पीएम आवास योजना : घर खरीदने से पहले समझ ले क्या होता है EWS, LIG और MIG, पूरा लाभ चाहते है तो ऐसे करे आवेदन

प्रधानमंत्री द्वारा लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करके उनके लिए एक घर बनाने की योजना लांच की जा चुकी है जिसे प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम से जाना जाता है। इस योजना के अंतर्गत जो लोग घर बनाना चाहते हैं उनके लिए सरकार होम लोन पर 2.67 लाख रुपए की सब्सिडी प्रदान करती है। सरकार द्वारा चलाई गई इस योजना का लक्ष्य हर परिवार के पास अपना घर हो बस यही है। अब तक करोड़ों लोग इस योजना का लाभ उठा चुके हैं। हालांकि पीएम आवास योजना को लेकर लोगों के मन में कई प्रकार के सवाल उत्पन्न होते हैं। महत्वपूर्ण जानकारी के अभाव में कुछ लोग इस योजना का फायदा नहीं ले पा रहे हैं।

pm-awas-yojana-ews-lig-mig-kya-hai-hindi

पीएम आवास योजना को लेकर अक्सर लोगों के मन में इस योजना में लाभ प्रदान की जाने वाली तीन कैटेगरी  ईडब्ल्यूएस, एलआईजी और एमआईजी को लेकर सवाल बने रहते हैं कि यह सब कैटेगरी क्या है और वह खुद किस कैटेगरी में शामिल होते हैं। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले यह जानना बेहद जरूरी है कि यह तीनों कैटेगरी आखिर है क्या?

MIG क्या है : प्रधानमंत्री आवास योजना में शहरी लोगों को लाभ कैसे मिलेगा, जाने यहाँ

EWS, LIG and MIG कैटेगरी क्या है –

  • ईडब्ल्यूएस कैटेगरी को विस्तार पूर्वक आर्थिक कमजोर वर्ग के रूप में जाना जाता है.
  • वही एल आई जी को निम्न आय वर्ग के नाम से जाना जाता है और
  • एमआईजी में मध्यम आय वर्ग के लोग शामिल किए जाते हैं। यह सभी शब्द गरीब लोगों की आय की स्थिति को दर्शाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना कैटेगरी

  • जिन लोगों की सालाना आय 3 लाख तक है उन्हें ईडब्ल्यूएस कैटेगरी में शामिल किया जाता है।
  • वहीं दूसरी तरफ जिन लोगों की आए तीन लाख से अधिक और 6 लाख रुपए सालाना से कम है तो वे सभी परिवार एलआईजी कैटेगरी में शामिल होते हैं।
  • इन सबके अलावा जिन परिवारों की सालाना आय 6 लाख से अधिक और 18 लाख से कम है उन सभी परिवारों को एमआईजी कैटेगरी में शामिल किया जाता है।

प्रधानमंत्री आवास योजना सब्सिडीघर खरीदने में मिलेगी 2.67 लाख की राहत यहाँ जानिये योजना की जानकारी

प्रधानमंत्री आवास योजना पात्रता शर्त –

पीएम आवास योजना के तहत एक परिवार को केवल एक ही होम लोन पर सब्सिडी की प्राप्ति हो सकती है। उस परिवार में आने वाले सभी सदस्य जैसे माता पिता, बेटे बहू, बेटी दामाद किसी भी एक नाम पर ही उन्हें सब्सिडी की प्राप्ति हो सकती है। सरकार ने विवाहित जोड़े पर यह छूट भी दी है कि वे इस योजना के तहत जो मकान खरीद रहे हैं या तो उस मकान का मालिकाना हक दोनों के नाम पर रखें या पति या पत्नी में से किसी एक के नाम पर मालिकाना हक होना चाहिए। इस योजना में यदि पति या पत्नी किसी के भी नाम पर होम लोन जारी कर दिया गया है और वे सब्सिडी प्राप्त कर चुके हैं तो उसके परिवार के बेटा, बेटी या कोई भी बहू इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं कर पाएंगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना उद्देश्य –

योजना के तहत सरकार का मुख्य उद्देश्य 2 करोड़ घर 31 मार्च 2022 तक बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना का मुख्य लाभ सरकार उन लोगों को प्रदान करना चाहती है जो पहली बार घर खरीद रहे हैं तो उन्हें इस योजना के नियमों के अनुसार होम लोन पर ब्याज सब्सिडी का लाभ मिलेगा। योजना के अनुसार सब्सिडी की रकम की वजह से लोन की रकम काफी हद तक कम हो जाती है और इस प्रकार होम लोन लेकर घर खरीदने वाले परिवारों पर अधिक बोझ नहीं पड़ता है।

प्रधानमंत्री आवास योजना लाभार्थी सूची – आवास योजना सूची जारी, आधार नंबर से खोजे अपना नाम

प्रधानमंत्री आवास योजना टाइप्स –

सरकार ने योजना की घोषणा के समय में ही इसे दो भागों में बाँट दिया था.

  • प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण
  • प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी

सरकार ने योजना को दो भागों में इसलिए रखा है कि दोनों क्षेत्रों में योजना का काम अलग-अलग और सुचारू रूप से चल सके. योजना के दोनों हिस्सों की पात्रता अलग है. शहर में रहने वालों को योजना का आवेदन शहर में ही करना होगा, ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले इसका आवेदन वही रह कर कर सकते है और उन्हें लाभ भी वही मिलेगा. अभी तक इस योजना से 2 करोड़ के उपर लाभान्वित हो चुके है, सरकार का उद्देश्य है कि 2022 तक देश में सभी के पास खुद का पक्का घर हो और देश में एक भी कच्चा झुग्गी-झोपडी वाले घर न हो.

अन्य पढ़ें –

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *