PM Awas Yojana: खरीदना चाहते हैं सस्ता घर, तो सरकार दे रही है मौका, बस चाहिए होंगे यह जरूरी डाक्यूमेंट्स

कोरोना वायरस लॉक डाउन के कारण देस की अर्थ व्यवस्था पर काफी गहरा असर हुआ हैं इस कारन बहुत से सेक्टर में काम रुक गए हैं ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा बहुत से कदम उठाये गए हैं जिन में से एक हैं पीएम आवास योजना शहरी जिसे क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम कहा जाता हैं कि अंतिम तिथि बढाकर 31 मार्च 2021 कर दी गई हैं इस तरह अब योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोग उठा सकेंगे . इस आर्टिकल के माध्यम से हम जानेगे कि प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी अर्थात क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम के अंतर्गत कौन से लोग शामिल हो सकते हैं और किस तरह के दस्तावेज का उपयोग करके वह आसानी से इस योजना के अंतर्गत दाखिल हो सकते हैं .

अगर आप प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में विस्तृत जानकारी जानना चाहते हैं तो दी गई लिंक पर क्लिक करें

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंतर्गत 4 कैटगरी आती है जो कि निम्नानुसार है

  1. पहली कैटेगरी जिसे ईडब्ल्यूएस और एलआईजी कहा जाता है, इस कैटेगरी के अंतर्गत वे लोग शामिल होते हैं जिनकी सालाना आय 3 से 600000 के बीच होती हैं .
  2. दूसरी कैटेगरी में आते हैं MIG1 इस कैटेगरी के अंतर्गत वे लोग शामिल होते हैं जिनकी सालाना आय 6 से 1200000 होती हैं .
  3. तीसरी कैटेगरी होती है MIG-2 इसके अंतर्गत वे परिवार शामिल होते हैं जिनकी सालाना आय 12 से 18 लाख होती है.

इन सभी कैटेगरी के अनुसार ही सरकार द्वारा इन्हें लिए गए आवास लोन पर सब्सिडी दी जाती है और यह सब्सिडी अधिकतम 2.67 लाख रुपए की हो सकती है..

नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा शुरू की योजना की सूची जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

अब हम जानते हैं कि अगर कोई इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है तो उसे किस तरह के दस्तावेज लगेंगे

जो लोग सैलरीड हैं उन्हें निम्न प्रकार के दस्तावेज

  1. आईडी के रूप में – पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड , पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस एवं  जहां पर वह कार्य कर रहे हैं उसकी तरफ से बनाया हुआ लेटर ,
  2. इन लोगों को एड्रेस प्रूफ भी लगाना अनिवार्य होगा जिसके अंतर्गत वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट, जीवन बीमा पॉलिसी प्रेसिडेंट एड्रेस सर्टिफिकेट, बैंक पास बुक आदि जमा करवाई जा सकती .
  3. साथ ही लोन प्राप्त करने के लिए इनकम प्रूफ देना भी अनिवार्य है जिसके लिए पिछले 6 माह का बैंक स्टेटमेंट, आइटीआर की रसीद एवं पिछले 2 महीने की सैलरी स्लिप लगाना जरूरी हैं.
  4. सैलरी के अलावा प्रॉपर्टी प्रूफ देना भी जरूरी है जिसके लिए सेल्स डेट पेमेंट रसीद अगर कोई जमीन खरीदी एवं बेची गई है तो उसका एग्रीमेंट प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट

मोदी जी का आत्मनिर्भर भारत अभियान- करना है चाइनीस प्रोडक्ट का बहिष्कार, जानिए पूरी प्रक्रिया क्लिक करे .

जो लोग सैलरीड नहीं है उन्हें कौन से दस्तावेज लगाने होंगे

  1. आईडी प्रूफ के तौर पर उन्हें भी पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस फोटो आईडी कार्ड आदि लगाना जरूरी होगा .साथ ही एड्रेस प्रूफ के लिए भी वही चीजें देनी होंगी जो कि ऊपर सैलरीड के लिए लिखी गई है .
  2. इनकम सर्टिफिकेट के तौर पर इन्हें भी अपने पिछले 2 साल का इनकम टैक्स रिटर्न बैलेंस शीट पिछले छह माह के बैंक अकाउंट स्टेटमेंट जमा करवाना अनिवार्य होगा .
  3. दुकान फॉर्म कंपनी के मालिक होने के सबूत देने होंगे जिसके लिए ट्रेड लाइसेंस सर्टिफिकेट पैन कार्ड सेल्स टैक्स, वेट टैक्स, पार्टनरशिप डीड, एक्सपोर्ट इंपोर्ट कोड सर्टिफिकेट आदि दस्तावेज लगाना जरूरी होगा .
  4. इन्हें भी प्रॉपर्टी प्रूफ देना अनिवार्य होगा जिसके लिए प्रॉपर्टी डॉक्युमेंट्स, एग्रीमेंट की कॉपी, पेमेंट की रसीद आदि जमा कराना जरूरी होगा .

Other links –

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं
Karnika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *