प्रधानमंत्री आवास योजना – पहले से घर होने पर भी ऐसे लोगों को मिलेगा इस योजना का फायदा, जाने क्या है तरीका

अपना खुद का घर बनाने का सपना हर मनुष्य का होता है. मनुष्य जीवन भर मेहनत करता है, ताकि पैसा इक्कठा कर अपने खुद के सपनों का घर बना सके. अगर आप भी नया घर लेने का सोच रहे हैं और इसके लिए डाउन पेमेंट इकट्ठी कर रहे है तो आप पहले मोदी सरकार द्वारा चलाई जा पीएम आवास योजना के बारे में जानकारी ले लें. इस योजना के द्वारा आपके घर का सपना आसानी से पूरा हो सकता है. सरकार होम लोन पर ब्याज में भरी छूट दे रही है. मध्यम वर्गीय कैसे अपने घर के सपने को आवास योजना द्वारा पूरा सकते है, कौन है लाभार्थी यह सभी जानकारी आपको हमारे इस आर्टिकल में मिलेगी.

pm awas yojana hindi shahri mig criteria

पीएम आवास योजना क्या है?

पीएम आवास योजना भारत देश बहुत बड़ी योजनाओं में से एक है, जिसे मोदी जी द्वारा 2014 में शुरू किया गया था. वैसे सरकारी योजनाओं का नाम सुनकर सभी लोगों को लगता है कि यह सिर्फ गरीबों को असहाय लोगों के लिए आई होगी, लेकिन पीएम आवास योजना इन सबसे अलग है. पीएम आवास योजना को दो भागों में बांटा गया है, शहरी एवं ग्रामीण. पीएम आवास शहरी को भी दो वर्गों में बांटा गया है, MIG-1 एवं MIG-2. मध्यम आय वर्ग के लिए शुरू की गई इस योजना में MIG-1 के अंतर्गत वे परिवार आते है, जिनकी वार्षिक आय 6 लाख से लेकर 12 लाख है. MIG-2 के अंदर वे परिवार आते है जिनकी वार्षिक आय 12 लाख से 18 लाख है. ब्याज में छूट इन दोनों को ग्रुप को इनकी आय के अनुसार ही मिलती है.

प्रधानमंत्री आवास योजना सूची – आवास योजना की नयी सूची जारी हो गई है, आप आधार नंबर के द्वारा अपना नाम सर्च करें.

क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम –

क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम के तहत मध्यम वर्गीय परिवार को घर बनाने के लिए ब्याज में भरी छूट दी जा रही है. इस योजना को 2015 में शुरू किया गया था, जो मार्च 2020 में समाप्त होने वाली थी. लेकिन कोरोना काल में सरकार ने आम जनता की समस्या को समझते हुए इस योजना को मार्च 2021 तक बढ़ा दिया है.

क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम : देश के मध्यम वर्गीय परिवार को कैसे मिल रही लोन में विशेष छूट, जाने पूरी प्रक्रिया.

क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम का फायदा किन्हें मिल सकता है –

प्रधानमंत्री आवास योजना जब शुरू की गई, तब इसका मुख्य उद्देश्य यही था कि देश के हर इन्सान के पास खुद का पक्का घर हो. मोदी जी ने टारगेट रखा है कि 2022 तक देश के हर इन्सान के पास खुद का पक्का होगा. अभी तक करोड़ों लोगों को फायदा मिल चूका है, ग्रामीण एवं शहरी दोनों की क्षेत्र में योजना अच्छा काम कर रही है. योजना का लाभ उन्हें ही दिया जा रहा है जो जिनके नाम पर पहले से घर न हो. अगर किसी के नाम पर पहले से कोई घर किसी भी क्षेत्र में हो, या उसके परिवार के सदस्य के नाम पर हो तो इन्सान इस सरकारी योजना का पात्र नहीं माना जायेगा. पीएम आवास योजना के अंतर्गत एक परिवार मतलब पति-पत्नी और अविवाहित बच्चे होते है.

  • अगर किसी इन्सान की शादी हो जाती है और घर उसके नाम पर नहीं बल्कि माता या पिता के नाम पर है तो वो इन्सान इस योजना के योग्य माना जायेगा और आवास योजना की प्रक्रिया को पूरा करते वो इस के लिए आवेदन करके लाभ प्राप्त कर सकता है. आप अगर घर बनाने के लिए लोन ले रहे है तो आपको ब्याज में विशेष छूट मिलेगी.
  • अगर कोई पहले से ही केंद्र की या राज्य सरकार की कोई भी आवास योजना का लाभ ले चूका है या ले रहा है तो भी वो पीएम आवास योजना का लाभ नहीं उठा सकता है. अगर आप अपात्र होते हुए भी पीएम आवास योजना के लिए आवेदन कर देते है तो आपको फ्रॉड माना जायेगा. आवास योजना के आवेदन करने के बाद सभी दस्तावेज की विशेष जांच पड़ताल होती है, उस इन्सान और परिवार की पूरी हिस्ट्री देखने के बाद ही योजना का लाभ मिलता है.

प्रधानमंत्री आवास योजना आखिरी तारीख : अपने घर का सपना पूरा करना चाहते है तो 2021 के पहले उठाये लाभ, सरकार दे रही है विशेष लाभ.

नोट – पीएम आवास योजना का फायदा किसी अपात्र को न मिले या कोई धोखेबाज आवास योजना का फायदा दोबारा न ले सके, इसके लिए सरकार ने आवेदन के दौरान परिवार के सभी सदस्यों के आधार कार्ड को मुख्य दस्तावेज के रूप में लेना अनिवार्य कर दिया है. आधार कार्ड की पूरी जांच होने के बाद ही योजना की कार्यवाही आगे की जाएगी.

कैसे मिलेगी लोन में छूट –

पीएम आवास योजना के अंदर लोन में छूट कैसे और कितनी मिलेगी, इसे समझना जरुरी है.

MIG-1 – जो लोग MIG-1 के अंतर्गत आते है, मतलब जिनकी आय 6 से 12 लाख है, उन्हें सरकार द्वारा अधिकतम 9 लाख रूपए तक का लोन दिया जायेगा, जिस पर उनको 4% की ब्याज दर से भुगतान करना होगा.

MIG-2 – जो लोग MIG-2 स्लैब में आते है, मतलब जिनकी वार्षिक आय 12 से 18 लाख है, उन्हें सरकार द्वारा अधिकतम 12 लाख रूपए तक के लोन में 4% ब्याज दर की छूट मिलेगी.

प्रधानमंत्री रेंटल हाउसिंग योजना : सरकार दे रही है किफायती किराए पर घर, जानिए कैसे और किसे मिलेगा लाभ

कैसे होगा छूट का कैलकुलेशन –

अगर आप MIG-2 स्लैब में आते है, और आपने 60 लाख तक का घर खरीदने का सोचा है. इसके लिए आपको घर की कुल कीमत का 20% यानि 12 लाख रूपए की डाउन पेमेंट करनी होगी. अब घर की बकाया कीमत 48 लाख है. इसमें से 12 लाख रूपए के लिए आपको सिर्फ 4% की ब्याज दर बैंक को देना होगा, जबकि बचे हुए 36 लाख का भुगतान पूरी ब्याज के साथ होगा. इसका मतलब है कि 12 लाख रूपए में आपको ब्याज में छूट और विशेष लाभ होगा.

अन्य पढ़ें –

Follow me

Vibhuti

विभूति अग्रवाल मध्यप्रदेश के छोटे से शहर से है. ये पोस्ट ग्रेजुएट है, जिनको डांस, कुकिंग, घुमने एवम लिखने का शौक है. लिखने की कला को इन्होने अपना प्रोफेशन बनाया और घर बैठे काम करना शुरू किया. ये ज्यादातर कुकिंग, मोटिवेशनल कहानी, करंट अफेयर्स, फेमस लोगों के बारे में लिखती है.
Vibhuti
Follow me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *