप से लिये गये ऋण पर कोई भी सेवा कर नहीं लगेगा. किसी बैंक के माध्यम से ऋण लेने पर अगर दुसरे बैंक से क्रेडिट कार्ड के जरिये अगर आप भुगतान करते है तो इस तरह की सुविधा सेवा कर के अंतर्गत आती है जो की कुछ बैंको के द्वारा वसूली जाती है.   

व्यक्तिगत ऋण लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज (Personal Loan required documents)

व्यक्तिगत लोन को लेने के लिए आपके पास कुछ आवश्यक दस्तावेज होने जरुरी है. इन्ही दस्तावेजों के आधार पर बैंक में आप ऋण के लिए आवेदन कर सकते है. बैंक उधारकर्ता की पहचान इन्ही दस्तावेजों के आधार पर करता है. ये दस्तावेज निम्नवत है –

  • आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राविंग लाईसेंस, पासपोर्ट ये दस्तावेज आपके पहचान को प्रदर्शित करते है.
  • एक बैंक अकाउंट जिसमे 3 महीने का स्टेटमेंट हो या 6 महीने का बैंक पासबुक आपके पास होना चाहिए
  • ऋण के आवेदन फॉर्म पर आपके हस्ताक्षर के साथ ही आपके पासपोर्ट आकार के फोटोग्राफ भी होने चाहिए
  • जो भी व्यक्ति गैर सरकारी है या व्यावसायिक है या अपना रोजगार शुरू करने के लिए ऋण लेना चाहते है उनके लिए जरुरी दस्तावेजों में शामिल है-
  1. नवीनतम या वर्तमान का बैंक स्टेटमेंट
  2. नवीनतम आईटीआर या फॉर्म 16
  • इसके साथ ही जो व्यक्ति गैर सरकारी या सरकारी किसी भी क्षेत्र के वेतनभोगी है उनके लिए आवश्यक दस्तावेज निम्न है-
  1. वर्तमान में या नवीनतम जो भी उनके पास वेतन की रसीद या स्लीप हो.
  2. हाल की तारीख से जारी वेतन का सर्टिफिकेट के साथ ही नवीनतम फॉर्म 16 को भरने का तरीका यहाँ पढ़ें.

व्यक्तिगत ऋण लेने पर फायदा (Personal Loan benefits)

व्यक्तिगत ऋण लेने का सबसे बड़ा फ़ायदा इन विवरणों के माध्यम से दर्शाया गया है-

  • व्यक्तिगत ऋण पर ब्याज की दर, ऋण दर की अपेक्षा कम होती है. वैसे यह आपके द्वारा लिए गए ऋण की राशि पर भी निर्भर करता है.
  • व्यक्तिगत लोने का फायदा यह है की इनको प्राप्त करना आसान होता है. इस ऋण को पाने के लिए किसी एजेंट की आवश्यकता नहीं पड़ती है, जिस वजह से आप ऋण लेने की अनावश्यक देरी और खर्च से बच जाते है. आप इस तरह के ऋण के लिए सीधे बैंक से संपर्क कर सकते है.
  • व्यक्तिगत ऋण लेने के लिए आपको किसी भी तरह का कारण बताना जरुरी नहीं है. आप अपनी बचत की हुई राशि को किसी भी काम के लिए इस्तेमाल कर सकते है.
  • व्यक्तिगत ऋण लेने के लिए किसी भी तरह प्रमाण को देने की जरुरत नहीं पड़ती है जिस वजह से आप बहुत सारे कागजी प्रक्रिया, जोकि सम्पति का ब्योरा वैगरह होता है उससे बच जाते है.
  • जो भी राशि आप लेते है उसके लिए बैंक के द्वारा एक विकल्प ईएमआई का होता है जो की हमे ऋण के भुगतान में सहायता करता है.

अन्य पढ़ें –

Vibhuti
Follow me

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *