प्रधानमंत्री आवास योजना : सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन, आवास योजना के पैसे का दुरुपयोग किया तो चुकानी होगी बड़ी कीमत

2015 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा लांच की गई प्रधानमंत्री आवास योजना देश के बेघर लोगों को खुद का घर दिलाने के लिए शुरू की गई थी. योजना को दो भागो में रखा गया है, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण. प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में सरकार ने देश के सभी गाँव और छोटे छोटे टाउन या शहर में रह रहे गरीब बेघर लोगों को अपना खुद का घर का सपना पूरा करने के लिए उम्मीद दिखाई. योजना के अंतर्गत सरकार घर बनाने के लिए किश्तों में पैसा देती है, जिसके बाद स्टेप वाय स्टेप घर बनने का काम पूरा होता जाता है. अभी कुछ समय से कई जगह से शिकायत आ रही थी कई लोग योजना के तहत मिलने वाले पैसे से घर निर्माण का कार्य न करवाकर उसका दुरुपयोग कर रहे है, सरकार ने अधिकारीयों को इसकी जांच के लिए लिए विशेष आदेश दिए है. चलिए जानते है कि क्या पूरी बात, योजना का सही लाभ कैसे उठा सकते है.

pm-awas-yojana-hindi-kisht-installment

प्रधानमंत्री आवास योजना लाभार्थी सूचि – आवास योजना की आधिकारी पोर्टल में ऑनलाइन अपना नाम चेक करजानें कब मिलेगा आपको योजना का पैसा

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण क्या है –

प्रधानमंत्री आवास योजना मोदी सरकार की एक कल्याणकारी योजना है, जिससे अभी तक तो करोड़ों लोग लाभान्वित भी हो चुके है. योजना के तहत जिनके पास खुद का पक्का घर नहीं है, और वो झुग्गी झोपडी में रहते है तो सरकार उन्हें अपना पक्का घर बनवाने के लिए 2 लाख के करीब पैसा देती है, जो 3 किस्तों में दिया जा रहा है. हर एक किश्त के बाद सरकार घर निर्माण कार्य की जानकारी लेती है, आवेदक को हर एक क़िस्त के बाद आवेदन कर अधिकारीयों को बताना होता है कि अभी तक कितना काम हो गया है. अधिकारी जांच पड़ताल करके अगली किश्त आवेदक के बैंक खाते में सीधे ट्रान्सफर कर देते है. इस योजना में कोई बिचौलिया काम नहीं करता है, सरकार और लाभार्थी सीधे जुड़ कर योजना का लाभ उठाते है.

प्रधानमंत्री द्वारा किसानों के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है जिनमें पीएम किसान योजना का लाभ बहुत अधिक किसानों को प्राप्त हुआ है अगर अब तक आपने योजना के लिए आवेदन नहीं किया है तो जल्द करें.

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में मिलने वाली किस्तें –

योजना के अंतर्गत सरकार घर निर्माण के लिए 3 किश्तें देती है. घर का पूरा निर्माण 7 चरणों में पूरा होता है. हम यहाँ आपको पूरी जानकारी विस्तार से समझायेंगें कि हर एक चरण में क्या लाभ मिलता है, प्रत्येक चरण में आवेदन कैसे होगा आदि –

  • पात्रता के अनुसार जो भी व्यक्ति प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की शर्तों को पूरा करता है, वो आवेदन करता है तो उसके फॉर्म को मंजूरी मिलने के बाद पहली किश्त सीधे बैंक खाते में आ जाती है.
  • पहली किश्त के बाद लाभार्थी को अपने मकान निमार्ण का कार्य शुरू करना अनिवार्य है. इसके लिए उसे सबसे पहले घर की नींव, आधार का कार्य शुरू करना होता है. इस कार्य के बाद लाभार्थी के खाते में योजना की दूसरी किश्त आ जाती है.
  • दूसरी किश्त आने के बाद लाभार्थी को मैपिंग का काम करना होता है, इसके साथ ही मकान का लेंटर, छत डलवाना होता है. इसी के साथ घर की दीवारें, खिड़की, दरवाजे आदि का भी कार्य होता है. इसके बाद लाभार्थी के खाते में तीसरी किश्त आ जाती है.
  • आवास योजना में घर पर पक्का शौचालय बनाने के लिए स्वच्छता अभियान के तहत अलग से 12000 रूपए भी लाभार्थी को दिए जाते है.
  • आवास योजना के तहत पात्र व्यक्ति को मनरेगा के तहत 95 दिनों का रोजगार भी सरकार द्वारा दिया जाता है. यह कुल राशि 18000 के लगभग होती है, जिसकी गणना तत्कालीन मनरेगा रोजगार राशि के अनुसार होगी.

क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना : घर खरीदने के लिए सरकार दे रही है सीधे 2.67 लाख रूपए का लाभ, जल्द से जल लाभ उठाकर पूरा करें अपने घर का सपना

प्रधानमंत्री आवास योजना के पैसों का न हो दुरुपयोग –

राज्य सरकार ने अपने प्रदेश के सभी जनपद सीईओ को आदेश दिए है कि आवास योजना के तहत लंबित घरों का निर्माण कितना हुआ है, इसकी जांच पड़ताल कर जल्द से जल्द एक रिपोर्ट बनाये. अधिकारीयों से बताया कि कई ऐसे लोग है जो योजना के तहत आवेदन कर पहली किश्त प्राप्त कर लेते है और फिर उस राशी का उपयोग दूसरी जगह अपने काम में करने लगते है. कुछ ऐसे भी है पहली, दूसरी किश्त प्राप्त कर घर का कार्य बीच में छोड़ देते है. दूसरी किश्त मिलने के बाद लाभार्थी को लेंटर (छत का काम) के बाद, घर में दीवार, प्लास्टर का काम पूरा करना अनिवार्य है. लेकिन कई भ्रष्टाचारी लोग क़िस्त की रकम पाकर उसका दुरुपयोग करने लगते है. अधिकारीयों ने कहा है कि जांच पर जो भी लाभार्थी ऐसा करते हुए पाए जाते है तो उनके खिलाफ कड़ी क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी. सरकार ने अधिकारीयों से ऐसे लोगों की जल्द से जल्द सूचि बनाने के आदेश दिए है, और कहा है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने वाला पैसा सिर्फ घर निर्माण में ही होना चाहिए. कहीं और दुरुपयोग होने पर उनको कड़ी कीमत चुकानी होगी.

अन्य पढ़ें –

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *